पीओके (POK) का क्या मतलब है

15 अगस्त 1947 में भारत को स्वतंत्रता मिलने के साथ ही भारत के दो हिस्से हो गए थे | जिसका दर्द आज भी भारत के लोग उठाते चले आ रहें है | धर्म के आधार पर भारत  के दो हिस्से किये गए थे | जिसमें लाखों निर्दोष लोगों की जाने चली गई थी |  फिर वहीं, पाकिस्तान ने कश्मीर पर हमला बोलते हुए कश्मीर के एक हिस्से पर कब्जा कर लिया था जिसे पीओके कहा जाता है | यहाँ पर पीओके (POK) का क्या मतलब है, पीओके का फुल फॉर्म, पीओके के बारे में अन्य जानकारी दी जारी है |

ये भी पढ़े: बिहार में कुल कितने जिले है

पीओके (POK) का फुल फॉर्म

पीओके (POK) का फुल फॉर्म “Pakistan-occupied Kashmir” है, हिंदी भाषा में इसे ‘पाक अधिकृत कश्मीर’ के नाम से जाना जाता है | वर्तमान में यह दोनों देशों के बीच का विवादित हिस्सा बन गया है | जिसको लेकर भारत और पाकिस्तान आपस में उलझे हुए है | दोनों देश समय – समय पर अपना दावा इस क्षेत्र पर पेश करते आ रहे है |

ये भी पढ़े: लेखपाल (LEKHPAL) कैसे बने

पीओके (POK) का क्या मतलब है

1947 में  भारत को आजादी मिलने के समय अंग्रेजों ने यहां की रियासतों को अपने मन मुताबिक़, भारत अथवा पाकिस्तान के साथ जाने  का फैसला करने के लिए कहा था | जिसके तहत उस समय 500 से  भी अधिक रियासतों ने भारत के साथ जाने का फैसला किया | इसके साथ ही भारत के दो हिस्से कर दिए गए थे |  भारत के ये हिस्से धर्म के आधार पर किये गए थे | उस समय जम्मू – कश्मीर के राजा हरि सिंह थे जिन्होंने  पाकिस्तान में न विलय किया न ही भारत  में विलय किया था ।

वहीं, इस बात से पाकिस्तान काफी नाराज हो गया था | इसके बाद पाकिस्तान ने  कश्मीर को अपने कब्जे में करने के लिए वहां हमला बोल दिया। महाराजा हरि सिंह ने कश्मीर को बचाने के लिए भारत से  मदद करने के लिए अपील की | इसके बाद  महाराजा हरि सिंह ने भारत के साथ विलय पत्र पर हस्ताक्षर किया और समझौता करते हुए कहा था कि कश्मीर के रक्षा, विदेश और संचार मामले भारत के अधीन रहेंगे  |  फिर हरि सिंह की अपील को स्वीकार करते हुए  भारतीय फौज कश्मीर की मदद करने के लिए वहां पहुंच गई | भारतीय फौज ने सभी पाकिस्तानियों को कश्मीर से खदेड़ कर बाहर कर दिया |

ये भी पढ़े: ग्राम विकास अधिकारी (VDO) कैसे बने?

पीओके  (POK) का क्षेत्रफल

पाकिस्तान ने साल 1947 में ही  कश्मीर के एक बड़े हिस्से पर कब्जा  करते हुए उस हिस्से को दो भागों में  आजाद कश्मीर और गिलगित-बाल्टिस्तान में विभाजित कर दिया । आजाद कश्मीर 13,300 वर्ग किलोमीटर के दायरे में फैला हुआ है  जिसकी कुल आबादी लगभग 45 लाख है। पाकिस्तान ने कश्मीर के जिस हिस्से पर अपना कब्जा बनाया हुआ है पाकिस्तानी उसे ‘आजाद कश्मीर’ कहते है । पीओके की सीमाएं पाकिस्तान के पंजाब प्रांत, अफगानिस्तान के वखान कॉरीडोर,चीन के शिनजियांग क्षेत्र और भारतीय कश्मीर के पूर्वी क्षेत्र में जाकर मिलती  हैं। आजाद कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद है जिसमें 8 जिले और 19 तहसीलें बनी हुई हैं।

ये भी पढ़े: क्लर्क (CLERK) कैसे बने?

ये भी पढ़े: बैंक पीओ (BANK PO) कैसे बने?

पीओके पर पाक सेना  का दबाव

पीओके  में मुख्य रूप से मक्का और गेहूं की खेती की जाती   हैं। यहां  के लोग मुख्य रूप से पश्तो, उर्दू, कश्मीरी और पंजाबी बोली  बोलते  है। यहां की साक्षरता दर 72 प्रतिशत है जहाँ पर शिक्षा की काफी कमी पायी जाती है | पीओके का अपना  सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट है। पाकिस्तान के लोग अक्सर पीओके के  लोगों पर अपना जुल्म बरसाते रहते है  जिसके लिए पीओके के लोग  पाकिस्तान के खिलाफ अपनी आजादी के लिए आंदोलन करते रहते  हैं  लेकिन, पाक सेना अपने जुल्मो से उनकी आवाज को  उठने ही नहीं देते हैं |

यहाँ पर आपको पीओके (POK) का क्या मतलब है पीओके का फुल फॉर्म | पीओके के बारे में जानकारी दी गई हो, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो आप कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है |

ये भी पढ़े: केवाईसी (KYC) का मतलब क्या होता है

ये भी पढ़े: राष्ट्रपति शासन क्या होता है?

ये भी पढ़े: भारतीय संविधान क्या है?