टूलकिट क्या है



देश में काफी लंबे समय से चल रहे किसान आन्दोलन को लेकर अब अंतरराष्ट्रीय स्तर बहस छिड़ गई है | दरअसल अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर किसान आंदोलन का समर्थन किये जानें की बात सामनें आ रही है | हाल ही में पर्यावरण एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग नें किसानों के समर्थन में एक ट्वीट किया, जिसमें टूलकिट शब्द का जिक्र किया गया था |

img-1


इस ट्वीट के बाद से ही टूलकिट (Toolkit) वायरल हो गया और अब सभी लोग जानना चाहते है, कि आखिर यह टूलकिट क्या होता है ? यदि आपको भी इसके बारें में जानकारी नहीं है, तो टूलकिट क्या है, और इससे पहले यह चर्चा में कब आया था ? इसके बारें में आपको यहाँ पूरी जानकारी दे रहे है |

धारा 144 का मतलब क्या होता है

टूलकिट का क्या मतलब होता है ?

टूलकिट एक प्रकार का डिजिटल दस्तावेज होता है, जो सोशल मीडिया के माध्यम से किसी बड़े अभियान या आन्दोलन में अधिक से अधिक को शामिल करनें में किया जाता है | इस टूलकिट द्वारा वॉलंटियर्स को यह दिशा-निर्देश दिए जाते हैं, कि उन्हें किस समय क्या करना है और किसी समस्या के समय क्या स्ट्रेटजी अपनानी है | इस टूलकिट में वह सभी बाते लिखी होती है, जिससे आन्दोलन को बढ़ाया जा सके और उन पर किसी तरह की कोई बड़ी कार्रवाई न हो सके |



दूसरे शब्दों में समझें, तो टूलकिट में उन सभी जानकारियों का संग्रह होता है, जिससे किसी मुद्दे को आसानी से समझनें और प्रचार-प्रसार में सहायता मिलती है | यह किसी के द्वारा लिखित थ्योरी को प्रैक्टिकल में बदलने वाला डिजिटल डाक्यूमेंट्स होता है, जो किसी खास मुद्दे और समर्थन करनें वाले लोगो के लिए तैयार किया जाता है | टूलकिट में जितनी अधिक डिटेल होगी, वह लोगो के लिए उतना ही उपयोगी सिद्ध होगा |

सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया क्या होता है ?

टूलकिट चर्चा में कब आया (When Did Toolkit Come Into Discussion)

कुछ समय पहले अमेरिकी पुलिस द्वारा एक एक अश्वेत की हत्या कर दी गयी थी, जिसके बाद अमेरिका में ब्लैक लाइफ मैटर नाम का आंदोलन शुरू हुआ | इस आन्दोलन को पूरी दुनिया से समर्थन मिला था | खोजबीन के दौरान पता चला कि, दरअसल अमेरिका में इस आंदोलन शुरू करनें वाले लोगो द्वारा एक टूलकिट तैयार की गयी थी, जिसमें आंदोलन में हिस्सा लेने, किस समय किस जगह पर जाना है, पुलिस द्वारा एक्शन लेने पर क्या रणनीति अपनानी है, किस हैशटैग का इस्तेमाल करना है, जिससे बात को अधिक से अधिक लोगो तक पहुँचाया जा सके आदि बातों का उल्लेख किया गया था |

खालिस्तान आंदोलन क्या है

टूलकिट के चर्चा में आने का कारण (Reason For Toolkit Being Discussed)

चाइल्ड एक्टिविस्ट के रूप में मशहूर ऐक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग के ट्वीट से टूलकिट शब्द एक बार फिर से चर्चा में आ गया है | जिस पर राजनेता, बॉलीवुड सितारे और क्रिकेटर्स अपनें अनुसार रिएक्शन दे रहे हैं | दरअसल ग्रेटा ने किसान आन्दोलन का समर्थन करते हुए एक ट्वीट किया और टूलकिट नाम का एक डॉक्यूमेंट शेयर किया, जिसमें किसान आंदोलन के बारे में जानकारी एकत्र करनें के साथ ही कई बाते शामिल थी |

आन्दोलन को लेकर किये गये ट्वीट के टूलकिट में समझाया गया था, कि कैसे आंदोलन के बारें महत्वपूर्ण अपडेट लेना है ? यदि कोई व्यक्ति किसान आंदोंलन पर ट्वीट कर रहा है तो उन्हें किस हैशटैग का इस्तेमाल करना है | यदि कोई समस्या आ रही है, तो उन्हें किन लोगो से बात करना है? क्या करने से बचना है ? इस प्रकार की सभी बातों का विवरण इस टूलकिट में मौजूद था |

भारतीय संविधान क्या है ?

सीएए प्रदर्शन के दौरान टूलकिट का प्रयोग (Using Toolkit During the CAA Demonstration)

नागिरकता संशोधन कानून पर देशभर में बवाल हुआ था, उस दौरान भी वाट्सऐप पर टूलकिट को शेयर किया गया था। जिसमें डिजिटल कैंपेन के लिए ट्विटर हैशटैग का प्रयोग करनें के साथ ही धरनास्थल पर कैसे एकत्र होना है, भीड़ कैसे बढ़ानी है, प्रदर्शन के दौरान यदि पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये जानें पर क्या करना है | इसके साथ ही इसमें प्रदर्शन करनें वाले लोगो के लिए भोजन और दवाई उपलब्ध कराने वाले इच्छुक लोगों के लिए भी गाइडलाइन्स दी गई थी |

आरक्षण (Reservation) क्या है

टूलकिट का प्रयोग कौन करता है (Who Uses Toolkit)

खासकर टूलकिट का प्रयोग पत्रकार, एकेडमिक्स और बिजनेस हेड्स या टीम लीडर द्वारा अपनें मेंबर्स के लिए किया जाता है | इस टूलकिट के माध्यम से वह अपनी टीम के सदस्यों को एकत्र करनें, किसी तरह का प्लान बनानें और प्रोजेक्ट के विस्तार के लिए करते है |  

समीक्षा अधिकारी क्या होता है

टूलकिट कितना प्रभावकारी होता है (How Effective Is Toolkit)

कुछ समय पूर्व जब किसी प्रकार की रैली, आन्दोलन या हड़ताल का आयोजन किया जाता था, तो उसमें लोगो को एकत्र करनें के लिए पहले से दीवारों पर पोस्टर लगाये जाते थे, जो उस समय टूलकिट का कार्य करते थे परन्तु आज यह टूलकिट डिजिटल हो गया है |   

मुख्यरूप से टूलकिट एक ऐसा डिजिटल हथियार है, जिसका उपयोग सोशल मीडिया पर किसी आन्दोलन को प्रचलित करनें के साथ ही उसमें अधिक से अधिक लोगो को जोडनें के लिए किया जाता है | टूलकिट में मूवमेंट से सम्बंधित उन सभी बातों का जिक्र होता है, जिससे आंदोलन आगे बढ़े, इस दौरान यदि पुलिस द्वारा कार्यवाही की जाती है, तो उन्हें ज्यादा नुकसान न पहुंचे |        

वीर सावरकर का जीवन परिचय

यहाँ आपको टूलकिट (Toolkit) के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि आप इस जानकारी से संतुष्ट है, या फिर इससे समबन्धित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट करे और अपना सुझाव दे सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का जल्द ही निवारण किया जायेगा | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे |

बीजेपी मेंबर कैसे बने

Leave a Comment