जेआरएफ (JRF) क्या होता है ?

हमारे देश में बहुत सारे विद्यार्थी अपनी इच्छा के अनुसार ऐसा कोर्स करना चाहते हैं जिससे उनका भविष्य सुरक्षित हो सके। इन कोर्सेज़ के लिए विद्यार्थियों को प्रवेश परीक्षाओं से गुज़रना पड़ता है। इनमें से ही एक प्रचलित प्रवेश परीक्षा है जिसे UGC JRF कहा जाता है। 

इस परीक्षा में सफल होने के बाद विद्यार्थी NET संबंधित कोर्सेज़ में प्रवेश कर सकते हैं। इस लेख के माध्यम से आपको हम UGC JRF के बारे में सारी जानकारी प्रदान करेंगे जिससे आपको इस परीक्षा की प्रक्रिया के दौरान किसी भी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े।

UGC NET परीक्षा क्या है

जेआरएफ (JRF) क्या है?

JRF एक ‘विश्वविद्यालय अनुदान आयोग’ द्वारा करवाई जाने वाली परीक्षा है जिसके तहत NET UGC एवं CSIR और ICMR के लिए अर्हता प्राप्त विद्यार्थी परीक्षा देते हैं। इस परीक्षा में सफल होकर किसी UGC कोर्स में प्रवेश कर सकते हैं या किसी कॉलेज में सहायक प्रोफेसर के रूप में नौकरी कर सकते हैं।

हर साल दो बार इस परीक्षा का आयोजन किया जाता है और हर साल तकरीबन 12 लाख उम्मीदवार इस परीक्षा में शामिल होते हैं। इसकी पहली परीक्षा मई के महीने में और दूसरी बार यह परीक्षा दिसंबर के महीने में आयोजित होती है। परीक्षा के कुछ महीने पहले UGC द्वारा इसकी डेटशीट जारी की जाती है। वर्ष 2018 तक यह परीक्षा CBSE द्वारा ली जाती थी लेकिन 2018 के बाद से यह परीक्षा NTA द्वारा हर वर्ष ऑनलाइन माध्यम से दो बार ली जाती है। इस परीक्षा को भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में गिना जाता है क्योंकि इस परीक्षा में शामिल होने वाले 6 प्रतिशत ही इस परीक्षा में सफल हो पाते हैं।

जेआरएफ (JRF) का फुल फॉर्म

UGC कोर्सेज़ के लिए आयोजित की जाने वाली इस प्रवेश परीक्षा  (JRF) का फुल फॉर्म “Junior Research Fellowship (जूनियर रिसर्च फैलोशिप)” होता है और हिंदी में इसे “राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा” कहते हैं। कुछ लोग इसे UGC NET भी कहते हैं।

जेआरएफ (JRF) के फायदे

लगभग हर परीक्षा की तरह इस परीक्षा को क्लियर करने के बाद भी आपको बहुत सारे लाभ प्राप्त होते हैं। इनमें से कुछ फायदों का विवरण हमने नीचे दिया है:-

  • इस परीक्षा को क्लियर करने के बाद आप आसानी से PhD में एडमिशन ले सकते हैं क्योंकि इसके बाद PhD के लिए किसी और परीक्षा की जरूरत नहीं होती।
  • किसी कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में काम करने के लिए यह परीक्षा बहुत लाभदायक साबित होती है।
  • अगर JRF में अभ्यर्थी को चयनित कर लिया जाता है तो शोध के लिए UGC द्वारा स्कॉलरशिप भी दी जाती है।
  • इस परीक्षा को क्लियर कर देने के बाद अगर आप किसी जॉब के लिए आवेदन करते हैं तो आपके सेलेक्ट होने के चांस बढ़ जाते हैं।
  • JRF क्लियर करने के बाद आप अपनी खुद की लबोरटरी भी खोल सकते हैं।

NET JRF की चुनाव प्रक्रिया

NET JRF की चुनाव प्रक्रिया UGC द्वारा जारी किये गए अधिकारिक नोटिस से होती है जिसके बाद आप इन स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं:-

NET JRF के बाद वित्तीय सहायता

जो आवेदक UGC NET को क्वालीफाई करने के बाद M.Phil/PhD जैसे कोर्सेज़ में प्रवेश करते हैं वह 2 वर्षों के लिए JRF योजना के तहत वित्तीय सहायता प्राप्त करने के पात्र हो जाते हैं। Junior Research Fellow के रूप में उम्मीदवार द्वारा किये गए अध्ययन की माहिरों द्वारा समीक्षा की जाती है और अगर उम्मीदवार माहिरों की उम्मीद पर खरा उतरता है तो उसका कार्यकाल 3 सालों के लिए बढ़ा दिया जाता है। इसके बारे में पूरी तरह से जानकारी कुछ इस प्रकार है:-

  • Junior Research Fellows (JRF) के रूप में कार्य कर रहे उमीदवार को प्रति माह 12,000 रूपये वित्तीय सहायता प्राप्त होती है।
  • बाकी 3 सालों के कार्यकाल में Senior Research Fellows प्रति माह 14,000 रूपये की वित्तीय सहायता प्राप्त करता है।
  • जो उम्मीदवार Humanities के क्षेत्र में M.Phil./PhD कर रहे हैं वह प्रति माह 10,000 प्राप्त करते हैं और बाकी 3 वर्षों के लिए वह 20,500 रूपये हर महीने प्राप्त करते हैं।
  • विज्ञान के क्षेत्र में M.Phil./PhD कर रहे उम्मीदवारों को प्रति माह 12,000 रूपये और बाकी के 3 वर्षों के लिए 25,000 रूपये प्रति माह सहायता दी जाती है।
  • इसके साथ ही जो लोग शरीरिक रूप से विकलांग हैं उन्हें हर महीने 2,000 रूपये प्रति माह की सहायता दी जाती है।
  • भारत सरकार द्वारा शहरों के वर्गीकरण के अनुसार उम्मीदवारों को आवास किराया भत्ता भी दिया जाता है।

प्रोफेसर (Professor) कैसे बने ?

NET JRF के लिए योग्यता मापदंड

NET JRF की प्रवेश परीक्षा M.Phil और PhD जैसे कोर्सेज़ में प्रवेश पाने के लिए किया जाता है परंतु यह परीक्षा में शामिल होने के लिए कुछ योग्यता मापदंडों को पूरा करना जरूरी है जिसके बारे में विवरण हम निम्न दे रहे हैं:-

  • आवेदक को किसी UGC द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान से पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स (मानविकी और समाज विज्ञान) में कम से कम 55 प्रतिशत अंक हासिल होने चाहिए।
  • जो आवेदक SC, ST, OBC and PwD श्रेणी से संबंधित हैं उन्हें अंक योग्यता मापदंड में 5 प्रतीषत की राहत दी जाती है।
  • ट्रांसजेंडर कैटेगरी के आवेदकों के लिए भी इस परीक्षा की अंक योग्यता मापदंड में 5 प्रतिशत अंकों की छूट का प्रबंध किया गया है।
  • आवेदक की आयु 30 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। हालाँकि आरक्षित श्रेणियों के लिए 5 वर्ष की आयु की छूट होती है।
  • जिन आवेदकों ने 19th September 1991 तक अपनी मास्टर्स डिग्री प्राप्त करली है वह भी 5 प्रतिशत अंकों की छूट का लाभ उठा सकते हैं।

UGC JRF के लिए आवेदन प्रक्रिया

जो छात्र JRF योजना के अनुसार वित्तीय सहायता प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें यूजीसी नेट की परीक्षा में शामिल होना होगा और उसमें सफल होना होगा। उसके लिए UGC NET में आवेदन करना होता है जिसकी आवेदन प्रक्रिया की जानकारी नीचे प्रदान कर रहे हैं:-

  • सबसे पहले आपको UGC NET की अधिकारिक़ वेबसाइट पर जाना होगा जिसमें Quick Links के सेक्शन में UGC NET के विकल्प पर क्लिक करना होगा। इस लिंक पर क्लिक करके आप डायरेक्ट UGC NET की अधिकारित वेबसाइट पर जा सकते हैं – https://ugcnet.nta.nic.in
  • अब आपको फॉर्म में पूछी गई सारी जानकारी को सही तरीके से भरना है ताकि बाद में कोई दिक्क्त ना हो। साथ ही साथ सिस्टम द्वारा एप्लिकेशन नंबर जारी किया जाता जिसे आप सेव करके रख सकते हैं ताकि भविष्य में जरूरत पड़ने पर इसका इस्तेमाल हो सके।
  • आपको अब JPG/JPEG फॉर्मेट में अपनी स्कैन की गई फोटो के साथ अपने स्कैन किये गए दस्तखत अपलोड करने हैं।
  • इस पेज पर आपको फीस का भुगतान करने की जरूरत होगी। आप SBI_MOPS के द्वारा फीस का भुगतान कर सकते हैं।
  • सफलतापूर्वक भुगतान होने पर आप इसके 4-5 प्रिंट करवा कर जरूर रखें ताकि भविष्य में यह काम आ सकें।
  • आपकी जानकारी के लिए बता दें कि General/Unreserved केटेगरी के उम्मीदवारों के लिए इसकी फीस 1000 रूपये होती है और Gen-EWS/OBC-NCL से संबंधित उम्मीदवारों को इसके लिए 500 रूपये का भुगतान करना होता है। SC/ST/PwD केटेगरी के उम्मीदवारों को 250 रूपये की फीस के भुगतान की आवयश्कता होती है।

NET JRF की परीक्षा का पैटर्न

NET JRF की वित्तीय सहायता और आवेदन प्रक्रिया के बारे में जानकारी प्राप्त करने के बाद आप जरूर NET JRF की परीक्षा के पैटर्न के बारे में जानना चाहेंगे। उसकी जानकारी कुछ इस प्रकार है:-

  • परीक्षा के तहत उम्मीदवार को 2 पेपरों में शामिल होना होता है जोकि Computer Based Test होते हैं।
  • पेपर एक में 50 प्रश्न होते हैं जबकि दूसरा पेपर 100 अंकों का होता है। यानिकि उम्मीदवार को को परीक्षा में कुल 150 प्रश्न हल करने होते हैं।
  • प्रश्न पत्र के सभी प्रश्नों को हल करना आवश्यक होता है।
  • पेपर एक 100 अंकों का होता है और पेपर दो 200 अंकों का होता है जिसका अर्थ है कि हर प्रश्न के आपको 2 अंक मिलते हैं।
  • पेपर- 1 में जनरल नेचर से संबंधित प्रश्न होते हैं जोकि उम्मीदवार की शिक्षण और अनुसंधान योग्यता का मूल्यांकन करने के लिए होते हैं।
  • पेपर बी में उम्मीदवार द्वारा चुने गए विषय से संबंधित प्रश्न होते हैं।

NET JRF का रिजल्ट कैसे चेक करें

NET JRF का रिजल्ट लगभग दिसंबर के महीने में जारी किया जाता है। इसका रिजल्ट आप इन स्टेप्स को फॉलो करके चेक कर सकते हैं:-

  • सबसे पहले UGC NET की अधिकारिक वेबसाइट पर विजिट करें – https://ugcnet.nta.nic.in
  • वेबसाइट के होमपेज पर आ जाने के बाद ‘List of Candidates Qualified for Award of NFSC/ MANF/ MANF’ के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आपको qualified उम्मीदवारों की सूचि पर जाना होगा।
  • अब उम्मीदवारों की PDF डाउनलोड हो जाएगी।
  • डाउनलोड होने के बाद आप सूची में अपना नाम चेक कर सकते हैं और अगर आपका नाम इस सूची में है तो आपने सफलतापूर्वक परीक्षा को क्लियर कर लिया है।

ऑनलाइन डिग्री कैसे प्राप्त करे

Leave a Comment