एक्सप्रेस वे (Expressway) क्या होता है ?



संसार के सबसे बड़े सड़कों का जाल प्रायः भारत में देखा जाता है, अतः एक राज्य से दूसरे राज्य में वाहनों के आगमन हेतु कई सारे एक्सप्रेस वे (Express way) का निर्माण किया गया है। ऐसे में अक्सर कई सारे  काफी लोगों के मन में यह सवाल पैदा होता है कि आखिर एक्सप्रेसवे क्या होता है? और भारत में कुल कितने एक्सप्रेसवे मौजूद हैं ?

img-1


आपने देखा होगा कि भारत में कुछ सड़कें ऐसी होती है, जहां ट्रैक पर एक साथ 3 से 4 गाड़ियां चल सकती है। वहीं कुछ सड़के ऐसी होती है जिस पर एक साथ सिर्फ 2 गाड़ियां ही जा सकती है, उनमें से कुछ सड़कों को नेशनल हाईवे कहा जाता है तो कुछ सड़कों को एक्सप्रेस वे भी कहा जाता है।

एक बात तो तय है की सामान्य सड़कों की तुलना में एक्सप्रेस वे पर चलने वाले वाहनों की रफ्तार बेहद अधिक होती है। तो चलिए आज हम जरा विस्तार से “एक्सप्रेस वे (Expressway) क्या होता है ? भारत में कितने एक्सप्रेस वे है [List of Expressway in India] इस विषय पर जानकारी हासिल करते हैं।

भारत के कुल कितने राष्ट्रीय राजमार्ग है

एक्सप्रेसवे क्या है ? What is Expressway in Hindi

Table of Contents



एक्सप्रेस वे को प्रायः हिंदी में द्रुतमार्ग भी कहा जाता है, यह उच्च गति की हाईवे रोड होती है जिस पर तेज रफ्तार के साथ वाहनों का आवागमन बना रहता है और किसी विशेष उद्देश्य के साथ अक्सर एक्सप्रेसवे का निर्माण किया जाता है। 

एक्सप्रेस वे में कुल 6 से लेकर के 8 लेन होते हैं। इस प्रकार से एक्सप्रेस वे पर एक ही दिशा में साइड से 6 से लेकर 8 गाड़ियां जा सकती हैं। एक्सप्रेस वे पर जाने के लिए किसी खास बिंदु पर वाहन की एंट्री होती है और उससे बाहर निकलने के लिए एग्जिट  पॉइंट होता है। 

एक्सप्रेस वे पर आधुनिक हाईवे ट्रेफिक मैनेजमेंट सिस्टम लगे हुए रहते हैं।

इस प्रकार से जिन लोगों को किसी जगह पर जल्दी से पहुंचना है वह एक्सप्रेसवे का इस्तेमाल करते हैं। वर्तमान के समय में यातायात के क्षेत्र में एक्सप्रेस वे काफी महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहा है, क्योंकि इसकी वजह से व्यक्ति और सामान का आवागमन तेजी के साथ हो रहा है और लोगों को जरूरी चीजें भी प्राप्त हो जा रही है।

दुनिया में सड़क परिवहन के मामले में दूसरा सबसे बड़ा नेटवर्क भारत देश में ही मौजूद है। इसके अलावा सबसे अधिक व्यस्त सड़क नेटवर्क अमेरिका में मौजूद है। एक्सप्रेस वे की खासियत यह होती है कि इस पर वाहनों की रफ्तार निश्चित होती है। जैसे कि 80 किलोमीटर प्रति घंटा या 100 किलोमीटर प्रति घंटा।

भारत में मौजूद विशेष एक्सप्रेसवे | Popular Expressway In India In Hindi

एक अंदाज के मुताबिक भारत में एक्सप्रेसवे की संख्या वर्तमान के समय में 26 है। कई एक्सप्रेस-वे का निर्माण अभी हमारे भारत देश में हो रहा है और कई एक्सप्रेसवे उद्घाटन के लिए इंतजार कर रहे हैं। नीचे आपके सामने हमने भारत के प्रमुख एक्सप्रेसवे की जानकारी दी है।

यमुना एक्सप्रेसवे 

इसे ताज एक्सप्रेस वे भी कहते हैं जिसकी लंबाई 165 किलोमीटर है और इसमें टोटल 6 लेन मौजूद है। यमुना एक्सप्रेसवे ग्रेटर नोएडा को आगरा शहर से जोड़ने का काम करता है। इस एक्सप्रेस-वे में सात इंटरचेंज और कई प्रमुख पुल मौजूद है।

मुंबई पुणे एक्सप्रेस वे

मुंबई पुणे एक्सप्रेसवे की कुल लंबाई 93 किलोमीटर है। मुंबई पुणे एक्सप्रेस वे भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई को पुणे शहर से जोड़ने का काम करता है। इस एक्सप्रेस वे के द्वारा मुंबई से पुणे अथवा पुणे से मुंबई सिर्फ 2 घंटे के अंदर ही पहुंचा जा सकता है।

जयपुर-किशनगढ़ एक्सप्रेसवे 

Jaipur-kishangarh एक्सप्रेस वे किशनगढ़ शहर को जयपुर शहर से जोड़ने का काम करता है और इस एक्सप्रेस-वे की कुल लंबाई 90 किलोमीटर है और यह 6 लेन एक्सप्रेसवे है, जिसे इंडिया का बेस्ट एक्सप्रेसवे कहा जाता है।

अहमदाबाद-वडोदरा एक्सप्रेसवे 

वडोदरा अहमदाबाद एक्सप्रेसवे को नेशनल एक्सप्रेसवे 1 के तौर पर भी जाना जाता है, जो ग्रीन सिटी अहमदाबाद को बड़ोदरा शहर से जोड़ने का काम करता है।Ahmedabad-Vadodara एक्सप्रेसवे की कुल लंबाई 95 किलोमीटर है जो नेशनल हाईवे 8 से होकर गुजरता है।

दिल्ली-गुड़गांव एक्सप्रेसवे 

ग्रीन दिल्ली को गुड़गांव शहर से जोड़ने वाले एक्सप्रेसवे को दिल्ली गुड़गांव एक्सप्रेसवे कहा जाता है जो कि स्वर्णिम चतुर्भुज योजना का हिस्सा है। इस एक्सप्रेस वे की कुल लंबाई 28 किलोमीटर है।

वेस्टर्न एक्सप्रेसवे 

वेस्टर्न एक्सप्रेस वे 8 से 10 लेन वाला एक्सप्रेसवे है और इसकी लंबाई 25.33 किलोमीटर की है।

ईस्टर्न एक्सप्रेसवे 

ईस्टर्न एक्सप्रेसवे में लेन की संख्या 6 है और यह छत्रपति शिवाजी टर्मिनल से स्टार्ट होता है और ठाणे शहर तक जाता है और इसकी टोटल लंबाई 23 किलोमीटर है।

प्रयागराज-बाईपास एक्सप्रेसवे 

प्रयागराज बाईपास एक्सप्रेस वे की लंबाई 82 किलोमीटर है और यह भी स्वर्णिम चतुर्भुज योजना का हिस्सा है। इसमें लेन की संख्या 4 है।

नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे 

ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश को दिल्ली शहर से जोड़ने का काम करता है और इसमें टोटल 6 लेन मौजूद है। इसकी लंबाई 24 किलोमीटर है।

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की शुरुवात लखनऊ-सुल्तानपुर रोड पर मौजूद चांद सराय गांव से होती है और यह गाजीपुर जिले में यूपी बिहार सीमा से 18 किलोमीटर दूर नेशनल हाईवे 31 पर हैदरिया गांव के आसपास जाकर खत्म होती है। इसकी कुल लंबाई 380.8 किलोमीटर की है और पूर्वांचल एक्सप्रेस वे में 6 लेन मौजूद है।

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की कुल लंबाई 296 किलोमीटर है और 16 जुलाई साल 2022 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा जालौन जिले के कठेरी गांव में इस एक्सप्रेस वे का उद्घाटन किया गया है। इस एक्सप्रेस वे में टोटल 4 लेन मौजूद है। बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश के चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर, जालौन जिले से होकर गुजरेगा।

अमृतसर-जामनगर एक्सप्रेस वे

अमृतसर जामनगर एक्सप्रेस वे की कुल लंबाई 1316 किलोमीटर है। यह एक्सप्रेसवे पंजाब राज्य के अमृतसर शहर को गुजरात  के जामनगर शहर से जोड़ने का कार्य करता है। और इस एक्सप्रेस वे पर रास्ते में अमृतसर,फरीदकोट, बठिंडा, अबोहर, श्री गंगानगर, बीकानेर, नागौर, जोधपुर, राधनपुर, जामनगर जैसे शहर पडते हैं। इस प्रकार से यह एक एक्सप्रेस वे राजस्थान, पंजाब और गुजरात राज्यों को जोड़ने का काम करता है।

गंगा एक्सप्रेसवे

गंगा एक्सप्रेसवे के द्वारा पश्चिम और पूर्वी उत्तर प्रदेश को जोड़ा गया है और इसकी कुल लंबाई 600 किलोमीटर के आसपास में है। गंगा एक्सप्रेस वे से जाने पर मार्ग में प्रयागराज, रायबरेली, लखनऊ, कानपुर, कन्नौज, हरदोई, फर्रुखाबाद, बडाऊ, अमरोहा और मेरठ जैसे जिले पड़ते हैं।

रायपुर विशाखापट्टनम एक्सप्रेस वे

रायपुर विशाखापट्टनम एक्सप्रेस वे छत्तीसगढ़ राज्य के रायपुर जिले को आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम शहर के साथ जोड़ने का कार्य करता है। इसकी कुल लंबाई 465 किलोमीटर है और यह एक्सप्रेसवे उड़ीसा, छत्तीसगढ़ और आंध्र प्रदेश जैसे राज्यों से होकर गुजरता है। इस एक्सप्रेस वे से जाने पर रास्ते में धमतरी, कांकेर, कोरापुट, नवरतनपुर जैसे इलाके आते हैं।

दिल्ली-जयपुर एक्सप्रेसवे

जयपुर और दिल्ली शहर को आपस में जोड़ने का कार्य दिल्ली जयपुर एक्सप्रेसवे करता है, जिसकी कुल लंबाई 195 किलोमीटर है। यह एक्सप्रेसवे भी दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान जैसे राज्यों को आपस में जोड़ने का काम करता है। इस एक्सप्रेस-वे से जाने पर रास्ते में मानेसर, पटौदी, रेवाड़ी, झज्जर, बहरोड, कोटपूतली, शाहपुरा और जयपुर जैसे इलाके आते हैं।

आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे

आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे देश के प्रसिद्ध एक्सप्रेस वे में से एक है जिसकी कुल दूरी 302 किलोमीटर है। इसका निर्माण उत्तर प्रदेश एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के द्वारा करवाया गया है। आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे की वजह से दोनों ही शहरों के बीच की दूरी काफी कम हो गई है। इस एक्सप्रेस वे में टोटल 6 लेन है, जिसका भविष्य में विस्तार कर 8 लेन बनाने की योजना है। साल 2016 में 21 नवंबर के दिन अखिलेश यादव के द्वारा इस एक्सप्रेस वे का उद्घाटन किया गया था।

भारत के शहरों की सूची

भारत में वर्तमान चालू एक्सप्रेसवे [List of Current Expressway in India]

एक्सप्रेस वे का नाम कुल दूरी 
 अहमदाबाद वडोदरा एक्सप्रेसवे:  95 किलोमीटर
  इलाहाबाद बायपास एक्सप्रेसवे: 86 किलोमीटर
  अंबाला चंडीगढ़ एक्सप्रेसवे: 35 किलोमीटर
  बेलघरिया एक्सप्रेसवे:  8 किलोमीटर
  चेन्नई बायपास:32 किलोमीटर
चेन्नई आउटर रिंग रोड:  29 किलोमीटर
 दिल्ली गुड़गांव एक्सप्रेसवे: 27 किलोमीटर
  दिल्ली वेस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे: 58 किलोमीटर
  डीएनडी टोल प्लाजा: 9.2 किलोमीटर
दुर्गापुर एक्सप्रेसवे: 65 किलोमीटर
  मुंबई ईस्टर्न फ्रीवे:  16.8 किलोमीटर
  होसुर रोड एक्सप्रेस वे: 99 किलोमीटर  
हिमालयन एक्सप्रेसवे: 25.5 किलोमीटर  
हैदराबाद एक्सप्रेस वे: 11.6 किलोमीटर  
हैदराबाद बाहरी रिंग रोड एक्सप्रेसवे: 158 किलोमीटर
जयपुर एक्सप्रेसवे: 8 किलोमीटर  
जयपुर-किशनगढ़ एक्सप्रेसवे: 90 किलोमीटर
कोना एक्सप्रेसवे: 8 किलोमीटर
  नॉएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे: 24.5 किलोमीटर
  पानीपत एक्सप्रेसवे: 10 किलोमीटर
  मुंबई वेस्टर्न फ्रीवे: 29.3 किलोमीटर
यमुना एक्सप्रेसवे:  165 किलोमीटर

भारत में निर्माणाधीन एक्सप्रेसवे [Under developed/ Under Construction Expressway in India]

  • अमरावती आउटर रिंग रोड |
  • अमरावती अनंतपुर एक्सप्रेसवे |
  • बीजू एक्सप्रेसवे |
  • बमरोली आलथान एक्सप्रेसवे |
  • बेंगलुरु चेन्नई एक्सप्रेस वे |
  • बेंगलुरु मैसूर एक्सप्रेस वे |
  • चेन्नई आउटर एक्सप्रेसवे |
  • चेन्नई पोर्ट मधुरावोयल एक्सप्रेसवे |
  • दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे |
  • कडापा फीडर एक्सप्रेसवे |
  • कुरनूल फीडर एक्सप्रेसवे |
  • मुंबई नागपुर एक्सप्रेस वे |
  • मुंबई नासिक एक्सप्रेसवे |
  • मुंबई वडोदरा एक्सप्रेसवे |
  • शिमला चंडीगढ़ एक्सप्रेसवे |
  • उधमपुर जम्मू एक्सप्रेस वे |
  • ऊपरी गंगा कैनाल एक्सप्रेस वे|
  • नर्मदा एक्सप्रेस वे |
  • चंबल एक्सप्रेस वे |

एक्सप्रेस वे के लाभ | Advantages of Express Way

एक्सप्रेस वे के फायदे निम्न है।

  • एक्सप्रेस वे की वजह से इंडस्ट्रियल सिटी का डेवलपमेंट होता है क्योंकि जिस जगह से एक्सप्रेसवे हो करके गुजरते हैं वहां की सिटी डेवलपमेंट के लिहाज से कंपनियों की नजर में प्राथमिक स्तर पर रहती है।
  • किसी मरीज को अगर किसी बड़े अस्पताल में रेफर किया जाता है तो एक्सप्रेस वे की वजह से उस मरीज को उस अस्पताल तक जल्दी से पहुंचाया जा सकता है।
  • एक्सप्रेस-वे का निर्माण होने से लाखों लोगों को रोजगार की प्राप्ति भी होती है, जिनमें महिलाएं भी शामिल है।
  • एक्सप्रेसवे बन जाने की वजह से लोगों को अपनी मंजिल तक पहुंचने में कम समय लगता है।
  • आर्थिक विकास को गति देने में भी एक्सप्रेस वे महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है।
  • बिजनेस के लिए भी एक्सप्रेस वे काफी सहायक साबित होता है, क्योंकि इसके द्वारा ट्रांसपोर्ट का काम काफी तेजी से होने लगता है।

एक्सप्रेसवे और हाईवे में अंतर | Difference Between Highway and Express way

एक्सप्रेसवे और हाईवे में क्या अंतर होता है, आइए जानते हैं।

  •  हाईवे पर चार पहिया गाड़ियों की अधिकतम चलने की रफ्तार 100 किलोमीटर प्रति घंटा होती है और दोपहिया वाहनों की स्पीड 80 किलोमीटर प्रति घंटा होती है। वही एक्सप्रेस वे पर वाहनों की अधिकतम गति 120 किलोमीटर प्रति घंटा होती है।
  • हाईवे पर दोपहिया वाहनों को चलने की परमिशन होती है जबकि एक्सप्रेस वे पर दोपहिया वाहनों की इजाजत नहीं होती है।
  • एक्सप्रेस वे में सामान्य सड़कों को जॉइंट नहीं किया जाता है और अगर कोई सड़क जॉइंट की जाती है तो वहां पर टोल बूथ लगाया जाता है वही हाईवे पर नॉर्मल सड़क को भी जॉइंट किया जाता है।
  •  हाईवे पर चढ़ने के लिए थोड़ी थोड़ी दूर पर रास्ते मौजूद होते हैं परंतु एक्सप्रेसवे पर चढने के लिए और एक्सप्रेसवे से बाहर निकलने के लिए किसी निश्चित जगह पर ही रास्ता होता है।

FAQ: 

एक्सप्रेस-वे को हिंदी में क्या कहते हैं ?

द्रुतगामी

एक्सप्रेस वे किसे कहते है ?

जिस पर वाहनों के चलने की स्पीड अधिक हो।

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे की लंबाई कितनी है ?

380.8 किलोमीटर

भारत में सबसे ज्यादा एक्सप्रेस वाला राज्य कौन सा है ?

उत्तर प्रदेश

भारत का पहला एक्सप्रेस में कौन सा है ?

मुंबई पुणे एक्सप्रेसवे

भारत के राज्य और राजधानी की सूची

Leave a Comment