मर्चेंट नेवी में क्या होता है

देश में पढ़ने वाले सभी अभ्यर्थी अपने जीवन में एक अच्छी नौकरी प्राप्त करना चाहते हैं, जिसके लिए वो अत्याधिक परिश्रम भी करते है और फिर एक दिन अधिक मेहनत करने वाले अभ्यर्थी अपनी मन पसंद की नौकरी प्राप्त करने में कामयाब हो जाते हैं | इसी तरह बहुत से अभ्यर्थी ऐसे होते हैं, जिन्हे घूमना बेहद पसंद होता है इसलिए वो एक ऐसी नौकरी की तलाश में रहते हैं जिससे उन्हें बाहर रहकर नौकरी करनी पड़ी |

इसी तरह की नौकरी प्राप्त करने वाले कुछ अभ्यर्थी मर्चेंट नेवी की नौकरी प्राप्त करना चाहते है | यह एक ऐसी नौकरी है, जिसमें  काम करने वाले लोगों को एडवेंचर के नाम से जाना जाता है और मर्चेंट नेवी में काम करने वाले सदस्यों को अपना अधिकांश समय समुद्र में व्यतीत करना होता  है | यदि आप भी  समुद्र के बीच में रहना पसंद करते है और मर्चेंट नेवी के विषय में जानना चाहते हैं, तो यहाँ पर आपको मर्चेंट नेवी में क्या होता है , मर्चेंट नेवी में कैसे जाये, योग्यता, वेतन की जानकारी प्रदान की जा रही है |

पीसीएस (PCS) परीक्षा की तैयारी कैसे करे?

मर्चेंट नेवी क्या होता है ?

मर्चेंट नेवी में हर तरह के व्यापारिक जहाज होते हैं, जिनमे लोगों को काम करना होता है |  समुद्र में समुद्री यात्री जहाज , मालवाहक जहाज, तेल टैंकर वाले जहाज होते  हैं । इन जहाजों में कार्य करने वाले सदस्यों को परिचालन, तकनिकी रखरखाव, यात्रियों की सर्विस से सम्बन्धी कार्यों, माल लोडिंग, अनलोडिंग कई ऐसे कार्य करने होते है क्योंकि, यहाँ पर कई  कुशल कर्मचारियों की आवश्यकता होती है | इसमें नौकरी करने के लिए पहले कर्मचारियों को ट्रेनिंग  दी जाती है  इसके बाद जब उन्हें उनके काम की पूरी जानकारी प्राप्त हो जाती है , तो उन्हें जहाज पर जाने का मौका प्रदान कर दिया जाता है।  

मर्चेंट नेवी कैसे ज्वाइन करे ? 

मर्चेंट नेवी की नौकरी प्राप्त करने के लिए भारत में कई यूनिवर्सिटी है जिसके द्वारा मर्चेंट नेवी कोर्स का संचालन किया जाता है, आप उन यूनिवर्सिटी में प्रवेश लेकर इसकी अच्छे से तैयारी कर सकते है |

मर्चेंट नेवी में जाने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए ?

मर्चेंट नेवी में करियर बनाने के इच्छुक अभ्यर्थी  दसवीं पास  होने के बाद मर्चेंट नेवी में डिप्लोमा जिसमे प्री सी ट्रेनिंग फॉर पर्सनल, डेक रेटिंग, इंजन रेटिंग,सलून रेटिंग आदि विषय होते हैं  उसमें प्रवेश लेकर कर सकते हैं। इसके बाद 12 वीं में सफलता प्राप्त कर लेने  वाले छात्र नॉटिकल साइंस, मरीन इंजीनियरिंग, स्नातक मैकेनिकल इंजीनियर का कोर्स  करके इस नौकरी को प्राप्त कर सकते है | वहीं ग्रेजुएशन में  पचास प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले उम्मीदवार की आयु 28 वर्ष से कम है, तो वह मर्चेंट नेवी के कई क्षेत्रों में  नौकरी प्राप्त कर सकता हैं।  

पायलट कैसे बने ?

मर्चेंट नेवी में  जॉब के लिए पद 

मर्चेंट नेवी में कई पदों पर अभ्यर्थियों की भर्ती  की जाती है, जो इस प्रकार है-

  • रेडियो अफसर |
  • इलेक्टिकल ऑफिसर |
  • नॉटिकल सर्वेयर |
  • पायलट ऑफ़ शिप |
  • उप कप्तान |
  • कप्तान |

मर्चेंट नेवी के लिए प्रमुख संसथान

  1. मेरीटाइम फाउंडेशन चेन्नई |
  2. इंडियन मेरीटाइम यूनिवर्सिटी चेन्नई |
  3. कोयमबटूर मरीन सेंटर कोयमबटूर |
  4. समुद्र इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैरीटाइम मुंबई |
  5. ट्रेनिंग शिप चाणक्य मुंबई |
  6. तोलानी मैरीटाइम इंस्टिट्यूट दिल्ली |
  7. इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड मरीन इंजीनियरिंग कोलकाता |
  8. महाराष्ट्र अकादमी ऑफ़ नेवल एजुकेशन एंड ट्रेनिंग पुणे |

कोर्स की अवधि

मर्चेंट नेवी में उम्मीदारों  को छ: माह से तीन वर्ष के बीच कोर्स करना होता है | इसके अलावा यह उम्मीदवार के पद को निर्धारित किया जाता है |

कोर्स की फीस

सरकार द्वारा अनुदानित संस्थान में एक वर्ष की इसकी फीस 1.5 लाख तक हो सकती है, प्राइवेट कॉलेज में इसकी फीस अनुमानित 3,00,000 तक हो सकती है |

सैलरी या वेतन

इस कोर्स को करने के पश्चात उम्मीदारों को शुरुआत में  12,000 से 8 लाख सैलरी प्रदान की जा सकती है और यदि आप समुद्री इंजिनियर के रूप में कार्य कर रहें है, तो समुद्री इंजिनियर के रूप में कार्य करने वाले अभ्यर्थियों को  प्रतिमाह 1.5 लाख रूपये वेतन प्रदान किया जाता है |

यहाँ पर हमने आपको मार्चेंट नेवी के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | इसके साथ ही आप अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो www.hindiraj.com पर विजिट करे |

सरकारी बैंक में क्लर्क कैसे बने?