पेगासस (Pegasus) क्या है

वर्तमान समय में देश की मशहूर कंपनियों द्वारा नए-नए तकनीक वाले स्मार्टफोन को जारी किया गया है | प्रत्येक नए अपडेट के साथ कंपनी अपने स्मार्ट फ़ोन में समय के मुताबिक बेहतरीन फीचर को देती रहती है,जिससे उपयोगकर्ता को अपने कई कार्यो को करने में काफी आसानी होती है, और साथ ही वह नए – नए सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल कर अपने कई तरह के कार्यो को स्मार्ट फ़ोन के सहारे ही पूरा कर लेता है | पेगासस (Pegasus) और स्पाइवेयर (Spyware) दो ऐसे उच्च तकनीक वाले सॉफ्टवेयर है, जिनके इस्तेमाल से किसी भी व्यक्ति की गुप्त जानकरियों को आसानी से प्राप्त किया जा सकता है |

इस सॉफ्टवेयर को मुख्य रूप से जासूसी करने के लिए तैयार किया गया है,जिसे इजराइल की साइबर सुरक्षा कंपनी (NSO) ग्रुप टेक्नोलॉजी द्वारा तैयार किया गया है | इस सॉफ्टवेयर को आप अपने घर के कंप्यूटर में इस्तेमाल कर आपके कंप्यूटर में की गयी गतिविधियों पर नजर रख सकते है | इसके अलावा आप आसानी से यह पता कर सकते है,कि आपके कंप्यूटर में किस चीज को देखा गया है, या किन – किन फाइल को ओपन किया गया है | इस पोस्ट में आपको पेगासस (Pegasus) क्या है, Spyware (स्पाइवेयर) क्या होता है, Pegasus Meaning in Hindi,इसके बारे में विस्तार से बताया गया है |

यूटीएस ऑन मोबाइल पर टिकट बुक कैसे करे

एनएसओ क्या है (What is NSO)

NSO एक साइबर सिक्योरिटी कंपनी समूह है, जो कि किसी चीज की निगरानी प्रौद्योगिकी में काफी माहिर है | NSO समूह दुनिया भर की सरकारों और कानून प्रवर्तन एजेंसियो को अपराध और आतंकवाद से लड़ने में मदद करने का दावा करती है | दुनिया के 40 देशो में 60 ख़ुफ़िया एजेंसी द्वारा NSO समूह अपनी सैन्य और कानूनी-प्रवर्तन का दावा करती है |

किन्तु कंपनी अपने क्लाइंट की गोपनीयता का हवाला देते हुए किसी की भी पहचान उजागर नहीं करती है | एनएसओ द्वारा कैलिफोर्निया में व्हाट्सएप के मामले में मुक़दमे का जवाब देते हुए, इस समूह का कहना है की पेगासस को अन्य देशो में उनकी सरकार और संस्थाओ द्वारा प्रयोग में लाया जाता है |

आईआरडीए (IRDA) का फुल फॉर्म क्या है?

पेगासस क्या है (What is Pegasus)

Pegasus एक तरह का SpySoftware होता है,यह उन सभी स्पाइवेयर की तरह ही कार्य करता है | इसमें लोग फ़ोन के माध्यम से जासूसी करते है | PBNS द्वारा जारी की गयी एक रिपोर्ट के अनुसार उपयोगकर्ता के मोबाइल में Pegasus द्वारा एक लिंक भेजा जाता है | इसके बाद यदि यूजर उस लिंक पर क्लिक कर देता है, तो उसके फ़ोन में मैलवेयर या निगरानी की अनुमति वाला कोड इंस्टॉल हो जाता है, और उपयोगकर्ता के फ़ोन की जासूसी करता है,किन्तु अब मेलवेयर के नए अपडेट में किसी लिंक पर क्लिक करने की भी जरूरत नहीं होगी,यह बिना किसी अनुमति के ही आपके फ़ोन की जासूसी कर सकेगा | यदि एक बाद पेगासस इंस्टॉल हो जाता है, तो निगरानी करने वाला जासूस आपके फ़ोन की सम्पूर्ण जानकारी को बिना आपकी सहमति के देख व अपनी इच्छानुसार उपयोग कर सकता है |

टेलीकॉम स्पेक्ट्रम क्या होता है?

स्पाईवेयर किसे कहते है (What is Spyware)

पेगासस (Pegasus) की भांति ही स्पाईवेयर (Spyware) भी एक स्पाई सॉफ्टवेयर होता है, जिसे मालवेयर का ही एक प्रकार कहा जाता है | इस सॉफ्टवेयर को किसी कंप्यूटर या स्मार्टफोन में इंस्टॉल करने के लिए किसी अनुमति की आवश्यकता नहीं होती है | यह उपयोगकर्ता की सहमति के बिना ही उसकी गुप्त जानकारियों को मालवेयर भेजने वाले व्यक्ति या समूह द्वारा प्राप्त कर ली जाती है | जिससे आपकी निजी जानकारियों को चुराने वाला जासूस अपनी इच्छानुसार इन जानकरियों को कही भी  इस्तेमाल कर सकता है | पेगासस सॉफ्टवेयर के जैसे ही स्पाईवेयर सॉफ्टवेयर भी किसी भी व्यक्ति के कंप्यूटर में इनस्टॉल होकर उस उपयोगकर्ता द्वारा इंटरनेट पर की जाने वाली गतिविधियों पर नजर रखने का कार्य करता है तथा उस यूजर को इस बात की बिलकुल भी जानकारी नहीं होती है की उसके कंप्यूटर या फ़ोन को हैक कर लिया गया है |

हैकर बनने के लिए कोर्स, फ़ीस, योग्यता

पेगासस और स्पाईवेयर कैसे कार्य करता है (How Pegasus Works)

पेगासस को इजराइल की साइबर सुरक्षा कंपनी NSO Group Technology द्वारा बनाया गया है | यह एक ऐसा प्रोग्राम है, जिसे किसी उपयोगकर्ता के फ़ोन में डाल दिया जाये तो कोई भी जासूस उस यूजर के स्मार्ट फ़ोन में माइक्रोफ़ोन, कैमरा, ऑडियो और टेक्सट मेसेज, ईमेल और लोकेशन जैसी जानकारियों को आसानी से प्राप्त कर सकता है |

कैस्परस्काई (साइबर सुरक्षा कंपनी) की रिपोर्ट के मुताबिक, पेगासस का प्रयोग कर आपके स्मार्ट फ़ोन के एन्क्रिप्टेड (encrypted) ऑडियो,वीडियो को सुनने देखने तथा एन्क्रिप्टेड संदेशों को पढ़ने आदि की भी जासूसी की जा सकती है | एन्क्रिप्टेड ऐसे संदेश होते हैं,जिन्हे केवल भेजने और प्राप्त करने वाले यूजर द्वारा देखा जा सकता है | यहाँ तक यह सभी एन्क्रिप्टेड सन्देश जिस कंपनी प्लेटफार्म के होते है वह भी इन संदेशो को देख व् सुन नहीं सकते है | Pegasus का इस्तेमाल कर किसी भी व्यक्ति की फ़ोन से जुड़ी सभी गुप्त जानकारिया जैसे :- पासवर्ड (Password), संपर्क सूची (Contact List), कैलेंडर ईवेंट, टेक्स्ट संदेश (Text Massage) और लाइव वॉयस कॉल (Live Voice Call) को आसानी से प्राप्त किया जा सकता है | इसके अतिरिक्त फ़ोन के आसपास की सभी गतिविधियों को हासिल करने के लिए माइक्रोफोन और कैमरा फ़ोन का इस्तेमाल किया जा सकता है |

एक रिपोर्ट के अनुसार फेसबुक के दिए गए बयान में कहा गया है, कि यह मेलवेयर ईमेल (Email), एसएमएस (SMS), लोकेशन ट्रैकिंग (Location Tracking), नेटवर्क विवरण (Network Details), डिवाइस सेटिंग्स (Device Settings) तथा ब्राउजिंग हिस्ट्री (Browsing History) डेटा जैसी जानकारियों को भी यूजर की बिना जानकारी प्राप्त कर सकता है | यह पेगासस इतना खतरनाक होता है की इंस्टॉल होने के बाद भी उस फ़ोन में किसी तरह के निशान नहीं छोड़ता है, जैसे कम से कम बैटरी की खपत, मेमोरी और डेटा की खपत में किसी तरह बदलाव नहीं करता है ताकि उपयोगकर्ता को किसी तरह का संदेह पैदा न हो | इस मेलवेयर में इतनी क्षमता होती है कि यह किसी भी डिलीट की गयी फाइल को पुनः प्राप्त कर सकता है |

एनआरआई (NRI) क्या होता है?

यहाँ पर हमने आपको पेगासस (Pegasus) और Spyware (स्पाइवेयर) के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की है । अगर आप के मन में इस लेख से संबंधित कोई प्रश्न हैं, तो कमेंट के द्वारा पूछ सकते हैं, हम आपके द्वारा की प्रतक्रिया का इंतजार करेगें | अधिक जानकारी के लिए हमारे पोर्टल www.hindiraj.com पर विजिट करे |

कंप्यूटर एक्सपर्ट कैसे बने

Leave a Comment