कैरम बोर्ड खेलने के नियम



दोस्तों आज हम एक ऐसे खेल के बारे में बात करने जा रहे है जो कि बच्चो से लेकर बूढ़ो तक बहुत अधिक पसंद किया जाता है | इस खेल को प्रत्येक उम्र के लोग खेलना पसंद करते है | पुरुष हो या फिर महिला यह गेम सभी के बीच बहुत ही लोकप्रिय है | यह एक इनडोर गेम होता है , जिसे खेलने के लिए आपको न ही कही जाना होता है, और न ही किसी बड़ी जगह कि जरूरत होती है | इसे आप अपने घर में किसी भी छोटी जगह या टेबल को बीच में रखकर, आराम से चेयर पर बैठकर एक साथ चार लोग खेल सकते है |

यहाँ पर हम बात कर रहे कैरम बोर्ड कि जो कि एक बहुत ज्यादा खेले जाने वाला खेल है | कैरम बोर्ड खेलने के कुछ नियम होते है इस गेम को खेलने के लिए आपको इन नियम को जानना जरूरी है | यहाँ आपको कैरम बोर्ड खेलने के नियम, Carrom Board Basic, International Rules in Hindi, के बारे में जानकारी दे रहे है |

फुटबॉल (Football) खेल के नियम

कैरम बोर्ड का डिज़ाइन (Carrom Board Design)

कैरम बोर्ड प्लाईवुड से बना हुआ एक वर्गाकार बोर्ड होता है, जिसके प्रत्येक कोने में होल पास होते है, जिसमे कैरम में खेलने वाली गोटियाँ गिराई जाती है | बोर्ड के चारो ओर लगभग आधा इंच लकड़ी का बॉर्डर होता है जो कि कैरम में खेले जाने वाली गोटी व् स्ट्राइक करने वाले स्ट्राइकर को बाहर जाने से रोकती है | कैरम का वर्गाकार आकार 76 सेंटीमीटर होता है |

इसका व्यास लगभग 4.5 तक का होता है, कैरम की ऊपरी सतह चिकनी होती है, जो गोटियों को कार्नर में बने छिद्र (Hole) तक जाने में सहायता प्रदान करती है | बोर्ड के बीच में एक डिज़ाइन व्रत होता है जिसमे सभी गोटियाँ व् क़्वीन को सजाया जाता है | बोर्ड के चारो तरफ पट्टी खींची होती है, जिसकी लम्बाई 47 सेंटीमीटर व् चौड़ाई 3 सेंटीमीटर होती है | यह पट्टिया स्ट्राइकर लाइन कहलाती है | जिस पर गेम खेलने वाला व्यक्ति स्ट्राइकर को रख गोटियों में स्ट्राइक करता है |

बैडमिंटन खेल के नियम

कैरम खेलने की सामग्री (Carrom Playing Material)

कैरम खेलने के लिए ज्यादा सामग्री की आवश्यकता नहीं होती है | इसमें बस एक स्ट्राइकर होता है | दो रंगो वाली 9 – 9 गोटियाँ होती है, और एक लाल रंग कि गोटी होती है जिसे क़्वीन कहते है | कैरम की ऊपरी सतह में डालने के लिए पाउडर होता है, जिससे इसकी ऊपरी सतह चिकनी बनीं रहे |

कैरम बोर्ड खेलने का तरीका (How To Play Carrom Board)

यह खेल दो तरह से खेला जाता है इसमें आप सिंगल या डबल (टीम) बना कर खेल सकते है | खेल की शुरुआत करने से पहले बोर्ड के ऊपर पाउडर डालकर सतह को चिकना किया जाता है | फिर उसके बाद बोर्ड के बीच में बने व्रत में काले व् सफ़ेद रंग कि गोटियों को सजाया जाता है सफ़ेद रंग की गोटियों को इस तरह से लगाया जाता है कि वे Y शेप में बने |

व्रत के बीचों बीच लाल रंग की गोट यानि क़्वीन को रखा जाता है | इसके बाद खेल का आरम्भ होता है जो ख़िलाड़ी जिस रंग कि गोट को चुनता है वह केवल उसी रंग की गोट को प्राप्त करने के लिए चाल चलता है | इसमें एक स्ट्राइकर होता है जिससे ख़िलाड़ी गोट को हिट कर छिद्र (Hole) में डालकर प्राप्त कर लेता है, प्रत्येक गोट प्राप्त करने पर एक अंक प्राप्त होता है, इसमें एक क़्वीन होती है | जिसे प्राप्त करने के लिए आपको पहले क़्वीन और फिर एक गोट को भी प्राप्त करना होता है |

यदि आप क़्वीन के बाद एक और गोट को प्राप्त करने में सफल नहीं होते है, तो उस क़्वीन को फिर से वृत्त के बीचों बीच रख दिया जाता है | एक पारी में 29 अंक होते है, ऐसी ही तीन परिया खेली जाती है जितने वाली टीम को दो परियो में जीत प्राप्त करनी होती है | अंत में जिस ख़िलाड़ी के पास ज्यादा अंक होते है वह अंत में विजय घोषित होता है |

कबड्डी (Kabaddi) में करियर कैसे बनायें

फ़ाउल के नियम : कैरम में फ़ाउल के भी कई नियम होते है

  1. यदि आप स्ट्राइक लाइन के साइड में बने तीर को पार करते हुए स्ट्राइक करते है तो फिर वह फ़ाउल माना जाता है | 
  2. अगर आप सामने वाले ख़िलाड़ी की चुनी गई गोट को होल में गिरा देते है, तब ऐसी स्थिति में भी आपको फ़ाउल देना होता है | 
  3. यदि आपका स्ट्राइकर किसी गोट को बिना छुए या किसी गोट के साथ स्ट्राइकर छिद्र (Hole) में गिर जाता है, तो भी आपके ऊपर फ़ाउल का नियम लागू होता है | 
  4. जब बोर्ड में सभी गोटियाँ खिलाड़ियों द्वारा प्राप्त कर ली जाती है, और क़्वीन के साथ गोट रह जाती है तब अगर आप गोट को क़्वीन से पहले होल में पंहुचा देते है तो आपको फ़ाउल देना होता है | 
  5. यदि आपका स्ट्राइकर लकड़ी के बने बॉर्डर को पार कर बाहर चला जाता है, तब भी प्लेयर पर फ़ाउल का नियम लागू होता है |
  6. इसके अलावा यदि आपका स्ट्राइकर होल यानि कि छिद्र में चला जाता है, ऐसे में आप पर फ़ाउल का नियम लागू किया जाता है |

शतरंज कैसे खेला जाता है

यहाँ आपको कैरम बोर्ड (Carrom Board) के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि आपको इससे सम्बंधित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप www.hindiraj.com पर विजिट कर सकते है | इसके साथ अपने विचार या सुझाव अथवा प्रश्न कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूंछ सकते है | हम आपके सुझावों का हमे इन्तजार है |

फ्री हिट (Free – Hit) क्या है

Leave a Comment