12 राशियों के नाम और अक्षर



12 राशियों के नाम हिंदी और इंग्लिश में: हिंदू समुदाय में राशि का बड़ा महत्व है। बच्चे के जन्म से लेकर उसकी पढ़ाई, शादी, मृत्यु तक में राशि एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसलिए हिंदू समुदाय से जुड़े हर व्यक्ति को राशि के बारे में जानकारी होनी चाहिए। क्योंकि यदि आपको अपनी सही राशि की जानकारी नहीं है, तो आप जीवन में आने वाली परेशानियों का ज्योतिष अनुसार सही फलादेश प्राप्त नहीं कर पाते हैं। सही राशि मालूम होने के बाद ही सही राशिफल (Horoscope) ज्ञात किया जा सकता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार आकाश मंडल में 360 अंश होते हैं। जिन्हें 12 राशियों एवं 27 नक्षत्र में बांटा गया है। 1 राशि में 30 अंश होते हैं। हर एक भाग अपने आप में एक आकृति यानी कि चिन्ह बनाते हैं। इसी आकृति के आधार पर प्रत्येक राशि का नाम रखा गया है। इसलिए नाम के अनुरूप सभी राशियों का अपना अलग-अलग महत्व होता है।

img-1


आज हम इस लेख में सभी 12 राशियों के नाम, अक्षर और चिन्ह (Zodiac Signs) की जानकारी लेकर आए हैं। तो आईए जानते हैं All Rashi Name in Hindi and English से जुड़ी सभी जानकारी।

अपनी राशि कैसे जाने?

12 राशियों के हिंदी अंग्रेजी में (Rashi Name in Hindi & English)

  1. मेष (Aries)
  2. वृषभ (Taurus)
  3. मिथुन (Gemini)
  4. कर्क (Cancer)
  5. सिंह (Leo)
  6. कन्या (Virgo)
  7. तुला (Libra)
  8. वृश्चिक (Scorpius)
  9. धनु (Sagittarius)
  10. मकर (Capricornus)
  11. कुम्भ (Aquarius)
  12. मीन (Pisces)

12 राशियों के अक्षर  (12 Rashiyon Ke Akshar)

राशि का नाम12 राशियों के अक्षर
मेषचू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ
वृषई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो
मिथुनक,छ, घ, ही, हू, हे, हो, डा, डी, डु, डे, डो
सिंहमा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे
कन्याढो, प, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो
तुलार, री, रू, रे, रो, ता, ति, तू, ते
वृश्चिक तो, न, नी, नू, ने, नो, या, यि, यू
धनुय, यो, भा, भि, भू, ध, फा, ढ, भे
मकरभो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी
कुम्भ गू, गे, गो, स, सी, सू, से, सो, द
मीनदी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, च, ची

राशियों के स्वामी का नाम (12 Rashi Swami Grah)

मेष राशिमंगल
वृषभ राशिशुक्र ग्रह
मिथुन राशिबुध
कर्क राशिचंद्रमा
सिंह राशिसूर्य
कन्या राशिबुध
तुला राशिशुक्र
वृश्चिक राशिमंगल
धनु राशिबृहस्पति
मकर राशिशनि देव
कुम्भ राशिशनि देव
मीन राशिबृहस्पति

12 राशियो के चिन्ह (12 Zodiac Sign)

मेषमेढा
वृषभ बैल
मिथुनजुड़वां
कर्ककेकड़ा
सिंहशेर
कन्याकुंवारी कन्या
तुलातराजू
वृश्चिक बिच्छु
धनुधनुष
मकर मगरमच्छ
कुंभघड़ा
मीनमछली

अपनी जन्म कुंडली कैसे देखे



12 राशियों का नाम और उनका स्वभाव (Astrology 12 Zodiac Signs)

हम नीचे विस्तार से 12 राशियों के नाम और उनके स्वभाव के बारे में विस्तार से जानकारी दे रहे हैं। इस जानकारी को पढ़कर आप सभी 12 राशियों के बारे में अच्छे से जान सकेंगे।

मेष राशि (Mesh)- मेष राशि का स्वामी मंगल है। यह राशि पूर्व दिशा की स्वामिनी है। राशि का गुण कार्डिनल है। मेष राशि के लोग जातक सुंदर, आकर्षक और कलात्मक होते हैं। मेष राशि वाले दूसरों का आदेश मानना पसंद नहीं करते हैं। मेष राशि वाले स्वतंत्र विचारों वाले होते हैं।

वृष राशि (Vrishabh)- इस राशि का स्वामी शुक्र है। वृष राशि दक्षिण दिशा की स्वामिनी है। इस राशि वाले लोगों का स्वभाव स्वार्थी। संस्कारिक कार्यों में दक्षता एवं बुद्धिमत्ता से काम लेने वाला होता है। वृषभ राशि वाले‌ लोग अपने सिद्धांतों पर अडिग रहते हैं। वृष राशि को अर्द्धजल राशि भी कहा जाता है।

मिथुन राशि (Mithun)- मिथुन राशि वाले लोग लुभावने, आकर्षक और मृदुभाषी होते हैं। इस राशि का स्वामी बुध है और यह पश्चिम दिशा की स्वामिनी है। इस राशि वाले लोगों का स्वभाव शिल्पी एवं विद्याध्ययनी है। मिथुन राशि के लोग शारीरिक और मानसिक रूप से काफी मजबूत होते हैं और थोड़े चंचल भी होते हैं। जिस वजहा से इस राशि वाले लोग किसी एक जगह स्थिर नहीं रहते हैं। ऐसा कहा जाता हैं कि मिथुन राशि वाले बहुमुखी प्रतिभा के धनी होते है। साथ ही यह हर प्रकार के षड़यंत्रों से भी दूर रहते है।

कर्क राशि (Kark)-  कर्क राशि का स्वामी शुक्र है। यह दशिण दिशा की स्वामिनी है। मिथुन राशि को अंग्रेजी भाषा में जैमिनी कहते हैं। इनका राशि तत्व वायु होता है। इस राशि के लोगों का स्वभाव आत्मविश्वासी होते हैं। कर्क राशि के लोग अपने संबंधों को लेकर बहुत गंभीर रहते हैं। यह अपने साथी की परवाह करते हैं और कभी भी उसकि भरोसा नहीं तोड़ते हैं। कर्क राशि वाले कुशल कूटनीतिज्ञ और बुद्धिमान होते हैं।

सिंह राशि (Singh)- सिंह राशि का स्वामी सूर्य है और यह पूर्व दिशा की स्वामिनी है। इस राशि वाले लोग गतिशील और आकर्षक व्यक्तित्व के होते हैं। सिंह राशि वाले महत्वाकांक्षी, साहसी, मजबूत इच्छाशक्ति रखने वाले और रौब दिखाने वाले होते है। इस राशि वाले लोग सीधी बात करते हैं। इस राशि के लोग रणनीति बनाकर कार्य करते हैं। सिंह राशि (Singh) वाले अच्छे बॉस होते हैं और टीम को साथ लेकर काम करने में माहिर होते हैं। सिंह राशि वाले लोग दूसरे लोगों को आदेश देने वाले व्यक्तित्व के होते हैं।

कन्या राशि (Kanya)- इसका राशि स्वामी बुध है और यह दक्षिण दिशा की स्वामिनी है।  इस राशि का स्वभाव मिथुन राशि जैसा ही है लेकिन यह अपनी उन्नति एवं सम्मान पर ज्यादा ध्यान देती है। कन्या राशि के लोग बहुत समझदार होते हैं यह अपने सभी कार्यों को अच्छे ढंग से संपन्न करते हैं। इस राशि के लोग कलात्मक होते हैं और ललित कलाओं में इनकी विशेष ऊंची होती है। कन्या राशि के लोग अगर किसी बात को करने की ठंडा तो उसे पूरा करके देते हैं। इस राशि वाले रिश्ते निभाने में भी काफी वफादार रहते हैं।

तुला राशि (Tula)-  इसका राशि स्वामी शुक्र है और यह पश्चिम दिशा की स्वामिनी है। तुला राशि के लोग गंभीर और कैलकुलेटिव होते हैं। यह लग्जरी लाइफ जीने वाले होते हैं। तुला राशि वाले लोग अच्छे बिजनेसमैन होते हैं। इन्हें यात्राओं से काफी लाभ होता है। इस राशि वाले प्लानिंग करने में भी माहिर होते हैं और यह जिससे भी प्यार करते हैं उसमे पूरे दिल से प्यार करते हैं। तुला राशि के वाले लोगों को लाइफ में अनुशासन पंसद होता है। इस राशि के लोग बहसबाजी से बचते हैं और सही निर्णय लेने की क्षमता रखते हैं।

वृश्चिक राशि (Vrishchik)- इस राशि का स्वामी मंगल है और यह उत्तर दिशा की स्वामिनी है। इस राशि वाले लोग अपने कार्य को लेकर गंभीर रहते हैं। यह अपने सभी कार्यों को पूरी लगन के साथ करना पसंद करते हैं। वृश्चिक राशि वाले लोग गहरे से गहरा राज छिपाने में माहिर होते हैं। इस राशि वाले साहसी और निडर होते हैं। वृश्चिक राशि वाले जिस भी क्षेत्र में होते हैं उस क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान बनाते हैं।

धनु राशि (Dhenu)- इस राशि का स्वामी शनि है और यह दक्षिण दिशा की स्वामिनी है। धनु राशि  वाले लोगों में कुछ विशेष गुण होते हैं। इस राशि के लोग हंसमुख होते हैं और अपने विशेष गुणों से किसी को भी अपनी तरफ आसानी से आकर्षित कर लेते हैं। धनु राशि के लोग धर्मिक और नियमों का पालन करते हैं। यह महत्वाकांक्षी भी होते हैं। इस राशि के लोग ज्ञानी भी होते हैं और दूसरों को प्रेरणा भी प्रदान करते हैं।

मकर राशि (Makar)- इस राशि का स्वामी शनि है और यह दक्षिण दिशा की स्वामिनी है। जिन लोगों की मकर राशि होती है वह मेहनती और कार्यों को करने में कुशल होते हैं। इस राशि वाले बड़े कामों को करने में रुचि रखते हैं और यह लोग गंभीर होते हैं और कम बोलना पसंद करते हैं। मकर राशि वालों को ज्यादा हंसी मजाक भी पसंद नहीं है। यह धन और व्यापार को लेकर गंभीर रहते हैं। इस राशि वाले लोग परिवार को साथ लेकर चलते हैं और उनकी याददाश्त भी काफी तेज होती है।

कुंभ राशि (Kumbh)- इसका राशि स्वामी शनि होता है। यह पश्चिम दिशा की स्वामिनी है। वह लोग जिनकी कुंभ राशि होती है वह धुन के पक्के होते हैं और अपने कामों को लगन से करते हैं। कुंभ राशि वाले लोगों को बताया गया है कि यह जातक बुद्धिमानी, सहजता और स्वतंत्रता के प्रतीक होते हैं। कुंभ राशि वाले लोग दूसरे लोगों से अलग सोचते हैं। यह कलात्मक होते हैं और बहुत जल्दी भावुक हो जाते हैं।

मीन राशि (Meen)- इस राशि का स्वामी गुरु है। मीन राशि पूर्ण रूप से जल राशि है। जिन लोगों की मीन राशि होती है वह स्वभाव में दयाल, दानी और श्रेष्ठ होते हैं। इस राशि वालों को विदेशों से लाभ प्राप्त होता है और यह समाज के विकास में विशेष योगदान प्रदान करते हैं और समाज में विशेष सम्मान भी प्राप्त करते हैं। यह अच्छे लीडर और मार्गदर्शन भी होते हैं।

अपना भविष्य कैसे जाने

Leave a Comment