तेल शोधन (Oil Refinery) क्या है

मानव सभ्यता की प्रगति में उर्जा के संसाधनों का अहम् योगदान रहा है | हालाँकि बदलते हुए समय के साथ-साथ उर्जा के साधनों का प्रयोग भी बदल जाते है | वर्तमान समय में हम उर्जा के विभिन्न साधनों जैसे- पेट्रोल, डीजल, कोयला, गैस उर्जा तथा विद्युत् ऊर्जा का प्रयोग भरपूर मात्रा में कर रहे है | ऐसे में अधिकांश लोग यह जानना चाहते है, कि आखिर उर्जा के विभिन्न प्रकार के संसाधन हमें कहाँ से और कैसे प्राप्त होते है | 

दरअसल यह सब हमें तेल शोधन प्रक्रिया द्वारा प्राप्त होता है, जो काफी लम्बी और जटिल प्रक्रिया है | तेल शोधन (Oil Refinery) क्या है, भारत के किन राज्यों में तेल क्षेत्र है? इसके बारें में आज हम इस पेज पर विस्तार से चर्चा करेंगे |

भारत के प्रमुख दर्रे के नाम और उनके राज्य

तेल शोधन क्या है (What Is Oil Refinery)

सभी प्रकार के यातायात के साधनों और औद्योगिक कारखानों को सुव्यस्थित रूप से संचालित करनें के लिए ईधन की आवश्यकता होती है और इस ईधन को भूमि के अन्दर से कच्चे तेल के रूप में निकाला जाता है, जिसे हम खनिज तेल भी कहते है | प्रायः खनिज तेल शब्द का प्रयोग 2 अलग-अलग अर्थों में किया जाता है | इसमें से पहला क्रूड आयलया प्राकृतिक रूप से मिलने वाला पेट्रोलियम तथा दूसरा पेट्रोलियम के आसवन से प्राप्त होनें वाले उत्पाद होते है |

दरअसल क्रूड आयल को परिष्कृत करने के बाद उससे हमें प्राकृतिक गैस (Natural Gas), पेट्रोल (Petrol), डीजल (Diesel), मोम, केरोसीन आदि की प्राप्ति होती है | यह क्रूड आयल हमें जमीन के नीचे स्थित अवसादी चट्टानों के ऊपर कुएं खोदकर प्राप्त किया जाता है, जिसे हम ‘ड्रिलिंग’ भी कहते है | ड्रिलिंग के माध्यम से प्राप्त इस तेल को तेल शोधन (Oil Refinery) में प्रसंस्कृत (Processed) किया जाता है, इसके पश्चात इससे शुद्ध पेट्रोल, डीजल, मिट्टी का तेल और प्रकृतिक गैस आदि की प्राप्ति होती है |

क्रूड आयलयापेट्रोलियम से विभिन्न प्रकार के अवयवों को पृथक करनें के लिए आसवन विधि का प्रयोग किया जाता है | इसे पेट्रोलियम या तेल का शोधन’ (Petroleum or Oil Refinery) कहते है |

भारत के प्रमुख जलप्रपात कौन-कौन से हैं

क्रूड आयल से प्राप्त किये जाने वाले उप-उत्पादों के नाम (Names Of By-products Derived From Crude Oil)

  • गैसोलीन अर्थात पेट्रोल (Gasoline means Petrol)
  • डीजल ईंधन (Diesel fuel)
  • विभिन्न प्रकार के ईंधन तेल (Fuel oil)
  • जेट ईंधन (Jet Fuel)
  • मिट्टी का तेल- केरोसिन (Kerosene Oil)
  • द्रवीभूत पेट्रोलियम गैस – एलपीजी (Liquefied Petroleum Gas – LPG)
  • चिकनाई वाले तेल (Lubricating Oil)
  • पैराफिन मोम (Paraffin Wax)
  • डामर (The Asphalt)
  • पेट्रोकेमिकल्स (Petrochemicals)

भारत के पड़ोसी देशों के नाम व राजधानी 

तेल शोधन कारखानों द्वारा विभिन्न उत्पाद बनानें की प्रक्रिया (Process Of Making Various Products By Oil Refining Factories)

कच्चे तेल या क्रूड आयल की सहायता से अनेक प्रकार के उप-उत्पाद बनाये जाते है | यह सभी उत्पाद लोगो की आवश्यकता के अनुसार ही बनाये जाते है | जिसका प्रयोग हम सभी लोग ईंधन के रूप में करते है | कच्चे तेल को प्राप्त करनें के पश्चात इन्हें तेल शोधन कारखानों में भेजा जाता है |

इस कारखानें में कच्चे तेल से विभिन्न प्रकार के उत्पादों को प्राप्त करनें के लिए कच्चे तेल को अलग-अलग टेम्परेचर पर संशोधित किया जाता है | जैसे कि कच्चे तेल को  340 डिग्री सेंटीग्रेड पर बिटुमिन प्राप्त होता है | ठीक इसी प्रकार 2700 डिग्री सेंटीग्रेड पर डीजल, 1700 पर मिट्टी का तेल, 700 पर पेट्रोल और 200 पर रिफाईनरी गैस मिलती है |

भारत के बंदरगाह की सूची

भारत में तेल शोधन कारखानों को सूची (List of Refining Factories in India)

भारत में कुल 25 तेल शोधन शालाएं स्थापित की गयी हैं, जिनकी सूची इस प्रकार है-

शोधनागारराज्यस्थानतेल कम्पनी
बरौनी तेल शोधनागारबिहारबरौनीआईओसीएल   
गुजरात तेल शोधनागारगुजरातकोयालीआईओसीएल   
हल्दिया तेल शोधनागारपश्चिम बंगालहल्दियाआईओसीएल   
मथुरा तेल शोधनागारउत्तर प्रदेशमथुराआईओसीएल   
पानीपत तेल शोधनागारहरियाणापानीपतआईओसीएल   
डिगबोई तेल शोधनागारअसमडिगबोईआईओसीएल   
बंगाईगाँव तेल शोधनागारअसमबंगाईगाँवआईओसीएल   
गुवाहाटी तेल शोधनागारअसमगुवाहाटीआईओसीएल   
पारादीप तेल शोधनागारओडिशापारादीपआईओसीएल   
मुंबई तेल शोधनागारमहाराष्ट्रमुंबईहिंदुस्तान पेट्रोलियम
विशाखपट्नम तेल शोधनागारआन्ध्र प्रदेशविशाखपट्नमहिंदुस्तान पेट्रोलियम
गुरु गोबिंद सिंह रिफाइनरीपंजाबबठिंडाएचपीसीएल-मित्तल एनर्जी लिमिटेड
मुंबई माहुल तेल शोधनागारमहाराष्ट्रमुंबईभारत पेट्रोलियम
कोच्चि तेल शोधनागारकेरलकोच्चिभारत पेट्रोलियम
बिना तेल शोधनागारमध्य प्रदेशबिनाभारत ओमान रिफईनरीज् लिमिटेड
मनाली तेल शोधनागारतमिलनाडुचेन्नईचेन्नई पेट्रोलियम
नागपट्टनम तेल शोधनागारतमिलनाडुनागपट्टनमचेन्नई पेट्रोलियम
नुमलीगढ़ तेल शोधनागारअसमनुमलीगढ़एचपी, आईओसीएल, असम सरकार
तातीपाक तेल शोधनागारआन्ध्र प्रदेशतातीपाकतेल एवं प्राकृतिक गैस निगम लिमिटेड
मैंगलोर तेल शोधनागारकर्नाटकमैंगलुरुमैंगलोर रिफाइनरी एंड पेट्रोकैमिकल्स लिमिटेड
जामनगर तेल शोधनागारगुजरातजामनगररिलायन्स इण्डस्ट्रीज
एस्सार रिफाइनरीगुजरातवाडिनारएस्सार ऑयल

भारत में कितनी नदियाँ है?

  • भारत में स्थापित कुल 25 आयल रिफाइनरी में से 18 आयल रिफाइनरी पब्लिक सेक्टर की है | इसका अर्थ यह है कि इन पर भारत सरकार द्वारा नियंत्रित की जाती है |   
  • रिलायंस तथा 2 अन्य आयल रिफाइनरी संयुक्त उपक्रम की है, जिन पर सरकारी और निजी दोनों के योगदान है |
  • पब्लिक सेक्टर की 18 आयल रिफाइनरी में से 9 आयल रिफाइनरी इंडियन आयल कारपोरेशन के अधिकार क्षेत्र में हैं, जिसके कारण आईओसी (Indian Oil Corporation) भारत की सबसे बड़ी तेलशोधन कंपनी है |
  • प्राइवेट सेक्टर की 3 आयल रिफाइनरी में से 2 शोधन शालाओं पर रिलायन्स इंडस्ट्रीज और एक पर एस्सार ऑयल इंडिया का स्वामित्व है |
  • भारत में सर्वप्रथम तेल कुएं की खुदाई असम के डिग्बोई में वर्ष 1890 में हुई थी, इसके पश्चात वर्ष 1893 में देश की पहली आयल रिफाइनरी की शुरुआत हुई थी |  
  • भारत में सबसे अधिक 4 आयल रिफाइनरीअसम के डिग्बोई, नुमालीगढ़, बोंगईगाँव और गुवाहाटी में स्थापित की गयी हैं |

विश्व के सात अजूबे कौनकौन से हैं

यहां आपको तेल शोधन (Oil Refinery) के बारे में जानकारी दी गई है | यदि इस जानकारी से रिलेटेड आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

भारत की राष्ट्रभाषा क्या है

यहां आपको तेल शोधन (Oil Refinery) के विषय में जानकारी दी गई है | यदि इस जानकारी से रिलेटेड आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ग्लेशियर किसे कहते है

Leave a Comment