MMID का क्या मतलब है ?



आज के बदलते परिवेश में हमें कई प्रकार की ऐसी बातों के बारे में मालूम पड़ता है जिनके बारे में हमने कभी सुना ही नहीं है। आज हम सभी ऑनलाइन शॉपिंग करने या कोई भी काम ऑनलाइन तरीके से करना चाहते हैं। कोई भी काम ऑनलाइन करने से वह जल्दी हो जाता है और समय की बचत होती है। कई बार हमने ऑनलाइन माध्यम से पैसे भी ट्रांसफर किए हैं जिसे करना हमें आसान लगता है। इसके लिए हम MMID  नंबर का इस्तेमाल करते हैं।

img-1


आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको MMID नंबर के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं, जिससे आपको किसी भी प्रकार का कार्य करने में आसानी हो सके।

यूपीआई (UPI) क्या है

MMID नंबर क्या होता है ?

  • कोई भी MMID नंबर 7 अंकों की एक संख्या होती है जिसे प्रमुखता से देखा जाता है। जिसमें पहले चार अंक बैंक यूनीक आईडेंटिफिकेशन नंबर होते हैं और पिछले तीन नंबर आपका मोबाइल नंबर होते है।
  • जब भी आप किसी बैंक में अपना अकाउंट बनाते हैं, तो बैंक के द्वारा आपको एक MMID नंबर दिया जाता है जिसके माध्यम से आप अपने अकाउंट से किसी दूसरे अकाउंट में पैसे आसानी से ही ट्रांसफर कर सकते हैं।
  • MMID नंबर एक यूनिक कोड के रूप में होता है, जो प्रत्येक बैंक का अलग-अलग होता है। जिससे आप निश्चित रूप से इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि किसी का  अकाउंट किस बैंक का है? ऐसे में आपको सावधान रहने की भी जरूरत है।

MMID नंबर का फुल फॉर्म

MMID का संक्षिप्त नाम “Mobile Money Identifier Number” है।



MMID नंबर की मुख्य जरूरत

कभी-कभी हमें इन मुख्य नंबरों के बारे में जानकारी नहीं होती और ऐसे में हम कोई ना कोई गड़बड़ जरूर करने लगते हैं। कई बार पैसे ट्रांसफर करने के दौरान हमें कड़ी परेशानी का सामना करना पड़ता हैं और हम अपने काम पूरा नहीं कर पाते हैं। ऐसे में बैंक के द्वारा दिया गया MMID नंबर आपके बहुत काम आता है जिससे आप 24 घंटे में कभी भी आसानी से पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं।

MMID नंबर बनाने का तरीका

जैसे कि हमने आपको पूर्व में भी बताया कि MMID के माध्यम से आप आसानी से ही किसी भी समय पैसे को ट्रांसफर कर सकते हैं। ऐसे में आप MMID को तीन प्रकार से बना सकते हैं–

नेट बैंकिंग–

  • इसके लिए सबसे पहले आपको बैंक के इंटरनेट बैंकिंग पोर्टल पर लॉग इन करना होगा, जहां से आप इस के होम पेज पर आ जाते हैं।
  • होम पेज पर आते ही आपके सामने “Generate MMID” का विकल्प नजर आता है जिस पर आपको क्लिक करना होगा।
  •  आवश्यक विवरण में कुंजी को सत्यापित करते हुए संबंधित खाते के लिए MMID उत्पन्न हो जाता है।

फोन बैंकिंग–

  • इसके लिए सबसे पहले आपको फोन बैंकिंग नंबर पर कॉल करना होगा।
  • जहां पर आपको अपनी भाषा और बैंकिंग विकल्प चुनना होगा। इसके बाद आपको ग्राहक देखभाल प्रतिनिधि से बात करने का मौका मिलेगा।
  • इस प्रक्रिया के बाद में आप से MMID की पीढ़ी के लिए पूछा जाएगा जिसके बाद खाता धारक के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर MMID नंबर 24 घंटे के अंदर भेज दिया जाएगा ।

मोबाइल बैंकिंग

  • इसके लिए आपको अपने मोबाइल पर “मोबाइल बैंकिंग एप” को लॉगइन करना होगा जहां पर “खाता विकल्प” पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद जनरेट MMID टैब पर क्लिक करके MMID नंबर प्राप्त किया जा सकता है।

MMID नंबर के माध्यम से पैसे कैसे करें ट्रांसफर?

 इसके माध्यम से अपने पैसों को किसी दूसरे के अकाउंट में ट्रांसफर करना आसान हो जाता है और  यह प्रक्रिया बहुत ही सरल है।

  1. इसमें संबंधित ऐप के माध्यम से मोबाइल बैंकिंग में लॉगइन करना होगा।
  2. इसके बाद “फंड ट्रांसफर” का विकल्प चुने।
  3. विकल्प चुन लेने के बाद आपको IMPS को सेलेक्ट करना होगा।
  4. उसके बाद आप के मोबाइल नंबर पर MMID ट्रांसफर की जाने वाली राशि का विवरण प्राप्त हो जाता है और आप आसानी से ही पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं।

एनईएफटी और आरटीजीएस क्या है

MMID नंबर जनरेट करने का तरीका

अगर आप स्वयं से ही MMID नंबर जनरेट करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपके पास 4 तरीके मौजूद हैं हम विस्तृत से आपको इसकी जानकारी देंगे–

  1. एटीएम के माध्यम से करें नंबर जनरेट— अगर आप चाहें तो अपने बैंक के एटीएम से भी MMID नंबर जनरेट कर सकते हैं। इसके लिए आपको सबसे पहले एटीएम में जाकर “मोबाइल बैंकिंग” के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। ऐसा करते ही आपके पास एक कंफर्मेशन का मैसेज आता है और उसके बाद ही आप खुद का MMID नंबर जनरेट कर सकते हैं।
  2. करें इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल— अगर आप इंटरनेट बैंकिंग कस्टमर केयर में कॉल करते हैं, तो आप उसमें MMID नंबर प्राप्त कर सकते हैं। इस सुविधा का लाभ लेने के लिए मोबाइल में बैंकिंग ऐप डाउनलोड करना होगा।
  3. बैंक की ब्रांच से प्राप्त करें नंबर— अगर आप MMID नंबर प्राप्त करना चाहते हैं, तो ऐसे में आपको अपने बैंक की ब्रांच पर जाना होगा जहां पर आप एक फॉर्म भर कर ही आसानी से MMID नंबर प्राप्त कर सकते हैं।
  4. मोबाइल एप्लीकेशन की ले मदद— अगर आप मोबाइल एप्लीकेशन की मदद से MMID नंबर प्राप्त करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको मोबाइल एप्लीकेशन डाउनलोड करना होगा और उसके बाद ही आप स्वयं से ही MMID नंबर जनरेट कर सकते हैं।

निष्कर्ष (Conclusion)

इस प्रकार से आज हमने जाना कि MMID नंबर हमारे लिए जरूरी होता है क्योंकि यह कहीं ना कहीं हमारे लिए सहायक होता है। इसके माध्यम से कहीं से भी आसानी से अपना काम कर सकते हैं वह भी बिना किसी परेशानी के। अगर आपने अभी तक MMID नंबर जनरेट नहीं किया है, तो इसे जल्द से जल्द जनरेट करके अधिक लाभ प्राप्त करें।

आईएमपीएस का क्या मतलब होता है

Leave a Comment