बी फार्मा (B.Pharma) क्या होता है ?

नमस्कार दोस्तों आज के समय में प्रतियोगिता का दौर बढ़ गया है, ऐसे में हमें अपने भविष्य की चिंता सताने लगती है | ऐसी स्थिति में हम इस बात को समझ नहीं पाते कि हमें किस दिशा की ओर आगे बढ़ना है?

ऐसे लोग जो आगे चलकर मेडिकल के क्षेत्र में कुछ करना चाहते हैं उनके लिए बी फार्मा (B.Pharma) कोर्स अच्छा साबित हो सकता है जिसके माध्यम से आप आसानी के साथ ही किसी अच्छी कंपनी में नौकरी हासिल कर सकते हैं। आज हम आपको बी फार्मा से संबंधित सारी जानकारी देने वाले हैं ताकि आप इस कोर्स के बारे में पर्याप्त जानकारी हासिल करते हुए  और आगे बढ़ सके |

D Pharma क्या होता है ?

क्या होता है बी फार्मा?

बी फार्मा (B.Pharma) मेडिकल क्षेत्र का एक बैचलर डिग्री कोर्स है जिसके माध्यम से आप औषधि दवाइयों से जुड़ी जानकारी  हासिल कर सकते हैं | यह कोर्स 4 साल का होता है जिसे अलग-अलग सेमेस्टर में विभाजित किया गया है, इस कोर्स के अंतर्गत आपको फार्मास्यूटिकल, केमेस्ट्री, बायोलॉजी,फिजियोलॉजी, बायोकेमेस्ट्री के बारे में भी पढ़ाया जाता है। यह एक ऐसा कोर्स है जिसके माध्यम से आप अपने भविष्य को कहीं ज्यादा सुरक्षित कर सकते हैं क्योंकि इस कोर्स को करने पर आपकी कई जगह पर नौकरी की संभावनाएं बढ़ जाती हैं |

बी फार्मा (B.Pharma) का फुल फॉर्म

सामान्य रूप से इसे बोलचाल की भाषा में बी फार्मा कहा जाता है लेकिन इस का फुल फॉर्म हम आपको बताने वाले हैं |

  • बी फार्मा —  बैचलर ऑफ फार्मेसी  [ Bachelor of pharmacy]
  • इसे हिंदी में ‘’फॉर्मेसी  स्नातक’’  कहा जाता है |

बी फार्मा (B.Pharma) करने के लिए विशेष योग्यताएं

  • अगर आप भी बी फार्मा कोर्स करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपके पास इन मुख्य योग्यताओं का होना आवश्यक है।
  • बी फार्मा करने के लिए आपको 12वीं कक्षा को फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी\मैथमेटिक्स  सब्जेक्ट के साथ पास करना होगा |
  •  12वीं कक्षा में कम से कम आप के 50% से 55% अंक होने चाहिए |
  •  बी फार्मा में प्रवेश करने के  लिए कॉलेज की तरफ से एंट्रेंस एग्जाम लिया जाता है जिसे पास करना भी  अनिवार्य होता है |
  • ऐसे छात्र जिन्होंने ओपन स्कूलिंग के माध्यम से बारहवीं की परीक्षा पास की है, वे इस कोर्स के लिए पात्र नहीं माने जाते हैं |

बी फार्मा (B.Pharma) के लिए निर्धारित आयु

अगर आप बी फार्मा कोर्स करना चाहते हैं, तो इसके लिए आप की निर्धारित आयु न्यूनतम 17 वर्ष होना चाहिए एवं अधिकतम आयु 23 वर्ष  है इसके अंतर्गत ही आप बी फार्मा में एडमिशन लेते हुए इस कोर्स को पूरा कर सकते हैं |

बी फार्मा (B.Pharma) के लिए होने वाली विशेष प्रवेश परीक्षाएं

  • अगर आप में से कोई भी बी फार्मा का कोर्स करना चाहता है, तो इसके लिए आप विशेष  प्रवेश परीक्षा के माध्यम से ही आगे बढ़ सकते हैं।
  • बी फार्मा आप सरकारी या प्राइवेट किसी भी कॉलेज से कर सकते हैं | ऐसे में दोनों कॉलेज के लिए अलग-अलग तरीके से एडमिशन लिया जा सकता है। अगर आप सरकारी कॉलेज से बी फार्मा करना चाहते हैं, इसके लिए आपको इन मुख्य एंट्रेंस एग्जाम देना होगा ताकि आप  की सीट निश्चित हो सके |
  • सरकारी कॉलेज में होने वाले एंट्रेंस एग्जाम WBJEE, GPAT, EAMCET, BITSAT, MHT–CET, MET, KCET, PUCET  मुख्य हैं |
  • इसी तरह अगर आप प्राइवेट कॉलेज से बी फार्मा करना चाहते हैं, तो डायरेक्ट एडमिशन ले सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको ऊंची फीस  देनी पड़ती है |

बी फार्मा (B.Pharma) के लिए निश्चित फीस

अगर आपने भी बी फार्मा कोर्स करने के बारे में सोच रखा है, तो ऐसे में हम आपको बताना चाहते हैं कि इसके लिए फीस कॉलेज पर निर्भर करती है जो सरकारी और प्राइवेट कॉलेज के हिसाब से निर्धारित होती है। अगर आप किसी अच्छे प्राइवेट कॉलेज के माध्यम से बी फार्मा का कोर्स करना चाहते है, तो आपको ₹15000 से डेढ़ लाख रुपए वार्षिक फीस देनी होती है। लेकिन अगर आप सरकारी कॉलेज से बी फार्मा करना चाहते हैं तो आपको थोड़ी कम फीस देनी होगी |

बी फार्मा (B.Pharma) के लिए टॉप कॉलेज

अगर आप बी फार्मा (B.Pharma) भारत के अंतर्गत किसी टॉप कॉलेज से करना चाहते हैं और आपको समझ में नहीं आ रहा है तो हम आपकी मदद जरूर करेंगे |  ऐसे में हम आपके सामने कुछ बी फार्मा के लिए टॉप के कॉलेज की लिस्ट बना रहे हैं ताकि आपको किसी प्रकार की दिक्कत ना हो |

  • गोवा कॉलेज ऑफ फार्मेसी |
  •  नेशनल इंस्टीट्यूट आफ फार्मास्यूटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च मोहाली, पंजाब |
  •  पूना कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी, पुणे |
  •  गुरु गोविंद सिंह  यूनिवर्सिटी, न्यू दिल्ली |
  • यूनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट आफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज, चंडीगढ़ |
  •  इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, बीएचयू वाराणसी |
  •  राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर यूनिवर्सिटी, नागपुर |
  •  मणिपाल कॉलेज आफ फार्मास्यूटिकल साइंसेज |
  •  मद्रास मेडिकल कॉलेज, चेन्नई |
  •  इंस्टीट्यूट आफ केमिकल टेक्नोलॉजी, मुंबई |
  • जादवपुर यूनिवर्सिटी, वेस्ट बंगाल |
  •  एलएम कॉलेज ऑफ फार्मेसी, अहमदाबाद |
  •  अमीन कॉलेज ऑफ फार्मेसी, बेंगलुरू |
  •  महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी, रोहतक |
  •  गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ़ फार्मेसी, औरंगाबाद |
  •  बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी, झांसी |

Pharmacist (भेषजज्ञ) क्या होता है

बी फार्मा (B.Pharma) कोर्स के मुख्य विषय

अगर आप बी फार्मा (B.Pharma) कोर्स करते हैं तो आपको उसके अंतर्गत इन मुख्य विषयों को पढ़ना होगा |

  •  फार्मास्यूटिकल बायोटेक्नोलॉजी |
  •  बायोकेमिकल |
  •  केमिस्ट्री |
  •  उपचारात्मक गणितीय विज्ञान |
  •  दवा विश्लेषण |
  •  फिजियोलॉजी |

बी फार्मा (B.Pharma) कोर्स करने के बाद रोजगार के अवसर

जब हम कोई नया कोर्स  करते हैं, तो उसके बाद हमें कई बार दिक्कतों का सामना करना पड़ता है और यह समझ नहीं आता है कि हम उससे संबंधित रोजगार के अवसर कहां तलाश करें? अगर आपने बी फार्मा का कोर्स किया है ऐसे में आपको  रोजगार के कई  सारे अवसर प्राप्त होते हैं, जिसके माध्यम से आप भविष्य में बेहतर अवसर प्राप्त कर सकते हैं |

  • मेडिसिन कंपनी |
  • बी फार्मा प्रोफेसर |
  • स्वास्थ्य फार्मेसी |
  •  ड्रग तकनीशियन |
  •  मेडिकल स्टोर बिजनेस |
  •  हेल्थ सेंटर |
  •  रिसर्च एजेंसी |
  •  ड्रग एडमिनिस्ट्रेटर |
  • टेक्निकल फार्मेसी |
  •  औषधी विश्लेषण |
  •  ड्रग इंस्पेक्टर |

बी फार्मा (B.Pharma) करने के फायदे

  • ऐसे लोग जिन्हें बी फार्मा के बारे में फायदे नहीं मालूम है उन्हें हम इस बात की जानकारी देते हैं कि बी फार्मा करने के बाद कई प्रकार के फायदे प्राप्त होते हैं |
  • अगर आपने बी फार्मा का कोर्स किया है, तो आप आसानी के साथ ही खुद का मेडिकल स्टोर खोल सकते हैं |  जिसमें आप को लाइसेंस लेना होता है |
  •  अगर आप चाहें तो विदेश में भी अच्छे नौकरी के अवसरों को तलाशते हुए वहां पर एक नई शुरुआत की जा सकती है |
  •  बी फार्मा करने के बाद सरकारी अनुसंधान में भी आप की जगह पक्की हो जाती है |
  • अगर आपने बी फार्मा कर  लिया है, तो आने वाली सरकारी भर्तियों को देखते हुए रिक्तियों को भरा  जा सकता है और ज्यादा से ज्यादा सेवा दी जा सकती है |

बी फार्मा (B.Pharma) एडमिशन के लिए होने वाली प्रक्रिया

अगर आप किसी  सरकारी कॉलेज से बी फार्मा करना चाहते हैं, तो ऐसे में आपको एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना होता है जो साल में एक बार होती है। जैसे आप एंट्रेंस एग्जाम क्लियर कर लेते हैं, तो उसके बाद आपका ग्रुप डिस्कशन और काउंसलिंग के आधार पर सिलेक्शन होता है। इसमें भी एक मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है जिसके अंतर्गत विद्यार्थियों को एडमिशन दिया जाता है |

बी फार्मा (B.Pharma) एंट्रेंस एग्जाम के लिए होने वाली तैयारी

  • अगर आप भी बी फार्मा एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी कर रहे हैं तो हम आपको एक बात बताना चाहेंगे कि इसके लिए आपको 11वीं एवं 12वीं के कांसेप्ट अच्छे से क्लियर होना चाहिए ताकि इस परीक्षा में आप ही तरीके से नंबर हासिल कर सके।
  • इसके अलावा अगर आप चाहे तो पुराने क्वेश्चन पेपर को  भी सॉल्व करते हुए ज्यादा से ज्यादा अंक हासिल करने हेतु टाइमिंग सेट कर सकते हैं।
  • बी फार्मा एंट्रेंस एग्जाम के लिए मार्केट में भी अच्छी बुक उपलब्ध होती है जिन्हें आप तैयारी के रूप में शामिल कर सकते हैं।
  • अगर आप किसी विशेषज्ञ से ही सलाह  लेते हैं, तो यह भी आपके लिए बहुत ही अच्छा होगा क्योंकि उनके अनुभव से आप अपनी तैयारी और भी अच्छे तरीके से कर सकते हैं |

बी फार्मा (B.Pharma) कोर्स के लिए आवश्यक बातें

  • अगर आप भी बी फार्मा कोर्स करना चाहते हैं, इसके लिए आपको कुछ मुख्य बातों पर ध्यान देना होगा |
  • बी फार्मा करने के बाद आपके अंदर एक आवश्यक कौशल होना आवश्यक है जिसके माध्यम से आप आगे बढ़ सकते हैं साथ साथ अगर मार्केटिंग का ज्ञान हो तो यह और भी अच्छा होगा |
  •  कई बार इस काम में खराब स्थितियों का सामना करना पड़ता है | ऐसे में खुद पर नियंत्रण रखते हुए ऐसी सिचुएशन को संभालना आना चाहिए |
  •  हमेशा अपनी कम्युनिकेशन स्किल्स को बेहतर बनाने पर काम करना चाहिए |
  •  कभी-कभी काम करते हुए भी दबाव का एहसास होता है, ऐसी स्थिति में दबाव झेलने की  मनोदशा  होनी चाहिए |
  •  कई बार हमें इस कोर्स के बाद रिसर्च करने की आवश्यकता होती है ऐसे में मेडिसिनल ऑफ साइंटिफिक रिसर्च की स्किल होना आवश्यक है |
  • अगर कंप्यूटर का ज्ञान हो तो अच्छा है क्योंकि इसके माध्यम से कई सारी चीजों को डाटा में स्टोर किया जा सकता है और बाद में उपयोग किया जाता है |
  • इस क्षेत्र में कामयाब होने के लिए आपकी तेज याददाश्त बेहद अहम भूमिका निभाती है।

बी फार्मा (B.Pharma) के बाद मिलने वाली सैलरी

अगर आपने किसी अच्छे इंस्टीट्यूट से बी फार्मा किया हुआ है, ऐसे में आपकी वार्षिक सैलरी ₹3,00000 से ₹5,00000 हो सकती है। इसके अलावा जैसे जैसा आपका अनुभव बढ़ता जाता है वैसे वैसे आपकी सैलरी बढ़ती जाती है लेकिन शुरुआत में भी आपको अच्छा खासा पैकेज प्राप्त हो सकता है |

बी फार्मा (B.Pharma) कोर्स के बाद के अवसर

अगर आपने अगर आपने बी फार्मा का कोर्स कर लिया हो और आप आगे के अवसर तलाश कर रहे हो ऐसी स्थिति में आप एम फार्मा और पीएचडी कर सकते हैं जिसके माध्यम से अपनी योग्यता एवम ज्ञान में बढ़ोतरी करते हुए अच्छी स्थिति पर पहुंच सकते हैं |

बीएचएमएस (BHMS) कोर्स क्या है ?

Leave a Comment