MFI in Hindi

देश में ऐसे बहुत से लोग है, जिन्हे कई छोटी – छोटी समस्याओं का सामना करना पड़ता है | इन्ही सभी समस्याओं को देखते हुए Micro Finance की सुविधा प्रदान की गई थी, जिसके अंतर्गत ग्रामीण जनताओं की विभिन्न जरूरतों को ध्यान रखा जाता है, जिसके तहत उनकी  छोटी – छोटी वित्तीय सुविधाएँ प्रदान करने की व्यवस्था की जाती है | Micro Finance  के तहत आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को अपना कामकाज शुरू करने के लिए कर्ज उपलब्ध कराया जाता  हैं, लेकिन इसमें कर्ज की रकम छोटी ही प्रदान की जाती है, किन्तु यह सुविधा रोजगार उत्पन्न करने की दृष्टि से  प्रदान की जाती है | इसलिए इसमें  कृषि, डेयरी, पॉटरी, टेलरिंग, पॉल्ट्री छोटी दूकान, पशुपालन या अन्य किसी व्यक्तिगत जरूरतों को पूरा करने के लिए  कर्ज प्रदान किया जाता है | यदि आपको एमएफआई (माइक्रोफाइनेंस संस्थान) के विषय में अधिक जानकारी नहीं प्राप्त है और आप एमएफआई (माइक्रोफाइनेंस संस्थान) के विषय में जानना चाहते है, तो यहाँ पर आपको MFI in Hindi , एमएफआई (माइक्रोफाइनेंस संस्थान) का फुल फॉर्म व मतलब क्या होता है ? इसकी पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है |

प्रोविडेंट फण्ड क्या होता है

माइक्रोफाइनेंस संस्थान का क्या मतलब होता है ?

Micro Finance एक संस्थान है | यह एक ऐसा संस्थान है,  जो कम्पनियों की कार्यप्रणाली पारम्परिक बैंकिंग प्रणाली से भिन्न होती है |  इस क्षेत्र में सम्बंधित वित्तीय संस्थानों द्वारा एक अधिकारी का चुनाव  करके उसे नियुक्त किया जाता है | इसके तहत नियुक्त किया जाने वाला अधिकारी लोगों के समूह के संपर्क में रहता है और आवेदक की आवश्यकताओं को पहले अच्छे से समझता है, फिर उसी आधार पर उसकी अंतिम राशि तय करता है | इसके अलावा जो व्यक्ति माइक्रोफाइनेंस संस्थान के अंतर्गत कर्ज लेता है उसे माइक्रोफाइनेंस संस्थानों द्वारा निर्धारित की गयी कुछ नियमों का पालन करना होता है | माइक्रोफाइनेंस संस्थाओं का पंजीकरण गैर सरकारी संगठन (सहकारी या ट्रस्ट) के तौर पर कराया जाता है, जो कंपनी अधिनियम के सेक्सन 25 के अधीन रहता है |  इसके संस्थान के तहत ऋण एक व्यक्ति या व्यक्ति के समूह को लघु अवधि के लिए प्रदान किया जाता है | इसके अलावा इसके तहत लेने वाले ऋण की पुनः चुकौती उच्च स्तर पर की जाती है | इसका मतलब यहाँ है कि , इसमें चुकौती दर 94/95 प्रतिशत से भी अधिक तय की जाती है |

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है

एमएफआई का फुल फॉर्म | MFI FULL FORM

एमएफआई का फुल फॉर्म “Money Flow Index” होता है, जिसके तहत गरीब मजदूरों को कर्ज के रूप में सुविधा उपलब्ध कराई जाती है |

भारत के कुछ शीर्ष माइक्रोफाइनेंस कम्पनियाँ

  1. Annapurna Microfinance Pvt. Ltd.
  2. Cashpor Micro Credit (CMC)
  3. Bandhan Financial Services Pvt. Ltd.
  4. Asirvad Microfinance Pvt Ltd.
  5. Disha Microfin Pvt Ltd.
  6. Equitas Microfinance Pvt Ltd.
  7. Spandana Sphoorty Financial Ltd.
  8. Asmitha Microfin Ltd.

एफपीआई (FPI) क्या है

Microfinance से सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां

  1. एमएफआई केवल लोगों को कर्ज ही प्रदान करती है | इसमें आप पैसा नहीं जमा कर सकते है, क्योंकि यह कंपनी पैसा जमा करने का काम नहीं करती है.
  2. Microfinance कम्पनियाँ ऐसी कंपनियां होती है, जो प्रमुख रूप से भारतीय रिज़र्व बैंक की देखरेख में काम करती है | 
  3. कर्ज लेनेवालों को आश्वस्त करना पड़ता है कि, वो कर्ज किस कार्य के लिए निकाल रहे है | 
  4. इसके तहत कर्ज वंचित आय वर्ग वाले लोगों को ही प्रदान किया जाता है, इसमें से अधिकांश लोगों के पास तो बैंक खाता तक की भी सुविधा नहीं उपलब्ध होती है | 
  5. माइक्रोफाइनेंस संस्थाएं व्यावहारिक रूप से महिलाओं को कर्ज प्रदान करती है | 
  6. इसमें कर्ज वापसी साप्ताहिक/मासिक आधार पर ही प्रदान किया जाता है | 
  7. माइक्रोफाइनेंस संस्थान लोगों को वर्तमान बाज़ार के रूझानों के बारे में शिक्षित करने का कार्य   करती है जो market competition के लिए लोगों को तैयार करने में सहयता प्रदान करने का काम करते है | 
  8. इसमें जो व्यक्ति ऋण लेता है, उसे कर्ज लेने के लिए किसी भी प्रकार का गारंटी नहीं देना होता है | 
  9. सभी माइक्रोफाइनेंस संस्थाएं एक जैसे काम नहीं करते हैं |  इनमें से प्रत्येक के कार्य – प्रकृति में भिन्नताएं भी होने की संभावनाएं है | 
  10. कोई भी ग्राहक लिए गये ऋण को चुकाने के बाद पुनः ऋण भी ले सकता है |

एमएसएमई (MSME) क्या है

यहाँ पर हमने आपको एमएफआई (माइक्रोफाइनेंस संस्थान) का फुल फॉर्म व मतलब क्या होता है ? इसके विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि आप इस जानकारी से संतुष्ट है, या फिर इससे समबन्धित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट करे और अपना सुझाव दे सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का जल्द ही निवारण किया जायेगा | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे |

5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का अर्थ