जीएसटी में करियर कैसे बनाएं?



GST Me Career Kaise Banaye – जीएसटी, या वस्तु एवं सेवा कर, वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति पर लगाया जाने वाला एक अप्रत्यक्ष कर है। दोस्तों अगर आप जीएसटी के एक्सपर्ट बनना चाहते हैं , तो हमारा आज का यह आर्टिकल आपके बहुत काम आने वाला हैं, क्योकि आज हम आपको बतायेगें की आप 10वीं या 12वीं की परीक्षा के बाद “GST में अपना करियर कैसे बना सकते हैं। साथ ही आप जीएसटी में काम करके कैसे ढेर सारा पैसे कमा सके। चलिए दोस्तों जानते हैं कि जीएसटी में कौन-कौन से काम कर सकते हैं,  आदि से संबधित सभी जानकारी को जानने के लिए आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़ें।

GST का क्या मतलब होता है

जीएसटी क्या है – जीएसटी में करियर कैसे बनाएं?

GST का फुल फॉर्म Goods & Service Tax होता है जिसका हिंदी में मतलब वस्तु और सेवा कर होता है। गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स, यानी वस्तु एवं सेवा कर, अपने आप में एक बड़ा क्रांतिकारी कदम था और पूरे देश में एक समान टैक्स की व्यवस्था करने में इसकी भूमिका से इनकार नहीं किया जा सकता है। GST सभी वस्तुओ पर लगाया जाता हैं। आज हम जीएसटी से रिलेटेड बहुत सारे सवालों का जवाब जानने वाले हैं, जोकि बहुत ही महत्वपूर्ण है। भारत में वस्तु और सेवा कर (Goods & Service Tax) अधिनियम एक्ट द्वारा 29 मार्च  2017 को पारित किया गया, उसके बाद से अब तक GST ही भारत में चल रही है।

GST Me Career Kaise Banaye


जीएसटी के लिए जरूरी

1 जुलाई 2017 से यह पूरे देश में लागू कर दिया गया। जीएसटी आने के बाद अब ऐसे प्रोफेशनल्स की भी भारी डिमांड हो चुकी है, जो इन कोर्सेज में विशेषज्ञ हों, जो समझ सकें और समझा सकें कि कस्टमर के लिए क्या बेहतर है। इसमें सबसे पहले बिगनर कोर्स आता है। आपको 24 से 48 घंटे तक की क्लास रूम ट्रेनिंग दी जाती है और तमाम जीएसटी के बेसिक्स की जानकारी आपको दी जाती है। सामान्य तौर पर यह कोर्स 5000 तक आपको मार्केट में उपलब्ध हो जाता है। आप चाहे तो जीएसटी का काम टैली सीख कर भी कर सकते हैं, लेकिन इसमें जीएसटी का पूरी जानकारी आपको नहीं मिल पाएगी यदि आपको पूरी जानकारी चाहिए तो आपको जीएसटी का कोर्स करना पड़ेगा।



जीएसटी बिल क्या होता है ?

जीएसटी कोर्स के फायदे

दोस्तों हम आपको बता दें की जीएसटी कोर्स करने से हमें विभिन्न प्रकार के फायदे हैं। जैसे -मौजूदा चुनौतियों की काफी अच्छी जानकारियां मिलती हैं। इस कोर्स को करने के दौरान तथा इसके बाद में जीएसटी के संबंध में आपके सारे dout क्लियर हो जाते हैं। इसके आलावा जीएसटी लोगो को जागरूक बनाने में अहम हैं। इस कोर्स को पूरा करने के बाद सभी लोगों को जीएसटी के बारे में अच्छी तरह से नॉलेज प्राप्त हो जाती हैं।

img-2

ई वे बिल (E Way Bill) क्या है

जीएसटी के कोर्स

चलिए जानते हैं जीएसटी के कोर्स कौन कौन से हैं –

  • जैसे -ग्रेजुएशन पास वाले कर सकते हैं,
  • बैंकिंग स्टैटिक्स (Banking, Statistics) के लोग,
  • फाइनेंशियल मार्केट्स एंड बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (Financial Markets and Business Administration) के लोग,
  • कंपनी के सेक्रेट्रीज (Company Secretaries) कर सकते हैं ये कोर्स,
  • चार्टर्ड अकाउंट (CA) भी यह कोर्स कर सकते हैं।

Digital Personal Data Protection Bill क्या है

जीएसटी कोर्स में कैरियर कैसे बनाएं

जैसा की हम सभी जनते हैं की हर शिक्षित व्यक्ति के मन ये सवाल होता हैं की अपना कैरियर कैसे बनाएं? अगर आप भी जीएसटी कोर्स में कैरियर चाहते हैं तो आप लोगों को बता दूं कि भारत सरकार के द्वार करा रहे हैं एक 100 घंटे के कोर्स जो कि आप लोग जीएसटी में कैरियर बनाने में सहायता करेगा।

जीएसटी कोर्स भारत में कौन -कौन से हैं –

GST BEGINNERS COURSE

भारत में लाभार्थि Students को A Professional ई लर्निंग (E-learning) जीएसटी(GST) की डायरेक्ट ट्रेनिंग On Campus Training Program Corporate Workshop National or International Certificate आदि कोर्स दिए जाते हैं। ये सभी 12वीं के बाद Diploma Course कर सकते हैं इस कोर्स की अवधि 24 घंटे से 40 घंटे का होता है। इसके आलावा 4000 तक इसकी फीस होती हैं।

सेस क्या होता है

GST INTERMEDIATE COURSE

स्टूडेंट्स इस कोर्स को करने के बाद GST INTERMEDIATE COURSE (GST-02) को कर सकते हैं। ये कोर्स मैनजेर के लिए बेहतर माने जाते हैं। जिसकी फीस 6000 तक है। साथ ही इसकी अवधी(Time) की बात किया जाए तो 36 घंटे से लेकर 60 घंटे तक का होता है।

GST TALLY ERP9/PRIME

दोस्तों इस कोर्स की फीस (Fees) ई लर्निंग में 3000 होते हैं। इस कोर्स को करने के लिए ट्रेनिंग की बात किया जाए तो 18 से लेकर 30 घंटे तक का होता है।

जीएसटी सुविधा केंद्र कैसे खोलें

GST EXPERT LEVEL

आप यह कोर्स 10वीं एवं 12वीं के बाद कर सकते हैं। साथ ही इस कोर्स का ट्रेनिंग 72 से 120 घंटे का होता है। इस कोर्स(Course) को करने के बाद Higher GST Diploma Course भी कर सकते हैं।

GST BUSINESS MANAGEMENT

अगर आप इस कोर्स को करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें, की इस कोर्स को करने के लिए भी ई लर्निंग या स्टडी मटेरियल मिल जाते हैं जिस की फीस (Fees)  7500 होती हैं इस कोर्स की ट्रेनिंग अवधि 36 घंटे से लेकर 60 घंटे तक का होता है।

GDP, GNP, NNP का क्या मतलब है

जीएसटी में काम करने के लिए योग्यता

  • आप जीएसटी में सरकारी नौकरी करना चाहते हैं तो आपकी योग्यता निम्न होनी अनिवार्य हैं जैसे –
  • स्नातक या स्नातक से ऊपर शिक्षा प्राप्त।
  • जीएसटी का कोर्स पूरी तरह से किया हुआ होना चाहिए।
  • इसके आलावा प्राइवेट सेक्टर में काम करने के लिए कम से कम 12वीं पास होना चाहिए।

जाने जीएसटी का इतिहास

जैसा की हम सभी जानते हैं की जीएसटी को 1 जुलाई 2017 से लागू कर दिया गया। लेकिन हम आपको बता दें की हमारे देश भरता में जीएसटी सबसे पहले वर्ष 2003 मे Tax को सुधार करने के लिए आगे बढ़ते हुए जीएसटी के लिए एक समिति का गठन किया था तब प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की सरकार थी जिसका नाम केलकर समिति था। इसके बाद जब कांग्रेस पार्टी की UPA सरकार ने वर्ष 2006 में जीएसटी को सदन में पास करवाने के लिए रेखांकित किए गए थे। लेकिन फिर भी इसे विधायक संसद में आगे बढ़ने से रोक दिया गया।

जीएसटी परिषद (काउंसिल) क्या है

जीएसटी ट्रांजैक्शंस

इसमें 20 लाख से अधिक आपका टर्नओवर है। जिसमें आप एक टैक्सेबल सिटीजन के तौर पर जीएसटी रजिस्ट्रेशन कराने के योग्य हो जाते हैं।

जीएसटी रिटर्न

अगर बात करें जीएसटी रिटर्न की तो इसमें अलग-अलग फॉर्म होते हैं, जिसमें सेल, परचेज और दूसरे टैक्स इत्यादि की डिटेल भरनी होती है।

जीएसटी एकाउंटिंग

तीसरा जो सबसे ज्यादा काम आता हैं वह जीएसटी एकाउंटिंग का काम होता है। इसमें बारीकी से कैलकुलेशन को चेक किया जाता है और विभिन्न बिजनेस और आपकी संस्था की विशेष जरूरतों को पूरा करने की प्रक्रिया करनी होती है।

टैली (Tally) क्या होता है ?

जीएसटी रिकॉर्ड

जिसमें एडिशनल जीएसटी अकाउंटिंग और रिकॉर्ड कीपिंग रिक्वायरमेंट शामिल किया जाता है। इसे ड्राफ्ट रिकॉर्ड्स रूल्स भी कहा जाता हैं।

FAQ’s
जीएसटी क्या है?

जीएसटी, या वस्तु एवं सेवा कर, वस्तुओं और सेवाओं की आपूर्ति पर लगाया जाने वाला एक अप्रत्यक्ष कर है। यह एक बहु-स्तरीय, गंतव्य-उन्मुख कर है जो प्रत्येक मूल्यवर्धन पर लगाया जाता है।

जीएसटी का मुख्य उद्देश्य क्या है?

जीएसटी का मुख्य उद्देश्य पूरे देश को एक कर व्यवस्था के तहत लाना है।

GST कैसे लगता है?

जीएसटी की दर 18% है जिसमें सीजीएसटी 9% की दर और 9% एसजीएसटी दर शामिल है।

जीएसटी की दर 18% है जिसमें सीजीएसटी 9% की दर और 9% एसजीएसटी दर शामिल है।

फ्रांस को विश्व में GST का जनक कहा जाता है क्योंकि वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) लागू करने वाला फ्रांस दुनिया का पहला देश था ।

गूगल से पैसे कैसे कमाए

Leave a Comment