सब्जियों के नाम हिंदी और इंग्लिश में



कुछ सब्जियां ऐसी होती है जिसे पका कर खाया जाता है वही कुछ को फ्राई करके या फिर कच्चा भी खाया जा सकता है। सब्जियां खाने से हमारी बॉडी को अनेक फायदे मिलते हैं। इसलिए डॉक्टर भी कहते हैं कि इंसानों को हरी पत्तेदार सब्जियां अवश्य खाना चाहिए। हालांकि उसके अलावा भी जो अन्य सब्जियां है, उसे इंसानों को ग्रहण करना चाहिए। कई लोग कुपोषण का शिकार होते हैं। ऐसे लोगों में अक्सर पौष्टिक तत्वों की कमी पाई जाती है।

img-1


व्यक्ति अगर सब्जियों का सेवन करता है तो उसे पौष्टिक चीजें प्राप्त होती है और उसका कुपोषण भी दूर होता है। सब्जियों की कई वैरायटी है, साथ ही उनके कई प्रकार हैं, जिनके बारे में जानकारी रखना आवश्यक है, ताकि आप जरूरी विटामिन और मिनरल की पूर्ति करने के लिए सब्जियों को खा सकें। नीचे हमने आपको सब्जियों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में बताए हुए हैं।

फलों का नाम हिंदी और अंग्रेजी में

सब्जियों के नाम हिंदी और इंग्लिश में | Vegetables Name in Hindi and English

आलू, प्याज, पालक यह कुछ ऐसी सामान्य सब्जी है जिनके नाम हमें पता होते हैं परंतु इनके अलावा और भी बहुत सारी सब्जी है जिसके नाम हमें पता नहीं होते हैं। इसलिए नीचे हमने आपको 90 सब्जियों के नाम हिंदी और इंग्लिश में बताए हुए हैं।



S.noVegetable NameHindi Meaning
1.Potato (पोटैटो)आलू
2.Tomato (टोमैटो)टमाटर
3.Onion(अनियन)प्याज
4.Lady Finger (लेडी फिंगर)भिंडी
5.Cauliflower (कॉलीफ्लॉवर)फूलगोभी
6.Cabbage (कैबेज)पत्ता गोभी/ बंद गोभी
7.Pumpkin (पम्पकिन)कद्दू, / जनगाथी
8.Ginger (जिंजर)अदरक
9.Radish (रेडिश)मूली
10.Bottle Gourd (बॉटल गॉर्ड)लौकी
11.Bitter Melon (बिट्टर मेलन)करेला
12.Apple Gourd (एप्पल गॉर्ड)टिंडा
13.Brinjal (ब्रिंजल)बैंगन, भांटा
14.Peas (पीस)मटर
15.Spinach (स्पिनैच)पालक
16.Coriander Leaf (कोरिअंडर लीफ)धनिया
17.Cucumber (ककम्बर)खीरा
18.Jackfruit (जैकफ्रूट)कटहल
19.keri (केरी)कैरी
20.Ash Gourd (ऐस गॉर्ड)पेठा / कोहड़ा
21.Bell Pepper (बेल पेपर)शिमला मिर्च
22.Green Chili (ग्रीन चिली)हरी मिर्च
23.Carrot (कैरोट)गाजर
24.Ridged Gourd (रिज गॉर्ड)तोरी/ तोरई, तुरई
25.Colocassia Root (कोलोकासिआ)अरबी
26.Mushroom (मशरूम)मशरूम
27.Sweet Potato (स्वीट पोटैटो)शकरकंद
28.Garlic (गार्लिक)लहसुन
29.Turnip (टर्निप)शलजम
30.Green Long Beans (ग्रीन लांग बीन्स)बरबटी
31.Peppermint (पिपरमिंट)पुदीना
32.Pointed Gourd (प्वाइंटेड गॉर्ड)परवल
33.Spine Gourd (स्पिन गॉर्ड)पड़ोरा/ कंटोला
34.Lotus cucumber (लोटस ककम्बर)कमल ककड़ी
35.Mouse Melon (माउस मेलॉन)कचरी/ काचरा
36.Beetroot (बीटरूट)चुकंदर
37.Cluster Beans (क्लस्टर बीन)गवार फली
38.Runner Beans (रनर बीन्स)सेम की फलियां
39.Broccoli (ब्रोकोली)हरी गोभी/ ब्रोकोली गोभी
40.Elephant Foot Yam (एलीफेंट फूट याम)जिमीकंद
41.Radish Pods (रैडिश पोड्स)मूली की फली
42.Fava Beans/ Broad Bean (फेवा बीन्स/बोर्ड बीन)बाकले की फली
43.French Beans (फ्रैंच बीन्स)फ्रेंच बिन्स
44.Kohlrabi (कोल्हाबी)गांठ गोभी
45.Curry Leaves (करी लीव्स)करी पत्ते
46.Fenugreek Leaves (फेन्यूग्रीक लीव्स)मेंथी
47.Green Mustard (ग्रीन मस्टर्ड)ग्रीन सरसों
48.Salad Green Leaves (सैलेड ग्रीन लीव्स)सलाद हरी पत्तियां
49.Wild Spinach (वाइल्ड स्पिनैच)बथुआ
50.Fennel (फीनल)सौंफ
51.(ग्रीन ऑनियन)हरा प्याज़
52.Lemon (लेमन)नींबू
53Cucumis Utilissimus (कुकुमिस यूटीलिसिमस)ककड़ी
54Kidney Beans (किडनी बीन)राजमा
55Amaranth Leaves (अमरांथ लीव्स)हरी चोलाई
56Snake Gourd (स्नेक गॉर्ड)चिचिण्डा
57Raw Banana (रॉ बनाना)कच्चा केला
58Celery (सेलरी)अजवायन
59Munaga (मुनगा)मुनगा
60Colocasia/ Taro Root (कॉलकेजिआ)कांदु/ कचालू
61Myrobalan (मायरोबैलन)आंवला
62Water Chestnuts (वाटर चेसनट)सिंघाड़ा
63Simbhal (सिम्भल)सिम्भल
64Gooseberry (गूजबेरी)करौंदा
65Hyacinth Beans (हाइसिंथ बीन्स)सुरती पापडी
66Artichoke (आर्टिचोक)हाथी चक
67Arrowroot (आरोट)अरारोट/ शिशुमूल
68Purslane (पर्सलेन)लोनिया
69Ram Karela (राम करेला)पहाड़ी करेला
70Hog Plum (होग प्लम)अमडा
71Tendli/ Ivy Gourd (आइवी गॉर्ड)कुंदरू
72Chickpea Greens (चिकपी ग्रीन)चने का साग
73Chayote/ Chow (चायोटे)इस्कुस
74White Eggplant (व्हाइट एगप्लंट)सफेद बैंगन
75Raw Papaya (रॉ पपाया)कच्चा पपीता
76Sunn/ Jute Flower (सन्न/जूट फ्लॉवर)सनई का फूल
77Red Cabbage (रेड कैबेज)लाल पत्तागोभी
78Raw banana flower (रॉ बनाना फ्लॉवर)कच्चे केले का फूल
79Black Carrot (ब्लैक कैरेट)काली गाजर
80Bamboo Shoot/ Asparagus (बम्बू शूट / ऐसपैरागुस)बांस की कोपले
81August Flower (अगस्त फ्लॉवर)अगस्त का फूल
82Ficus (फिकस)गूलर
83Water Spinach (वाटर स्पिनैच)पानी पालक
84Baby Corn (बेबी कॉर्न)बेबी कॉर्न
85Yellow Paprika (येलो पेपरिका)पीला पेपरिका
86Rugda Mushroom (रुगड़ा मशरूम)पुटु/ रूगड़ा मशरूम
87Summer Squash (समर स्कुअश)ग्रीष्मकालीन स्क्वैश
88Locarno Leaf (लोकार्नो लीफ)लोकार्नो
89Butterhead Green Leaf (बटरहेड ग्रीन लीफ)बटरहेड हरी पत्ती
90Samphire Vegetable (सैम्फायर वेजीटेवल)सैम्फायर सब्जी

पेड़ों के नाम हिंदी इंग्लिश में

Top 10 Vegetable Names in Hindi

क्रमांक

सब्जी का नाम

तस्वीर

1.

आलू

img-2

2.

टमाटर

img-3

3.

भिन्डी

img-4

4.

बैगन

img-5

5.

पालक

img-6

6.

तोरई

img-7

7.

पत्ता गोभी

img-8

8.

प्याज

img-9

9.

करेला

img-10

10.

लौकी

img-11

आलू

सब्जियों का राजा आलू को कहा जाता है। आलू ही एक ऐसी सब्जी है जिसे खाना हर कोई पसंद करता है। आलू को उबालकर के जिम करने वाले लोग खाते हैं। इसके अलावा अलग-अलग प्रकार की सब्जियों में आलू को मिक्स किया जाता है। कच्चे आलू का चिप्स और वेफर भी बनता है। वही आलू की अलग-अलग सब्जी बनती है।

इसे भिंडी के साथ भी मिला सकते हैं, साथ ही बैगन के साथ भी मिला सकते हैं। स्ट्रीट फूड में भी मुख्य तौर पर आलू का इस्तेमाल किया जाता है। आलू का चाट खाने में काफी स्वादिष्ट लगता है। आलू की भी कई वैरायटी है और इसकी खेती सितंबर के महीने से स्टार्ट होती है और जनवरी में इसे खेतों में से खोद लिया जाता है।

टमाटर

टमाटर का रंग लाल होता है, वह भी तब जब यह पूरी तरह से पक जाता है। इसके अलावा कच्चे टमाटर का रंग हरा होता है। कच्चा टमाटर खाने में थोड़ा कड़वा लगता है वही पका हुआ टमाटर खाने में स्वादिष्ट लगता है।

सलाद में मुख्य तौर पर इसका इस्तेमाल होता है, साथ ही सब्जी बनाने में इसका इस्तेमाल होता है। टमाटर का केचअप बनता है और इसका सूप भी बनाया जाता है। अंग्रेजी भाषा में टमाटर को टोमेटो कहा जाता है। इसके अंदर कुछ ऐसे तत्व होते हैं जो चेहरे की गंदगी को हटाने का काम भी करते हैं।

भिंडी

भिंडी की खेती जून अथवा बरसात के मौसम में की जाती है। दुनिया भर में सबसे ज्यादा भिंडी का प्रोडक्शन हमारे भारत देश के द्वारा किया जाता है और हमारे भारत देश के लगभग हर राज्य में भिंडी की खेती होती है।

मुख्य तौर पर भिंडी की खेती पश्चिम बंगाल, उड़ीसा, महाराष्ट्र, हरियाणा, गुजरात, झारखंड, बिहार और पंजाब जैसे राज्य में होती है। भिंडी के द्वारा विभिन्न प्रकार की सब्जियां बनाई जाती है, जिनमें से सबसे लोकप्रिय सब्जी भिंडी मसाला है। इंडिया में तकरीबन 498 हजार हेक्टेयर के इलाके में भिंडी की खेती होती है और हर साल इंडिया में तकरीबन 5784 टन इसका उत्पादन होता है।

बैगन

जुन या फिर जुलाई के महीने में बैगन की खेती करना प्रारंभ किया जाता है। इसके लिए सबसे पहले जमीन को तैयार किया जाता है और थोड़ी थोड़ी दूर पर बैंगन के पौधे लगाए जाते हैं और समय-समय पर उनकी सिंचाई की जाती है।

 बैगन की अच्छी पैदावार प्राप्त करने के लिए उसमें गोबर की खाद अवश्य मिलानी चाहिए अथवा व्यक्ति चाहे तो मुर्गी फार्म की खाद भी मिला सकते हैं। कच्चे बैगन का रंग हरा और पके हुए बैगन का रंग बैगनी होता है। बैगन की सबसे अच्छी सब्जी बैगन का भरता और बैगन की कलौंजी होती है‌।

पालक

शरीर में खून बढ़ाने के लिए पालक खाना विशेष तौर पर फायदेमंद माना गया है। पालक पत्तेदार सब्जी की श्रेणी में आता है और इसका रंग हरा होता है। अगर किसी व्यक्ति को कैल्शियम की आवश्यकता है या फिर आयरन की आवश्यकता है तो उसे पालक का जूस पीना चाहिए।

पालक की सबसे प्रसिद्ध सब्जी पालक पनीर होती है। इसके अलावा भी पालक के द्वारा अन्य कई सब्जियां बनाई जाती है। सलाद में भी पालक का इस्तेमाल किया जाता है।

तोरई

आयुर्वेद के नजरिए से देखा जाए तो तोरई डाइजेस्ट होने में बहुत ही आसान होती है। हालांकि यह हमारे पेट के लिए थोड़ी सी गर्म होती है। तोरई खाने से हमारे वीर्य की बढ़ोतरी होती है।

 इसके अलावा घाव भी जल्दी से ठीक हो जाता है, साथ ही यह भूख बढ़ाती है और पेट को साफ करने का काम करती है। इसके अलावा यह पेट के रोग और बवासीर में भी बहुत ही सहायक साबित होती है, साथ ही बुखार को भी यह ठीक करती है। इसका रंग हरा होता है।।

पत्ता गोभी

पत्ता गोभी की खेती ठंडी के मौसम में होती है और इसका रंग हल्का हरा होता है। मोमोज में डालने के लिए पत्ता गोभी का इस्तेमाल होता है, साथ ही मंचूरियन बनाने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।

पता गोभी के अंदर जरूरी विटामिन और मिनरल होते हैं। इसे मुख्य तौर पर सलाद के तौर पर खाया जाता है। पत्ता गोभी की खेती करने पर सामान्य तौर पर यह एक से डेढ़ महीने में खाने के लिए तैयार हो जाते हैं।

प्याज

प्याज एक ऐसी सब्जी है जिसके बिना शायद खाने में स्वाद ही ना आए। मटन चिकन अथवा मछली बनाने में जब तक प्याज का इस्तेमाल नहीं किया जाता है तब तक इन चीजों में स्वाद नहीं आता है।

प्याज की खेती भी ठंडी के मौसम में होती है और इसकी खेती तैयार होने में तकरीबन 1 से 2 महीने का समय लग जाता है। मार्केट में प्याज की कालाबाजारी काफी होती है। इसलिए कभी-कभी प्याज के दाम काफी ऊंचे चले जाते हैं।

कहा जाता है कि प्याज के रस को चेहरे पर लगाने से चेहरे पर की गंदगी दूर होती है साथ ही चेहरे पर के पिंपल के दाग भी हल्के होते हैं।

करेला

करेले का रंग हरा होता है और इसका स्वाद कड़वा होता है। यहां तक कि जब इसकी सब्जी बनाई जाती है तो भी इसका स्वाद कड़वा ही रहता है। हालांकि अपने कड़वे स्वाद के बावजूद करेला इंसानों के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है।

करेले का अगर कोई व्यक्ति सेवन करता है तो उसके चेहरे पर निखार आता है क्योंकि इसके अंदर मौजूद कड़वे गुण पेट के कीड़े को खत्म करते हैं, जिससे खून साफ होता है और खून साफ होने की वजह से चेहरे पर निखार आता है साथ ही यह चेहरे पर कील और मुंहासे होने से भी रोकता है।

लौकी

हल्की सब्जियों में लौकी की गिनती होती है और जब इसका सेवन किया जाता है तब यह हमारे पेट को भारी भी नहीं बनाता है। लौकी का जूस पीना बहुत ही फायदेमंद होता है।

लौकी हमारे वजन को घटाने के लिए भी बहुत ही काम की चीज है। लौकी का रायता भी बनता है, साथ ही इसका हलवा भी बनता है, जो खाने में काफी स्वादिष्ट होता है। इसके अलावा इसकी कैंडी भी बनती है।

सब्जियों के प्रकार | Types of Vegetables in Hindi

नीचे आपके समक्ष हमने सब्जियों के विभिन्न प्रकार के बारे में चर्चा की है।

पत्‍तेदार सब्जियां

पत्तेदार सब्जियों को अंग्रेजी में ग्रीन वेजिटेबल कहा जाता है। जो पत्तेदार सब्जियां होती है, उसमें बड़ी मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट उपलब्ध होता है और फाइबर की भी इसमें बहुत ही अच्छी मात्रा पाई जाती है। हरी पत्तेदार सब्जियों में मुख्य सब्जियों के नाम पत्ता गोभी,पालक, बथुआ, हरी मेथी हैं। अगर हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन कोई व्यक्ति करता है तो उसकी बॉडी के अंदर पेट के कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर और फेफड़े के कैंसर से लड़ने की उच्च क्षमता पैदा हो जाती है।

पानी वाली सब्जियां

पानी वाली सब्जियों को पानी में उगाया जाता है, जैसे कि कमल काकड़ी, सिंघाड़ा इत्यादि। पानी वाली सब्जियां भी मिनरल और दूसरे पौष्टिक तत्वों से भरपूर होती हैं।

जड़ वाली सब्जियां

जो जड़ वाली सब्जियां होती है यह जमीन के अंदर मौजूद पोषक तत्व को अवशोषित करती है। जैसे कि गाजर, मूली, आलू, अरबी चुकंदर, अदरक, कादू इत्यादि।

फूल वाली सब्जियां

फाइबर की बहुत ही उच्च मात्रा फुल वाली सब्जियों में उपलब्ध होती है और जो फूल वाली सब्जियां होती है, उनमें कैलोरी भी कम मात्रा में होती है। हालांकि दूसरी तरफ इसमें विटामिन भर भरकर होता है। फूल वाली सब्जियों में मुख्य तौर पर गोभी का फूल, बंद गोभी और ब्रोकली जैसी सब्जियां आती है।

बीजों वाली सब्जियां

जिन सब्जियों के अंदर बीज होता है उसे बीज वाली सब्जियां कहते हैं। जैसे कि चना, राजमा, सेम, मटर, लोभिया इत्यादि।

सब्जी खाने के फायदे

अगर हम दैनिक तौर पर सब्जियों का सेवन करते हैं तो इसकी वजह से हमारी बॉडी के अंतरिक सिस्टम को मजबूती प्राप्त होती है, साथ ही हरी पत्तेदार सब्जियां खाने से हमारा डाइजेस्टिव सिस्टम भी मजबूत बनता है और यह बात तो आप जानते ही हैं कि डाइजेस्टिव सिस्टम मजबूत होने की वजह से हमारी पूरी बॉडी स्वस्थ रहती है।

रोजाना सब्जियों का सेवन करने से हाई बीपी, ह्रदय रोग, कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों से लड़ने की कैपेसिटी हमारी बॉडी के अंदर आती है, साथ ही सब्जियों का सेवन करने से हमारी खूबसूरती में भी निखार आता है क्योंकि जब सब्जियां खाने से हमें पौष्टिक तत्व प्राप्त होते हैं तो दूसरे अंगों का विकास होता है, साथ ही चेहरे की चमक भी बढ़ती है।

 सब्जियों से हमें कैल्शियम प्राप्त होता है जिसकी वजह से हमारी बॉडी की हड्डियां मजबूत बनती है, साथ ही हमारे दांत भी चमकदार और मजबूत बनते हैं।

कुछ सब्जियां ऐसी है, जिसका सेवन करने से हम अपने मोटापे को घटा सकते हैं। हरी सब्जियों में मिनरल, आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, विटामिन ए, विटामिन बी, सी और डी उपलब्ध होता है। इसीलिए इनका सेवन करने से कई बीमारियां दूर हो जाती है।

 सब्जी खाने की वजह से हमारी बॉडी में खून की मात्रा बढ़ती है। इसलिए जब कोई महिला गर्भवती हो जाती है और उसकी बॉडी में खून की कमी हो जाती है तो डॉक्टर उसे सब्जियां खाने की सलाह देते हैं।

FAQ:

सब्जियों के नाम कौन कौन से होते हैं?

आर्टिकल में बताया गया है।

सब्जियों को अंग्रेजी में क्या कहा जाता है?

वेजिटेबल

हरी सब्जी कितने प्रकार की होती है?

विभिन्न प्रकार

सब्जियों का राजा किसे कहते हैं?

आलू

फूलों का नाम हिंदी और अंग्रजी में

Leave a Comment