आंगनबाड़ी कार्यकर्ता या कार्यकत्री कैसे बने



आंगनबाडी एक केंद्र होता हैं, जिसकी शुरुआत 1985 में की गई थी | उस समय केंद्र सरकार की शुरुआत एकीकृत बाल विकास सेवा कार्यक्रम के तहत  की गई थी।  वहीं अब वर्तमान समय इस योजना के तहत  केंद्र सरकार राज्यों की मदद से बच्चों और गर्भवती महिलाओं को कुपोषण से बचाने  का काम कर रही है, क्योंकि आंगनबाड़ी केंद्र में काम  करने वाली महिलायें मुख्य रूप  से 1 से 3 साल के बच्चों की देखभाल और उन्हें शिक्षित करने काम करती हैं |

img-1


इसके साथ ही आंगनबाड़ी केंद्र की महिलायें और गर्भवती महिलाओं के कुपोषण का भी ध्यान रखती है | इस योजना को लेकर विभाग की  तरफ से  कार्य करने के आदेश जारी किये जाते हैं, जिसके बाद आंगनबाड़ी केंद्र की कार्यकर्ता या कार्यकत्री (anganwadi karyakarta or worker or Mini Anganwadi) अपने काम को पूरा करती है |

यदि आप भी आंगनबाड़ी केंद्र के विषय में जानना चाहते हैं, और साथ ही आप आंगनबाड़ी कार्यकर्ता या कार्यकत्री कैसे बने, योग्यता, आंगनबाड़ी भर्ती नियम, मानदेय (वेतन) की जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप कृपया लेख को बेहद ही ध्यानपूर्वक पढ़े ताकि Anganwadi से सम्बंधित आपको को सारी जानकारी सही प्रकार से प्राप्त हो सके |

बैंक सखी योजना क्या है ?

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता या कार्यकत्री कैसे बने

Table of Contents



आंगनबाड़ी केंद्रों में पोषण, स्वास्थ्य, शिक्षा से जुडी सुविधा प्रदान करने के लिए Counseling भी कराई जाती है, जिससे इस तरह की सुविधाओं का लाभ अधिकतर बच्चे और महिलाएं उठा सके | इसलिए अधिकतर गांव या बस्ती के बीच आंगनबाड़ी है, जहां केंद्रों की स्थापना की जाती है, जिससे गाँवों के सभी  बच्चे सुरक्षित रहकर खेल सकें और पोषक आहार ग्रहण में उन्हें मदद मिल सके | अभी भी केंद्र सरकार सुचारू रूप से आंगनबाड़ी की व्यवस्था को बेहतर  बनाने के लिए हर तरह की सुविधाएं प्रदान करने की कोशिश करता है | इसलिए आंगनबाड़ी केंद्र में नौकरी पाने के लिए महिलाओं को 5वी से 8वीं या 10वीं में सफलता प्राप्त करना अनिवार्य होता है, जिसके बाद महिलायें आंगनबाड़ी केंद्र के लिए आवेदन फॉर्म भरकर इस पद को प्राप्त कर सकती है |  

बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग के अंतर्गत आंगनबाड़ी में तीन प्रकार के पदों पर भर्ती की जाती है जिसमे आंगनबाड़ी कार्यकत्री, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री व आंगनबाड़ी सहायिका के लिए मानदेय के आधार पर नियुक्ति की जाती है |

ग्राम प्रधान (सरपंच) की शिकायत कैसे करे ?

आंगनबाडी कार्यकर्ता बनने हेतु योग्यता

शैक्षिक योग्यता

  • आंगनबाड़ी कार्यकत्री, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री बनने के लिए आपको नवीनतम जानकारी के अनुसार न्यूनतम 12वी पास होना अनिवार्य है, पहले इस पद के लिए 10वी पास होना अनिवार्य था |
  • वहीँ आंगनबाड़ी सहायिका पद के लिए न्यूनतम 5वी पास होना अनिवार्य है |
img-2

आयु सीमा

  • आंगनबाड़ी कार्यकत्री, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री व आंगनबाड़ी सहायिका पद के लिए अभियार्थी की आयु 21 से 45 वर्ष तक ही होनी चाहिए |
  • यदि आंगनबाड़ी सहायिका से कार्यकत्री पद के लिए आवेदन किया जा रहा है तो इसके लिए अधिकतम आयु 50 वर्ष ही है |
  • आयु सम्बन्धी सत्यापन के लिए आंगनबाड़ी कार्यकत्री, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री पद के लिए हाईस्कूल प्रमाण पत्र तो सहायिका के लिए कक्षा 5वी का स्कूल द्वारा जारी प्रमाण पत्र ही मान्य है |
  • 62 वर्ष की आयु के बाद किसी भी पद पर आसीन महिला की सेवा स्वत: ही समाप्त कर दी जाती है |

ग्राम प्रधान (GRAM PRADHAN) कैसे बने?

आंगनबाड़ी भर्ती नियम

आंगनबाड़ी कार्यकत्री, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री व आंगनबाड़ी सहायिका की भर्ती मेरिट के आधार पर  की जाती है | भर्ती का आधार निष्पक्ष हो व पारदर्शिता रहे, इसलिए भर्ती के लिए निम् नियमो को आधार बनाया जाता है :-

  • पद के लिए आवेदन कर रही महिला आवेदक जो योग्यता को पूर्ण करती हो, ग्रामीण क्षेत्रो में उसी ग्राम सभा व शहरी क्षेत्रो में उसी वार्ड की निवासी हो जिसका सत्यापन निवास प्रमाण पत्र के आधार पर होगा |
  • यदि सहायिका से कार्यकत्री बनने के लिए आवेदन किया हो तो न्यूनतम 10वी पास, सहायिका के तौर पर कम से कम 5 वर्ष कार्य किया हो व आयु 50 वर्ष से कम होनी चाहिए |
  • सहायिका से कार्यकत्री का पदोन्नति करते समय आरक्षण नियमवाली का ध्यान रखा जाएगा |
  • आंगनबाड़ी कार्यकत्री, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री व आंगनबाड़ी सहायिका का चयन करते समय गरीबी रेखा से नीचे वर्ग के लोगो को वरीयता दी जायेगी, जिसका सत्यापन आय प्रमाण पत्र के आधार पर किया जाएगा |
  • यदि उस ग्राम सभा में सहायिका नहीं है तो उसी ग्राम सभा से गरीबी रेखा से नीचे किसी विधवा महिला को वरीयता दी जायेगी |
  • यदि ऐसी कोई विधवा महिला नहीं है तो किसी गरीबी रेखा से नीचे तलाकशुदा महिला को वरीयता दी जायेगी |
  • आंगनबाड़ी कार्यकत्री, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री व आंगनबाड़ी सहायिका के लिए आय व निवास के सम्बन्ध में केवल उपजिलाधिकारी या तहसीलदार द्वारा जारी प्रमाण पत्र ही मान्य होगा |
  • गरीबी रेखा के नीचे का कोई का कोई आवेदक न होने पर गरीबी रेखा से उपर के आवेदक के विषय में विचार किया जाएगा |

आंगनबाडी भर्ती के लिए मेरिट लिस्ट

एक ही श्रेणी में एक से अधिक आवेदन होने पर सभी अभियार्थियो की मेरिट लिस्ट की निकली जायेगी जिसमे 10वी, 12वीग्रेजुएशन में प्राप्त अंको पर विचार किया जाएगा |

  • आवेदक द्वारा प्राप्त प्रतिशत को 10 से विभाजित किया जाएगा तथा जो भी प्राप्त होगा वही अंक मन जाएगा |
  • यदि आपने 10वी में 60 प्रतिशत अंक प्राप्त किये है तो 10 से विभाजित करने के बाद 6 अंक प्राप्त होगा |
  • एक ही अंक प्राप्त करने वाले आवेदकों में से जिसकी आयु ज्यादा होगी, उसे वरीयता दी जायेगी |
  • यदि अंक व आयु सामान हो तो अधिक शैक्षिक योग्यता वाले आवेदक को मेरिट लिस्ट में वरीयता दी जायेगी |

जिलाधिकारी को शिकायत कैसे करे ?

आंगनबाडी कार्यकर्ताओं का मानदेय (Anganwadi Karyakarta Salary)

आंगनबाड़ी कार्यकत्रीयो व सहायिकाओ की भर्ती एक निश्चित मानदेय के आधार पर की जाती है।

पद का नाममानदेय /वेतन
आंगनबाड़ी कार्यकत्री5500 रूपये प्रतिमाह
मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री4250 रूपये प्रतिमाह
आंगनबाड़ी सहायिका3250 रूपये प्रतिमाह

साथ ही सरकार द्वारा हाल में ही तीनो पदों के लिए मानदेय बढाने की घोषणा की गयी है | जल्द ही सरकार द्वारा इसके लिए सरकारी आदेश पास किया जाएगा जिससे सभी आंगनबाड़ी में कार्य करने वाली कार्यकत्रीयो व सहायिकाओ को लाभ मिलेगा |

आंगनवाड़ी की नई सैलरी (घोषित) 2023

पद का नाममानदेय में वृद्धि
आंगनबाड़ी कार्यकत्री5500 से 7000 रूपये प्रतिमाह
मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री4250 से 5500 रूपये प्रतिमाह
आंगनबाड़ी सहायिका3250 से 4000  रूपये प्रतिमाह

यहाँ पर हमने आपको आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बनने के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि इस जानकारी से सम्बंधित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

प्रधानमंत्री जन धन योजना (PMJDY) क्या है