एमसीए (MCA) कोर्स क्या होता है ?

आज का युग टेक्नोलॉजी का युग है। और टेक्नोलॉजी के इस युग में कंप्यूटर का बहुत ज़्यादा इस्तेमाल होता है। आप जहां भी जाएंगे जैसे बैंक, दफ्तर और स्कूल आदि वहां पे कंप्यूटर का इस्तेमाल जरूर होता है। अब ज़ाहिर सी बात है कि जहां कंप्यूटर का इस्तेमाल होगा वहां कंप्यूटर एप्लिकेशंस की भी बहुत ज़्यादा डिमांड होगी। इस कोर्स को करने से आपके लिए रोज़गार के बहुत सारे रास्ते खुल जाते हैं और आप कंप्यूटर एप्लिकेशन बनाने के एक्सपर्ट बन जाते हैं। इस कोर्स को एक लोकप्रिय मास्टर डिग्री कोर्स माना जाता है क्योंकि वर्तमान और भविष्य में कंप्यूटर की एप्लिकेशंस की बहुत ज़्यादा डिमांड होने वाली है।

ऐसे में आप अपनी पढ़ाई में MCA कोर्स कर सकते हैं जो कि बेहद लोकप्रिय कोर्स है। इस पोस्ट में हम आपको MCA कोर्स के बारे में सारी जानकारी देने वाले हैं जिससे एडमिशन लेने में आपको किसी भी दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा। तो चलिए आखिर जान लेते हैं कि MCA कोर्स क्या है।

MCA कोर्स क्या है?

MCA एक पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है जिसमें स्टूडेंट को कंप्यूटर की एप्लिकेशंस बनाने का माहिर बनाया जाता है। इस कोर्स में आपको कुछ प्रोग्रामिंग भाषाएं, वेब डेवलपमेंट, नेटवर्किंग और हार्डवेयर टेक्नोलॉजी आदि के बारे में बताया जाता है और आपको सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट के प्रिंसिपल्स के बारे में जानकारी दी जाती है।

इस कोर्स को 3 साल में पूरा करवाया जाता है और इसमें 6 सेमेस्टर होते हैं। इस कोर्स को आप रेगुलर के अलावा डिस्टेंस एजुकेशन के माध्यम से भी पूरा कर सकते हैं। Wipro, HCL और TCS जैसी बड़ी बड़ी कंपनियां हर साल MCA पास लोगों के नौकरियां लाती है। कोर्स के दौरान किसी कंपनी में 6 महीने के लिए इंटर्नशिप करने का मौका भी आपको मिलता है जिससे आप असल ज़िन्दगी में एक IT जॉब का अनुभव प्राप्त कर सकते हैं।

इस कोर्स को करने के बाद आप के लिए रोज़गार के काफी सारे दरवाज़े खुल जाते हैं क्योंकि आपके पास मास्टर की डिग्री होती है। MCA के बाद आपको अगर जॉब नहीं भी मिलती है तो आप एक फ्रीलांसर बनकर अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। वहीं इस कोर्स के करने के लिए कुछ योग्यताएं भी हैं जिसके बारे में हम आगे जानेंगे।

पीजीडीसीए कोर्स क्या है ?

MCA का फुल फॉर्म क्या है?

MCA का फुल फॉर्म मास्टर ऑफ़ कंप्यूटर एप्लिकेशन ( Master of Computer Applications ) है जिसे आमतौर पर BCA ( बैचलर ऑफ़ कंप्यूटर एप्लिकेशन ) के बाद किया जाता है। जैसा कि नाम से ही ज़ाहिर हो जाता है कि MCA करने से आप कंप्यूटर एप्लिकेशंस के मास्टर बन जाते हैं।

MCA के लिए योग्यता

MCA कोर्स के लिए आपको सबसे पहले बारहवीं में अच्छे नंबरों के साथ पास होने की आव्यशकता होती है। उसके बाद आपको BCA करनी होगी जो कि आपके लिए एक बेहतर विकल्प है। साथ ही साथ आपकी गणित में भी अच्छी पकड़ होनी चाहिए। अगर आपकी रूचि टेक्नोलॉजी में है तो इसमें आपकी सफलता के मौके और भी बढ़ जाते हैं। ग्रेजुएशन में आपके 50 प्रतिशत अंक होना भी जरूरी है।

अगर आप BCA के बाद इस कोर्स को करते हैं तो इस कोर्स की अवधि 2 साल होती है अन्यथा इसे 3 सालों में पूरा करवाया जाता है। काफी कॉलेज इस कोर्स के लिए एक एंट्रेंस परीक्षा का आयोजन करते हैं जिसे पास करने के बाद आप MCA में प्रवेश कर सकते हैं।

MCA में प्रवेश के लिए AIMCET द्वारा एक राष्ट्रीय स्तर पर भी परीक्षा करवाई जाती है जिसे पास करके देश की टॉप युनिवर्सिटीज़ में MCA का कोर्स कर सकते हैं। कई कॉलेज ऐसे भी हैं जो सीधा 12 वीं के बाद आपको MCA में प्रवेश देते हैं लेकिन उसके लिए आपके पास PCM सब्जेक्ट होना अनिवार्य है।

MCA कोर्स की फीस

हर कॉलेज में MCA कोर्स की फीस अलग अलग होती है। आमतौर पर इस कोर्स की सालाना फीस 30 हज़ार रूपये से लेकर 2,50000 रूपये तक होती है। आप अगर MCA में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आपको फीस की जानकारी पहले एकत्रित कर लेनी चाहिए जिससे बाद में आपको किसी भी प्रकार की दिक्कत का सामना ना करना पड़े। कॉलेज के अधिकारिक नंबर पर कॉल करके भी आप इस कोर्स की फीस के बारे में जानकारी ले सकते हैं।

MCA के लिए प्रवेश परीक्षा

MCA के लिए कई एंट्रेंस परीक्षाएं करवाई जाती हैं जिसके बाद अंकों के आधार पे अपने मनपसंद कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं। बता दें कि बिना एंट्रेंस परीक्षा के भी आप MCA कोर्स कर सकते हैं उसके लिए आप अपने नज़दीकी कॉलेज से संपर्क कर सकते हैं। कुछ प्रमुख MCA प्रवेश परीक्षाएं इस प्रकार हैं:-

  • IPU CET
  • Joint Entrance for Masters of Computer Applications (JECA)
  • HPCET
  • NIMCET
  • Banaras Hindu University Post Graduate Entrance Exam (BHU PET MCA)
  • OJEE
  • All India MCA Common Entrance Test (AIMCET)

MCA की प्रवेश परीक्षा में आमतौर पर मैथमेटिक्स, एनालिटिक्स एबिलिटी, लॉजिकल रीजनिंग, कंप्यूटर अवेयरनेस और इंग्लिश से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। अधिक जानकारी के लिए आप इंटरनेट पर रिसर्च कर सकते हैं और परीक्षा से सम्बंधित सिलेबस ढूंढ सकते हैं।

ऑनलाइन डिग्री कैसे प्राप्त करे ?

MCA कोर्स करने के फायदे

MCA कोर्स करने के बाद आपको बहुत सारे लाभ होते हैं जिनका फ़ायदा उठाकर आप भी सोचेंगे कि मेरे MCA कोर्स के पैसे वसूल हो गए। यह फायदे कुछ इस प्रकार हैं:-

  • देश की बड़ी बड़ी कंपनियों में काम करने का मौका मिलता है।
  • अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों में भी नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।
  • आप अपनी खुद की कंपनी भी बना सकते हैं।
  • वर्क फ्रॉम होम के माध्यम से घर बैठे ही काम कर सकते हैं।
  • एक कंप्यूटर टीचर बनकर बच्चों को पढ़ा सकते हैं।
  • आपको बढ़िया वेतन मिलता है।
  • जैसे जैसे आपका अनुभव बढ़ता जाता है आपके वेतन में भी बढ़ोतरी होती रहती है।

MCA कोर्स का सिलेबस कैसा होगा

MCA कोर्स में बहुत सारे सब्जेक्ट पढ़ाये जाते हैं और इसे 6 अलग अलग सेमेस्टर में पढ़ाया जाता है। यहां पर आपको बता दें कि अगर आपने BCA की हुई है तो इस कोर्स की अवधि 2 साल हो जाती है। MCA के विषयों की सूचि कुछ इस प्रकार है:-

First YearSecond YearThird Year
Fundamentals of ITTheory of ComputationLinux Programming
Object Oriented Programming in C++Data Warehousing and Data MiningEnterprise Computing with Java
Computer OrganizationData Communications and NetworkingSoftware Testing
Operating SystemsObject Oriented Analysis and DesignElectives
Programming in CComputer Graphics6-month Internship
Database Management SystemsWeb Technologies 
Data and File StructuresDesign and Analysis of Algorithms 
Software EngineeringComputer Networks 
Discrete MathematicsJava Programming 

हैकर बनने के लिए कोर्स, फ़ीस, योग्यता

MCA कोर्स के लिए आवश्यक कौशल

MCA के लिए कौशलों कि आवश्यकता आपकी उस रूचि पर निर्भर करता है जिसमें आप चाहते हैं कि भविष्य में आप क्या बनना चाहते हैं। इनमें से कुछ कौशलों की सूचि इस प्रकार है:-

  • मुलभुत गणित में आपकी अच्छी पकड़ होनी चाहिए ताकि फंक्शन्स बनाते वक़्त आपको कोई दिक्कत ना आए।
  • अगर आप नेटवर्किंग के क्षेत्र में जाने की रूचि रखते हैं तो आपको SQL, LINUX और Database के बारे में अच्छी खासी जानकारी होनी चाहिए।
  • अच्छा प्रोग्रामर बनना चाहते हैं तो 2-3 प्रोगरामिंग भाषाओँ में आपकी अच्छी समझ होनी चाहिए। इनमें से कुछ मशहूर प्रोगरामिंग भाषाएँ C, C++, Java, .Net और Python आदि हैं।
  • अगर आप वेब डेवलपमेंट के क्षेत्र में रूचि रखते हैं तो आपको HTML, CSS, JavaScript और PHP आदि में ध्यान देने की ज़रुरत होगी।

MCA कोर्स के बाद जॉब और वेतन

जैसे ही आप MCA कोर्स के अंत में पहुंचते हैं तभी आपके कॉलेज में बड़ी बड़ी कंपनिया प्लेसमेंट के लिए आने लगती हैं। उन कंपनियों में आप इंटरव्यू देकर आप नौकरी पा सकते हैं। यह कंपनियां शुरुआत में आपको कम से कम ढाई लाख का पैकेज देती हैं। उसके बाद अनुभव के हिसाब से आपके वेतन में बढ़ोतरी होती रहती है।

अगर कंपनियां आपके कॉलेज में रोज़गार लेकर नहीं आती तो अलग से आप नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं। बहुत सारी ऐसी कंपनियां है जो MCA पास व्यक्ति को जॉब के लिए मौका देती हैं। हाल ही में IT इंडस्ट्री में जॉब्स के लिए एक बहुत बड़ा उछाल आया है इसलिए नौकरी के लिए चिंता करने के आपको जरुरत नहीं।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी आपको MCA के बाद जॉब के लिए मौका मिल सकता है। और काफी सारी ऐसी भी कंपनियां हैं जो आपको Work From Home ( घर बैठे काम करना ) का मौका देती है।  इसके अलावा आप MCA करने के बाद एक कंप्यूटर टीचर भी बन सकते हैं।

MCA कोर्स के बाद कौन कौन सी नौकरी कर सकते हैं?

MCA कोर्स के बाद आपके लिए रोज़गार के बहुत सारे दरवाज़े खुल जाते हैं और अलग अलग भूमिकाओं में आप रोज़गार प्राप्त कर सकते हैं। MCA करने के बाद कुछ प्रमुख जॉब रोल्स इस प्रकार हैं:-

  • सॉफ्टवेयर डेवलपर
  • डेटाबेस इंजीनियर
  • टेक्निकल राइटर
  • बिज़नेस एनालिस्ट
  • वेब डेवलपर
  • सोशल मीडिया मैनेजर
  • कंप्यूटर टीचर
  • प्रोजेक्ट मैनेजर
  • एथिकल हैकर
  • नेटवर्क इंजीनियर

12वीं के बाद इंजीनियर कैसे बनें ?

MCA कोर्स करवाने वाले टॉप कॉलेज

आप भी चाहेंगे कि आप MCA का कोर्स किसी ऐसे कॉलेज से करें जहां पर पढ़ाई के बहुत बढ़िया इंतेज़ाम हों और MCA के  लिए एक अच्छा कोर्स हो। लेकिन ध्यान देने योग्य बात यह है कि जैसे ही टॉप कॉलेज की रैंकिंग बढ़ती जाती है उसी प्रकार इसकी फीस में भी बढ़ोतरी होती रहती है। तो इसलिए फैसला आपको करना होगा की किस कॉलेज में आपको एडमिशन लेनी चाहिए। भारत में कुछ टॉप MCA करवाने वाले कॉलेज यह हैं:- 

  • न्यू होरिज़ोन कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग, बैंगलोर
  • नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, तेलंगाना
  • जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  • दिल्ली यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली
  • चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़

Leave a Comment