मणिपुर में कितने जिले हैं

जब मणिपुर राज्य (Manipur State of India) को भारत में शामिल किया गया था तब इसमें कुल जिलों की संख्या 9 थी। हालांकि बाद में आगे बढ़ते हुए प्रशासनिक सुविधा और भौगोलिक सुगमता के लिए अन्य जिलों का भी निर्माण किया गया और इस प्रकार से मणिपुर में जिले की संख्या बढ़ गई। 

मणिपुर में जनसंख्या के मामले में पहले नंबर पर इंफाल वेस्ट जिला का नाम आता है और क्षेत्रफल के मामले में चुराचांदपुर जिला पहले स्थान पर है। इस आर्टिकल में हम आपको बता रहे हैं कि “मणिपुर में कुल कितने जिले हैं” अथवा “मणिपुर में कुल जिले की संख्या कितनी है।”

अरुणाचल प्रदेश में कितने जिले हैं

मणिपुर में कितने जिले हैं ?

देश के उत्तर पूर्वी राज्यों में शुमार मणिपुर राज्य में वर्तमान समय में कुल 16 जिले मौजूद है। और इस राज्य में कुल गांवों की संख्या 2639 है। 

वर्ष 1947 में 11 अगस्त के दिन महाराजा बुध चंद्र के द्वारा मणिपुर को भारत में विलय होने की इच्छा जताई गई थी। और इसके पश्चात कार्रवाई करते हुए साल 1949 में 21 सितंबर के दिन विलय पत्र पर हस्ताक्षर किए गए और इस प्रकार से मणिपुर भारत देश में शामिल हो गया और अखंड भारत का हिस्सा बना।

मणिपुर के सभी जिले के नाम | Name of Districts in Manipur (List)

  • बिष्णुपुर जिला |
  • छुरछंदपुर जिला |  
  • चंदेल जिला |
  • इंफाल ईस्ट जिला |
  • सेनापति जिला |
  • तमेंगलोंग जिला |    
  • थौबल जिला |  
  • उखरूल जिला |
  • इम्फाल वेस्ट जिला | 
  • कक्किंग जिला |
  • जिरीबाम जिला |
  • कमजोंग जिला |
  • नोनी जिला |
  • फेरजॉल जिला |
  • टेंगनूपाल जिला |
  • कांगपोकपि जिला | 

मणिपुर का नक्शा (Map of Manipur)

मणिपुर के सर्वाधिक साक्षरता वाले जिले 

महिला, पुरुषों और बच्चों को मिलाकर के मणिपुर में सबसे अधिक पढ़ा-लिखा जिला इंफाल वेस्ट जिला है। इंफाल वेस्ट जिले की साक्षरता की दर 86.08% है। 

इसके बाद दूसरे स्थान पर चुरा चांदपुर जिले का नंबर आता है। यहां की साक्षरता की दर 82.78 प्रतिशत है। इसके बाद तीसरे स्थान पर इंफाल पूर्व जिले का नाम आता है। यहां की साक्षरता की दर 81.95% है। इसके बाद 81.35% के साथ मणिपुर का उखरुल जिला साक्षरता के मामले में चौथे स्थान पर है।

मणिपुर का सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला

पूरे देश के अलग-अलग राज्यों के साथ ही साथ मणिपुर में साल 2011 में सामाजिक, आर्थिक और जातीय जनगणना हुई थी। उस जनगणना के हिसाब से मणिपुर में सबसे अधिक आबादी इंफाल वेस्ट इलाके में रहती है। 

इसके बाद दूसरे स्थान पर इंफाल पूर्व और तीसरे स्थान पर थोबल जिले का नाम आता है। इंफाल वेस्ट जिले में 517992 आबादी निवास करती है वही इंफाल पूर्व जिले में 456113 आबादी निवास करती है। इसके अलावा मणिपुर के थोबल जिले में कुल आबादी 422168 है।

मणिपुर के पड़ोसी राज्य, जिले और देश

हिंदुस्तान के पूर्वोत्तर में मौजूद मणिपुर एक बहुत ही बेहतरीन और प्राकृतिक खूबसूरती से युक्त राज्य है। इसके एक साइड बॉर्डर म्यानमार देश की सीमा को टच करता है और बाकी की तीन तरफ से यह असम, नागालैंड और मिजोरम जैसे राज्यों के साथ जुड़ा हुआ है। 

मणिपुर को उत्तर की दिशा में नागालैंड के जिले छूते हैं, जबकि पश्चिम की दिशा में आसाम के जिले और दक्षिण की दिशा में मिजोरम के जिले टच करते हैं। इसके अलावा सारा पूर्वी भाग म्यानमार देश के बॉर्डर को टच करता है।

त्रिपुरा में कितने जिले हैं

मणिपुर का सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला

महिलाओं और पुरुषों के मामले में मणिपुर राज्य में सबसे बेहतरीन लिंगानुपात इंफाल वेस्ट जिले का है। यहां पर प्रति 1000 पुरुषों पर 1031 महिलाएं हैं। 

इसके बाद दूसरे स्थान पर सबसे अच्छी पोजीशन इंफाल पूर्व इलाके की है, जहां पर प्रति एक हजार पुरुषों पर 1017 महिलाएं हैं। वहीं तीसरे स्थान पर थोबल जिला काबीज है। यहां पर प्रति 1000 पुरुषों पर 1002 महिलाएं हैं। 

मणिपुर का सर्वाधिक भूमि क्षेत्रफल वाला जिला

मणिपुर राज्य में सबसे अधिक भूमि क्षेत्रफल चुरा चांदपुर जिले का है। यहां का भूमि क्षेत्रफल 4574 वर्ग किलोमीटर है।  इसके बाद उखरुल जिले का स्थान आता है, जहां का भूमि क्षेत्रफल 4547 वर्ग किलोमीटर है। इसके पश्चात तामेंगलांग जिले का नंबर आता है। तामेंगलांग जिले का कुल क्षेत्रफल 4391 वर्ग किलोमीटर है।

मणिपुर का सर्वाधिक विकास दर वाला जिला

मणिपुर में सर्वाधिक विकसित जिला उखरुल जिला है क्योंकि यहां की विकास दर इस बात को बयान करती है। उखरुल जिले की विकास दर 30.70% है। दूसरे स्थान पर सबसे ज्यादा डेवलपमेंट वाले जिले के तौर पर तामेंगलांग जिले का नाम लिया जाता है। 

यहां की विकास दर 26.15% है। इसके बाद तीसरे स्थान पर चंदेल जिले का नाम आता है। यहां की विकास दर 21.85 प्रतिशत है। चौथे स्थान पर चुरा चांदपुर जिला आता है। चुराचंदपुर जिले की विकास दर 20.29 प्रतिशत है।

मणिपुर का सर्वाधिक जनसंख्या घनत्व वाला जिला

मणिपुर में सबसे ज्यादा जनसंख्या घनत्व इंफाल वेस्ट जिले का है। यहां का जनसंख्या घनत्व 992 प्रति व्यक्ति वर्ग किलोमीटर है। दूसरे नंबर पर थोबल जिला है, जहां का जनसंख्या घनत्व 818 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है। 

तीसरे स्थान पर इंफाल पूर्व और चौथे स्थान पर विष्णुपुर जिले का नाम आता है। इंफाल पूर्व जिले का जनसंख्या घनत्व 638 प्रति व्यक्ति वर्ग किलोमीटर है और विष्णुपुर जिले का जनसंख्या घनत्व 450 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है।

उड़ीसा में कितने जिले हैं

मणिपुर में घूमने लायक जगह | Tourist Places in Manipur State

अगर आप मणिपुर घूमने जाने का मन बना रहे हैं तो नीचे हमने मणिपुर के कुछ ऐसे जिले की जानकारी आपको दी है जहां पर आप घूमने के लिए जा सकते हैं और अपनी छुट्टियों को इंजॉय कर सकते हैं।

थौबल 

सबसे ज्यादा यह स्थान ऐसे लोगों को पसंद आने वाला है जिन्हें ट्रैकिंग करने में बहुत ही मजा आता है। आप यहां पर ट्रैकिंग करके खूबसूरत अनुभव हासिल कर सकते हैं। इसके अलावा आप यहां पर प्रसिद्ध बाजार को घूम सकते हैं। 

मणिपुर की सुंदर जगह कि जब लिस्ट बनाई जाती है तब उसमें इस जिले का नाम अवश्य शामिल किया जाता है। ठंडी के मौसम में यहां का वातावरण देखने लायक होता है। इसीलिए अधिकतर ठंडी के मौसम में यहां पर सैलानियों की भारी भीड़ होती है।

चंदेल 

इंफाल शहर से चंदेल जिले की दूरी सिर्फ 65 किलोमीटर के आसपास में है। इस जगह को जब आप घूमते हैं तब आपको यहां पर मणिपुर की संस्कृति दिखाई देती है। 

अगर आप मणिपुर के प्रसिद्ध डांस को देखने के इच्छुक हैं तो आपको चंदेल जिला अवश्य जाना चाहिए। यह जिला म्यानमार और भारत देश की सीमा पर मौजूद है। इसलिए इसे गेटवे ऑफ म्यानमार भी कहते हैं। मणिपुर की खूबसूरत जगह में इसका नाम लिया जाता है।

तामेंगलांग 

अगर आप प्रकृति प्रेमी है साथ ही आप पक्षी प्रेमी है तो आपको तामेंगलांग जिला अवश्य जाना चाहिए। यहां पर आपको पक्षियों की अलग-अलग प्रजाति को देखने का मौका मिलता है। 

पहाड़ी क्षेत्र होने की वजह से यहां पर आपको बहुत ही सुंदर झरने भी दिखाई देते हैं जिसमें आप स्नान कर सकते हैं। 

इसके अलावा यहां पर आपको कुदरती वातावरण मिलता है जो अवश्य ही आपको पसंद आने वाला है। इस जगह पर बड़े पैमाने पर संतरे की खेती होती है जहां से आप सस्ते दामों पर संतरे की खरीदारी कर सकते हैं और ताजे संतरे खा सकते हैं।

उखरुल 

अगर आप शांत वातावरण वाली जगह को घूमना पसंद करते हैं तो आपके लिए मणिपुर का उखरुल जिला सबसे बेस्ट रहेगा। 

यह इलाका चाय के बागान के लिए काफी प्रसिद्ध है। यहां पर जाने के बाद आप निलय टी स्टेट , शिरुई काशोंग पीक , खंगखुई गुफा , ख़यांग पीक और काचौ फुंग झील जैसी जगहों को घूम सकते हैं। पहाड़ियों से घिरी होने की वजह से आपको यहां का वातावरण अवश्य पसंद आएगा।

FAQ

मणिपुर राज्य भारत में कब विलय हुआ ?

21 सितंबर 1949

मणिपुर की राजधानी क्या है ?

इंफाल

मणिपुर में सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा कौन सी है ?

मणिपुरी

मणिपुर की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

www.manipur.gov.in

पश्चिम बंगाल में कितने जिले हैं

Leave a Comment