CM Helpline Number

उत्तर प्रदेश को भारत का सबसे अधिक आबादी वाले राज्य के रूप में जाना जाता है | देश के अन्य राज्यों की अपेक्षा उत्तर प्रदेश जी जनसँख्या अधिक होनें के कारण राज्य का प्रबंधन करनें से लेकर आम जन की शिकायतों को सुनना तथा उनका निस्तारण करना उत्तर प्रदेश सरकार के लिए एक कठिन कार्य है |

ऐसे में राज्य के निवासियों की एक-एक शिकायत को सुनने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार नें सीएम योगी टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर जारी किया है| इस टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर की सहायता से राज्य का कोई भी नागरिक घर बैठे अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है| आज हम आपको CM Helpline Number और उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर के बारें में जानकारी दे रहे है |

कोरोना वाइरस हेल्पलाइन, टोल फ्री मोबाइल नंबर

उत्तर प्रदेश सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर (UP CM Tollfree Helpline Number)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी नें लोगो को सभी सभी शिकायतों और उनकी समस्याओं को दूर करनें के लिए सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर 1076 जारी किया है | इस हेल्पलाइन के शुरू होने से शिकायतकर्ता अब घर बैठे ही यूपी में कहीं से भी अपनी शिकायत दर्ज करा सकेंगे | आपको बता दें, कि इस टोल फ्री नंबर पर शिकायतें दर्ज होनें के साथ ही यदि एक सप्ताह में समस्याओं का निवारण न होनें पर संबंधित विभाग के अधिकारियों पर तत्काल रूप से कार्यवाही की जाएगी |

सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर की सबसे ख़ास बात यह है, कि इससे पुलिस और स्वास्थ्य विभाग भी जुड़े रहेंगे | इसके लिए प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सीएम हेल्पलाइन कॉल सेंटर की व्यवस्था की गयी है, जिसमें 500 सीटों की व्यवस्था है | यहाँ सातों दिन 24 घंटे अर्थात 24X7 लोगों की शिकायतों को सुना जाएगा और उसे दर्ज किया जाएगा | इसके साथ ही संबंधित विभाग उनसे जुड़ी शिकायतों के निस्तारण और उसकी मोनिटरिंग भी करेंगे |

ऑनलाइन आरटीआई कैसे करें

यूपी सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर1076 / 094509-66551
ईमेल आईडी[email protected]
ट्विटर ऑफिसियल अकाउंट@myogiadityanath
इंस्टाग्राम अकाउंटhttps://www.instagram.com/myogi-adityanath

MSME Complaint Portal

यूपी सीएम हेल्पलाइन नंबर 1076 के मुख्य बिंदु (Key Points of UP CM Helpline Number 1076)

  • शिकायतकर्ता द्वारा असंतोष व्यक्त करनें या संतुष्ट न होनें पर मामले को उच्च अधिकारियों को हस्तांतरित कर दिया जायेगा।
  • झूठी और अफवाह जैसी शिकायत करने वाले के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी।
  • सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर को 100, 108 और 102 नंबर से लिंक किया गया है।
  • हेल्पलाइन नंबर पर सातों दिन 24 घंटे समस्याएं सुनी जाएँगी और उनका निराकरण किया जायेगा|
  • शिकायतों का समाधान न करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी।
  • सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर के माध्यम से दर्ज होनें वाली सभी शिकायतों की समीक्षा मुख्यमंत्री जी द्वारा स्वयं की जाएगी |

नरेगा में शिकायत कैसे करें

सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर की खासियत (Features of CM Toll Free Helpline Number)

सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर की शुरुआत राज्य की जनता द्वारा की जानें वाली शिकायतों के प्रभावी निस्तारण के लिए की गई है। अभी तक शिकायत करनें वाले लोग अपनी शिकायतों या समस्याओं को कागजों के माध्यम से शासन और प्रशासन तक पहुंचाते थे, परन्तु अब टोल फ्री नंबर 1076 की सहायता से लोग अपनी शिकायतों को घर बैठे फोन पर ही दर्ज करा सकेंगे |

इसके साथ ही टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर की एक और खासियत है, कि इसमें शिकायतकर्ता से फीडबैक लिया जायेगा, कि वह शिकायत के निस्तारण से संतुष्ट है अथवा नहीं। यदि शिकायतकर्ता पूर्ण रूप से संतुष्ट नहीं है, तो उसकी शिकायत पर फिर से कार्यवही शुरू की जाएगी |

Delhi Corona App

हेल्पलाइन नंबर से बढ़े रोजगार के अवसर (Helpline Number Increased Employment Opportunities)

मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नंबर के माध्यम से उत्तर प्रदेश राज्य के युवाओं के लिए रोजगार के अवसर भी बढ़े हैं | दरअसल आम जनता द्वारा की जानें वाली शिकायतों को सुननें के लिए कॉल सेंटरों की व्यवस्था की गयी है, जिसमें एक शिफ्ट में कम से कम 500 लोग कार्य करते है |

आपको बता दें, यह सभी सीटें बेरोजगार युवाओं द्वारा भरी जाएंगी जो उन्हें रोजगार प्रदान करने में सहायता प्रदान करेंगी।  इस प्रकार सीएम हेल्पलाइन नंबर न सिर्फ शिकायतों को सुननें के पश्चात उनका निदान करेगा, बल्कि इससे बेरोजगार युवाओं को रोजगार प्राप्त करने में अहम् भूमिका निभाएगा |

ग्राम प्रधान (सरपंच) की शिकायत कैसे करे

सीएम हेल्पलाइन नंबर में इनका निस्तारण नहीं किया जायेगा

  • सूचना का अधिकार अर्थात आरटीआई से संबंधित मामले |
  • माननीय न्यायालय में विचाराधीन मामलों में |
  • किसी मामले में सुझाव |
  • किसी प्रकार की वित्तीय सहायता या नौकरी की मांग |
  • सरकारी कर्मचारियों के सेवा से सम्बंधित मामले जैसे- स्थानांतरण, प्रोन्नति आदि |

बीइंग ह्यूमन क्या है

मध्य प्रदेश सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर (MP CM Tollfree Helpline Number)

उत्तर प्रदेश की तर्ज पर मध्य प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी नें अपनें राज्य की आम जनता की शिकायतों के निस्तारण के लिए टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 181 की शुरुआत की है | हाल ही में शुरू किया गया यह हेल्पलाइन नंबर आम जनता के लिए 24 से 7 में उपलब्ध होगा |

मीडिया से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नम्बर पर अब तक आम जनता द्वारा लगभग 9072281 शिकायतें दर्ज की गई हैं | इस नंबर के माध्यम से दर्ज की जानें वाली शिकायतों का निस्तारण अतिशीघ्र करनें का आदेश मुख्यमंत्री द्वारा दिया गया है | तत्काल रूप या निर्धारित समय में शिकायतों का समाधान न करनें की स्थिति में सम्बंधित अधिकारियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करनें के निर्देश दिए गये है |

Bihar Pravasi Online Registration

एमपी सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर शुरू करनें का उद्देश्य (Purpose Of Starting MP CM Toll Free Helpline Number)

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर शुरू करनें का मुख्य उद्देश्य आम लोगों की शिकायतों को सुनना और उनका निस्तारण करना है | कई बार आम जन की शिकायतों को अधिकारियों द्वारा अनसुना कर दिया जाता है, जिसके कारण लोगो को अनेक प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है |

इस प्रकार की समस्याओं से रूबरू होते हुए एमपी सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर जेनरेट किया गया है | इस नबर की सहायता से मध्य प्रदेश राज्य का कोई भी नागरिक घर बैठे शिकायत कर सकता है |     

राष्ट्रीय महिला आयोग क्या है

एमपी सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर (MP CM Tollfree Helpline Number)

एमपी सीएम टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर181
संपर्क नंबर91-33-2214-5555
फैक्स नंबर91-755-2441781

उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश सरकार द्वारा टोल फ्री हेल्पलाइन नंबरों के अलावा दोनों राज्यों की सरकारों द्वारा एक शिकायत पोर्टल भी प्रस्तावित किया है। इस पोर्टल के अंतर्गत ग्राहक किसी भी दुर्व्यवहार के बारे में शिकायत दर्ज कर अति शीघ्र समाधान प्राप्त कर सकते है |

यूपी धान खरीद किसान रजिस्ट्रेशन

Leave a Comment