आरएसएस (RSS) ज्वाइन कैसे करे

आरएसएस को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) के नाम से भी जाना जाता है | यह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तुलना में संघ अथवा आरएसएस के नाम से अधिक प्रसिद्ध है। इस संगठन को हिन्दू समाज के लोगो और हिंदुत्व के हितो के लिए बनाया गया है | आरएसएस का मुख्य उद्देश्य लोगों को सनातन धर्म के बारे में पूरी जानकारी देने के साथ ही उन्हें जागरूक कर धर्म के साथ जोड़ना हैं | राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, आरएसएस के रूप में भारत का एक हिन्दू राष्ट्रवादी, अर्धसैनिक, दक्षिणपंथी, स्वयंसेवक संगठन हैं, जो भारत के सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी का व्यापक रूप से पैतृक संगठन माना जाता हैं |

संघ परिवार कई हिन्दू राष्ट्रवादी संगठन भी शामिल है |  इसके साथ ही यह संघ देश में किसी भी प्रकार की संकटकालीन स्थिति आने पर दूसरों की सहायता करना इसका मुख्य लक्ष्य है | यदि आप भी आरएसएस अर्थात राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सदस्य बनना चाहते है, तो आईये जानते है, कि आरएसएस (RSS) ज्वाइन कैसे करे, आरएसएस प्रचारक लिस्ट – रजिस्ट्रेशन के बारे में पूरी जानकारी |

बीजेपी (BJP) का फुल फॉर्म क्या है

आरएसएस क्या है (What Is RSS)

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ या आरएसएस को दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे अधिक शक्तिशाली संगठन माना जाता है। संघ का मुख्य उद्देश्य भारत को विश्व शक्ति और परम वैभव बनाना है | इस संघ का निर्माण खोये हुए संस्कार और अपने बच्चों को हिन्दू संस्कार देना है | इस संघ परिवार में अनेक संगठन शामिल है, जिनमें बजरंग दल, भारतीय जनता पार्टी, विश्व हिन्दू परिषद, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद्, और मजदूर संघ प्रमुख है | इन सभी संगठनों के साथ-साथ संघ द्वारा हजारो की संख्या में स्कूल और कालेज का संचालन भी किया जाता है |

जिस समय आरएसएस को संगठित किया गया था, उस समय इसमें शामिल लोगो की संख्या मात्र 17 थी | वर्तमान समय में इस संघ से जुड़े हुए लोगो की संख्या करोड़ो में है, और आज यह संपूर्ण विश्व के 50 से अधिक देशों में सक्रिय है | इस समय संघ की दैनिक शाखाओं की संख्या लगभग 55 हजार 568 और 13 हजार 847 साप्ताहिक मंडली, 9 हजार मासिक शाखाएं भी हैं | संघ की शाखाओं में नियमित रूप से प्रतिदिन आने वाले स्वयंसेवको की संख्या 50 लाख से अधिक है | इस संघ की सबसे खास बात यह है कि प्राकृतिक अपदाओ के आने पर सभी धर्म के लोगों की बढ़ चढ़कर मदद करता है |

Love Jihad (लव जिहाद) क्या है

आरएसएस का इतिहास (History Of RSS)

दुनिया के सबसे बड़े स्वयंसेवी संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अर्थात आरएसएस की स्थापना का श्रेय केशवराम बलिराम हेडगेवार को जाता हैं | हेडगेवार का जन्म वर्ष 1889 में हुआ था | हेडगेवार पेशे से एक डॉक्टर थे, उनके अन्दर बचपन से ही अंग्रजों द्वारा किये जानें वाले अत्याचार के प्रति आक्रोश और अपनें देश के लिए आगे बढ़कर कुछ करनें का जज्बा था | केशव जी दामोदर सावरकर के हिंदुत्व से बहुत ही प्रभावित थे और उन्हें यह अहसास हुआ कि एक ऐसी संस्था होनी चाहिए जो समाज के सभी वर्गों को जोड़कर एक सशक्त समाज का निर्माण कर सके |

इसी आधार पर हेडगेवार जी नें नागपुर में 27 सितम्बर 1925 को विजयादशमी के शुभदिन पर कुछ युवाओं को एकत्र कर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की स्थापना की | इसके पश्चात वह प्रतिदिन नियमित रूप से शाखा लगने लगी, जिसमें प्रार्थना, खेल जैसी गतिविधियाँ होने लगी | इसी प्रकार धीरे-धीरे यह शाखाएं पूरे शहर और फिर पूरे देश में फ़ैल गयी और वर्तमान समय में देश के प्रत्येक राज्य और शहर में संघ का प्रभाव देखा जा सकता है |

आरक्षण (Reservation) क्या है

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का उद्देश्य (Objective of Rashtriya Swayamsevak Sangh)

आरएसएस को आज भारत का सबसे बड़ा स्वयंसेवी संगठन कहा जाता है | इसका मुख्य उद्देश्य सनातन संस्कृति के मूल्यों को बनाये रखना, भारत को समृद्धशाली बनानें के साथ ही राष्ट्रवादी व्यक्तित्व का निर्माण करना है | आरएसएस का मुख्य उद्देश्य समाज में व्याप्त ऊंच-नीच व जाति भेद, वर्ग भेद को समाप्त करना है |

यह संगठन देश में आने वाली सभी आपदाओं का सामना करने के लिए सदेव तैयार रहता है | आरएसएस का मकसद सनातन समाज को संगठित कर देश को प्रगति के उच्च शिखर पर ले जाना है और देश को प्रगति के क्षेत्र में आगे बढ़ाने के कार्य में भरपूर प्रयास करना है | देश में किसी प्रकार की आपदा या विपत्ति आने पर संघ, लोगों को आर्थिक और शारारिक रूप से मदद करता है |

वीर सावरकर का जीवन परिचय

आरएसएस प्रचारक लिस्ट (RSS Promotional List)

क्रम स०नाम वर्ष
1.डॉक्टर केशवराव बलिराम हेडगेवार1925 से  1940
2.माधव सदाशिवराव गोलवलकर1940 से 1973
3.मधुकर दत्तात्रय देवरस1973 से  1993
4.प्रोफ़ेसर राजेंद्र सिंह उपाख्य रज्जू भैया1993 से  2000
5.कृपाहल्ली सीतारमैया सुदर्शन2000 से  2009
6.डॉ॰ मोहनराव मधुकरराव भागवत2009 से  अब तक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से सीधा संपर्क कैसे करें

आरएसएस ज्वाइन कैसे करें (How To Join RSS)

आरएसएस अर्थात राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ज्वाइन करनें की प्रक्रिया बहुत ही सरल है | इसके लिए आपको सिर्फ आरएसएस की वेबसाइट पर जाकर एक सदस्यता फॉर्म भरना होता है | इसके लिए आपको किसी प्रकार का कोई शुल्क नहीं देना है अर्थात यह निशुल्क है | सदस्यता फॉर्म भरनें के कुछ दिनों के बाद आपके पास एक मेसेज आएगा, कि आप संघ के सदस्य बन चुके है | आप अपनें नजदीकी आरएसएस शाखा में जाकर अपना आईडी कार्ड प्राप्त कर सकते है |

इसके आलावा आप आरएसएस की शाखा में जाकर भी संघ के सदस्य बननें के लिए आवेदन कर सकते है | इसके लिए आपको एक फार्म दिया जायेगा, जिसमें आपको कुछ जानकारियाँ भरनी होंगी, इस प्रकार आप संघ के सदस्य बन सकते है |

बीजेपी मेंबर कैसे बने

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) ज्वाइन करनें के लिए – यहाँ क्लिक करे     

यहाँ आपको आरएसएस (RSS) ज्वाइन करने की जानकारी से अवगत कराया गया है | इस प्रकार की अन्य जानकारी के लिए आप hindiraj.com पर विजिट कर सकते है | अगर आप दी गयी जानकारी के विषय में अपने विचार या सुझाव अथवा प्रश्न पूछना चाहते है, तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से संपर्क कर सकते है |

भारत में कितने राजनीतिक दल है

1 thought on “आरएसएस (RSS) ज्वाइन कैसे करे”

Leave a Comment