न्यूज़ रिपोर्टर कैसे बने

न्यूज रिपोर्टर एक बहुत ही प्रचलित पद होता है, जिसे पत्रकार (Journalist) भी कहाँ जाता है | न्यूज़ रिपोर्टर या पत्रकार, मीडिया जिसे डेमोक्रेसी का चौथा स्तम्भ कहाँ जाता है, का एक मुख्य पद होता है व देश दुनिया की ख़बरे आम आदमी तक पहुचना उनका कार्य होता है | इस पद को प्राप्त कर लेने वाले व्यक्ति को दुनिया में नाम के साथ अच्छी सैलरी भी दी जाती है |

यह एक ऐसा पद है, जिसमें बहुत अधिक लोग काम करने की इच्छा रखते है | यदि आप भी एक न्यूज रिपोर्टर या पत्रकार बनना चाहते है, तो यहाँ पर आपको News Reporter or Journalist कैसे बने, योग्यता, कोर्स, अधिकार क्या होते है? इसकी पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है |

आईपीएस (IPS) ऑफिसर कैसे बने

न्यूज़ रिपोर्टर या पत्रकार कैसे बने ?

न्यूज रिपोर्टर या पत्रकार वहीं व्यक्ति बन सकता है, जो किसी भी बात को समझना और दूसरों तक पहुंचने में रूचि रखता है | ऐसा व्यक्ति एक न्यूज रिपोर्टर बन सकते हैं, क्योंकि न्यूज रिपोर्टर बनने वाले व्यक्ति को किसी भी प्रकार की घटना घटित हो जाने पर उससे सम्बंधित हर प्रकार की जानकारी प्राप्त करके बहुत कम शब्दों और एक सरल भाषा में लोगों तक पहुंचाना होता है | इसके लिए लोगों को शिक्षित होना आवश्यक है

एक अच्छा पत्रकार वही होता है जो लोगो को उनके अधिकार के प्रति सजग करता है व देश दुनिया में क्या चल रहा है उसकी सही से व्याख्या कर लोगो को बता सके | वहीं इसमें चाहे कोई संस्था हो या सरकार, एक पत्रकार को कभी भी गलत नीतियों या कार्य के लिए आलोचना करने से नहीं डरना चाहिए | यदि समाज में कुछ सही नहीं हो रहा है तो ये न्यूज़ रिपोर्टर या पत्रकार की जिम्मेदारी है कि वो लोगो को इसके प्रति सजग करे |

न्यूज़ रिपोर्टर की योग्यता 

एक न्यूज रिपोर्टर बनानें के लिए आपको किसी भी स्ट्रीम/संकाय से बारहवीं में सफलता प्राप्त करना अनिवार्य होता है। इसके अतिरिक्त आपके अंदर अच्छा व्यक्तित्व, साहसी, ईमानदार, परिश्रमी, संयमी और वाकपटु आदि गुणों का होना  बहुत जरूरी होता है।  आप बैचलर या मास्टर डिग्री कोर्स करके भी एक सफल न्यूज रिपोर्टर बन सकते है |

न्यूज़ रिपोर्टर बनने हेतु कोर्स  

न्यूज रिपोर्टर बनने वाले अभ्यर्थी को  ग्रेजुएशन करने के बाद देश के किसी भी कॉलेज से  डिप्लोमा/सर्टिफिकेट या डिग्री कोर्स कर सकते है। ग्रेजुएशन के बाद पीजी डिप्लोमा इन मास कम्यूनिकेशन/PG Diploma in Mass-Communication या डिप्लोमा इन पब्लिक रिलेशन/Diploma in Public Relation  में भी सफलता प्राप्त करके आप एक न्यूज रिपोर्टर बन सकते हैंइसके आलावा आप दो वर्ष का जी/Post-graduation डिग्री भी ले सकते है। इसके बाद आप एम फिल या पीएचडी  करके न्यूज रिपोर्टर का पद प्राप्त कर लें |

न्यूज़ रिपोर्टर बनने  के लिए मुख्य कोर्स

  • बैचलर डिग्री इन मास कम्यूनिकेशन
  • पीजी डिप्लोमा इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म
  • एमए इन जर्नलिज्म
  • डिप्लोमा इन जर्नलिज्म
  • जर्नलिज्म एंड पब्लिक रिलेशन
  • पीजी डिप्लोमा इन मास मीडिया

रॉ एजेंट (RAW Agent) कैसे बने ?

बैचलर ऑफ़ आर्ट/जर्नलिज्म

न्यूज रिपोर्टर का पद प्राप्त करने के लिए आपको इस कोर्स के अंतर्गत न्यूज से सम्बंधित सभी प्रकार की जानकारी प्रदान की जाती है | आप इस कोर्स को बहुत कम पैसे खर्च करके पूरा कर सकते है

  • शैक्षणिक योग्यता : 50 प्रतिशत अंको के साथ बारहवीं। 
  • कोर्स अवधि : 3 साल। 
  • कोर्स फीस : 25,000 से 1 लाख रुपये सालाना। 

बैचलर ऑफ़ साइंस/एनीमेशन और मल्टीमीडिया

यह एक टेक्निकल/Technical  डिग्री कही जाती है जिसका सम्बन्ध न्यूज से होता है | इस कोर्स को करनें के  बाद आप  न्यूज़  एडिटर, विडियो मेकर, विजुअल एडिटिंग ग्राफिक/Visual editing Graphics आदि  में जॉब  के अप्लाई कर सकते है

  • शैक्षणिक योग्यता : 50 प्रतिशत अंको के साथ बारहवीं साइंस विषय के साथ। 
  • कोर्स अवधि : 3 साल। 
  • कोर्स फीस : 50,000 रुपये से लेकर 1,50,000 रुपये सालाना।

बैचलर ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मॉस कम्युनिकेशन

जो अभ्यर्थी यह कोर्स करते हैं, उन्हें बेसिक से लेकर एडवांस न्यूज रिपोर्टर की सम्पूर्ण जानकारी प्रदान की जाती हैं।  यदि आप यह कोर्स कर लेते है तो आप न्यूज़ चेनल, प्रिंट मीडिया, रिपोर्टर, एडिटर आदि पदों पर जॉब आसानी से प्राप्त कर सकते है |

  • शैक्षणिक योग्यता : 50 प्रतिशत अंको के साथ बारहवीं साइंस विषय के साथ। 
  • कोर्स अवधि : 3 साल। 
  • कोर्स फीस : 50 हजार से 2.5 लाख रुपये सालाना। 

न्यूज रिपोर्टर से सम्बंधित डिप्लोमा कोर्स

  • मास्टर ऑफ़ आर्ट (जर्नलिज्म)
  • मास्टर ऑफ़ आर्ट  (मॉस कम्युनिकेशन)
  • एग्जीक्यूटिव डिप्लोमा इन जर्नलिज्म |
  • पी जी डिप्लोमा इन जर्नलिज्म एवं मॉस कम्युनिकेशन |
  • पी जी डिप्लोमा इन ब्रॉडकास्ट जर्नलिज्म |

पत्रकारिता के विभिन्न प्रकार (Types Of Journalism)

न्यूज़ को हर जगह पहुंचाने के लिए न्यूज़ रिपोर्टर के विभाग बाँट दिए जाते  हैलेकिन  वह अपने विभाग के लिए ही कार्य करता है।  पहली जनरल रिपोर्टिंगजिसमें समारोह, भाषण, और कार्यक्रम कवर करने का काम किया जाता है। दूसरी ख़ास रिपोर्टिंग होती है, इसका क्षेत्र बहुत अधिक बड़ा होता है। इसके अंतर्गत व्यापार, राजनीतिक, खेल, अदालत, फिल्मसांस्कृतिक गतिविधियाँ आती है।  

राजनीतिक रिपोर्टिंग (Political Reporting)

इसमें संसद, विधानसभा, मंत्रालय, प्रेसकांफ्रेंस, राजनीतिक पार्टियाँ और उसके नेता तथा दूसरे देशों की राजनीतिक गतिविधियों पर नजर रखने का काम किया जाता है |

व्यापारिक रिपोर्टिंग (Business reporting)

वो न्यूज रिपोर्टर जो आर्थिक और व्यापारिक खबरों को लोगों तक पहुंचाने का काम करती है वह व्यापारिक पत्रकारिता कही जाती  है। अर्थव्यवस्था से सम्बंधित  बातों को लेकर लोगों तक हर प्रकार की जानकारी पहुंचाई जाती है। सरकार का कौन सा आर्थिक कदम जनता के लिए लाभदायक होगा , इससे जनता को कौन-कौन से लाभ  प्राप्त होंगे | इस प्रकार सभी जानकारी व्यापारिक रिपोर्टिंग के द्वारा ही पहुंचाई जाती है | 

खेल जगत (Sport Word)

इस क्षेत्र में रिपोर्टर को खेल जैसे क्रिकेट, हॉकी, फुटबाल और टेनिस जैसे लोकप्रिय खेलों के विषय में पूरी जानकारी होनी चाहिए। इसके साथ ही रिपोर्टर को खेलों के तकनीकी शब्दों का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए।

अपराध (Crime)

जो न्यूज रिपोर्टर अपराध से सम्बंधित खबरें लोगों तक पहुंचाते हैं उन्हें आईपीबीसी, सीआरपीसी के विषय में अच्छे से ज्ञान होना चाहिए | इसके साथ उसकी पुलिस प्रशासन में भी अच्छी पहचान हो तो फायदेमंद होगा।

फिल्म और सांस्कृतिक (Film And Cultural)

फिल्म और सांस्कृतिक ख़बरों को कवर करने का काम एक न्यूज रिपोर्टर ही कर सकते है लेकिन इसमें काम करने के लिए  रिपोर्टर को सिनेमा और टीवी से जुड़ी सभी बातों की अच्छे से जानकारी होनी आवश्यक होती है | इसके साथ ही देशविदेश के संगीत, नृत्य, और दूसरी सांस्कृतिक गतिविधियों की जानकारी भी प्राप्त होनी चाहिए |

एसडीएम (SDM) कैसे बने ?

न्यूज रिपोर्टर बनने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बाते 

  1. न्यूज़ रिपोर्टर बनने के लिए आपकी सोचने की क्षमता अधिक होनी चाहिए |
  2. आपके अंदर साहस एवं धैर्य होना चाहिए |
  3. सरल शब्दों में लोगों को अपनी बाते समझाने का आपके अंदर गुण होना चाहिए |
  4. आप को हिंदी व अंग्रेजी दोनों भाषाओँ का ज्ञान होना चाहिए |
  5. आपको कंप्यूटर के विषय में जानकारी होनी चाहिए |

न्यूज रिपोर्टर के अधिकार

  1. न्यूज रिपोर्टर को किसी भी विचार या वैचारिक मत का मुद्रण और प्रकाशन  करने का अधिकार प्राप्त होता है |
  2. सार्वजनिक मुद्दों पर सार्वजनिक रूप से बहस ,चर्चा, परिचर्चा करने में शामिल हो सकता है |
  3. अपने मन मुताबिक़,किसी भी खबर का प्रकाशन और मुद्रण कर सकता है
  4. प्रकाशन या प्रकाशन सामग्री का अधिकार अर्थात किस खबर प्रसारित करना है। 
  5. न्यूज रिपोर्टर को सरकारी विभागों, सरकारी उपक्रमों सरकारी प्राधिकर्णों और लोकसेवकों, कार्यों एवं कार्यशैली की समीक्षा करना, उनकी आलोचना  करने का अधिकार दिया  जाता है
  6. एक न्यूज रिपोर्टर विभिन्न मीडिया  माध्यम का मूल्य/शुल्क निर्धारित  कर  सकता है ,माध्यम के प्रचार के लिए अपनी योजनानुसार सरकारी या गैरसरकारी दबाव से मुक्त रहकर संबंधी गतिविधि  चला सकता है |

न्यूज़ रिपोर्टर की सैलरी (Salary)

एक न्यूज रिपोर्ट को शुरुआती दिनों में प्रतिमाह 15 से 30000 रूपये  सैलरी प्रदान की जाती है| इसके बाद उनके कार्य के मुताबिक़ उसकी सैलरी बढ़ती जाती है | पत्रकारिता करनें वाले सभी कर्मचारियों को उनके पदों एवं अनुभवों के आधार पर वेतन प्रदान किया जाता है |  

यहाँ पर हमने आपको न्यूज रिपोर्टर बनने के विषय में जानकारी प्रदान की है | यदि आपको इससे  सम्बंधित अन्य जानकारी प्राप्त करनी है तो आप  अपने विचार या सुझाव कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूंछ सकते है | इसके साथ ही आप अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो www.hindiraj.com पर विजिट करे |

पीसीएस (PCS) अधिकारी कैसे बने