मिजोरम में कितने जिले हैं



मिजोरम हमारे देश का उत्तर पूर्वी राज्य है। वर्ष 2001 में हुई जनगणना के हिसाब से इस राज्य की कुल जनसंख्या 8,90,000 थी। देश के सर्वोच्च साक्षरता दर वाले राज्यों की सूची में आने वाले इस राज्य की साक्षरता दर 91.03% है।



मिजोरम राज्य की राजधानी आइजोल है। वर्ष 1987 में मिजोरम को देश के नए राज्य का दर्जा मिला। मिजोरम का सबसे बड़ा जिला इसकी राजधानी आइजोल ही है। इस लेख में आज हम मिजोरम में कितने जिले हैं | List of Districts in Mizoram with Name – मिजोरम का नक्शा देखेंगे।

जम्मू कश्मीर में कितने जिले हैं

मिजोरम में कितने जिले हैं ?

वर्तमान समय में मिजोरम राज्य में कुल 8 जिले मौजूद हैं। यह राज्य हिंदुस्तान के पूर्वोत्तर के राज्यों में गिना जाता है जिसे वर्ष 1972 में तत्कालीन प्रशासनिक कारणों की वजह से सरकार के द्वारा केंद्र शासित प्रदेश घोषित किया गया था।




और उसके बाद इसका विस्तार होने पर साल 1987 में फरवरी के महीने में मिजोरम को एक नवीनतम राज्य बनाया गया और इसे भारत का 23 राज्य होने का गौरव प्राप्त हुआ।

List of Districts in Mizoram | मिज़ोरम के जिलो के नाम

Name of DistrictArea (sq km)Population
1Aizawl3,577
2Kolasib1,386
3Lawngtlai2,519
4Lunglei4,572
5Mamit2,967
6Saiha1,414
7Serchhip1,424
8Champhai3,168

मिजोरम का नक्शा

मिजोरम का सर्वाधिक साक्षरता वाला जिला 

मिजोरम राज्य में शिक्षा के मामले में पहले स्थान पर शेरछिप जिला आता है। इस जिले की साक्षरता दर 97.91 प्रतिशत है। इसके पश्चात पढ़ाई के मामले में दूसरे स्थान पर मिजोरम का आइजोल जिला आता है। 

यहां की साक्षरता दर 97.89 प्रतिशत है। तीसरे स्थान पर चंपाई जिले का नाम आता है। चंपाई जिले की साक्षरता दर 95.91 प्रतिशत है। मिजोरम में सबसे पढ़े-लिखे लोगों के मामले में चौथे स्थान पर कोलासिब जिले का नाम आता है। यहां की साक्षरता दर 93.5% है।

मिजोरम का सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला

साल 2011 में हुई सामाजिक, आर्थिक और जाति जनगणना के हिसाब से मिजोरम में सबसे अधिक आबादी आइजोल जिले में निवास करती है। इसके बाद आबादी के मामले में दूसरे नंबर पर लुंगलेई जिला आता है। 

तीसरे नंबर पर चम्फाई जिला आता है और चौथे नंबर पर लॉन्गतलाई जिला आता है। नीचे सूची के माध्यम से यह जानें की मिजोरम में आबादी के मामले में कौन से जिले का स्थान क्या है।

आइजोल400309
लुंगलेई161428
चम्फाई125745
लॉन्गतलाई   117894

लक्षद्वीप में कितने जिले हैं

मिजोरम के पड़ोसी देश, राज्य एवं जिले

मिजोरम हमारे देश के पूर्वोत्तर भाग का एक विविध भौगोलिक स्थिति रखने वाला राज्य है, जिसकी सीमा कुछ पड़ोसी देशों के साथ भी साझा होती है। इसके अलावा इसकी सीमा असम, मणिपुर और त्रिपुरा जैसे राज्यों के जिले को भी छूती हैं। 

मिजोरम राज्य उत्तर की तरफ में असम के कुछ जिलों को छूता है, वही इस राज्य की सीमाएं पूर्व की तरफ में मणिपुर के जिलों में जबकि पश्चिम में त्रिपुरा के जिलों को छूती है। इसके अलावा इसका बचा हुआ भाग बांग्लादेश और म्यांमार जैसे देशों को छूता है।

मिजोरम का सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला

मिजोरम राज्य में महिलाओं और पुरुषों के लिंग अनुपात के मामले में सबसे बेहतरीन अवस्था आइजोल जिले की है। 

आइजोल जिले में प्रति एक हजार पुरुषों पर 1009 महिलाएं हैं। इसके अलावा मिजोरम राज्य के दूसरे जिलों में पुरुषों के मुकाबले में महिलाओं की संख्या कम है।

मिजोरम का सर्वाधिक भूमि क्षेत्रफल वाला जिला 

मिजोरम में सबसे ज्यादा भूमि क्षेत्रफल लुंगलेई जिले का है। यहां का भूमि क्षेत्रफल 4572 वर्ग किलोमीटर है। दूसरी स्थान पर मिजोरम का आइजोल जिला आता है। 

आइजोल जिले का भूमि क्षेत्रफल 3577 वर्ग किलोमीटर है। तीसरे स्थान पर चम्फाई जिला आता है। यहां का भूमि क्षेत्रफल 3168 वर्ग किलोमीटर है।

लुंगलेई4572
आइजोल3577
चम्फाई3168

मिजोरम का सर्वाधिक विकास दर वाला जिला 

मिजोरम में सबसे ज्यादा विकास दर लांगतलाई जिले की है। लॉन्गतलाई जिले की विकास दर 60.14% है। 

दूसरे स्थान पर विकास दर के मामले में मिजोरम का मामित जिला है। यहां की विकास दर 37.56 प्रतिशत है।

मिजोरम का सर्वाधिक जनसंख्या घनत्व वाला जिला 

मिजोरम में सबसे ज्यादा जनसंख्या घनत्व आइजोल जिले का ही है। यहां का जनसंख्या घनत्व 113 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है।

पुडुचेरी में कितने जिले हैं

मिजोरम में घूमने की जगह | Tourist Places in Mizoram

मिजोरम राज्य में विभिन्न प्रकार के शानदार पर्यटन स्थल मौजूद हैं, जो पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करते हैं। मिजोरम राज्य पूर्वोत्तर में मौजूद है। इसीलिए यहां पर आपको प्राकृतिक सुंदरता की कोई भी कमी नहीं दिखाई देती है। 

अगर आप मिजोरम राज्य घूमने जाना चाहते हैं तो मिजोरम में घूमने की बेस्ट जगह के बारे में भी आपको पहले से ही पता करना चाहिए ताकि आप अपनी मिजोरम यात्रा को यादगार बना सकें।

आइज़ोल शहर

मिजोरम में घूमने लायक आइजोल बेस्ट जगह होने के साथ ही साथ मिजोरम की राजधानी भी है। आपको आइजोल शहर में उची उची पहाड़िया दिखाई देती है, साथ ही यहां पर खूबसूरत घटिया भी मौजूद है। अपनी खूबसूरती की वजह से देश भर के टूरिस्ट साथ ही विदेशों के भी टूरिस्ट आइजोल शहर को घूमने के लिए आते हैं।

आइजोल शहर की समुद्र तल से ऊंचाई तकरीबन 1132 मीटर की है। इसी शहर के बीच में से तलावंग जैसी खूबसूरत नदी बहती है। मिजोरम का आइजोल शहर तेजी के साथ डेवलपमेंट के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है, साथ ही यह लोकप्रिय टूरिस्ट प्लेस के तौर पर भी डिवेलप हो रहा है।

यहां पर ऐसे बहुत सारे इलाके हैं जहां पर आप अपने परिवार के साथ अथवा अपनी गर्लफ्रेंड के साथ समय व्यतीत कर सकते हैं और सुंदर सुंदर फोटो क्लिक कर सकते हैं। यहां पर आप हार्मिंग फार्म, चालमारी और तमदिल लेक जैसी जगह को घूम सकते हैं।

वैंटावंग फॉल्स

यह एक बहुत ही ऊंचा जलप्रपात है और इसे हमारे भारत देश का 13वा सबसे ऊंचा झरना कहा जाता है जो कि मिजोरम राज्य में ही मौजूद है और यह टूरिस्ट के लिए बहुत ही खास जगह है। यह झरना मिजोरम की राजधानी आइजोल से तकरीबन 97 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद है।

यहां पर आने के बाद आप स्नान भी कर सकते हैं साथ ही साथ इस झरने के पानी को पी सकते हैं। इसके अलावा अपने दोस्तों और अपने परिवार वालों के साथ शानदार फोटोग्राफी भी कर सकते हैं। यहां का प्राकृतिक वातावरण और झरने की आवाज अवश्य ही आपको पसंद आएगी।

लुंगलेई शहर 

यह शहर भी मिजोरम का लोकप्रिय पर्यटन स्थल है जो सैलानियों को अपनी तरफ आकर्षित करता है। इस शहर के नाम का मतलब होता है चट्टान का पुल। यह शहर मिजोरम की राजधानी आइजोल से तकरीबन 169 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद है।

यहां पर आपको प्राकृतिक वातावरण देखने का मौका मिलता है अर्थात यहां पर आपको प्रकृति के साथ जुड़ने का मौका मिलता है। इसलिए जो लोग प्रकृति प्रेमी है उन्हें इस जगह को अवश्य घूमने जाना चाहिए। यहां पर जाने के पश्चात आप ट्रैकिंग का आनंद ले सकते हैं। इसके अलावा ऊंची ऊंची पहाड़ियों पर जाकर के फोटोग्राफी कर सकते हैं।

साईहा 

यह शहर समुद्र तल से तकरीबन 719 मीटर की ऊंचाई पर मौजूद है। मिजोरम में स्थित इस शहर में पिछले कुछ सालों में तेजी के साथ जनसंख्या की बढ़ोतरी हो रही है। इस शहर के नाम का मतलब एक हाथी का दांत होता है।

पर्यटन के हिसाब से यह शहर बहुत ही खास है। इसीलिए अगर आप मिजोरम की यात्रा पर निकलना चाहते हैं तो मिजोरम जाने के पश्चात इस शहर को घूमना बिल्कुल भी ना भूले।

रेइक आइजोल 

यह एक प्रकार की पहाड़ी है जिसे मिजोरम की सबसे ऊंची पहाड़ी कहा जाता है। यह समुद्र तल से तकरीबन 1600 मीटर की ऊंचाई पर मौजूद है। 

अगर आपकी कोई गर्लफ्रेंड है या फिर आपकी शादी हो चुकी है तो आपको अवश्य ही अपनी पत्नी अथवा अपनी गर्लफ्रेंड के साथ इस जगह पर जाना चाहिए। यहां का रोमांटिक वातावरण अवश्य ही आप को मदहोश कर देगा।

इस जगह को मुख्य तौर पर कपल टूरिस्ट प्लेस कहा जाता है। पहाड़ी पर मौजूद होने की वजह से यहां का वातावरण बहुत ही शांत है। 

आप इस पहाड़ी पर जाने के पश्चात दूर तक फैली हुई हरियाली को निहार सकते हैं। यह इलाका मिजोरम की राजधानी से तकरीबन 29 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। साल भर यहां पर पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है।

FAQ

मिजोरम राज्य की राजधानी क्या है ?

आइजोल

मिजोरम में कितने जिले हैं 2022 ?

8

मिजोरम के सीमा से कितने राज्य जुड़े हुए हैं ?

असम, मणिपुर, त्रिपुरा

मिजोरम की साक्षरता दर कितनी है ?

91.58 प्रतिशत

मिजोरम की राजभाषा क्या है ?

मिजो और अंग्रेजी

नागालैंड में कितने जिले हैं

Leave a Comment