CBI Officer कैसे बने

हम सभी जानते हैं देश में कहीं पर संगीन, आपराधिक मामले की जांच का मुद्दा आता है तो उसमें CBI जरुर हस्तक्षेप करती है और CBI ऑफिसर के न्रेतत्व में पूरी टीम मामले की जड़ तक पहुंचकर समस्या का समाधान भी करती है। इसलिए एक कर्मठ, उत्कृष्ट CBI ऑफिसर बनने का सपना देश में लाखो विधार्थी देखते हैं ऐसे में आज हम इस लेख के माध्यम से हम’CBI ऑफिसर कैसे बने” बेहद सरल शब्दों में जानेंगे।

सामान्य तौर सीबीआई भ्रष्टाचार,घोटाला, मर्डर, रिश्वतखोरी और भारत देश के हितों से संबंधित मामलों की जांच करती है। इंडिया में सीबीआई काफी पॉपुलर इन्वेस्टिगेशन एजेंसी है। इस एजेंसी का हिस्सा आप भी बन सकते हैं। इसके लिए आपको “सीबीआई कैसे बना जाता है” के बारे में जानना होगा। पंरतु उससे पहले आइये जरा जानते हैं!

हेड कांस्टेबल (Head Constable) कैसे बनें

सीबीआई (Central Bureau of Investigation) क्या है?

CBI भारत की एक महत्वपूर्ण सिक्योरिटी जांच एजेंसी है, जो गवर्नमेंट का आदेश प्राप्त होने के बाद किसी भी मामले की जांच करती है। सामान्य तौर पर CBI OFFICER की कोई भी वर्दी नहीं होती है, बल्कि यह सादे कपड़ों में ही अपना काम करते हैं। इन्हें किसी भी काम को करने के लिए सिर्फ गृह मंत्रालय के आदेश को प्राप्त करना होता है।

बता दें पहली बार यह एजेंसीवर्ष 1941 में दुसरे विश्व युद्ध के दौरान अस्तित्व में आई, उस समय सीबीआई मुख्य रूप से लेन-देन में रिश्वतखोरी और भ्रष्टाचार की जांच करती थी। हालांकि जब दूसरा विश्व युद्ध खत्म हो गया, तो उसके बाद भारतीय गवर्नमेंट को इस बात का एहसास हुआ कि गवर्नमेंट ऑफिसर के द्वारा मर्डर-क्राइम, रिश्वत और भ्रष्टाचार जैसे विशेष मामलों से निपटने के लिए एक मजबूत जांच एजेंसी की आवश्यकता है।

इसलिए भारतीय गवर्नमेंट के द्वारा दिल्ली विशेष पुलिस स्थापना अधिनियम को साल 1946 में लागू किया गया। इस अधिनियम का मुख्य उद्देश्य सीबीआई को गृह मंत्रालय के अधीन करना है। इस प्रकार से दिल्ली विशेष पुलिस स्थापना अधिनियम के अंतर्गत सीबीआई भारत की सेंट्रल गवर्नमेंट के गृह मंत्रालय के अंतर्गत आ गई और उसके बाद सार्वजानिक क्षेत्र के सभी डिपार्टमेंट की जांच करने का अधिकार भी सीबीआई को प्राप्त हो गया।

सीबीआई को गृह मंत्रालय के अंतर्गत करने के पूर्व इसे SPECIAL POLICE ESTABLISHMENT  के तौर पर जाना जाता था हालाँकि बाद में नाम में परिवर्तन कर इसका नाम केंद्रीय जांच ब्यूरो यानी कि सीबीआई रखा गया। साल 1969 के आसपास में गवर्नमेंट के आदेश पर सीबीआई के कार्य क्षेत्र में और बढ़ोतरी की गई जिसके पश्चात भारत देश की सभी राष्ट्रीय बैंक को इसके अंडर में कर दिया गया।

सीबीआई (CBI) का फुल फॉर्म क्या है?

CBI का संक्षिप्त नाम CENTRAL BUREAU OF INVESTIGATION (CBI) हैं, जबकि हिंदी भाषा में इसका पूरा नाम केंद्रीय जांच ब्यूरो होता है। हमारे भारत देश के बड़े-बड़े हाई प्रोफाइल केस को हैंडल करने के लिए गवर्नमेंट सीबीआई जांच लगाती है।

इसकी गिनती इंडिया की टॉप क्राईम इन्वेस्टिगेशन एजेंसी में होती है। जब गवर्नमेंट को किसी मामले की उच्च स्तरीय जांच करवानी होती है तो वह सीबीआई को काम पर लगाती है।एक आम आदमी डायरेक्ट सीबीआई जांच नहीं लगा सकता है। हालांकि आम आदमी की रिक्वेस्ट पर गवर्नमेंट सीबीआई को उस मामले की जांच करने का आदेश देगी।

सीबीआई ऑफिसर (CBI Officer) कैसे बने?

एक CBI OFFICER के ऊपर सबसे बड़ी जिम्मेदारी यह होती है कि वह बिना किसी पॉलिटिशियन के दबाव में आए हुए अपना काम करें।

हालांकि इस नौकरी में जितनी जिम्मेदारी होती है, उतना ही मजा भी होता है, क्योंकि सीबीआई ऑफिसर को केस की जांच करने के लिए कहीं पर भी जाने की आवश्यकता जब होती है, तब उसे गवर्नमेंट गाड़ी दी जाती है और वह अपने उच्च अधिकारियों के साथ बिना पुलिस को सूचित किए हुए भी किसी भी व्यक्ति के घर पर भी रेड मार सकते हैं। अगर आप सीबीआई ऑफिसर बनने के इच्छुक है तो नीचे दी प्रक्रिया मे आपको सीबीआई ऑफिसर बनने का तरीका बताया जा रहा है।

  • सीबीआई में आप दो प्रकार से भर्ती हो सकते हैं, जिसमें पहले प्रकार में आपको डायरेक्ट भर्ती होने का मौका मिलता है। सीबीआई की सीधी भर्ती में आपको सबसे पहले तो सब इंस्पेक्टर की पोस्ट प्राप्त होती है और यह पोस्ट आप स्टाफ सिलेक्शन कमीशन के द्वारा करवाई जाने वाली कंबाइन ग्रेजुएशन लेवल (CGL) एग्जाम को पास करके प्राप्त कर सकते हैं। इस एग्जाम को पास करने के पश्चात आप SUB INSPECTOR CBI में बन जाते हैं।
  • सीबीआई बनने के दूसरे तरीके में आप पुलिस के अन्य डिपार्टमेंट में कार्यरत अधिकारियों के अंतर्गत प्रमोशन पाकर के सीबीआई ऑफिसर बन सकते हैं। इसके लिए आपको पुलिस डिपार्टमेंट में शामिल होना पड़ता है और नौकरी करनी होती है और जब 7 साल बीत जाते हैं तब आपका प्रमोशन होता है और आप सीबीआई ऑफिसर बन सकते हैं।

सीबीआई (CBI) का काम क्या होता है?

नीचे दिए गए महत्वपूर्ण काम सीबीआई के जिम्मे होते हैं, जिन्हें वह बखूबी निभाती है।

  • गवर्नमेंट का आदेश पाने पर CBI राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय स्तर पर इंडियन गवर्नमेंट की तरफ से जांच की प्रक्रिया को आगे बढ़ाता है।
  • यह एजेंसी आवश्यकता पड़ने पर गवर्नमेंट ऑफिसर के द्वारा किए गए भ्रष्टाचार और अपराध साथ ही साथ लोक प्रतिनिधियों के द्वारा किए जाने वाले घोटाले की भी जांच करती है।
  • सेंट्रल ब्यूरो आफ इन्वेस्टिगेशन विदेशी मुद्रा, ऐतिहासिक महत्व की चीजों की तस्करी,एक्सपोर्ट इंपोर्ट, नारकोटिक्स, वन्य जीव और मानव अंग को खरीदने बेचने वाले मामले की भी जांच करती है।
  • सीबीआई आतंकवाद, बम विस्फोट, अपहरण, हत्या, इंटरनेशनल क्राइम जैसे मामले की भी जांच करती है।
  • जो भी मामले सीबीआई से संबंधित होते हैं उन्हें स्पेशल कोर्ट में रखा जाता है।

सीबीआई ऑफिसर बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है? [Required Qualification for CBI Officer]

सीबीआई ऑफिसर बनने के लिए किसी स्पेशल कोर्स को नहीं करना होता है। अगर आपने किसी कोर्स को करके ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की है, तो आप सीबीआई ऑफिसर बन सकते हैं या फिर सीबीआई में भर्ती हो सकते हैं। सीबीआई की एग्जाम में जो सब्जेक्ट होते हैं, आपको उन्ही की तैयारी करनी होती है, क्योंकि सब्जेक्ट की तैयारी अच्छे से करने पर ही आप सीबीआई बन सकते हैं।

मुख्य तौर पर सीबीआई की एग्जाम में करंट अफेयर से संबंधित सवाल पूछे जाते हैं। इसके लिए आपको इंटरनेट, अखबार, मैगजिन और किताबों पर बराबर फोकस बना करके रखना चाहिए। इसके अलावा अंग्रेजी भाषा और रिजनिंग भी आपको आनी चाहिए, साथ ही आप चाहे तो बेहतर तैयारी के लिए कोचिंग इंस्टिट्यूट भी ज्वाइन कर सकते हैं।

डीजीपी का मतलब क्या होता है

सीबीआई ऑफिसर बनने के लिए योग्यता [Eligibility for CBI Officer]

नीचे उन योग्यताओं के बारे में बताया जा रहा है, जो सीबीआई ऑफिसर बनने के लिए आपके अंदर होनी चाहिए। अगर आप नीचे दी गई योग्यताओं को पूर्ण करते हैं, तो आप सीबीआई ऑफिसर बन सकते हैं।

  • आपके पास ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए फिर चाहे आपने किसी भी कोर्स को पूरा करके ग्रेजुएशन की डिग्री क्यों ना हासिल की हो।
  • ग्रेजुएशन के अंतिम वर्ष के विद्यार्थी भी सीबीआई की एग्जाम के लिए पात्र होते हैं।
  • सामान्य समुदाय के विद्यार्थियों की उम्र 20 साल से लेकर के 30 साल के बीच में होनी चाहिए।
  • ओबीसी समुदाय के विद्यार्थियों की उम्र 20 साल से लेकर के 33 साल तक होनी चाहिए और अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के विद्यार्थियों की उम्र 20 साल से लेकर 35 साल तक होनी चाहिए।
  • कैंडिडेट की नजर बिल्कुल सही होनी चाहिए, उसे कोई भी नजर दोष नहीं होना चाहिए।
  • आवेदक के अंदर सहनशीलता और निडर रहने का गुण होना चाहिए |
  • कैंडिडेट शारीरिक तौर पर और दिमागी तौर पर मजबूत होना चाहिए।

सीबीआई ऑफिसर बनने के लिए कितनी लंबाई [Height] चाहिए?

आरक्षण को ध्यान में रखते हुए सीबीआई ऑफिसर बनने के लिए गवर्नमेंट के द्वारा अलग-अलग समुदाय के लोगों के लिए अलग-अलग लंबाई का पैमाना तय किया गया है, जो नीचे बताए अनुसार है।

  • पुरुषों की लंबाई 165 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  • महिलाओं की लंबाई 150 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  • आरक्षण की कैटेगरी में आने वाले कैंडिडेट और पहाड़ी इलाके के कैंडिडेट को लंबाई में 5 सेंटीमीटर की छूट मिलती है।
  • पुरुषों के सीने का माप फुलाने पर 76 सेंटीमीटर होना चाहिए। महिलाओं के लिए यह टेस्ट देना आवश्यक नहीं होता है।

सीबीआई की सैलरी कितनी होती है? [CBI Officer Salary Per Month]

सीबीआई ऑफिसर की सैलरी उनके पद के हिसाब से अलग-अलग है। सामान्य तौर पर सीबीआई के किसी छोटे पद पर काम करने वाले व्यक्ति को भी महीने में कम से कम ₹40,000 से लेकर के ₹45,000 तक की सैलरी प्राप्त हो रही है। इसके अलावा जो सीबीआई के डायरेक्टर के पद पर हैं, उनकी महीने की सैलरी 1,00000 से भी अधिक है। इस प्रकार सीबीआई के हर ऑफिसर की सैलरी उसके पद के हिसाब से अलग-अलग होती है।

इन्हें महीने की तनख्वाह के अलावा कुछ अन्य बेनिफिट भी गवर्नमेंट के द्वारा प्राप्त होते हैं। जैसे की इन्हें रिटायरमेंट के बाद पेंशन मिलती है, नौकरी के दरमियान रहने के लिए घर मिलता है, महंगाई भत्ता प्राप्त होता है, यात्रा भत्ता भी मिलता है, साथ ही इंश्योरेंस की सुविधा भी मिलती है। इसके अलावा इन्हें आवागमन के लिए गवर्नमेंट की तरफ से गाड़ी भी दी जाती है।

सीबीआई ऑफिसर की कोई भी वर्दी नहीं होती है। यह सादे कपड़े में ही होते हैं और इनके पास एक आईकार्ड होता है, जिसके जरिए यह अपनी पहचान को प्रमाणित करते हैं। सीबीआई ऑफिसर किसी भी संदिग्ध व्यक्ति को पकड़ सकते हैं या फिर उसके बिजनेस के स्थान पर रेड मार सकते हैं। जब गवर्नमेंट के द्वारा वेतन आयोग लागू किया जाता है तो सीबीआई ऑफिसर की सैलरी भी बढ़ती है।

सीबीआई की चयन प्रक्रिया क्या है? [Selection Process]

जो कैंडिडेट लिखित परीक्षा को पास करने के साथ साथ साक्षात्कार (interview) को भी पास कर लेते हैं, उनका चयन सीबीआई ऑफिसर के पद पर होता है। नीचे जानिए सीबीआई का सिलेक्शन कैसे होता है अथवा सीबीआई ऑफिसर कैसे बनते हैं।

डीएसपी (DSP) कैसे बनें

परीक्षा पैटर्न

टियर I

  • सामान्य बुद्दिमता और तर्कशक्ति: इसके 25 प्रश्न आते हैं और अधिकतम अंक 50 होते हैं।
  • सामान्य जानकारी:इसके 25 प्रश्न होते हैं और अधिकतम अंक 50 होते हैं।
  • परिमाणात्मक अभिरुचि: इसके 25 सवाल होते हैं और अधिकतम अंक 50 होते हैं।
  • अंग्रेजी परिज्ञान: इसके 25 प्रश्न होते हैं और अधिकतम अंक 50 होते हैं।

सामान्य बुद्धिमत्ता और तर्कशक्ति, सामान्य जानकारी, परिमाणात्मक अभिरुचि और अंग्रेजी परिज्ञान को देने के लिए 60 मिनट का समय मिलता है।

टियर II

  • II पेपर I परिमाणात्मक क्षमता: इसमें 100 प्रश्न होते है, जिसके लिए अधिकतम अंक 200 होते हैं। इसके पेपर को देने के लिए 120 मिनट का समय मिलता है।
  • पेपर II अंग्रेजी भाषा तथा परिज्ञान : इसमें 200 क्वेश्चन होते हैं जिनके अधिकतम अंक 200 होते हैं। इस पेपर को देने के लिए 120 मिनट की अवधि होती है।

टियर III परीक्षा पैटर्न

इसमें निबंध/सार अथवा आवेदन पत्र लिखना होता है जिसका अधिकतम अंक 100 होता है और इसे देने के लिए 60 मिनट का समय मिलता है।

इंटरव्यू

परीक्षा के सभी चरणों को पास करने के पश्चात सीबीआई ऑफिसर बनने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। जब इंटरव्यू में व्यक्ति शामिल होता है, तब उसके सामने इंटरव्यू पैनलिस्ट बैठे होते हैं और उनके सामने बैठ कर के ही इंटरव्यू पैनलिस्ट के द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालों का जवाब कैंडिडेट को अपनी बुद्धि विवेक के अनुसार देना होता है।

इंटरव्यू में मुख्य तौर पर व्यक्ति के व्यक्तित्व और उसकी मानसिक क्षमता का आकलन इंटरव्यू पैनलिस्ट के द्वारा किया जाता है। इंटरव्यू खत्म होने के पश्चात सफल कैंडिडेट की सबसे आखरी वाली लिस्ट क्रिएट की जाती है और उसी लिस्ट के हिसाब से जिन विद्यार्थियों को या फिर कैंडिडेट को अच्छी रैंक प्राप्त होती है, उनका सिलेक्शन होता है।

सीबीआई ऑफिसर के लिए आवेदन कैसे करें?

जब कभी सीबीआई में भर्ती की आवश्यकता होती है तब स्टाफ सिलेक्शन कमीशन के द्वारा कंबाइंड ग्रेजुएशन लेवल परीक्षा को करवाया जाता है। इस परीक्षा में जो अभ्यर्थी शामिल होते हैं और परीक्षा को पास करते हैं, उन्हें आगे के चरण में शामिल होने का मौका मिलता है। इस प्रकार से सीबीआई की भर्ती जब कभी भी निकले, तब आपको एसएससी की ऑफिशियल वेबसाइट HTTP://SSC.NIC.IN/ पर जाकर के अप्लाई करना होता है।

यहां से आप परीक्षा से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, साथ ही परीक्षा के फॉर्म को भी ऑनलाइन भर सकते हैं। आपको यहां पर एडमिट कार्ड भी प्राप्त होता है, जिसे प्राप्त करने के पश्चात आप निश्चित तारीख को परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

सीबीआई ऑफिसर बनने हेतु गुण

एक सीबीआई ऑफिसर को हमेशा अलग-अलग प्रकार की परिस्थितियों के लिए तैयार रहना होता है। इसलिए उसके अंदर कुछ विशेष क्वालिटी भी होनी चाहिए, जो नीचे बताए अनुसार है।

  • उसका माइंड तेज होना चाहिए, ताकि वह किसी भी प्रकार की परिस्थिति में उसे कौन सा निर्णय लेना है, इसके बारे में तुरंत ही सोच सके।
  • शारीरिक तौर पर भी एक सीबीआई ऑफिसर बनने की इच्छा रखने वाले व्यक्ति को फिट होना चाहिए अर्थात वह चुस्त-दुरुस्त होना चाहिए।
  • कैंडिडेट के अंदर सहनशीलता भी होनी चाहिए और किसी भी परिस्थिति के अंदर उसे अपना आपा नहीं खोना चाहिए।
  • उसके अंदर मानसिक सतर्कता भी होनी चाहिए।
  • कैंडिडेट के अंदर ध्यान एकाग्र करने की क्षमता भी होनी चाहिए।
  • उसके अंदर अवलोकन करने के गुण भी होने चाहिए।
  • कैंडिडेट को हमेशा लंबी यात्रा करने के लिए भी तैयार रहना चाहिए, क्योंकि अक्सर सीबीआई ऑफिसर को केस के मामले में यहां वहां जाना पड़ता है।
  • उसके अंदर खतरनाक इलाके में भी काम करने का साहस होना चाहिए।
  • कैंडिडेट के अंदर बहादुरी होनी चाहिए ताकि वह बिना किसी प्रेशर के अपने काम का ईमानदारी से निर्वहन कर सकें।

सीबीआई में कितने पद होते हैं?

जिस प्रकार सेंट्रल पुलिस सर्विस में अनेक पद होते हैं या फिर स्टेट गवर्नमेंट की पुलिस में अनेक पद होते हैं, उसी प्रकार सीबीआई के अंदर भी आपको कांस्टेबल से लेकर के डायरेक्टर जैसे अनेक पद मिलते हैं। नीचे जानिए सीबीआई के महत्वपूर्ण पदों के नाम।

  • कॉन्स्टेबल |
  • हेड कांस्टेबल |
  • सब इंस्पेक्टर |
  • असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर |
  • इंस्पेक्टर |
  • एडीशनल सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस |
  • सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस |
  • सीनियर सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस |
  • डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस |
  • एडिशनल डायरेक्टर |
  • जॉइंट डायरेक्टर |
  • स्पेशल डायरेक्टर |
  • डायरेक्टर |

सीबीआई का फॉर्म कब आता है?

सीबीआई भर्ती का फॉर्म आने की कोई भी निश्चित तारीख नहीं होती है। जब गवर्नमेंट को सीबीआई में भर्ती करने की इच्छा होती है तब सीबीआई भर्ती की तैयारी चालू की जाती है। उसके बाद अखबारों में या फिर इंटरनेट के जरिए भर्ती का नोटिफिकेशन जारी किया जाता है, साथ ही साथ भर्ती हेतु एग्जाम करवाने वाली एजेंसी का भी चयन किया जाता है। इस प्रकार जब पूरा सेटअप हो जाता है तब सीबीआई भर्ती के फॉर्म को भरने के लिए ऑनलाइन वेबसाइट जारी की जाती है, जिस पर विजिट करके व्यक्ति सीबीआई भर्ती का फॉर्म भर सकता है।

एसपी (SP) कैसे बने

Leave a Comment