मनोदर्पण कार्यक्रम क्या है

कोरोना महामारी के चलते देश के करोड़ो युवा न तो स्कूल, कॉलेज जाने में सक्षम है और इसके अतिरिक्त वे घर पर रहकर तनाव भी बेहद अधिक महसूस कर रहे है | साथ ही छात्रों के पेरेंट्स भी बच्चो के भविष्य को लेकर ख़ासा तनाव में है | भारत सरकार के एमएचआरडी मंत्रालय ने इन्ही सब बातो को ध्यान में रखते हुए एक “मनोदर्पण कार्यक्रम” शुरू किया है जिसका लक्ष्य छात्रों, टीचर, पेरेंट्स को तनाव व मानसिक समस्या से मुक्त करना है | यदि आपको मनोदर्पण कार्यक्रम के विषय में अधिक जानकारी नहीं प्राप्त है और आप इसके विषय में जानना चाहते है, तो यहाँ पर आपको Manodarpan Scheme | मनोदर्पण कार्यक्रम क्या है? – पोर्टल व टोल फ्री नम्बर,के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है |

Manodarpan Scheme क्या है

यह योजना छात्रों, टीचर व पेरेंट्स के बीच तनाव के कारण आई मानसिक समस्या को एक बेहद ख़ास काउंसलिंग के जरिये दूर करने का एक प्रयास है जिससे माननीय एमएचआरडी मंत्री महोदय ने 21 जुलाई 2020 को आरम्भ किया है| यह जानकारी मानव संसाधन मंत्रालय के मंत्री श्री निशंक पोखरियाल के द्वारा twitter प्लेटफार्म के माध्यम से शेयर की गयी, जिसे काफी retweet किया गया |

मनोदर्पण कार्यक्रम कैसे काम करेगा

यह फ्लैगशिप स्कीम आत्मनिर्भर भारत अभियान के अंतर्गत तैयार की गयी है और जिसे प्रधानमन्त्री के निर्देश अनुसार मानव संसाधन मंत्रालय ने गाइडलाइन बनाई है जिसके तहत विशेषज्ञों ने छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों के तनाव को दूर करने के लिए मनोवैज्ञानिक मनोदर्पण एक गाइडलाइन बनाई है |

इसके कार्यक्रम के तहत लाभार्थी कोविद लॉकडाउन के कारण तनाव महसूस होने पर दिए गए टोल फ्री नम्बर फ्री नंबर 8448440632 पर सुबह आठ से शाम आठ के बीच कॉल करके अपनी मानसिक तनाव कम कर सकते है | कॉल के दौरान विशेषज्ञ द्वारा पूर्ण मनोचिकित्सा से सम्बंधित परामर्श दिया जाएगा |

Manodarpan Initiative Portal

योजना के पूर्ण रूप से कार्य करने हेतु एक पोर्टल एक निर्माण भी किया गया है जिसे सभी छात्र और अन्य लाभार्थी जिसमे टीचर और पेरेंट्स भी सम्मिलित है, http://manodarpan.mhrd.gov.in/ के माध्यम से पोर्टल एक्सेस कर सकते है | जैसे की बताया जा चूका है कि टोल फ्री नम्बर के माध्यम से परामर्श ले सकते है और साथ ही आप मनोदर्पण कार्यक्रम हेतु सुझाव व परामर्श ई-मेल (manodarpan-mhrd[at]gov[dot]in) के माध्यम से भी दे सकते है साथ ही इसमें पांच सौ से अधिक चिकित्सक सहयोग देंगे और पोर्टल पर ऑनलाइन चैट प्लेटफार्म भी शुरू किया गया है | जिससे डिजिटल माध्यम के जरिये हरलाभार्थी को जुडाव के लिए संभव विकल्प उपलब्ध रहे |

यदि आप भी तनाव महसूस कर रहे है और परामर्श लेने के इच्छुक है तो Manodarpan portal के माध्यम से सेवाओ का लाभ उठा सकते है | लेखअच्छा लगे तो आगे भी शेयर करे |

Leave a Comment