मैकेनिकल इंजीनियर (Mechanical Engineer) कैसे बनें

मैकेनिकल इंजीनियर एक ऐसा क्षेत्र होता है जो इंजीनियरिंग की सबसे पुरानी और बड़ी शाखाओं  के अंतर्गत आता है | यदि आपको मैकेनिकल इंजीनियर बनना है, तो इसके लिए आपको पढ़ाई करने के साथ-साथ और भी कई चीजों का ज्ञान होना आवश्यक होता है | जिसके लिए अभ्यर्थियों को अलग से कोर्स करने होते है | अभ्यर्थियों के द्वारा किये जाने वाले कोर्सों  में  अभ्यर्थियों को मशीनों की बनावट और उन्हें बनाने के विषय में पूरी जानकारी दी जाती है | इसके बाद जिन अभ्यर्थियों को मशीनों और अन्य सभी चीजों के विषय में जानकारी हो जाती है वो अभ्यर्थी मैकेनिकल इंजीनियर  के योग्य हो जाते है | यदि आप मैकेनिकल इंजीनियर बनना चाहते है, तो यहाँ पर आपको मैकेनिकल इंजीनियर (Mechanical Engineer) कैसे बनें, योग्यता, कोर्स, सैलरी की  पूरी जानकारी दी जा रही है |

ये भी पढ़े: एनबीएफसी (NBFC) क्या है

मैकेनिकल इंजीनियर (MECHANICAL ENGINEER) कैसे बनें 

मैकेनिकल इंजीनियर बनने के लिए अभ्यर्थियों को 10th के बाद कुछ कोर्स करने होते है, जिन्हे करने के बाद अभ्यर्थियों को मैकेनिकल इंजीनियरिंग के विषय में अत्याधिक जानकारी प्राप्त हो जाती है | आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग का कोर्स 10th के बाद ITI या पॉलिटेक्निक के माध्यम से भी कर सकते है और 12th  क्लास पास करने के बाद भी अभ्यर्थी इसका कोर्स करने के लिए प्रवेश ले सकते हैं |  कोर्स पूरा हो जाने के बाद अभ्यर्थी मैकनिकल इंजीनियर के अप्लाई कर सकते है | मैकेनिकल इंजीनियर बनने वाले अभ्यर्थियों को सम्मान के साथ-साथ सैलरी भी अच्छी प्राप्त होती है |

मैकेनिकल इंजीनियर बनने हेतु योग्यता 

मैकेनिकल  इंजीनियर बनने के लिए अभ्यर्थियों को दसवीं और बारहवीं  कक्षा  में मैथ फ़िज़िक्स और कमेस्ट्री  विषयों के साथ पढ़ाई करनी होती है,   मैकेनिकल इंजीनियर बनने  वाले अभ्यर्थियों के पास इसके कोर्स का डिप्लोमा  होना जरूरी होता है  | वहीं यदि  आप सीनियर मैकेनिकल इंजीनियर बनना चाहते हैं, तो इसके लिए आपके पास  डिग्री  होनी चाहिए | आप  10 वीं कक्षा पास करने के बाद इसका कोर्स करके डिप्लोमा प्राप्त कर सकते है और 12 वीं कक्षा  पास करने के बाद इसका कोर्स करके आप  डिग्री प्राप्त कर सकते है |

ये भी पढ़े: एसएससी CHSL परीक्षा तैयारी कैसे करे?

ये भी पढ़े: रेलवे में स्टेशन मास्टर कैसे बने?

10th करने के बाद मैकेनिकल इंजीनियर  

10th के बाद इंजीनियरिंग करने वाले अभ्यर्थियों को पॉलिटेक्निक में एडमिशन लेना  होता है, यह कोर्स पूरे तीन साल का होता है जो अभ्यर्थी इस कोर्स को पूरा  कर लेते हैं तो उन अभ्यर्थियों को 3 साल का डिप्लोमा  दिया जाता है | जिसके बाद अभ्यर्थी  किसी भी अच्छी कंपनी में नौकरी  के लिए अप्लाई कर सकते हैं | इसके साथ ही यदि  आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग के फील्ड में सीनियर लेवल के इंजीनियर बनने की इच्छा रखते है, तो इसके लिए आपको डिग्री करनी  होती है |

12th के बाद बने मैकेनिकल इंजीनियर  

12वीं कक्षा में सफलता प्राप्त कर लेने के बाद  जो अभ्यर्थी  मैकेनिकल इंजीनियरिंग कोर्स करना चाहते है उन्हें 12वीं कक्षा में मेडिकल या नॉन मेडिकल होना  आवश्यक होता है क्योंकि, इसके बाद अभ्यर्थी को  बीटेक में मैकेनिकल शाखा से डिग्री प्राप्त करने के लिए कोर्स करना होता है | इसके अलावा B.TECH के बाद में M.TECH   करने वाले अभ्यर्थियों को  मास्टर डिग्री भी प्राप्त हो जाती है  | अभ्यर्थियों को मैकेनिकल इंजीनियर बनने के लिए 12वीं के बाद 3 साल की बी.टेक का कोर्स और  2 साल की M.TECH का कोर्स करना होता है जिसके बाद अभ्यर्थी किसी भी कम्पनी एक बड़ी पोस्ट पर नौकरी प्राप्त कर सकते है |

ये भी पढ़े: एसएससी CHSL परीक्षा तैयारी कैसे करे?

मैकेनिकल इंजीनियर बनने के लिए कोर्स 

मैकेनिकल इंजीनियर बनने के लिए निम्ननलिखित होते है जो इस प्रकार से है-

  • मेंटनेंस इंजीनियर (Maintenance Engineer)
  • सिविल अभियंता (Civil engineer)
  • एयरोस्पेस इंजीनियर (Aerospace engineer)
  • व्हेईकल इंजीनियर (Vehicle engineer)
  • तकनीकी अभियंता (Technical engineer)

ये सारे कोर्स मैकेनिकल इंजीनियरिंग के अंतर्गत आते हैं | इसलिए मैकेनिकल इंजीनियर बनने वाले अभ्यर्थी इनमें से कोई भी एक कोर्स करके मैकेनिकल इंजीनियर बन सकता है |

ये भी पढ़े: एनबीएफसी (NBFC) क्या है

ये भी पढ़े: संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) क्या है?

मैकेनिकल इंजीनियर की ऐसी कर सकते है तैयारी 

  • इस फील्ड में जाने के लिए सबसे पहले आपको 10वीं कक्षा में अच्छे नंबरों से सफलता प्राप्त करनी होती है |
  • इसके बाद आप किसी भी इंजीनियरिंग संस्थान से पॉलिटेक्निक कर लें, आप 12वीं पास करने के बाद भी इस कोर्स को कर सकते है |
  • आप मैकेनिकल इंजीनियर का चुनाव करके पॉलिटेक्निक में अच्छे रैंक के साथ सफलता प्राप्त कर लें |
  • इसके बाद आप इंस्टीट्यूट ऑफ मैकेनिकल इंजीनियरिंग से 4 साल का बीई या बीटेक का कोर्स कर लें |
  • आपको यह चार साल का कोर्स करने के लिए कठिन परिश्रम करना होगा |
  • इसमें आपको सारे विषयों की अच्छी तरह से पढ़ाई करके अच्छे अंक प्राप्त करने होंगे | इसके साथ ही आपको इसके सारे प्रैक्टिकल भी देने होंगे |

मैकेनिकल इंजीनियर की सैलरी  

एक मैकेनिकल इंजीनियर को प्रतिमाह लगभग 30-35,000 रूपये प्रदान की जाती है, इसके साथ ही जैसे-जैसे एक इंजीनियर का अनुभव बढ़ता जाता है वैसे ही उसकी सैलरी भी बढ़ती जाती है | एक मैकेनिकल इंजीनियर को अच्छी सैलरी के साथ-साथ सम्मान भी दिया जाता है | विदेशों में भी एक मैकेनिकल इंजीनियर को बड़ी सैलरी प्रदान की जाती है |

ये भी पढ़े:  सरकारी बैंक और प्राइवेट बैंक की सूची

यहाँ पर हमने आपको मैकेनिकल इंजीनियर बनने के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी | यदि  आपको इससे  सम्बंधित अन्य जानकारी प्राप्त करनी है तो आप  अपने विचार या सुझाव कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूंछ सकते है | इसके साथ ही आप अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो www.hindiraj.com पर विजिट करे |

ये भी पढ़े: आर्थिक मंदी (ECONOMIC RECESSION) क्या है

ये भी पढ़े: ग्राम विकास अधिकारी (VDO) कैसे बने?

ये भी पढ़े:  सीए (CHARTERED ACCOUNTANT) कैसे बने

ये भी पढ़े: पीसीएस (PCS) परीक्षा की तैयारी कैसे करे?