10वी के बाद क्या करे ?

हमारे देश के अधिकतर राज्यों में 10वीं की एग्जाम बोर्ड की एग्जाम होती है। यह वह पल होता है जब विद्यार्थी पहली बार बोर्ड की एग्जाम के बारे में सुनते हैं और उन्हें यह समझ में नहीं आता है कि वास्तव में बोर्ड  एग्जाम की इतनी अहमियत क्यों है। बता दे की बोर्ड की एग्जाम की इतनी अहमियत इसीलिए है क्योंकि 10वीं की बोर्ड की एग्जाम को पास करने के बाद आपके सामने करियर बनाने के लिए बहुत सारे विकल्प खुल करके आ जाते हैं।

इसके बाद आप चाहे तो ITI कोर्स कर सकते हैं या फिर 12वीं की पढ़ाई कर सकते हैं अथवा आप चाहे तो कोई कंप्यूटर कोर्स भी कर सकते हैं। तो अगर आप एक 10वीं पास व्यक्ति हैं, या फिर हाल ही में आपने दसवीं की परीक्षा उत्तीर्ण की है तो आइए जानते हैं।

10वीं के बाद क्या करें?

भिन्न भिन्न आर्थिक स्थिति होने के कारण कई विद्यार्थी ऐसे हैं जो दसवीं के बाद डिप्लोमा के कोर्स में एडमिशन नहीं ले पाते हैं। ऐसे में उनके सामने या तो 12वीं कक्षा की पढ़ाई करने का ऑप्शन होता है या फिर आईटीआई कोर्स करने का ऑप्शन होता है अथवा कोई कंप्यूटर कोर्स करने का ऑप्शन होता है। इनमें से किसी भी चीज को करना उनके लिए फायदेमंद ही होता है।

क्योंकि यह सभी चीजें उपयोगी है तभी तो इन्हें गवर्नमेंट के द्वारा और प्राइवेट इंस्टिट्यूट के द्वारा चलाया जाता है। फिलहाल 10वीं कक्षा को पास करने के बाद अगर आप इस बात को लेकर के कंफ्यूज है तो नीचे आइए इस बात पर चर्चा करते हैं कि दसवीं के बाद क्या करना चाहिए।

12वीं के बाद इंजीनियर कैसे बनें ?

1. साइंस से 12वीं पास करें।

 ऐसे विद्यार्थी जो भविष्य में अपना कैरियर मेडिकल से संबंधित कोर्स को करके मेडिकल की फील्ड में बनाना चाहते हैं, वह 12वीं में साइंस कोर्स को ले सकते हैं। 12वीं क्लास में साइंस लेने का आपको एक बेनिफिट यह भी मिलता है कि आगे चलकर के आप किसी भी कोर्स में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं, वहीं अगर आपने 12वीं क्लास को आर्ट या फिर कॉमर्स के सब्जेक्ट के साथ पास किया है।

तो ऐसा होने पर आपको साइंस के किसी भी कोर्स में एडमिशन मिले इसकी संभावना काफी कम होती है। यह सिर्फ साइंस से 12वीं क्लास पास करने के कारण ही संभव हो पाता है। 12वीं की एग्जाम को साइंस के सब्जेक्ट के साथ पास करने के बाद मेडिकल की फील्ड में आपके लिए बहुत ऑप्शन खुल करके आ जाते हैं। यहां तक कि कुछ ऐसी गवर्नमेंट नौकरी भी है जो आप 12वीं साइंस को पास करने के बाद प्राप्त कर सकते हैं। नीचे जानिए आपको 12वीं साइंस के बाद कौन से कैरियर में जाने का मौका मिलता है।

डॉक्टर

इंजीनियर

• आईटी

• शोध

एविएशन

मर्चेंट नेवी

• फॉरेंसिक साइंस

एथिकल हैकिंग

बता दें कि 12वीं की कक्षा में अगर आप साइंस का सब्जेक्ट लेते हैं तो इसमें आपको मुख्य तौर पर दो प्रकार की स्ट्रीम प्राप्त होती है, जिसमें पहली होती है मेडिकल जिसके अंतर्गत फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी सब्जेक्ट आते हैं और दूसरी होती है नॉन मेडिक, जिसके अंतर्गत फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स सब्जेक्ट आते हैं। मेडिकल की फील्ड में 12वीं की एग्जाम को पास करने के बाद अगर आपको जाने की इच्छा है तो आपको 12वीं साइंस में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी का सब्जेक्ट लेना चाहिए।

वही अगर आप अन्य फील्ड में जाना चाहते हैं तो आपको 12वीं की एग्जाम में फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स का सब्जेक्ट लेना चाहिए। याद रखें कि अगर आप 12वीं को पास करने के बाद ग्रेजुएशन करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको 12वीं की एग्जाम में अच्छे परसेंटेज लाने पड़ेंगे, तभी आपको गवर्नमेंट कॉलेज मिलने की संभावना ज्यादा होगी। इससे आपको कम फीस भरनी पड़ेगी।

सीए (CA) कैसे बने ?

2. कॉमर्स से 12वीं पास करें।

जैसे विद्यार्थी मेडिकल की फील्ड में जाने के लिए साइंस से 12वीं क्लास को पास करते हैं। वैसे ही कई विद्यार्थी फाइनेंस या फिर बैंकिंग क्षेत्र में जाने के लिए 12वीं क्लास में कॉमर्स का सब्जेक्ट लेते हैं। कोई विद्यार्थी अगर 12वीं क्लास को कॉमर्स के सब्जेक्ट के साथ पास करता है, तो वह आगे चलकर के नीचे दी गई फील्ड में अपना कैरियर स्थापित कर सकता है।

• अकाउंटेंट

• मैनेजमेंट अकाउंटिंग

• चार्टर्ड अकाउंटेंट

• कंपनी सेक्रेटरी

• एमबीए

• फाइनेंशियल प्लानर

• एक्चुअरीज

12वीं क्लास में भले ही आपने कॉमर्स का सब्जेक्ट लिया है और कॉमर्स के सब्जेक्ट से ही आपने 12वीं कक्षा को पास किया है, परंतु आगे चाहे तो आप ग्रेजुएशन करने के लिए अपनी स्ट्रीम को कॉमर्स या आर्ट्स में चेंज कर सकते हैं। 12th में आपको कॉमर्स के सब्जेक्ट के तौर पर नीचे दिए गए सब्जेक्ट की स्टडी करनी होती है।

• अकाउंटेंसी

इंग्लिश

• इनफार्मेशन प्रैक्टिसेज/ मैथमेटिक्स

बिजनेस स्टडीज

• इकोनॉमिक्स

पीसीएस (PCS) अधिकारी कैसे बने ?

3. आर्ट से 12वीं पास करें।

अधिकतर लोगों का यह माइंडसेट स्थापित हो गया है कि दसवीं पास करने के बाद 12वीं में आर्ट का सब्जेक्ट वही विद्यार्थी लेते हैं, जो पढ़ाई करने में कमजोर होते हैं परंतु ऐसा नहीं है। आर्ट का सब्जेक्ट भले ही विद्यार्थियों की नजर में कैरियर के लिए सही सब्जेक्ट नहीं है, परंतु बता दे कि जो लोग इसकी इंपॉर्टेंस को जानते हैं, वह यह अच्छी तरह से जानते हैं कि आर्ट के सब्जेक्ट के साथ बारहवीं की एग्जाम को पास करने के बाद उनके सामने कैरियर के बहुत सारे ऑप्शन खुल जाते हैं।

वह चाहे तो गवर्नमेंट नौकरी के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं या फिर कहीं पर प्राइवेट नौकरी भी पकड़ सकते हैं। नीचे हमने आपको उन करियर विकल्प के नाम दिए हैं जो 12वीं आर्ट सब्जेक्ट के साथ पास करने के बाद आपके सामने आते हैं।

पत्रकार

• ग्राफिक डिजाइनर

वकील

• इवेंट मैनेजर

शिक्षक

• एनिमेटर

इंडिया में ऐसी कई गवर्नमेंट नौकरी निकलती है, जिसमें अप्लाई करने के लिए 12वीं पास अभ्यर्थियों को आमंत्रित किया जाता है। नीचे हमने उन सब्जेक्ट के नाम आपको बताए हैं, जो 12वीं आर्ट में आपको पढ़ने पड़ते हैं।

• इतिहास

• पॉलिटिकल साइंस

• साइकोलॉजी

• अंग्रेजी

• सोशियोलॉजी

• इकोनॉमिक्स

• ज्योग्राफी

• क्षेत्रीय भाषा

बीटेक (B.Tech) क्या है?

4. पॉलीटेक्निक कोर्स करें।

दसवीं पास करने के बाद जो भी विद्यार्थी 12वीं कक्षा नहीं पढ़ना चाहते हैं, वह चाहे तो सीधा 3 साल के पॉलिटेक्निक कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं। इसे करने का फायदा यह है कि यह एक टेक्निकल कोर्स होता है और यही वजह है कि जब आप पॉलिटेक्निक के कोर्स को पूरा कर लेते हैं, तब आपको नौकरी मिलने की संभावना काफी ज्यादा हो जाती है। एलएनटी जैसी कंपनियां आपको इस कोर्स को करने के बाद आसानी से नौकरी दे देती है। नीचे उन सारे कोर्स के नाम हमने आपको लिस्ट में बताए हैं, जो पॉलिटेक्निक कोर्स की कैटेगरी में आते हैं और जिन्हें आप दसवीं के बाद कर सकते हैं।

• डिप्लोमा इन सिविल इंजीनियरिंग

• डिप्लोमा इन मैकेनिकल इंजीनियरिंग

• डिप्लोमा इन इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग

• डिप्लोमा इन ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग

• डिप्लोमा इन कंप्यूटर इंजीनियरिंग

• डिप्लोमा इन केमिकल इंजीनियरिंग

• डिप्लोमा इन इंस्ट्रूमेंटेशन टेक्नोलॉजी

• डिप्लोमा इन एयरोस्पेस इंजीनियरिंग

• डिप्लोमा इन बायोटेक्नोलॉजी इंजीनियरिंग

• डिप्लोमा इन इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग

पॉलिटेक्निक का कोर्स पूरा करने के बाद आप नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं अथवा अगर आपको आगे की पढ़ाई करनी है, तो आप बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी जैसे ग्रेजुएशन लेवल के कोर्स में भी एडमिशन ले सकते हैं। यह कोर्स वैसे तो 3 साल का होता है परंतु अगर आप पॉलिटेक्निक का कोर्स करके इस कोर्स में एडमिशन लेते हैं तो 1 साल कम हो जाता है। यानी कि आपको सीधा बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी के दूसरे साल में एडमिशन मिलता है।

5. आईटीआई कोर्स करें।

आईटीआई का कोर्स ऐसे विद्यार्थी अक्सर करते हैं जो गवर्नमेंट नौकरी पाना चाहते हैं। बता दें कि आईटीआई का पूरा नाम इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट होता है और इसमें अलग-अलग प्रकार के टेक्निकल कोर्स होते हैं, जिनमें कुछ कोर्स 1 साल के होते हैं तो कुछ कोर्स 3 साल के होते हैं। इसमें कुछ कोर्स ऐसे भी हैं, जो सिर्फ 2 साल के ही होते हैं। जो भी विद्यार्थी आईटीआई के कोर्स को पूरा करते हैं, उन्हें ट्रेनी कहकर बुलाया जाता है।

आईटीआई के कोर्स को करने का एक फायदा यह भी है कि इस कोर्स को करके आप विदेशों में भी नौकरी करने के लिए जा सकते हैं, क्योंकि विदेशों में लेबर की ज्यादा आवश्यकता होती है। ऐसे में आपको वहां पर आसानी से अच्छी पगार पर नौकरी मिल जाएगी। इसके अलावा आप इंडियन रेलवे में गार्ड तथा अन्य टेक्निकल पदों पर भी अप्लाई कर सकते हैं। नीचे हमने आपको आईटीआई में आने वाले कोर्स के नाम और उन्हें करने में कितना साल लगता है, इसकी इंफॉर्मेशन प्रोवाइड की है।

पंप ऑपरेटर:    1 साल  
फिटर इंजीनियरिंग:    2 साल  
 टूल एंड डाई मेकर इंजीनियरिंग:    3 साल  
मैन्युफैक्चर फूट वियर:    1 साल  
रेफ्रिजरेशन इंजीनियरिंग:   1 साल  
फ्रूट एंड वेजिटेबल प्रोसेसिंग:   1 साल  
इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग:   1 साल

जीएनएम (GNM) कोर्स क्या है ?

6. पैरामेडिकल कोर्स करे।

ऐसे विद्यार्थी जो हेल्थ केयर की फील्ड में जाना चाहते हैं वह दसवीं के बाद पैरामेडिकल के कोर्स को कर सकते हैं। इसमें एडमिशन पाने के लिए आपको नीट जैसी हार्ड एंट्रेंस एग्जाम को भी नहीं देना पड़ेगा, क्योंकि इसमें बिना एंट्रेंस एग्जाम दिए हुए आपको एडमिशन मिल जाता है।

हेल्थ केयर सेक्टर सिर्फ इंडिया में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में काफी बड़ा है। इसीलिए इसमें आपके पास इंडिया के अलावा विदेशों में भी काम करने की भारी संभावना होती है और यही वजह है कि इसे एक अच्छी सैलरी वाला कैरियर माना जाता है।

बता दें कि दसवीं पास करने के बाद आपको 2 प्रकार के पैरामेडिकल कोर्स ऑफर होते हैं। इसमें पहला होता है सर्टिफिकेट कोर्सेज जोकि 3 महीने से लेकर के 1 साल के आसपास तक का होता है और दूसरा होता डिप्लोमा कोर्स, जिसकी समय अवधि 1 साल से लेकर के 2 साल तक की होती है। नीचे हमने आपको दसवीं के बाद किए जाने वाले पैरामेडिकल कोर्स की लिस्ट दी है। इन्हें ध्यान से देखें और अपने मनपसंद कोर्स का सिलेक्शन करें।

सर्टिफिकेट इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी: 6-12 महीने  
MRI टेक्नीशियन (सर्टिफिकेट):3-12 महीने  
डिप्लोमा इन एक्सरे टेक्नोलॉजी:2 साल  
डिप्लोमा इन डायलिसिस टेक्नीक्स:    2 साल  
डिप्लोमा इन रूरल हेल्थ केयर:    1 साल  
डिप्लोमा इन नर्सिंग केयर असिस्टेंट:1-2 साल  
डिप्लोमा इन ECG टेक्नोलॉजी:2 साल  
डिप्लोमा इन मेडिकल रिकॉर्ड टेक्नोलॉजी:2 साल  

7. शॉर्ट टर्म कोर्स करें?

कहते हैं कि अगर किसी व्यक्ति के पास हाथ का हुनर है तब उसे कभी भी बेरोजगार रहने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी, क्योंकि हाथ का हुनर हमेशा उसे कहीं ना कहीं काम पाने में सहायता करेगा ही। दसवीं क्लास पास करने के बाद विद्यार्थी अगर अपने हुनर को निखारना चाहते हैं, तो वह कोई छोटी अवधि के कोर्स कर सकते हैं, जिसमें उन्हें सर्टिफिकेट कोर्स भी मिलता है। नीचे हमने कुछ प्रमुख शार्ट टर्म कोर्स के नाम दिए हैं जिसमें आप एडमिशन ले सकते हैं और इन्हें सीख करके अपने हुनर का विकास कर सकते हैं तथा नौकरी भी पा सकते हैं।

• सर्टिफिकेट इन पोल्ट्री फार्मिंग

• ग्राफिक डिजाइनिंग

• इवेंट मैनेजमेंट

• SEO एनालिस्ट

• डिजिटल मार्केटिंग

• साइबर सिक्योरिटी

• होटल मैनेजमेंट

• सर्टिफिकेट प्रोग्राम इन एमएस ऑफिस

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता या कार्यकत्री कैसे बने ?

8. नौकरी करें।

गवर्नमेंट ऐसी कई नौकरी निकालती है, जिसे पाने के लिए 10वीं पास योग्यता मांगी जाती है। इस प्रकार दसवीं अगर आपने पास कर ली है, तो आप गवर्नमेंट की नौकरी में अप्लाई कर सकते हैं। वही दसवीं पास करने के बाद आप प्राइवेट कंपनी में भी 8 से 10000 की नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा आपको डाटा एंट्री ऑपरेटर और क्लर्क की नौकरी भी मिल सकती है।

अधिकतर विद्यार्थी यही चाहते हैं कि उन्हें गवर्नमेंट नौकरी ही प्राप्त हो। इसलिए नीचे हमने कुछ ऐसी गवर्नमेंट नौकरी के नाम दिए हैं जो दसवीं पास करने के बाद आपको मिल सकती हैं। अगर आप इससे भी अच्छी सैलरी वाली गवर्नमेंट नौकरी पाना चाहते हैं, तो आपको 12वीं या फिर ग्रेजुएशन करनी होगी।

इंडियन आर्मी

इंडियन रेलवे

पोस्ट ऑफिस

इंडियन नेवी

इंडियन एयर फोर्स

• BSF

हमे उम्मीद है कि इस लेख को पढने के बाद आपको 10वी के बाद क्या क्या कर सकते है और किस प्रकार का कोर्स आपके लिए उपयुक्त रहेगा, इसकी जानकारी प्राप्त हुई होगी | लेख अच्छा लगा है तो कृपया आगे शेयर करे |

Leave a Comment