पेड़ों के नाम हिंदी इंग्लिश में



विश्व में हज़ारों ही प्रजातियों के पेड़ हैं और इनके नाम भी अलग अलग रखे जाते हैं। हमारी ज़िंदगी में पेड़ बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं। लिखने के लिए कागज़ से लेकर सांस लेने के लिए ऑक्सीजन तक हमें पेड़ से प्राप्त होता है। लेकिन कुछ पेड़ हैं जो हम अपने आसपास देखते हैं लेकिन इनके नाम हमें नहीं पता होता।

img-1


मुश्किल तो तब पैदा होते है जब स्कूल और कॉलेज आदि में इन पेड़ों के नाम पूछ लिये जाते हैं। कई बार सामान्य ज्ञान में भी प्रश्न आ जाता है कि कुछ पेड़ के नाम बताएं। इस मुश्किल के हल के लिए इस पोस्ट के माध्यम से आज हम आपको कुछ पेड़ों के नाम हिंदी और अंग्रेज़ी में बताने जा रहे हैं जोकि आप रोज़ाना अपने आसपास देखते हैं।

फलों का नाम हिंदी और अंग्रेजी में

Tree Name List in English and Hindi

Tree Name In EnglishTree Name In Hindi
Pineचीड़
Oakबलूत
Acaciaबबूल, कीकर
Deodar Cedarदेवदार वृक्ष
Birchसनौबर, भोजपत्र
Grapevineअंगूर बेल
Juteजूट, पटसन
Neemनीम पेड़
Sandalचन्दन वृक्ष
Polyalthiaअशोक का पेड़
Sheeshamरोहिड़ा, शीशम वृक्ष
Teakसागवान, सागोन
Banyanबरगद
Cypressसनोबर
Date palm खजूर का पेड़
Coconut treeनारियल का पेड़
Coniferशंकुवृक्ष
Caneबेंत, सरकंडा
Betel nut treeसुपारी का पेड़
Bambooबाँस
Peepal treeपीपल का पेड़
Cactusनागफनी
cedarदेवदार
Polyalthiaअशोक का पेड़
Sheeshamरोहिड़ा, शीशम वृक्ष
Ebonyआबुनस
Acaciaबबूल,कीकर
Creeperलता, बेल
Sapodillaचीकू वृक्ष
Mango treeआम का पेड़
Banana treeकेले का पेड़
Delonix regiaगुलमोहर का वृक्ष
Guavaअमरूद
Peepalपीपल
Neemनीम
Grassघास
Shrubझाडी
Pineचीड़
Acaciaकीकर, बबूल
Juteजूट, पटसन
Coconut treeनारियल का पेड़
Apple treeसेब का पेड़
Gulmohar Treeगुलमोहर का पेड़
Bambooबाँस
Banana treeकेले का पेड़
Creeperलता, बेल
Banana treeकेले का पेड़
Mango treeआम का पेड़
Sapodillaचीकू वृक्ष
Cork treeकॉर्क का पेड़
Caneबेंत, सरकंडा
Cactusनागफनी
Stamanजीरा
Elaeocarpusरूद्राक्ष
Paddyधान का पौधा
Indigoनील
Figअंजीर
Delonix regiaगुलमोहर का वृक्ष
Beech treeबीच का पेड़
Sandalचन्दन का पेड़
Teakसागवान, सागोन
Flaxसन, पटसन
Sal treeसाल का पेड़
Ebonyआबुनस
Abbizzia labbekसिरस
Palm treeताड का पेड़
Betel nut treeसुपारी का पेड़
Tamarind Treeइमली का पेड़
Jack treeकटहल का पेड़
Date palmखजूर का पेड़
Deodar Cedarदेवदार वृक्ष
Cedarदेवदार
Arjuna treeअर्जुन का पेड़
Curry Treeकरी का पेड़
Banyanबरगद, वट
Polyalthiaअशोक का पेड़
Birchसनौबर, भोजपत्र
Coniferशंकुवृक्ष, कोनिफर
Sheeshamरोहिड़ा, शीशम वृक्ष
Grapevineअंगूर बेल
Mahoganyमहोगनी
Cypressसनोबर, भोजपत्र
Swietenia Mahagoni Treeस्विटेनिया महागोनी पेड़
Papaya treeपपीते का पेड़
Bodhi treeपीपल का पेड़
Pomegranate treeअनार का पेड़
Nim or margosa treeनीम का पेड़
Mohwa treeमहुवा का पेड़
Amla treeआंवला का पेड़
Saraca asoca Treeअशोक का पेड़
Eucalyptus treeनीलगिरी का पेड़
Ficus Religiosa Treeपीपल का पेड़
Royal Poinciana, Peacock’s Flower Treeगुलमोहर का पेड़
Flame Of The Forest Treeपलाश का पेड़
Red Silk Cotton Treeसेमल का पेड़
Java Palm, Indian Allspice Treeजामुन का पेड़
Jasmine Tree, Frangipani Treeचमेली का पेड़

तो दोस्तों उपरोक्त हमने आपको कुछ पेड़ों के नाम बताए हैं जिन्हें आप याद कर सकते हैं। इनके नाम के साथ साथ आपको मालूम होना चाहिए कि पेड़ हमारी ज़िंदगी में बहुत ही महत्त्वपूर्ण होते हैं और ज़्यादा से ज़्यादा हमें पेड़ों को लगाना चाहिए। यदि हम पेड़ नहीं बचाते तो एक समय आएगा कि हमारा इस धरती पर सांस लेना भी मुश्किल हो जाएगा।



फूलों का नाम हिंदी और अंग्रजी में

Top 10 Trees Name in Hindi

S.no

Tree Name

Images

1.

नीम

img-2

2.

पीपल

img-3

3.

कटहल

img-4

4.

अमरुद

img-5

5.

सफेदा

img-6

6.

शीशम

img-7

7.

महुआ

img-8 img-9

8.

सागवान

img-10

9.

आम

img-11

10.

बरगद

img-12

नीम का पेड़

नीम का पेड़ अधिकतर घर के बाहर ग्रामीण इलाके में पाया जाता है। मान्यता के अनुसार नीम के पेड़ में माता शीतला का निवास होता है। नीम के पेड़ की पत्तियां कड़वी होती है। हालांकि कड़वी होने के बावजूद इसकी पत्तियों का इस्तेमाल विभिन्न प्रकार की बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है।

नीम की पत्तियों का इस्तेमाल काढ़ा बनाने के लिए किया जाता है, साथ ही मुहासे और पिंपल को हटाने के लिए भी इसकी पत्तियों का इस्तेमाल होता है। नीम के पेड़ की पूजा हमारे भारत देश में हिंदू समुदाय के द्वारा की जाती है।

पीपल का पेड़

पीपल के पेड़ का भी हिंदू समुदाय में काफी धार्मिक महत्व है। कहा जाता है कि पीपल के पेड़ में सभी प्रकार के देवी देवता निवास करते हैं और पीपल के पत्ते में राक्षस निवास करते हैं।

पीपल के पेड़ की पूजा हिंदू समुदाय के द्वारा की जाती है। कहा जाता है कि पीपल के पेड़ को काटना नहीं चाहिए वरना पित्र दोष लगता है। तन मन धन से पीपल के पेड़ की सेवा करने से व्यक्ति को भगवानों की कृपा प्राप्त होती है।

कटहल का पेड़

कटहल के पेड़ को जैकफ्रूट ट्री कहा जाता है। हालांकि इसके बारे में एक दुविधा यह भी है कि कटहल के पेड़ में जो फल लगता है, वह फल है अथवा सब्जी। कटहल के पेड़ पर जो फल लगते हैं।

उनका आकार काफी बड़ा होता है और फलों के बाहर की जो सत्तह होती है, उस पर छोटे-छोटे कांटे होते हैं।‌ कटहल के कच्चे फलों को सब्जी के तौर पर खाया जाता है, साथ ही इसे पका करके भी खाया जाता है।

अमरूद का पेड़

अमरूद के पेड़ को सामान्य तौर पर जुलाई अथवा अगस्त के महीने में लगाया जाता है और 1 से 2 साल के अंदर ही इसका पेड़ फल देने लायक हो जाता है। अमरूद के पेड़ के कच्चे फल को नमक के साथ खाया जाता है।

इसके अलावा इसके पके हुए फल को भी नमक के साथ खा सकते हैं अथवा बिना नमक के ही खा सकते हैं। अमरूद के पेड़ की दातुन भी की जाती है। ऐसा करने से दांतों में मजबूती आती है और दातों की सफाई भी होती है।

सफेदा का पेड़

सफेदा का पेड़ मुख्य तौर पर लकड़ी प्राप्त करने के काम में आता है। लकड़ियों के जो ठेकेदार होते हैं वह अधिकतर चीजों का निर्माण करने के लिए सफेदे के पेड़ को ही काटते हैं। सफेदा का पेड़ भारत के ग्रामीण इलाके में भारी मात्रा में पाया जाता है।

इसकी गिनती व्यवसायिक पेड़ के तौर पर होती है। मतलब लोग सफेदे के पेड़ की खेती बिजनेस के उद्देश्य से करते हैं। सफेदे के पेड़ की लकड़ी काफी मजबूत होती है। इसलिए फर्नीचर तैयार करने के लिए इसकी लकड़ियों का ज्यादा इस्तेमाल होता है।

शीशम का पेड़

शीशम के पेड़ की गिनती सदाबहार पेड़ में होती है। शीशम के पेड़ की पत्ती काफी चौड़ी होती है और शीशम के पेड़ की लकड़ी का इस्तेमाल फर्नीचर तैयार करने के लिए किया जाता है। शीशम के पेड़ का तेल, छाल, फूल, पत्ती, जड़ सभी काफी उपयोगी वस्तुएं मानी जाती है।

शीशम के पत्तों को आंखों में जलन होने पर इस्तेमाल कर सकते हैं, साथ ही पाचन से संबंधित प्रॉब्लम को खत्म करने की ताकत भी शीशम के पत्ते और जड़ में होती है।

महुआ का पेड़

ठंडी के मौसम में महुआ के पेड़ पर फल पैदा होते हैं और 1 से 2 महीने के अंदर ही फल गिरने लगते हैं। महुआ के पेड़ की लकड़ी को काटा नहीं जाता है। हालांकि इसकी अवैध तस्करी होती है।

महुआ के पेड़ के फल का इस्तेमाल शराब बनाने के लिए किया जाता है, साथ ही लपसी जैसी स्वादिष्ट चीजों का निर्माण करने के लिए भी इसका इस्तेमाल होता है। महुआ को सुखा करके इसे मार्केट में बेचा भी जाता है।

सागवान का पेड़

सागवान के पेड़ की लकड़ी बहुत ही मजबूत होती है। इसके अलावा इसकी लकड़ी के दाम भी काफी अधिक होते हैं। हालांकि गवर्नमेंट ने सागवान की लकड़ी के कटान पर प्रतिबंध लगा दिया है परंतु फिर भी इसकी तस्करी होती है।

सागवान का इस्तेमाल दवा तैयार करने में भी होता है। मजबूत होने के कारण इसकी लकड़ी की डिमांड हमेशा मार्केट में बनी रहती है।

आम का पेड़

आम के पेड़ को अंग्रेजी भाषा में मैंगो ट्री कहा जाता है और गर्मियों के मौसम में ही आम के पेड़ पर आम के फल लगते हैं जो 3 से 4 महीने में पूरी तरह से पक करके तैयार हो जाते हैं। पके हुए आम को छिल कर के उसे सीधा खाया जाता है, साथ ही गर्मियों के मौसम में आम का जूस भी पिया जाता है।

इसके अलावा कच्चे आम की चटनी बनती है, साथ ही अचार भी बनता है। पूरी दुनिया भर में सबसे ज्यादा आम भारत देश में ही पैदा होता है। इसके बाद चीन का नंबर आता है। आम कई वैरायटी में उपलब्ध है।

बरगद का पेड़

बरगद के पेड़ को अंग्रेजी भाषा में बनियान ट्री कहा जाता है। बरगद का पेड़ आकार में बहुत ही बड़ा होता है। इसे वट वृक्ष भी कहा जाता है। हिंदू धर्म में बरगद के पेड़ का काफी धार्मिक महत्व है। इस पेड़ की पूजा भी की जाती है।

बरगद के पेड़ की जड़े काफी गहरी होती है, साथ ही इसकी शाखाएं भी लंबी होती है और यह इतनी मजबूत होती है कि कोई भी इंसान बरगद के पेड़ की शाखा को पकड़कर के झूला झूल सकता है। बरगद के पेड़ में से दूध जैसा पदार्थ निकलता है, जिसे लैक्टिक एसिड कहते हैं।

शरीर के अंगों के नाम और उनके कार्य

Leave a Comment