डांसर (Dancer) कैसे बने ?



आज ऐसा दौर है जब प्रत्येक व्यक्ति अपने हिसाब से जीवन जीना चाहता है और अपने सारे शौक को पूरा कर लेना चाहता है। ऐसे में प्रत्येक व्यक्ति के पास अलग अलग शौक के साथ इच्छा शक्ति होती है जिसके माध्यम से वह निश्चित रूप से ही आगे बढ़ते हुए अपने शौक पूरा करने के साथ साथ उसमें अपना करियर स्थापित कर सकते है।



प्रायः हमारे बीच कई सारे लोग होते हैं जिन्हें डांस करने का शौक होता है और वे एक अच्छे डांसर बनना चाहते हैं। अतः आज हम इस विशेष लेख में आपको डांसर बनने के बारे में जानकारी देंगे ताकि आप भी सही तरीके से इस क्षेत्र में आगे बढ़ सके।

एक्टर (Actor) कैसे बने

डांसर (Dancer) कैसे बने?

अगर आपके अंदर किसी भी नृत्य शैली को करने की एक अच्छी प्रवृत्ति है जिसके माध्यम से आप अपने मनोभावों को व्यक्त कर सकते हैं साथ ही साथ  आप अपने नृत्य कला को सीखने का भी हुनर रखते हैं। तो आप एक अच्छे डांसर बन सकते हैं जिसके लिए आप किसी अच्छे संस्थान से डांस की शिक्षा हासिल कर सकते है और अपने शौक के साथ ही आप अपने पैशन को भी पूरा कर सकते हैं।



डांसर (Dancer) बनना है एक शौक

जिस प्रकार से प्रत्येक व्यक्ति के अंदर कोई ना कोई शौक विद्यमान होता है उसी प्रकार से हम में से कुछ लोग ऐसे होते हैं जिनके अंदर डांस करने की इच्छा शक्ति होती है और वह इस माध्यम से ही दुनिया में छा जाना चाहते हैं। ऐसे में अपने शौक को पूरा करना उन्हें बहुत अच्छा लगता है और वह अपने शौक को पूरा करने के लिए जी जान लगाते हैं।

शौक एक ऐसी चीज होती है, जो निरंतर रूप से करते रहने पर हमारे अंदर एक सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है और हम सही तरीके से आगे बढ़ पाने में सक्षम होते हैं। ऐसे में हमेशा अपने शौक को जी जान से पूरा करना चाहिए और अगर आप चाहें तो इसे भविष्य में अपने करियर के रूप में अपना कर भी एक अच्छी नींव खड़ी कर सकते हैं, जो आने वाले वर्षों में आपके लिए काफी कारगर होंगे।

डांस के विभिन्न प्रकार

हमारे भारत की संस्कृति में डांस अथवा नृत्य विभिन्न प्रकार से सीखा जा सकता है जिसके अंतर्गत संपूर्ण शिक्षा प्राप्त करते हुए आगे की राह देखी जा सकती है। ऐसे में डांस के विभिन्न प्रकार उपलब्ध हैं—

  • कथकली
  • कुचिपुड़ी
  • भरतनाट्यम
  • कत्थक
  • ओडीसी
  • भांगड़ा
  • घूमर
  • गरबा
  • बॉलीवुड डांस
  • बिहू

यह सभी डांस के प्रकार अलग-अलग राज्यों में प्रचलित है जहां संस्कृति को महत्व दिया जाता है और साथ ही साथ अपने भाव भंगिमाओं के माध्यम से नृत्य को प्रस्तुत किया जाता है।

डांस से संबंधित विभिन्न प्रकार के कोर्स

  • Diploma in dance performing art.
  • Diploma in dance education.
  • Diploma in fine arts.
  • Certificate course in Dance performance.
  • Bachelor of fine Arts in Dance.
  • Bachelor of arts in Dance and performance studies.
  • Bachelor of science in Dance bachelor of Arts in Dance and Movements studies.
  • Master of fine Arts in Choreographic inquiry.
  • Master of fine Arts in dance embodied interdisciplinary praxis.
  • Master of Arts in teaching dance in professions.
  • Master of fine arts in dance.
  • MA in teaching Dance, all grades initial certificate.
  • Master of arts in teaching dance grades k-12.

एक डांसर (Dancer) के लिए भविष्य के विकल्प

  • जब भी हम किसी काम की शुरुआत करते हैं तो हमें थोड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। ऐसे में अगर आप भी एक अच्छे डांसर (Dancer) बनना चाहते हैं और किसी अच्छी इंस्टीट्यूट से डिप्लोमा की डिग्री हासिल कर चुके हैं, तो आपके सामने भविष्य के विकल्प खुल जाते हैं।
  • अगर आप चाहे तो अपने क्षेत्र या शहर में घर के आस-पास डांस कक्षा की शुरुवात कत सकते हैं, जिसके माध्यम से आप धीरे-धीरे आगे बढ़ सकते हैं।
  • इसके अलावा आप एक कोरियोग्राफी स्कूल खोल सकते हैं, जहां से बच्चे आकर आपसे डांस सीख सकें और आप चाहें तो अलग-अलग शिफ्ट में बड़ों को भी डांस सीखाया जा सकता है।
  • सामान्य रूप से आजकल स्कूल और कॉलेजों में भी डांस को एक अलग नजरिए से देखा जाता है। ऐसे में अगर आप चाहें तो स्कूल और कॉलेज में डांस टीचर बनते हुए भी करियर को आगे बढ़ाया जा सकता है।
  • आप किसी रियलिटी शो के माध्यम से ही खुद के करियर को आगे बढ़ा सकते हैं और सही तरीके से अपनी दिशा निर्धारित कर सकते हैं।

मॉडल कैसे बने ?

एक अच्छा डांसर (Dancer) बनने का तरीका

अगर आप एक अच्छा डांसर (Dancer) बनना चाहते हैं  तो इसके लिए आपको थोड़े तरीके आजमाने होंगे ताकि आप सही तरीके से आगे बढ़ने में कामयाब हो सके।

सोशल मीडिया का सहारा

अगर आपके अंदर अच्छा डांसर बनने की इच्छा जागृत हुई हो ऐसी स्थिति में आप निश्चित रूप से ही सोशल मीडिया के माध्यम से डांस सीख सकते हैं। अब  यूट्यूब में कई सारे ऐसे वीडियो हैं जिन्हें देखकर आप मार्गदर्शन प्राप्त कर सकते हैं और अपने हिसाब से चुने हुए डांस को सीख कर आगे बढ़ सकते हैं।

खुद के स्टेप बनाना

अगर आप एक अच्छा डांसर अपनी मर्जी के अनुसार बनाना चाहते हैं, तो ऐसी स्थिति में आप खुद के स्टेप बनाकर भी उन्हें दूसरे लोगों को सिखा सकते हैं। कई बार हमारे पास ऐसे आईडिया होते हैं जिनके द्वारा हम सही तरीके से आगे बढ़ सकते हैं और किसी भी परेशानी से दूर हट सकते हैं। ऐसे में अगर आप खुद के माध्यम से भी डांस को अपनाते हुए कुछ अपना इनपुट डालते हैं तो यह भी आपके लिए अच्छा माध्यम होगा।

रियलिटी शो से लिया जा सकता है मार्गदर्शन

अगर आप कहीं बाहर जाकर डांस नहीं सीखना चाहते हैं,तो ऐसी स्थिति में आप घर में रहकर ही टेलीविजन पर आने वाले रियलिटी शो को देखते हुए भी डांस सीख सकते हैं। आम तौर पर कई सारे चैनलों में डांस रिलेटेड रियलिटी डांस शो होते हैं,  जो आपके लिए अच्छा माध्यम हो सकता है।

अपने बड़ों से भी सीखा जा सकता है

अगर आपके घर में कोई ऐसा व्यक्ति हो जो आपको डांस से संबंधित जानकारी दे सके और आपको नई नई चीजें सीखा सके। ऐसे ही आप अपने घर के बड़ों को भी इसमें शामिल कर सकते हैं और उनसे अपने डांस से संबंधित बातों के बारे में भी पूछा जा सकता है।

घर के आसपास ज्वाइन की जा सकती है डांस क्लास

अगर आपके घर के आसपास कोई डांस क्लास हो, तो ऐसे में आप अपने खाली समय में डांस सीखते हुए व्यतीत कर सकते हैं ताकि आप अपने शौक को पूरा कर सके और एक नई दिशा के बारे में सोच सके।

भारत की मुख्य डांस एकेडमी

अगर आप किसी अच्छे इंस्टिट्यूट से डांस सीखना चाहते हैं, तो ऐसे में आप किसी मान्यता प्राप्त अच्छे इंस्टिट्यूट में जा सकते हैं जहां पर आपको सर्टिफिकेट, डिप्लोमा और मास्टर डिग्री दी जाती है जिसके माध्यम से आप अपने भविष्य को संवार  सकते हैं।

  • Sangeet Natak Akademi, दिल्ली |
  • Banaras Hindu University, उत्तर प्रदेश |
  • Bharatiya Vidya Bhavan, कर्नाटक |
  • Nalanda Dance Research Center, मुंबई |
  • Bharatiya Vidya Bhavan, कर्नाटक |
  • Bharathiar Palkalaikoodam, पुडुचेर्री |
  • Gandharva Mahavidyalaya, दिल्ली |

डांस सिखाने के लिए मिलने वाली सैलरी

अगर आपने एक अच्छे इंस्टिट्यूट से डांस सीख लिया हो और आप खुद का डांस क्लास शुरू करना चाहते हैं तो ऐसे में शुरुआत में आपको थोड़ी कम सैलरी प्राप्त हो सकती है। लेकिन जैसे-जैसे ज्यादा लोग आपके पास डांस सीखने आते हैं वैसे वैसे आप महीने के 30 हजार रुपये  से लेकर 60000 रूपये आसानी के साथ कमा सकते हैं और जब आपका डांस कौशल लोगों के सामने आने लगता है ऐसे में आपकी सैलरी और भी ज्यादा हो सकती है जिससे आप इसे भविष्य के लिए सुरक्षित कर सकते हैं।

डांस करने का समय

अगर आप समय निकालकर डांस करना चाहते हैं, तो एक बात याद रखना होगा कि डांस किसी भी समय नहीं किया जा सकता है। डांस उस समय करना ही बेहतर माना जाता है जब आपका मन बिल्कुल अच्छा हो और आप डांस करने के लिए तैयार हो। यही वजह है की कभी भी खाना खाने के बाद डांस नहीं करना चाहिए और कभी भी ज्यादा रात को डांस नहीं करना चाहिए। अगर आप चाहें तो डांस शाम के समय किया जा सकता है या फिर सुबह के समय भी डांस करना अच्छा माना जाएगा।

इसके अलावा अगर आपके पास ज्यादा समय ना हो तो आप सप्ताह में दो या तीन दिन निश्चित रूप से डांस करके खुद का ही मानसिक स्तर पर विकास कर सकते हैं जो कहीं ना कहीं आपके लिए लाभप्रद हो जाता है। जब भी डांस करें तो पूरी तन्मयता के साथ करना चाहिए ताकि आपके भाव भंगिमा एवं मुद्राएं सही तरीके से दिखाई दे सके और लोगों को भी आपका डांस काबिले तारीफ लगे।

डांस करने का फायदा

  • आज के समय में लोग खाली बैठना नहीं चाहते और वे कोई ना कोई एक्टिविटीज जरूर करना चाहते हैं। ऐसे में अगर डांस सीख लिया जाए तो इससे कई प्रकार के फायदे प्राप्त होते हैं आने वाले समय में बेहतरी के रास्ते खोलते हैं।
  • डांस करते रहने से इम्युनिटी बढ़ती है और साथ ही साथ एक मजबूती प्रदान होती है।
  • अगर डांस करते रहे तो इस से पसीना निकलता है जो हमारे शरीर के अंदर की टाक्सिटी को दूर कर देता है।
  • अगर आप दिन में एक बार डांस करते हैं, तो इससे दिनभर की थकान खत्म हो जाती है साथ ही साथ सकारात्मक प्रभाव दिखाई देने लगता है।
  • अगर आप डांस करते हो तो आपने महसूस किया होगा कि इसके माध्यम से आपको नींद बहुत अच्छी आती है जिससे आपकी थकान दूर हो जाती है।
  • अगर आप डांस सीखते जाते हैं, तो इससे आप नए-नए भाव भंगिमा को सीख सकते हैं जो आपके डांस में मददगार होते हैं।
  • अगर किसी दिन आपका मन बहुत खराब हो रहा हो ऐसी स्थिति में डांस कर लेने से आपको अच्छा महसूस होता है और आप पुरानी बातों को भूलने लगते हैं।
  • डांस करते रहने से मोटापा जैसी समस्या दूर हो जाती है।

डांस के माध्यम से जागृत करें अपनी कला कौशल

अगर आप निरंतर रूप से डांस करते हैं तो इसके माध्यम से आप अपनी कला कौशल को आंतरिक गुणों के माध्यम से जागृत कर सकते हैं। कई बार ऐसा होता है कि डांस हमारे लिए जरूरी होता है लेकिन हम ध्यान नहीं देते और इस वजह से हम परेशानी में घिर जाते हैं क्योंकि डांस एक ऐसा माध्यम होता है जो हमारे कई प्रकार से मददगार होता है। ऐसे में डांस हमारे आंतरिक गुणों में निखार लाता है, जो हमारे जीवन में बेहद मददगार साबित होते हैं। ऐसे में डांस करते रहना हमारे लिए फायदेमंद है और हमारे भविष्य के लिए भी यह एक बेहतर विकल्प प्रदान करता है।

सिंगर (Singer) कैसे बने

Leave a Comment