OT Technician Kaise Bane

काफी लोग ऐसे हैं जो मेडिकल के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं और एक OT Technician (Operation Theatre Technician) बनना चाहते हैं। लेकिन कम जानकारी होने की वजह से उनका दिमाग हमेशा इस असमंजस में रहता है कि क्या हमें OT बनना चाहिए या नहीं। इन्हीं दुविधाओं को दूर करने के लिए इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं कि OT कैसे बनें।

OT बनने के लिए आपको अच्छी खासी मेहनत करनी पड़ती है और कई प्रक्रियाओं को फॉलो करना पड़ता है। अगर आप जल्द ही OT बनने के लिए तैयारी शुरू कर देते हैं तो आपको ज़्यादा समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा और आप एक सफल Operation Technician (OT) बन पाएंगे।

OT Technician क्या है?

OT technician का फुल फॉर्म आपरेशन थिएटर टेकनीशियन होता है जो कि ऑपरेशन थिएटर में डॉक्टर के सहायक के रूप में काम करता है। इसमें OT technician का काम ऑपरेशन से पहले इस्तेमाल किये जाने वाले उपकरणों की जांच करके तैयार रखना और ऑपरेशन के समय डॉक्टर की सहायता करना होता है।

इसके अलावा OT Technician के और भी कई काम होते हैं जैसे कि समय समय पर ऑपरेशन थिएटर की साफ़ सफाई करवाना होता है।  OT Technician में कई प्रकार के कोर्स होते हैं जिसे करके आप OT Technician के क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं।

लैब टेक्नीशियन (Lab Technician) कैसे बने ?

OT Technician बनने के लिए कोर्स   

OT Technician बनने के लिए कई प्रकार के कोर्स करवाए जाते हैं जिन्हें पूरा करके आप एक OT Technician बन सकते हैं। एक सरकारी कॉलेज में OT Technician के लिए एडमिशन लेने के लिए आपको प्रवेश परीक्षा से गुज़ारना पड़ता है जिसमें मिले अंकों के आधार पर आपको एडमिशन मिलती है।

बात करें प्राइवेट कॉलेज की तो उसमें OT Technician के कोर्स के लिए आपको डायरेक्ट एडमिशन मिल जाती है पर 12वीं में आपके पास अंकों के आधार पर आपको एडमिशन मिल जाती है। इनमें से कुछ कोर्स इस प्रकार हैं:-

  • डिप्लोमा इन ओटी टेक्नीशियन |
  • बीएससी या बैचलर इन ओटी टेक्नीशियन |
  • एमएससी या मास्टर इन ओटी टेक्नीशियन |

OT Technician के कोर्स के लिए योग्यता

कुछ योग्यताऐं होती हैं जिन्हे पूरा करने पर आप OT Technician के कोर्स में प्रवेश कर सकते हैं। इन योग्यताओं के पूरा होने के बाद ही OT Technician के कोर्स में एडमिशन का प्रयास करें ताकि बाद में आपको किसी समस्या का सामना ना करना पड़े।

  • 12वीं कक्षा में कम से कम 45 प्रतिशत अंक प्राप्त होनी चाहिए।
  • 12वीं कक्षा साइंस स्ट्रीम में की हुई होनी चाहिए।
  • जो विद्यार्थी मास्टर्स डिग्री करना चाहते हैं उनके पास OTT में बैचलर्स की डिग्री होनी चाहिए।

OT Technician के कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा

भारत बहुत सारे ऐसे कॉलेज हैं जो हर साल OT Technician के कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन करते हैं और विद्यार्थियों को उनके अंकों के आधार पर OT Technician कोर्स के लिए एडमिशन देते हैं। उनमें से कुछ परीक्षाओं के बारे में हम निम्न बता रहे हैं और अगर आप यह जानना चाहते हैं कि यह परीक्षाएं कब होती हैं तो इनके बारे में आपको इंटरनेट पर रिसर्च कर लेनी चाहिये।

  • NIMS School of Paramedical Sciences and Technology Entrance Exams.
  • Tech Mahindra SMART Academy for Healthcare Entrance Exams.
  • Chitkara School of Health Sciences Entrance Exam.
  • University of Technology Entrance Exams.

एमबीबीएस, एमडी का मतलब क्या होता है ?

OT Technician कोर्स की Fees

Fees की अगर हम बात करें तो OT Technician के डिप्लोमा कोर्स की फीस लगभग 5000 से लेकर 7000 रूपये तक हो सकती है वहीँ बीएससी इन OT Technician के कोर्स के लिए इसकी फीस लगभग 30,000 रूपये से लेकर 60,000 रूपये तक हो सकती है।

यहां पर आपको यह भी जरूर जान लेना चाहिए कि हर कॉलेज में कोर्स की फीस अलग अलग निर्धारित की जाती है इसलिए इसके सही आंकड़े बता पाना मुश्किल है और सरकारी कॉलेज में प्राइवेट कॉलेज के मुकाबले में इन कोर्सेज़ की फीस कम होती है। अगर आपका बजट कम है तो सरकारी स्कूल में एडमिशन लेने का प्रयास करें।

OT Technician कोर्स की अवधि

OT Technician के कोर्स मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं जोकि हैं डिग्री कोर्स और डिप्लोमा कोर्स। डिग्री कोर्स की अवधि 3 वर्ष की होती है जिसमें आपको 6 अलग अलग सेमेस्टर में पढ़ाया जाता है। वहीं अगर बात करें डिप्लोमा कोर्स की तो इसकी अवधि 2 साल तक होती है।

जिन कॉलेजों में सेमेस्टर सिस्टम होता हैं उनमें यह 4 सेमेस्टर में यह कोर्स बांटा जाता है और जिन कोर्स में वार्षिक सिस्टम होता है वहां पर इस कोर्स को 2 सालों में पूरा करवा दिया जाता है। ज़्यादातर कॉलेजों में सेमेस्टर सिस्टम होता है जिनमें आमतौर पर 1 सेमेस्टर में तकरीबन 6 महीनों का समय लगता है।

Diploma in Operation Theatre Technology का सिलेबस

Operation Theatre Technology का डिप्लोमा कोर्स 2 वर्षों का होता है और इसमें काफी सारे विषय होते हैं जिन्हें आपको पढ़ना होता है। यह विषय कुछ इस प्रकार हैं:-

प्रथम वर्ष

  • Anatomy.
  • Physiology.
  • Biochemistry.
  • Pharmacology.
  • Pathology.
  • Microbiology.
  • Principles and practices of surgery.
  • Sterilization, disinfection and waste disposal.
  • Basics of anesthesia & CPR.
  • Computer and data processing.

द्वितीय वर्ष

  • Equipment’s- Know-how and maintenance of OT Tables, OT. Lights, Diathermy, Sucker Machine etc.
  • Special Surgeries: Common Operations and Laying of Instrument. Trolleys.
  • Practical Classes.
  • Gynecology & Obstetrics.
  • Orthopaedic Surgery.
  • Urology.
  • Paediatric Surgery.
  • CTVS.
  • Plastic Surgery.
  • Neuro Surgery.
  • Ophthalmology.
  • ENT.

बीएचएमएस (BHMS) कोर्स क्या है ?

BSC in Operation Theatre Technology का सिलेबस

Operation Theatre Technology की BSC डिग्री को 6 सेमेस्टर में बांटा जाता है जिनमें विद्यार्थियों को ऑपरेशन थिएटर के तकनीकी पहलुओं के बारे में जानकारी दी जाती है। साथ ही साथ प्रैक्टिकल के माध्यम से विद्यार्थिओं के ज्ञान में वृद्धि की जाती है। कई सारे विषय इस कोर्स में पढ़ाए जाते हैं जिनके बारे में नीचे हम जानकारी दे रहे हैं।

पहला सेमेस्टर

  • Anatomy.
  • Biochemistry.
  • Principles of Management.

द्वितीय सेमेस्टर

  • Physiology.
  • Pathology.
  • Practical Workshops.

तृतीय सेमेस्टर

  • Applied Anatomy and Physiology.
  • Clinical Microbiology.
  • Practical Workshops.

चौथा सेमेस्टर

  • Clinical Pharmacology.
  • Medical Ethics.
  • Practical Workshops.

पांचवा सेमेस्टर

  • Principles of Anesthesia.
  • Medical Outline.
  • Anesthesia for Specialty Surgeries.

छठा सेमेस्टर

  • Basics of Surgery.
  • CSSD Procedure.
  • Regional anesthetic techniques.

इंटर्नशिप (Internship) क्या होता है ?

क्या OT Technician बनने के बाद नौकरी मिलेगी?

कोर्स के बाद नौकरी के बारे में विद्यार्थी के मन में जरूर यह चिंता रहती है कि उसे नौकरी मिलेगी या नहीं। OT Technician के कोर्स के बाद आपको नौकरी के लिए चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि भारत में ऐसे बहुत सारे सरकारी एवं निजी अस्पताल हैं जो OT Technician कोर्स करने वाले विद्यार्थिओं को नौकरी देते हैं।

इसके अलावा भी बहुत सारे ऐसे संस्थान है जहां पर आप नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं। ऐसे बहुत सारे जॉब रोल्स हैं जिसके लिए आप OT Technician कोर्स के बाद नौकरी कर सकते हैं। इनमें से कुछ जॉब रोल्स के बारे में हम निम्न बताने जा रहे हैं:-

  • OT तकनीशियन (OT Technician)
  • सहयोगी सलाहकार (Associate Consultant)
  • शिक्षक और व्याख्याता (Teacher and Lecturer)
  • प्रयोगशाला तकनीशियन (Lab Technician)
  • एनेस्थेटिस्ट सलाहकार (Anaesthetist Consultant)

OT Technician कोर्स के बाद कहाँ नौकरी प्राप्त कर सकते हैं?

भारत में बहुत सारे ऐसे निजी और सरकारी अस्पताल हैं जहाँ पर आप नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। इसके इलावा विदेशों में भी आप OT Technician की नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। हमारे देश के कुछ टॉप अस्पताल हैं जो OT Technician कोर्स  पूरा करने वालों को नौकरी का मौका देते हैं जिनमें से कुछ अस्पताल यह हैं:-

  • Fortis Hospital.
  • Max Healthcare.
  • Bombay Hospital and Medical Research Center.
  • Lilavati Hospital and Research Center.
  • Kokilaben Dhirubhai Ambani Hospital and Medical Research Center.
  • Dr. LH Hiranandani Hospital.
  • AIIMS (All India Institute of Medical Sciences), New Delhi.
  • Manipal Hospital.

इसके अलावा भी कई ऐसे अस्पताल हैं जिनमें आप जॉब के लिए आवेदन कर सकते हैं।

पैरामेडिकल क्या होता है ?

OT Technician बनने के बाद वेतन (Salary) ?

OT Technician का कोर्स पूरा कर लेने के बाद आप जो नौकरी करते हैं उसका वेतन भी अच्छा ख़ासा होता है। OT Technician के बाद जॉब में आपका शुरुआती वेतन लगभग 15000 रूपये से लेकर 25000 रूपये तक होता है जिसमें अनुभव के साथ साथ वृद्धि होती रहती है।

आपको बता दें कि OT Technician की बैचलर्स डिग्री होल्डर को OT Technician का डिप्लोमा कोर्स की डिग्री होल्डर के मुकाबले ज़्यादा वेतन मिलता है। डिग्री के अलावा और भी कई सारे चीज़ें हैं जिसपर आपका वेतन निर्भर करता है जैसे कि स्थान, कंपनी, शहर और डिमांड आदि।

OT Technician के कोर्स के बाद आगे की पढ़ाई कैसे करें

वैसे तो आप OT Technician के कोर्स के बाद भी नौकरी प्राप्त कर सकते हैं लेकिन जो विद्यार्थी चाहते हैं कि उन्हें OT Technician कोर्स के बाद आगे की पढ़ाई जारी रखनी है तो उनके लिए भी ऐसे बहुत सारे विकल्प हैं जिनमें प्रवेश करके वह अपनी पढ़ाई जारी रख सकते हैं। इनमें से कुछ कोर्स ऑप्शन यह हैं:-

  • MBA.
  • M.Phil.
  • M.Sc operation theatre technology.
  • Certificate course in operation theatre technology.

 यह कुछ प्रमुख कोर्स हैं जिनमें आप प्रवेश कर सकते हैं। इसके अलावा भी जो विद्यार्थी OT Technician के डिप्लोमा कोर्स के बाद आगे की पढ़ाई जारी रखना चाहते हैं उनके लिए भी बहुत सारे विकल्प हैं जिनमें से कुछ कोर्सेज़ के बारे में हम निम्न बताने जा रहे हैं:-

  • BSC in Operation Theatre Technology.
  • BSC in Medical Lab Technology.
  • BSC in Surgery Technology.
  • BSC in Anaesthesia Technology.

Physiotherapist कैसे बने ?

OT Technician बनने के लिए भारत के सर्वश्रेष्ठ कॉलेज

OT Technician बनने के लिए हम आपको भारत के कुछ सर्वश्रेष्ठ कॉलेज बताने जा रहे हैं। अगर आप अपने एरिया के किसी नज़दीकी कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आपको अपने नज़दीकी सभी कॉलेजों के बारे में रिसर्च करनी चाहिए और किसी बढ़िया कॉलेज का चुनाव करना होगा।

  • तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी, मुरादाबाद |
  • अवध इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल टेक्नोलॉजी, लखनऊ |
  • बालाश्री इंस्टीट्यूट ऑफ पैरामेडिकल साइंस, जबलपुर |
  • NRI मेडिकल कॉलेज, गुंटूर |
  • सुमनदीप विद्यापीठ यूनिवर्सिटी, बड़ोदरा |
  • आनंद इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, लुधियाना |
  • इंस्टीट्यूट ऑफ पैरामेडिकल टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली |
  • SGT यूनिवर्सिटी, गुड़गाव |
  • JSS मेडिकल कॉलेज, मैसूर |
  • महेन्द्रगयात्री मेडिकल कॉलेज, बरेली |
  • श्री राममूर्ति मेडिकल कॉलेज, बरेली |
  • इरा मेडिकल कॉलेज, लखनऊ |
  • शिवालिक इंस्टीट्यूट ऑफ पैरामेडिकल एंड टेक्नोलॉजी, अमृतसर |
  • रुहेलखंड मेडिकल कॉलेज, बरेली |
  • त्रिपुरा इंस्टीट्यूट ऑफ पैरामेडिकल साइंस, त्रिपुरा |
  • गंगाशील स्कूल ऑफ नर्सिंग, बरेली |

ट्रामा सेंटर किसे कहते है ?

Leave a Comment