एनआईए क्या है ? NIA Officer कैसे बने

आतंकवाद को नष्ट करने के लिए इंडिया में एनआईए (NIA) का गठन किया गया है। यह एक प्रकार की इन्वेस्टिगेशन एजेंसी है। साल 2008 में देश के मुंबई शहर में काफी भीषण आतंकवादी हमला हुआ था और जब यह हमला हुआ था तब इंडिया में कोई बेहतरीन जांच एजेंसी उपलब्ध नहीं थी।

इस प्रकार गवर्नमेंट ने जांच एजेंसी बनाने के बारे में सोचा और एनआईए को बनाया गया, जो केंद्र सरकार के अधीन रहती है। NIA केंद्र सरकार के आदेश पर आतंकवादी गतिविधियों पर नजर बनाकर उनकी नापाक साजिशों को रोकने का काम करती है। आइए इस आर्टिकल में “एनआईए क्या है” इसकी भूमिका और NIA ऑफिसर कैसे बनें इसके बारे में जानकारी हासिल करते हैं।

एसएचओ (SHO) कैसे बने ?

एनआईए (NIA) क्या है ?

इंडिया में कई प्रकार की इन्वेस्टिगेशन एजेंसी है, उन्ही एजेंसियों में एनआईए का नाम भी शामिल है। यह हमारे देश की एक पेशेवर इन्वेस्टिगेशन एजेंसी है, जो मुख्य तौर पर आंतकी गतिविधियों को रोकने एवम उनका पर्दाफाश करने के लिए आवश्यक निर्णय लेती है।

इस प्रकार एनआईए भारत में किसी भी प्रकार के आतंकवाद को खत्म करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। इसलिए भारतीय गवर्नमेंट के द्वारा भी एनआईए जांच एजेंसी को कुछ विशेष अधिकार प्रदान किए गए हैं।

एनआईए जांच एजेंसी में जो भी अधिकारी शामिल होते हैं, वह काफी क्रिएटिव माइंड के होते हैं, साथ ही उन्हें इन्वेस्टिगेशन के विभिन्न पहलुओं के बारे में अच्छे से पता होता है। एनआईए एजेंसी के द्वारा टेररिस्ट एक्टिविटी में शामिल लोगों पर काफी कठोर कार्यवाही की जाती है, साथ ही साथ ऐसे लोगों की संपत्ति को भी अपने कब्जे में लिया जाता है।

जिस व्यक्ति पर आरोप साबित होता है या फिर जिस संगठन पर आरोप साबित होता है उसे एनआईए के द्वारा आतंकवादी घोषित किया जाता है। एनआईए जब अपनी इन्वेस्टिगेशन चालू करती है तब उसमें राज्य सरकार किसी भी प्रकार की दखलंदाजी नहीं कर सकती है। यह मुख्य तौर पर सेंट्रल गवर्नमेंट के आदेश पर काम करती है और सारी रिपोर्ट सामान्य तौर पर सेंट्रल गवर्नमेंट को ही देती है।

एनआईए (NIA) का फुल फॉर्म

NIA का संक्षिप्त नाम “National Investigation Agency” होता है। जबकि मातृ भाषा में इसे राष्ट्रीय जांच एजेंसी कहकर संबोधित किया जाता है। भारतीय गवर्नमेंट के द्वारा देश की सुरक्षा के लिए नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी को बनाया गया है।

इसका गठन 31 दिसंबर के दिन संसद के द्वारा पारित अधिनियम राष्ट्रीय जांच एजेंसी विधेयक 2008 के तहत हुआ है। जब इस एजेंसी को बनाया गया था तब इसके संस्थापक महानिदेशक राधा विनोद राजू थे, जो साल 2010 के 31 जनवरी तक इसके महानिदेशक के पद पर रहे थे।

एनआईए (NIA) ऑफिसर कैसे बने?

जो भी व्यक्ति एनआईए ऑफिसर की पोस्ट प्राप्त करना चाहता है, उसे एसएससी सीजीएल की एग्जाम को पास करना आवश्यक है, जो कि कुल 4 चरणों में संपन्न होती है जिसे Tier1, Tier2, Tier3 और Tier4 कहा जाता है। नीचे आपको सभी tier की जानकारी दी जा रही है।

Tier1

इसमें कैंडिडेट को जनरल नॉलेज, जनरल स्टडी, मैथमेटिक्स, रीजनिंग और अंग्रेजी के सब्जेक्ट से संबंधित सवालों के जवाब देने होते हैं। इसमें चारों सब्जेक्ट को मिलाकर के 25-25 नंबर के टोटल 100 क्वेश्चन पूछे जाते हैं और 100 क्वेश्चन का टोटल अंक 200 होता है। अगर किसी व्यक्ति के द्वारा गलत जवाब किसी सवाल का दिया जाता है तो 0.50 अंक काटे जाते हैं अर्थात इसमें नेगेटिव मार्किंग होती है।

Tier2

इसमें व्यक्ति को अंग्रेजी और गणित से संबंधित सवालों का जवाब देना होता है, जिसमें गणित से 200 नंबर के 100 क्वेश्चन और अंग्रेजी से 200 नंबर के 200 सवाल पूछे जाते हैं और इन दोनों ही क्वेश्चन पेपर को देने के लिए आपको 2-2 घंटे का टाइम दिया जाता है। इसमें भी नेगेटिव मार्किंग होती है। हर गलत जवाब पर 0.25 अंक काटे जाते हैं।

Tier3

इसमें आपको किसी एक मुद्दे पर निबंध लिखना होता है।

Tier4

इसमें अभ्यर्थियों को कंप्यूटर प्रोबेबिलिटी टेस्ट देना होता है जिसका अर्थ है कि आपको टाइपिंग टेस्ट देना होता है, साथ ही आपको यह भी बताना होता है कि आप कंप्यूटर की बेसिक जानकारी रखते हैं।

NIA में भर्ती हेतु योग्यता [Eligibility for NIA Officer]

नीचे दी गई योग्यताएं एनआईए में भर्ती होने वाले अभ्यर्थी को पूरी करनी चाहिए।

  •  एनआईए में भर्ती होने के लिए पुरुष अभ्यर्थियों की लंबाई 170 सेंटीमीटर और महिला अभ्यर्थियों की लंबाई 150 सेंटीमीटर होनी चाहिए।
  •  अभ्यर्थियों का सीना 76 सेंटीमीटर होना चाहिए और सीना फुलाने पर वह 81 सेंटीमीटर तक होना चाहिए। महिलाओं के लिए यह योग्यता नहीं मांगी जाती है।
  • पुरुष और महिला अभ्यर्थियों की आंखों का विजन सही होना चाहिए अर्थात उनकी आंखें स्वस्थ होनी चाहिए और उन्हें सब चीजें साफ तौर पर दिखाई देनी चाहिए, साथ ही पुरुष और महिला अभ्यर्थी को कलर ब्लाइंडनेस नहीं होनी चाहिए।

नोट:‌नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी में ऑफिसर बनने के लिए आपको फिजिकल टेस्ट देना पड़ता है और उसके पश्चात आपका मेडिकल टेस्ट होता है। एक प्रकार से कहा जाए तो आपको सभी प्रक्रियाओं में खरा उतरना होता है तभी आप को एनआईए ऑफिसर बनने का मौका प्राप्त होता है और आप एनआईए ऑफिसर बन सकते हैं।

एनआईए (NIA) में भर्ती हेतु शैक्षिक योग्यता [Qualification]

एनआईए मे किसी भी पद पर भर्ती होने के लिए अभ्यर्थियों को हमारे भारत देश के किसी भी सर्टिफाइड इंस्टिट्यूट से किसी भी स्ट्रीम में ग्रेजुएशन की डिग्री प्राप्त करना बहुत ही आवश्यक है।

जिन लोगों के पास ग्रेजुएशन की डिग्री नहीं है वह लोग एनआईए में भर्ती होने के लिए अप्लाई नहीं कर सकते हैं। इसलिए आप ग्रेजुएशन की डिग्री अवश्य हासिल करें, तभी आप एनआईए में किसी भी पोस्ट पर भर्ती होने के लिए अप्लाई कर सकेंगे।

एनआईए ऑफिसर की सैलरी [NIA Salary]

भारत के अलग-अलग शहरों में एनआईए ऑफिसर को अलग-अलग सैलरी गवर्नमेंट के द्वारा दी जाती है। कैटेगरी x वाले शहरों में एक एनआईए ऑफिसर को आरंभ में ₹43,166 की सैलरी हर महीने गवर्नमेंट के द्वारा प्रदान की जाती है।

और y कैटेगरी में आने वाले शहरों में एनआईए ऑफिसर को हर महीने ₹39,492 की सैलरी प्राप्त होती है, वही जो शहर z कैटेगरी में आते हैं वहां पर एनआईए ऑफिसर को हर महीने ₹30,600 की सैलरी गवर्नमेंट देती है। इसके अलावा एनआईए के अलग-अलग पदों की सैलरी के बारे में आपको नीचे बताया गया है।

पदनाममासिक वेतनग्रेड पे
Technical Forensic Psychologist15600-39100₹5400₹
Assistant9300-34800₹4200₹  
Photographer9300-34800₹4200₹
Crime Scene Assistant15600-39100₹5400₹
Cyber Forensic Examiner15600-39100₹5400₹
Superintendent of Police15600-39100₹7600₹  
Additional Superintendent of Police15600-39100₹6600₹
Deputy Superintendent of Police15600-39100₹5400₹
Explosive Expert15600-39100₹5400₹
Biology Expert15600-39100₹5400₹
Accountant9300-34800₹4200₹
Stenographer9300-34800₹4200₹
Sub Inspector9300-34800₹4600₹

सुरक्षा परिषद (UNSC) क्या है ?

एनआईए के कार्य [NIA Job Profile]

साल 2008 में जब मुंबई पर आतंकवादी हमला हुआ था, तब एक जांच एजेंसी की आवश्यकता गवर्नमेंट को हुई और इस प्रकार एनआईए जांच एजेंसी अस्तित्व में आई। एनआईए जांच एजेंसी मुख्य तौर पर भारत देश की सुरक्षा करने का काम करती है, साथ ही यह भारत की संप्रभुता और अखंडता को बनाए रखने का काम भी करती है। इसके अलावा भारत देश को किसी भी प्रकार से नुकसान पहुंचाने वाले आपराधिक तत्वों पर भी यह निगरानी रखती है और आपराधिक आतंकवादियों की धरपकड़ करके उनके ऊपर केस चालू करती है और उनकी संपत्तियों को कुर्क कर लेती है। नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी का हेड क्वार्टर हमारे भारत देश के दिल्ली राज्य में मौजूद है।

एनआईए की ताकत [Power of NIA Officer]

गवर्नमेंट ने इंडिया की दूसरी जांच एजेंसियों की तुलना में नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी को कुछ विशेष अधिकार दिए हुए हैं। देश में आतंकवाद, देश विरोधी एक्टिविटी या फिर परमाणु ठिकानों से संबंधित क्राइम में इन्वेस्टिगेशन करने का अधिकार गवर्नमेंट ने एनआईए एजेंसी को दे कर के रखा है।

एनआईए एजेंसी को इंडियन गवर्नमेंट के द्वारा जो इंस्ट्रक्शन दिए जाते हैं, उसे ही फॉलो करती है और इसे भारत के किसी भी स्टेट गवर्नमेंट की इजाजत की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं होती है। एनआईए एजेंसी का ऑफिसर जब चाहे देश या फिर विदेश में जाकर के भारतीय लोगों के खिलाफ हुए आतंकवाद या फिर अपराध से संबंधित मामले की इन्वेस्टिगेशन कर सकती है। ऐसा कहा जाता है कि अमेरिका की खुफिया एजेंसी एफबीआई को जिस प्रकार के स्पेशल अधिकार प्राप्त हुए हैं वैसे ही अधिकार एनआईए जांच एजेंसी को भी प्राप्त हुए हैं जो कि भारतीय जांच एजेंसी है।

एनआईए के अधिकार

अगर हम नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी के अधिकारों के बारे में बात करें तो यह सेंट्रल गवर्नमेंट के आदेश पर भारत के अलावा भारत के बाहर जाकर के भी किसी भी देश में किसी मामले की इन्वेस्टिगेशन कर सकती है।

अगर किसी खूंखार अपराधी का एनआईए के कोर्ट में ट्रायल चल रहा है तो उसे किसी भी इंडिया की अदालत में प्रस्तुत होने से रोका जा सकता है, साथ ही साथ अगर कमजोर सबूत के अंतर्गत कोई कोर्ट अपराधी को जमानत देने पर विचार कर रही है तो एनआईए चाहे तो खुद ही संज्ञान ले करके बंद लिफाफे में सबूत या फिर मामले से संबंधित इंफॉर्मेशन को शेयर कर सकती है।

एनआईए के अध्यक्ष

वर्तमान के समय में केंद्र सरकार के आदेश पर डीजीपी दिनकर गुप्ता को राष्ट्रीय जांच एजेंसी का नया महानिदेशक बनाया गया है। बता दे कि डीजीपी दिनकर गुप्ता पंजाब के पूर्व डीजीपी रह चुके हैं। डीजीपी दिनकर गुप्ता 1987 के बैच के पंजाब कैडर के आईपीएस अधिकारी रह चुके हैं, जो साल 2024 के 31 मार्च तक इस पद पर बने रहेंगे।

एनआईए में नौकरी कैसे मिलेगी ?

हर साल स्टाफ सिलेक्शन कमीशन के द्वारा नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी में खाली पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी किया जाता है। इसके लिए आपको https://www.nia.gov.in/recruitment-notice.htm वेबसाइट को लगातार विजिट करते रहना चाहिए।

क्योंकि इसी वेबसाइट पर एनआईए में भर्ती की इंफॉर्मेशन अपडेट की जाती रहती है। जब इस वेबसाइट पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी हो तब आप अपनी योग्यता के हिसाब से नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं क्योंकि सभी पदों के लिए अलग-अलग एजुकेशन क्वालीफिकेशन मांगी जाती है।

एनआईए में मौजूद पद [NIA Officer Post]

नीचे हमने एनआईए में आने वाले पदों की जानकारी आपको दी है। इसके अलावा भी एनआईए में कई पद आते हैं। इन पदों पर एनआईए के द्वारा समय-समय पर भर्ती की जाती है।

  • टेक्निक फॉरेंसिक साइकोलॉजिस्ट |
  • वरिष्ठ लोक अभियोजक |
  • सब इंस्पेक्टर |
  • असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर |
  • वरिष्ठ निजी सचिव |
  • उप कानूनी सलाहकार |
  • कनिष्ठ अनुसंधान अधिकारी |
  • फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट |
  • एक्सप्लोसिव एक्सपर्ट |
  • साइबर फॉरेंसिक एग्जामिनर |
  • क्राइम सीन असिस्टेंट |
  • बायोलॉजी एक्सपर्ट |
  • फोटोग्राफर |
  • अकाउंटेंट |
  • सार्वजनिक अभियोक्ता |
  • वरिष्ठ अनुसंधान अधिकारी |
  • अनुसंधान अधिकारी |
  • आशुलिपिक |
  • असिस्टेंट |
  • पुलिस उप अधीक्षक |
  • अपर पुलिस अधीक्षक |
  • इंस्पेक्टर |

एनआईए में नौकरी के लिए आवेदन कैसे करे?

नीचे दी गई प्रक्रिया को फॉलो करके आप एनआईए में नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

  • जिस पोस्ट के लिए आप लायक है, सबसे पहले आपको उस पोस्ट की ऑफिशियल नोटिफिकेशन को पढ़ना है।
  • ऑफिशियल नोटिफिकेशन को पढ़ने के बाद आपको संबंधित डिपार्टमेंट की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर पहुंचने के बाद पद के नाम के ऊपर क्लिक करना है और जरूरी जानकारियों को भर कर अपना आवेदन पूरा करना है।
  • आवेदन संपूर्ण हो जाने के बाद अपने आवेदन का प्रिंटआउट भी निकाल लेना है।
  • इस प्रकार ऊपर बताई गई विधि को पूरा करके आप एनआईए में नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

FAQ:

NIA का फुल फॉर्म क्या है?

National Investigation Agency

एनआईए को हिंदी में क्या कहते हैं?

राष्ट्रीय जांच संस्था

एनआईए कब अस्तित्व में आया?

31 दिसंबर, साल 2008

एनआईए का हेड क्वार्टर कहां है?

नई दिल्ली

एनआईए किससे संबंध है?

मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर्स

आईपीएस (IPS) ऑफिसर कैसे बने

Leave a Comment