पीएम मत्स्य संपदा स्कीम क्या है

भारत सरकार कोरोना वायरस की महामारी की समस्या में अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए सरकार ने 20 लाख करोड़ के राहत पैकेज का एलान किया है | यह जीडीपी का 10 प्रतिशत भाग है, इससे लघु और माध्यम उद्योगों को सहायता प्रदान की जाएगी | इसके अलावा मजदूरों और किसानों को इस राहत पैकेज में विशेष स्थान दिया गया है | इस पैकेज का मुख्य उद्देश्य गरीब और माध्यम तबके के लोगों को लाभ पहुंचना तथा उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार लाना है | इसी सबके बीच केंद्र सरकार ने मत्स्य पालन के विकास गति को के लिए नई योजना बनाने में लगी है  | प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना (PMMSY) के अंतर्गत विकास गति और मत्स्य उत्पादन को बढ़ाने के लिए योजना लागू कर रही है | प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की घोषणा बजट में की गई है | यह स्‍कीम सरकार द्वारा 20,000 करोड़ रुपये से आरम्भ की जाएगी | यदि आप भी PM MatsyaSampadaYojana (PMMSY), पीएम मत्स्य संपदा स्कीम क्या है, इसके बारे में जानना चाहते है तो यहाँ पर इसके विषय में जानकारी दी रही है |

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना में सम्मिलित किये जाने वाले लोग

मछली पालन या अन्य जलीय जीवों से सम्बंधित खेती करने वाले लोग

वे लोग जो मछली पालन या फिर अन्य जलीय जीवों की खेती करते हैं,और उससे अपनी जीविका चलाते है, इसके साथ बड़ा व्यापार या फिर छोटा व्यापार करते है |  वे सभी मत्स्य पालन व्यापार के अंतर्गत आते है उन सभी लोगों को इस योजना का लाभ प्राप्त होगा |

जलीय कृषक

कुछ व्यापारी या जलीय खेतीहार ऐसे भी होते है जो जलीय जीवों की खेती के अतरिक्त कुछ अन्य जलीय कृषि का भी कार्य करते है, उन लोगो को भी इस योजना का लाभ पहुंचाया जायेगा |

प्राकृतिक आपदा से पीड़ित लोग

वह लोग जो किसी प्राकृतिक आपदा की वजह से पीड़ित हो गए हैं, जिससे उन्हें बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं, उन लोगों को भी इस योजना में सम्मिलित किया गया है |

LOCKDOWN 4.0 GUIDELINES IN HINDI

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  1. केंद्र सरकार द्वारा जारी इस योजना के माध्यम से जलीय क्षेत्र को बढ़ावा प्राप्त होगा |
  2. इस योजना से मछली पालन को प्रोत्साहन मिलेगा, जिससे उत्पादन में बढ़ोत्तरी होने का अनुमान है |
  3. सरकार द्वारा इस योजना में छोटा हो फिर बड़ा मछुआरा सभी तक ऋण की सुविधा मुहैया करवाई जाएगी |
  4. यदि किसी भी योजना के लाभार्थी का नुक्सान या फिर कोई आपदा आती है, तो उसे बीमा कवरेज की सुविधा दी जाएगी |
  5. इसके लिए सरकार का वर्ष 2020 तक 15 मिलियन टन तक का मछलियों के उत्पादन का लक्ष्य बनाया गया है, जिसकों इस योजना के द्वारा पूरा किया जायेगा |
  6. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने इसे ‘नीली क्रांति’ का नाम दिया है | और इस योजना को जमीनी स्तर पर सफलतापूर्वक लागू किया जा सके, इसके लिए मात्स्यिकी विभाग नाम से अलग विभाग बनाया गया है|

LOCKDOWN 3.0 GUIDELINES IN HINDI

यहाँ आपको PM MatsyaSampadaYojana (PMMSY) | पीएम मत्स्य संपदा स्कीम के विषय में जानकारी प्रदान की गई | यदि आप इस जानकारी से संतुष्ट है, या फिर इससे समबन्धित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट करे और अपना सुझाव दे सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का जल्द ही निवारण किया जायेगा | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे|

आरोग्य सेतु ऐप क्या है