स्पर्म डोनेशन क्या है ?



Sperm Donation in Hindi: स्पर्म डोनेशन के ऊपर बॉलीवुड की हिंदी भाषा में विकी डोनर नाम की एक फिल्म बनी थी, जिसमें आयुष्मान खुराना ने काम किया था। इस फिल्म के अंदर आयुष्मान खुराना के द्वारा अपने स्पर्म का दान दिया जाता था जिसे कि स्पर्म डोनेशन कहा जाता है। अगर आपके मन में भी यही काम करने का ख्याल है तो आपको पहले यह पता करने की आवश्यकता है कि आखिर स्पर्म डोनेशन का मतलब क्या होता है अथवा शुक्राणुओं का दान क्यों किया जाता है।

img-1


बता दें कि स्पर्म डोनर (Sperm Donor) बनने के लिए आपको फिजिकल और मेडिकल टेस्ट देने की आवश्यकता होती है और अगर आपका शुक्राणु हेल्थी पाया जाता है तो ही उसे स्वीकार किया जाता है। इस पेज पर हम स्पर्म डोनेशन क्या है ? Sperm Donor Kaise Bane | नजदीकी स्पर्म डोनेट सेंटर कहां पर है। डिटेल में जानेंगे।

टेस्ट ट्यूब बेबी या आईवीएफ क्या होता है

स्पर्म क्या है | What is Sperm in Hindi

Sperm Meaning In Hindi : स्पर्म को हिंदी भाषा में शुक्राणु अथवा वीर्य कहा जाता है। यही वह तरल पदार्थ होता है जिसके द्वारा किसी भी महिला का गर्भ धारण होता है। जब महिला और पुरुष आपस में संबंध बनाते हैं तो पुरुष के लिंग में से शुक्राणु तरल पदार्थ के तौर पर निकलता है और महिला की योनि में जाता है।



इसके बाद धीरे-धीरे यह शुक्राणु महिला के गर्भाशय में पहुंच जाता है और इस प्रकार से महिला के गर्भाशय में अंडा बनने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है और धीरे-धीरे यही अंडा बच्चे के अंगो का आकार लेने लगता है। और इस प्रकार से 9 महीने में बच्चे के बॉडी के सभी अंगो का निर्माण हो जाता है और दर्द उठने पर अस्पताल में या फिर घर में बच्चा पैदा हो जाता है। इस प्रकार से शुक्राणु के द्वारा किसी बच्चे का जन्म इस दुनिया में होता है।

स्पर्म डोनेशन क्या है ? What is sperm Donation in Hindi

How Can I Donate Sperm : हिंदी भाषा में स्पर्म को शुक्राणु अथवा वीर्य कहा जाता है और जब इसमें डोनेशन का शब्द जुड़ जाता है तो इसका मतलब होता है स्पर्म डोनेशन, जिसे हिंदी भाषा में वीर्य का दान अथवा शुक्राणु का दान कहा जाता है।

यह एक प्रकार की मेडिकल प्रक्रिया है जिसके अंतर्गत किसी व्यक्ति के द्वारा अपने स्पर्म का दान दिया जाता है। दान किए गए शुक्राणु का इस्तेमाल किसी महिला के द्वारा किया जाता है, ताकि वह महिला गर्भवती हो सके।

बता दें कि पुरुष के लिंग से सफेद रंग का जो गाढा तरल पदार्थ निकलता है उसे ही स्पर्म कहा जाता है, जो सामान्य तौर पर हस्तमैथुन करने से अथवा स्त्री के साथ संबंध बनाने से या फिर स्वप्नदोष होने की अवस्था में निकलता है।

स्पर्म डोनेशन का महत्व क्या है ?

जब किसी पुरुष के द्वारा अपने शुक्राणु का दान किसी बैंक को किया जाता है, उसे स्पर्म बैंक कहा जाता है। स्पर्म बैंक के द्वारा उस पुरुष के शुक्राणु को सुरक्षित रखा जाता है। और जब बैंक में कोई ऐसी महिला या फिर पति पत्नी आते हैं जिन्हें बच्चा प्राप्ति के लिए अच्छी गुणवत्ता के शुक्राणुओं की आवश्यकता है तो कुछ पैसे देने के पश्चात शुक्राणु बैंक के द्वारा उन्हें अच्छी क्वालिटी का शुक्राणु दे दिया जाता है।

जिसके बाद महिला अपनी योनि में शुक्राणु को डालती है और इसके 1 से 2 महीने के बाद ही महिला को गर्भ धारण हो जाता है।

जो महिलाएं मां बनना चाहती है परंतु उनके पति की मृत्यु हो गई है या फिर ऐसी महिलाएं जिनके पति में बांझपन की समस्या है वह महिलाएं स्पर्म डोनेशन के अंतर्गत शुक्राणु प्राप्त कर सकती हैं।

महिला शरीर के अंगों का नाम

स्पर्म बैंक क्या है ? Meaning of Sperm Bank in Hindi

How Is Sperm Stored In Bank : इसे आप शुक्राणु बैंक अथवा वीर्य बैंक भी कह सकते हैं। जिस प्रकार से ब्लड बैंक में आप जाकर के खून दान दे सकते हैं, उसी प्रकार से स्पर्म बैंक में जा कर के आप अपने शुक्राणुओं का दान दे सकते हैं।

सामान्य शब्दों में कहा जाए तो जिस बैंक में आपके शुक्राणुओं को लिया जाता है और उसके बदले में पैसे दिए जाते हैं साथ ही आपके शुक्राणुओं को सुरक्षित रखकर उसे जरूरतमंद महिला या फिर पति पत्नी को बेचा जाता है उसे ही स्पर्म बैंक कहते हैं।

स्पर्म डोनेशन की विशेषताएं | Features of Sperm Donation in Hindi

स्पर्म डोनेशन की विशेषताएं निम्नानुसार है।

  • शुक्राणुओं का दान करना उत्तम माना जाता है। क्योंकि आपके द्वारा दान किए गए शुक्राणु के द्वारा किसी महिला के द्वारा गर्भ धारण किया जाता है और उसकी सुनी गोद में एक नन्हा सा बालक आता है जो इस धरती पर 9 महीने के बाद जन्म लेता है।
  • शुक्राणु दान करने की प्रक्रिया में आपकी पहचान को गुप्त रखा जाता है। इसीलिए पहचान उजागर होने की समस्या भी नहीं होती है।
  • शुक्राणु लेने से पहले आपकी मेडिकल टेस्टिंग की प्रक्रिया की जाती है। इसीलिए मुफ्त में आपको यह भी पता चल जाता है कि आप कितने स्वस्थ हैं अथवा आपको कोई बीमारी है अथवा नहीं।
  • आपके शुक्राणु दान करने के फैसले की वजह से किसी परिवार में अपार खुशियां आ सकती है।
  •  शुक्राणु दान करने पर आपको अच्छी आय भी प्राप्त होती है।
  • शुक्राणु दान करने का मुख्य उद्देश्य किसी बिना बच्चे वाले पति पत्नी/महिला को संतान सुख देना है।
  • शुक्राणु दान करने से कमजोरी नहीं होती है। फिर से शुक्राणु आसानी से बन जाता है।

स्पर्म डोनेट क्यों किया जाता है ?

अगर कोई ऐसी महिला है जिसका पुरुष साथी बच्चा पैदा करने में असमर्थ है या फिर कोई ऐसी महिला है जिसके पति की मृत्यु हो गई है परंतु उसके पास कोई संतान नहीं है।

तो ऐसी अवस्था में संतान की प्राप्ति के लिए स्पर्म डोनेट की प्रक्रिया के तहत दान किए गए शुक्राणु का इस्तेमाल होता है। यह काम एक बहुत ही पॉजिटिव काम होता है जिसके द्वारा कई निसंतान महिलाओं को माता-पिता बनने का सुख प्राप्त होता है।

अगर आपके द्वारा शुक्राणु दान करने का फैसला लिया जा रहा है तो आपके शुक्राणु से ही किसी परिवार में खुशियों का आगमन होता है और उन्हें लड़का अथवा लड़की के तौर पर संतान की प्राप्ति होती है और किसी महिला की सुनी गोद फिर से हरी भरी हो जाती है।

स्पर्म डोनेशन से महिला गर्भवती कैसे होती है ?

Pregnancy Through Sperm Donation : किसी महिला के द्वारा जब दान किए गए शुक्राणु की खरीदारी की जाती है तो उसके पश्चात इंट्रायूटेरिन इनसेमिनेशन नाम की प्रक्रिया का पालन किया जाता है जिसके अंतर्गत महिलाओं के गर्भ में शुक्राणु को रखा जाता है।

इस प्रकार से धीरे-धीरे महिलाओं के गर्भ में भ्रूण बनने की शुरुआत होती है और धीरे-धीरे महिलाओं के गर्भ में बच्चे के शरीर के अलग-अलग अंग बनना तैयार हो जाते हैं।

बता दें कि स्पर्म डोनेट करने वाले और स्पर्म प्राप्त करने वाले दोनों ही व्यक्तियों की पहचान को स्पर्म बैंक के द्वारा छुपा कर के रखा जाता है।

अगर आप एक पुरुष हैं और आप शुक्राणु दान करने की सारी पात्रता रखते हैं तो आप भी अपने शुक्राणु दान कर सकते हैं। शुक्राणु दान करने के लिए आपको एक लंबी मेडिकल प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है।

स्पर्म डोनेट कैसे होता है ?

How Can I Donate Sperm : अपने शुक्राणु दान करने के लिए आपको सबसे पहले अपने घर के पास में मौजूद अथवा अपने शहर में स्थित स्पर्म बैंक में जाना होता है और वहां पर जाने के बाद आप शुक्राणु दान कर सकते हैं।

स्पर्म बैंक के द्वारा आपका शुक्राणु लेने से पहले किसी भी बीमारी को फैलने से रोकने के लिए प्रारंभिक टेस्टिंग की जाती है और टेस्टिंग में अगर यह बात साबित होती है कि आप शुक्राणु दान करने के लिए पूरी तरह से स्वस्थ हैं और आपको कोई भी गंभीर बीमारी नहीं है तो आपके शुक्राणु का सैंपल ले लिया जाता है।

जो भी महिलाएं या फिर पति-पत्नी डोनेट किए गए शुक्राणु को प्राप्त करने में रुचि रखते हैं वह नजदीकी स्पर्म बैंक से संपर्क स्थापित कर सकते हैं।

यह बैंक ऐसी होनी चाहिए जिसे भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय के द्वारा मान्यता दी गई हो। शुक्राणु बैंक प्राइवेट भी होते हैं और गवर्नमेंट भी होते हैं। गवर्नमेंट शुक्राणु बैंक में आपको प्राइवेट शुक्राणु बैंक की तुलना में कम कीमत में ही शुक्राणु प्राप्त हो जाते हैं।

स्पर्म डोनेट कहाँ करें ?

Sperm Donate Kaha Pe Kare : अपने घर के पास में मौजूद किसी शुक्राणु बैंक में जाकर के आसानी से आप अपने शुक्राणुओं का दान कर सकते हैं।

हालांकि इसके लिए आपको स्वास्थ्य, ऊंचाई और वजन के निर्धारित मानक को पूरा करने की आवश्यकता होगी। शुक्राणु बैंक में जाने के बाद आपको वहां पर मौजूद कर्मचारियों के द्वारा किस प्रकार से स्पर्म डोनेट किया जाता है, इसकी जानकारी प्रदान की जाती है।

इसलिए आप किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के लिए शुक्राणु बैंक के कर्मचारियों से संपर्क कर सकते हैं। शुक्राणु बैंक में स्पर्म दान करने के लिए आपको एक छोटा सा कंटेनर दिया जाता है जिसे ले करके आपको एक खाली कमरे में चले जाना होता है।

खाली कमरे में जाने के बाद आपको हस्तमैथुन करना होता है और जो भी शुक्राणु आपके लिंग के द्वारा निकलता है। उसे आपको उसी खाली प्लास्टिक के कंटेनर में इकट्ठा करना होता है और उसके बाद आपको ढक्कन बंद करके इसे शुक्राणु बैंक में जमा कर देना होता है।

याद रखें कि आपको शुक्राणु सिर्फ स्पर्म बैंक में निकालना होता है। आप घर से किसी भी कंटेनर में शुक्राणु निकालकर के स्पर्म बैंक में जमा नहीं कर सकते हैं।

आपके द्वारा जो शुक्राणु दान किया जाता है उसके बदले में शुक्राणु बैंक के द्वारा आपको पेमेंट भी की जाती है और यह जो पैसे होते हैं यह तब शुक्राणु बैंक को मिलते हैं जब किसी दंपत्ति के द्वारा या फिर महिला के द्वारा शुक्राणुओं की खरीदारी की जाती है।

शुक्राणु खरीदने और बेचने की कीमत क्या हो सकती है, यह स्पर्म बैंक के द्वारा तय की जाती है। जितनी अच्छी क्वालिटी का शुक्राणु होगा, उसकी कीमत उतनी ही ज्यादा होगी।

शरीर के अंगों के नाम और उनके कार्य

स्पर्म डोनेट करने हेतु पात्रता

What Is The Criteria For Donating Sperm : शुक्राणु बैंक के द्वारा किसी भी व्यक्ति के शुक्राणु को नहीं लिया जाता है बल्कि जिस व्यक्ति के द्वारा शुक्राणु दान करने की सारी पात्रता को पूरा किया जाता है उसी से शुक्राणु दान मे लिए जाते हैं। पात्रता की जानकारी निम्नानुसार है।

  •  शुक्राणु दान करने के लिए आपकी उम्र कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 35 साल के बीच होनी चाहिए।
  • अगर आपने शारीरिक और मनोवैज्ञानिक टेस्ट को पास कर लिया है तो ही आप शुक्राणु दान कर सकते हैं।
  • शुक्राणु दान करने के लिए आपको अपना और अपने परिवार की हेल्थ हिस्ट्री की भी जांच करवाने की आवश्यकता होती है।
  •  ऐसे ही व्यक्ति का शुक्राणु दान में लिया जाता है जो व्यक्ति नशा नहीं करता है, ना ही नशीले पदार्थों का सेवन करता है।
  • अगर आपको किसी भी प्रकार की अनुवांशिक बीमारी है तो इसके लिए सबसे पहले आपका टेस्ट किया जाता है।
  • हेपेटाइटिस बी, एचआईवी और दूसरे यौन संक्रमित बीमारियों की जांच के लिए आपको अपने खून का टेस्ट करवाने की प्रक्रिया से गुजरना पड़ सकता है।

स्पर्म कहां बेचा जाता है ? Sperm Bank Near me

Sperm Donation Centres Near Me : आप अपने नजदीकी इलाके में मौजूद स्पर्म बैंक में शुक्राणुओं को बेच सकते हैं।

हालांकि इसके पहले यह पता करें कि वह बैंक प्राइवेट शुक्राणु बैंक है अथवा गवर्नमेंट शुक्राणु बैंक है, क्योंकि गवर्नमेंट शुक्राणु बैंक की तुलना में प्राइवेट शुक्राणु बैंक में शुक्राणु बेचना काफी आसान प्रक्रिया होती है।

अगर आपको अपने आसपास के इलाके में शुक्राणु बैंक नहीं प्राप्त हो पा रहा है, तो इसके लिए बस आपको इंटरनेट पर जाना है और अंग्रेजी भाषा में Sperm Bank Near Me लिखकर के सर्च कर देना है।

अब आपके आसपास के इलाके में मौजूद शुक्राणु बैंक की लिस्ट आपको दिखाई देगी। आप वहां पर जा सकते हैं या फिर ऑनलाइन नंबर प्राप्त करके भी शुक्राणु बैंक से संपर्क स्थापित कर सकते हैं।

स्पर्म बेच कर पैसा कैसे कमाए ?

Sperm Donation For Money Near Me : शुक्राणु बेचकर पैसा कमाने के लिए सबसे पहले आपको अपने आप को मानसिक और शारीरिक रूप से तैयार कर लेना है।

साथ ही आवश्यक टेस्ट भी करवा लेना है। अगर आप बिल्कुल फिट है तो उसके बाद आपको नजदीकी स्पर्म बैंक में जाना है और वहां से एक एप्लीकेशन फॉर्म हासिल करना है।

उसमें आपको अपने सभी जानकारियों को दर्ज करना है। इसके बाद आपको शुक्राणु बैंक के द्वारा जो छोटा सा प्लास्टिक कंटेनर दिया जा रहा है उसमें अपना शुक्राणु हस्तमैथुन के द्वारा निकाल करके जमा करना है।

और ढक्कन बंद करके आपको इसे शुक्राणु बैंक में ही जमा कर देना है इसके बाद शुक्राणु बैंक के द्वारा आपको निश्चित पैसे दिए जाएंगे. इस प्रकार से आप शुक्राणु बेचकर पैसा कमा सकते हैं।

स्पर्म डोनेशन के फायदे

Health Benefits Of Sperm Donation : वीर्य दान करने के फायदे क्या है अथवा स्पर्म डोनेशन के एडवांटेज क्या है, आइए इसकी जानकारी भी प्राप्त करते हैं।

  •  स्पर्म डोनेशन करने से आपके स्वास्थ्य पर कोई भी बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है।
  • स्पर्म डोनेशन करने के बदले में आपको पैसे भी दिए जाते हैं।
  • अगर आपका शुक्राणु अच्छी क्वालिटी का है तो आप शुक्राणुओं का दान करके तगड़ा पैसा कमा सकते हैं।
  •  अगर आप परोपकार की भावना रखते हैं तो शुक्राणु दान करने से आपको आत्म संतुष्टि की प्राप्ति होती है।

FAQ:

स्पर्म डोनेट के कितने पैसे मिलते हैं ?

हर स्पर्म बैंक के द्वारा शुक्राणु लेने के बदले में दोनों को अलग-अलग रकम दी जाती है।

स्पर्म डोनर जॉब इन जयपुर ?

जयपुर में रहने वाले लोग अपने शहर में स्पर्म दान करने की नौकरी खोजने के गूगल का उपयोग कर सकते हैं।

स्पर्म डोनेट फॉर मनी contact number ?

इसके बारे में भी आप इंटरनेट से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं या फिर पास में मौजूद स्पर्म बैंक में जाकर पूछताछ कर सकते हैं।

स्पर्म बैंक कहां है ?

इसके बारे में जानकारी के लिए इंटरनेट ऑन करें और स्पर्म बैंक नियर मी लिखकर सर्च करें। इसके बाद आपको पता चलेगा कि शुक्राणु बैंक कहां है।

परिवार के सदस्यों के नाम

Leave a Comment