Nurse Kaise Bane

अगर आप मेडिकल के क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं और आपको घायल, जख्मी लोग की सेवा करने में खुशी प्राप्त होती है तो आप एकदम सही करियर विकल्प की खोज में है। इस क्षेत्र में नर्स एक सबसे महत्वपूर्ण प्रोफेशन है लेकिन इसमें उतनी ही जिम्मेदारियां निभानी पड़ती है।

आज हम नर्स यानि नर्सिंग कैरियर के बारे में बात कर रहे हैं। नर्स ऐसे प्रोफेशनल होते हैं जिन्हें बीमार और घायल मरीजों की देखरेख करने के लिए ट्रेंड किया जाता है। इस पोस्ट के माध्यम से नर्स के बारे में सारी जानकारी जैसे नर्स (Nurse) क्या होती है ? Nurse Kaise Bane – योग्यता, वेतन व कोर्स फ़ीस | नर्स क्या काम करती है इत्यादि के बारे में विस्तार से बताने जा रहे है।

एएनएम (ANM) क्या होता है

नर्स (Nurse) क्या होता है?

Table of Contents

ऐसी महिला स्टाफ जो घायल और जख्मी मरीज की देखरेख करती है उन्हे नर्स कहा जाता है। नर्स डॉक्टर और अन्य स्टाफ के साथ मिलकर मरीजों के ठीक होने में उनकी मदद करती हैं और उन्हें जल्दी से स्वस्थ्य होने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

कोई भी हॉस्पिटल या बड़ा क्लीनिक नर्स के बिना नहीं चल सकता है। चूंकि डॉक्टर का काम केवल इलाज करना होता है जबकि नर्स इलाज के बाद मरीज की सही देखरेख और उन्हें जल्दी स्वस्थ रखने में मदद करती है।

नर्स (Nurse) क्या काम करती है?

  • नर्स का काम मरीजों के इलाज में डॉक्टरों का सहयोग करना होता है। इसके अलावा डॉक्टर के द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला सभी उपकरणों की देखभाल करना होता है।
  • मरीज को नियमित रूप से चेकअप करके उनके जांच और स्थिति की रिपोर्ट बनाकर डॉक्टर को अवगत कराना होता है। ताकि मरीजों की स्थिति के अनुसार डॉक्टर उनका इलाज कर सके।
  • इसके अलावा नर्स मरीजों के परिजन को वर्तमान स्थिति से अवगत करवाते है। क्योंकि मरीज के परिजन ज्यादा इमोशनल होते हैं इसलिए उन्हें सही जानकारी देना नर्स का काम होता है।
  • इसके अलावा नर्स प्रशासनिक कार्य को भी करती है। जिसके तहत डॉक्टर द्वारा लिखी गई जांच की रिपोर्ट चेक करना, हॉस्पिटल बिल तैयार करना इत्यादि कार्य होता है।

नर्स (Nurse) के अन्य कार्य और जिम्मेदारियां

  • मरीजों को नियमित चेकअप करना |
  • डॉक्टर द्वारा लिखा गया ट्रीटमेंट प्लांट को पूरा करना |
  • मरीजों के ब्लड सैंपल पल्स तापमान और ब्लड प्रेशर चेक करना |
  • मरीजों को सुई (इंजेक्शन) देना |
  • मरीजों की हालत बिगड़ने पर तुरंत डॉक्टर को बताना |
  • ऑपरेशन से पहले मरीजों को तैयार करना |
  • मरीजों की मेडिकल हिस्ट्री का रिपोर्ट तैयार करना |
  • परिजन को मरीज की स्थिति और डायग्नोसिस के बारे में जानकारी प्रदान करना |

नर्स (Nurse) की योग्यता

नर्स (Nurse) बनने की योग्यता की बात करें तो हर वह व्यक्ति नर्स बन सकता है जिसने 12वीं कक्षा साइंस स्ट्रीम में 50% मार्क्स के साथ 12वीं पास की हो, इसके अलावा नर्स बनने की योग्यता अलग-अलग कोर्स के अनुसार तय होती है।

नर्स (Nurse) बनने के लिए आपके पास नर्सिंग डिग्री होना बेहद जरूरी है।

अगर आप नर्स बनना चाहते हैं तो आपकी उम्र 17 वर्ष से अधिक और 35 वर्ष से कम होनी चाहिए। नर्स की उम्र सीमा अलग-अलग कोर्स के लिए भिन्न भिन्न हो सकती है।

नर्स (Nurse) कितने प्रकार के होते हैं?

नर्स के कई प्रकार होते हैं जो कि उनके काम पर निर्भर करते हैं।

  • जनरल नर्स |
  • ट्रॉमा नर्स |
  • डायलिसिस नर्स |
  • एंबुलेंस नर्स |
  • होमकेयर नर्स |
  • ट्रांसपोर्ट नर्स |
  • इत्यादि |

नर्स (Nurse) बनने के लिए कौन कौन कोर्स है?

नर्सिंग करने के लिए कई कोर्स ऑप्शन होते हैं जैसे- ANM, GNM, B.sc और M.Sc। आप इनमें से कोई भी कोर्स पूरा करके नर्स बन सकते हैं। इन सभी कोर्स के बारे में विस्तार से जानकारी नीचे दी गई है।

ANM ( Auxiliary Nurse Midwifery)

एएनएम नर्सिंग के क्षेत्र में सबसे लोकप्रिय कोर्स माना जाता है। यह कोर्स केवल लड़कियां कर सकती है। यह 2 साल का डिप्लोमा कोर्स है जिसमें 6 महीने की इंटर्नशिप करवाई जाती है। अगर आप 12वीं कक्षा में साइंस स्ट्रीम से परीक्षा पास कर चुके हैं तो इस कोर्स को पूरा करके नर्स बन सकते हैं।

ANM फुल फॉर्म – एएनएम का फुल फॉर्म “Auxiliary Nurse Midwifery” होता है।

योग्यता – इस कोर्स को पूरा करने के लिए 12 वीं पास होना बेहद जरूरी है। इसके अलावा 12वीं के बोर्ड परीक्षा में 50% से ज्यादा मार्क्स प्राप्त करने होते हैं। इस कोर्स के लिए एंट्रेंस एग्जाम के द्वारा नामांकन दिया जाता है इसलिए एंट्रेंस एग्जाम पास करना बेहद जरूरी है।

आयु – इस कोर्स के लिए न्यूनतम आयु 17 वर्ष है जबकि अधिकतम आयु 35 वर्ष से कम होना चाहिए।

जॉब प्रोफाइल – इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप होम नर्स, कम्युनिटी हेल्थ वर्कर, हेल्थ विजिटर, बेसिक हेल्थ वर्कर और रूलर हेल्थ वर्कर के रूप में कार्य कर सकते हैं।

GNM (General Nursing & Midwifery)

जीएनएम नर्सिंग के क्षेत्र में डिप्लोमा कोर्स होता है। इस कोर्स को पूरा करने में 3 साल का समय लगता है जिसमें 6 महीने की इंटर्नशिप शामिल होती है। इस कोर्स को लड़का एवम लड़की दोनों पूरा कर सकते हैं। इस कोर्स में भी एंट्रेंस एग्जाम के द्वारा नामांकन किया जाता है।

योग्यता – इस कोर्स को करने के लिए 12 वीं पास होना अति आवश्यक है। जबकि इस कोर्स को पूरा करने के लिए अंग्रेजी विषय के साथ साइंस स्ट्रीम में 50% से ज्यादा मार्क्स हासिल करने होते हैं।

आयु – इस कोर्स के लिए न्यूनतम आयु 17 वर्ष और अधिकतम आयु 35 वर्ष निर्धारित की गई है।

B.Sc Nursing (Bachelor of Science in Nursing)

अगर आप नर्स बनने के लिए बैचलर कोर्स करना चाहते हैं तो बीएससी नर्सिंग का कोर्स बेहतर ऑप्शन हो सकता है। इस कोर्स की अवधि 4 साल होती है जिसमें इंटर्नशिप भी शामिल होती है।

योग्यता – इस कोर्स के लिए भी 12 वीं पास होना जरूरी है। आवेदक को 12वीं में 55% से अधिक अंक प्राप्त करने होते हैं। इस कोर्स को पूरा करने के लिए 12वीं कक्षा में साइंस स्ट्रीम के साथ अंग्रेजी जरूरी है। इस कोर्स में नामांकन के लिए एंट्रेंस एग्जाम पास करना जरूरी होता है।

आयु – बीएससी नर्सिंग के लिए न्यूनतम आयु 17 वर्ष है जबकि अधिकतम आयु 35 वर्ष निर्धारित है।

नर्स का कोर्स करने में कितनी फीस लगती है?

 अलग-अलग कॉलेज और यूनिवर्सिटी में nursing कोर्स की फीस भिन्न भिन्न होती है। गवर्नमेंट कॉलेज में प्राइवेट कॉलेज के मुकाबले फीस कम लगती है वहीं गवर्नमेंट कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम के द्वारा ही नामांकन दिया जाता है जबकि प्राइवेट कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन मिलता है।

ANM कोर्स फीस – नर्स बनने के लिए सबसे लोकप्रिय कोर्स एएनएम कोर्स की फीस सरकारी कॉलेज में अनुमानतः 3-4 हजार रुपया होती है जबकि प्राइवेट कॉलेज में लगभग 10 हजार रुपया होता है।

GNM कोर्स फीस – अगर आप जीएनएम का कोर्स सरकारी कॉलेज के माध्यम से करना चाहते हैं तो लगभग 30 हजार फीस लग सकती है जबकि प्राइवेट कॉलेज की फीस लगभग एक लाख तक होती है।

B.Sc Nursing कोर्स फीस – अगर आप बीएससी नर्सिंग कोर्स करके नर्स बनना चाहते हैं तो सरकारी कॉलेज की फीस लगभग 30 हजार और प्राइवेट कॉलेज की फीस लगभग 1 लाख तक होता है।

नर्स (Nurse) के लिए कौन-कौन से स्किल होना चाहिए?

धैर्य– नर्स का प्रोफेशन एक नोबल प्रोफेशन की तरह होता है जिसमें हर दिन अलग-अलग तरह के मरीजों के साथ डील करनी होती है। ऐसे में सबसे पहले आप में पेसेंस यानि धैर्य का होना बहुत जरूरी है क्योंकि इस प्रोफेशन की सबसे पहली जरूरत पैसेंस ही है।

कम्युनिकेशन स्किल – नर्स बनने के लिए आपके अंदर कम्युनिकेशन स्किल होनी चाहिए। मरीज की देखभाल से लेकर उसकी आवश्यकताओं को समझने में यह कला बेहद अहम भूमिका निभाती है।

नॉलेज – नर्स बनने के लिए मेडिकल के क्षेत्र में नॉलेज होना बेहद जरूरी है।

जीएनएम (GNM) कोर्स क्या है

नर्स (Nurse) कैसे बने ?

अगर आप नर्स (Nurse) बनकर लोगों की सेवा करना चाहते हैं और समझ में नहीं आ रहा है कि नर्स कैसे बन सकते हैं तो नीचे दिए गए चरणों को जानकर एवम अपने जीवन में इन्हें लागू कर आप भी आसानी से नर्स बन सकते हैं।

  • नर्स बनने के लिए सबसे पहले दसवीं में पास होना बहुत जरूरी होता है। क्योंकि दसवीं पास करने के बाद ही आप 11वीं और 12वीं में नामांकन ले पाएंगे।
  • दसवीं पास करने के बाद 11वीं और 12वीं में साइंस स्ट्रीम के माध्यम से पढ़ाई करनी होती है। जिसमें फिजिक्स केमिस्ट्री बायोलॉजी के साथ मैथ की पढ़ाई करना जरूरी है।
  • 12वीं के बोर्ड में 55% अंक के साथ परीक्षा पास करना पड़ेगा।
  • 12वीं पास करने के बाद ऊपर दिए गए नर्सिंग कोर्स में से किसी एक कोर्स का चयन करना होगा। जिसमें आप नामांकन करवाना चाहते हैं।
  • नर्सिंग कोर्स में नामांकन के लिए एंट्रेंस एग्जाम पास करना होता है। जिसे आप कठिन मेहनत की बदौलत पास कर सकते हैं।
  • नर्सिंग कोर्स को पूरा करने के बाद कम से कम 6 महीने का इंटर्नशिप करना बेहद जरूरी है।
  • इंटर्नशिप करने के बाद संबंधित कॉलेज आपको नर्सिंग डिग्री प्रदान करता है जिसके बाद आप नर्स के लिए योग्य माने जाएंगे।
  • अब किसी भी हॉस्पिटल या सरकार के द्वारा जारी की गई नर्सिंग वैकेंसी के लिए आवेदन करें और आसानी से जॉब पाएं।

नर्स (Nurse) बनने के बाद करियर स्कोप

  • पूरी दुनिया में आए दिन हॉस्पिटल, नर्सिंग होम, ट्रॉमा सेंटर, क्लिनिक की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। जिसकी वजह से नर्स की डिमांड भी बढ़ रही है। इस कोर्स को करने के बाद आप बेरोजगार नहीं रह सकते हैं।
  • नर्सिंग कोर्स करने के बाद आप सरकारी और प्राइवेट सेक्टर में जॉब कर सकते हैं इसके लिए समय-समय पर रिक्रूटमेंट होती रहती है।
  • इसके अलावा अगर आप नर्सिंग का कोर्स पूरा कर चुके हैं तो प्राइवेट हॉस्पिटल, नर्सिंग होम्स, ट्रॉमा सेंटर, वृद्धाश्रम, अनाथ आश्रम, क्लिनिक्स, आर्मी सेंटर, एयर फोर्स सेंटर और नेवी सेंटर में जॉब कर सकते हैं।
  • नर्सिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद भारत के अलावा विदेशों में भी नौकरी के अपार अवसर मौजूद हैं।

नर्स (Nurse) बनने के लिए कौन-कौन एंट्रेंस एग्जाम है

अगर आप नर्सिंग का कोर्स सरकारी कॉलेज के द्वारा करना चाहते हैं तो आपको एंट्रेंस एग्जाम पास करना होगा इसके बाद आपको मेरिट के आधार पर एडमिशन दिया जाता है। नीचे भारत के प्रमुख एंट्रेंस एग्जाम की सूची दी गई है |

  • एम्स बीएससी नर्सिंग एंट्रेंस एग्जाम |
  • बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी नर्सिंग एंट्रेंस एग्जाम |
  • जेआईपीएम यार नर्सिंग एंट्रेंस एग्जाम |
  • आर्मी कॉलेज ऑफ नर्सिंग जालंधर एंट्रेंस एग्जाम |
  • किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी नर्सिंग एंट्रेंस एग्जाम |
  • हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी नर्सिंग एंट्रेंस एग्जाम |
  • हेमवती नंदन बहुगुणा यूनिवर्सिटी नर्सिंग एंट्रेंस एग्जाम |
  • पंजाब पैरामेडिकल एंट्रेंस एग्जाम |

जॉब प्रोफाइल

  • नर्स |
  • सीनियर नर्स |
  • असिस्टेंट नर्सिंग सुपरीटेंडेंट |
  • स्टाफ नर्स |
  • पेडियाट्रिक नर्स |
  • नर्सिंग सुपरवाइजर |
  • पेशेंट केयर कोऑर्डिनेटर |
  • मेडीकल रिकॉर्ड टेक्निशियन |
  • इत्यादि |

नर्स (Nurse) का कोर्स करवाने वाली प्रमुख भारतीय कॉलेज

किसी भी क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए एक अच्छे संस्थान से शिक्षा हासिल करना अति महत्वपूर्ण माना जाता है, अतः नर्सिंग कोर्स के लिए आप दिए गए कॉलेज के द्वारा पढ़ाई संपन्न कर सकते है।

  • मद्रास मेडिकल कॉलेज चेन्नई |
  • किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी लखनऊ |
  • आर्म्ड फोर्सेस मेडिकल कॉलेज |
  • गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी नई दिल्ली |
  • श्री शंकराचार्य कॉलेज नर्सिंग भिलाई |
  • भारती विद्यापीठ कॉलेज ऑफ नर्सिंग पुणे |
  • बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी |
  • इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी नई दिल्ली |
  • डॉ राम मनोहर लोहिया अस्पताल स्कूल ऑफ नर्सिंग नई दिल्ली |
  • एमजीइस कॉलेज ऑफ नर्सिंग तमिल नाडु |
  • दिल्ली पैरामेडिकल एंड मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट नई दिल्ली |
  • अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान कॉलेज ऑफ नर्सिंग नई दिल्ली |
  • अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान कॉलेज ऑफ नर्सिंग पटना |
  • लोकमान्य तिलक मेडिकल कॉलेज मुंबई |
  • इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल एंड रिसर्च कोलकाता |
  • केएनएच मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल भागलपुर |
  • आयुष एंड हेल्थ साइंस यूनीवर्सिटी रायपुर |
  • छत्रपति शाहूजी महाराज मेडिकल कॉलेज लखनऊ |

नर्स (Nurse) की सैलेरी

नर्स (Nurse) का कोर्स कर चुके हैं या कोर्स करना चाहते हैं तो नर्स बनने के बाद कितना वेतन मिलता है यह सवाल आपके मन में जरूर उत्पन्न होता होगा। देखिए, नर्स का वेतन उनके एक्सपीरियंस के अनुसार दिया जाता है। शुरुआत में आपको 10 हजार से 15 हजार प्रति महीने की सैलरी मिल सकती है।

परन्तु समय के साथ अपनी जिम्मेदारियों को समझते हुए जैसे जैसे आप इस क्षेत्र में अनुभव प्राप्त करते जाएंगे वैसे वैसे आपकी सैलरी में भी बढ़ोत्तरी की जाती है। आप अनुभव प्राप्त करने के बाद 30 हजार से 50 हजार रूपए तक कमा सकते है।

नर्स से संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

एन एम कोर्स की फीस कितनी है?

ANM कोर्स की फीस 8000 से ₹30000 रुपए, जबकि जीएनएम कोर्स की हॉस्टल फीस 30 हजार से 1 लाख है वहीं बीएससी नर्सिंग की फीस 30 हजार से एक लाख है।

नर्स कैसे बने?

नर्स बनने के लिए एएनएम जीएनएम और बीएससी नर्सिंग का कोर्स पूरा करना पड़ता है।

नर्स को वेतन कितना मिलता है?

नर्स का वेतन उनके अनुभव के आधार पर निर्धारित होता है। नर्स की हॉस्टल सैलरी 25 हजार से 70 हजार रुपया प्रति महीना होती है।

BNYS Course क्या है ?

Leave a Comment