रॉ एजेंट (RAW  Agent ) कैसे बनते हैं

विश्व के लगभग सभी देशों नें अपनें देश की सुरक्षा करने के लिए बहुत ही कड़े इंतजाम कर रखे है, इसके साथ ही सुरक्षा को ध्यान में रखते  हुए सभी देशो की अपनी एक खुफिया एजेंसी होती है | उन्ही खुफिया एजेंसी से  देश से जुड़ी गुप्त जानकारियों को देश से बाहर जाने से रोका जाता हैं, और दूसरे देशों से ख़ुफ़िया जानकारी एकत्रित की जाती है | इन्ही प्रबंधो से देश में होनें  वाले किसी भी तरह के हमले को समय से पहले ही रोक लिया जाता है, जिससे देश को किसी प्रकार की हानि नहीं पहुंच पाती है। इसी तरह हमारे देश, भारत की खुफिया एजेंसी का नाम रॉ है, जो हर समय सतर्क रहती है और देश की सुरक्षा करती है |  इसलिए यदि आप भी रॉ एजेंट बनने का मन बनाय हुए है, तो आप इस पूरे पेज को पढ़कर जान लीजिये कि, रॉ एजेंट (RAW  Agent) कैसे बनते हैं | सैलरी, योग्यता | रॉ का फुल फॉर्म क्या होता है” आपको इस पेज इसकी सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध होगी |

ये भी पढ़े:  उत्तर प्रदेश रोजगार मेला ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करे

रॉ का फुल फॉर्म क्या होता है  

Raw का full form “Research and Analysis Wing” होता है | इसे हिंदी में “अनुसंधान और विश्लेषण विंग” कहा जाता है |  रॉ एजेंट भारत की अंतराष्ट्रीय ख़ुफ़िया एजेंसी अथवा एक गुप्तचर संस्था कही जाती है ,  जिसे भारत के पडोसी देशों पर निगरानी रखनें के लिए और उनकी सभी ख़ुफ़िया जानकारियों को जानने के लिए किया गया था | ताकि इस खुफिया एजेंसी से  भारत देश को अन्य देशो के हमलों से बचाया जा सकें | वहीं, इस संस्था को हिंदी में ‘अनुसंधान और विश्लेषण स्कंध’ के नाम से भी जाना जाता है, और जो लोग इस एजेंसी में  काम करते हैं उन लोगो को रॉ एजेंट कहा जाता है | इसका निर्माण चीन की जासूसी करने के लिए किया गया था, जो वर्ष 1968 में  हुआ था, लेकिन आज के समय में रॉ का भारतीय एकता और सुरक्षा में महत्वपूर्ण योगदान है |

ये भी पढ़े:  UP SCHOLARSHIP का आवेदन फॉर्म कैसे भरे?

रॉ एजेंट (RAW Agent ) कैसे बनते हैं?

यदि आपको भारतीय रॉ विभाग में शामिल  होना है तो आप सबसे पहले रक्षा क्षेत्र या भारतीय सिविल सेवा विभाग में शामिल  हो जाइये, क्योंकि, इसमें शामिल होनें के लिए कोई डायरेक्ट भर्ती परीक्षा नहीं कराई जाती  है | इसलिए इन विभागों में आयोजित की परीक्षाओं में  सफल होने के बाद आपको एक इंटरव्यू देना रहता  है | इसके बाद जब आप  इंटरव्यू में  सफलता हासिल कर लेंगे तो बाद में आपको रॉ विभाग में शामिल कर लिया जाएगा |

राष्ट्रीय स्तर की सेवा में गुप्त एजेंट के रूप में मुख्य रूप से रक्षा और सुरक्षा के दौरान अधिक समय के लिए – आईपीएस अधिकारियों, केंद्रीय खुफिया अधिकारी, सीआईडी अधिकारियों, भारत के आतंकवादियों के प्रमुख – आईएमए, आईएनए, एएफए के रूप में कार्यरत हों|

रॉ विभाग में मुख्य रूप से सिविल सेवा विभाग या पुलिस विभाग में कार्यरत कर्मचारियों को उनके कार्य और बुधिमत्ता के आधार पर  ही चयन किया जाता है | वर्तमान समय में रॉ विभाग  के चयन के लिए अभ्यर्थियों के पास इस तरह का नॉलेज होना बहुत जरूरी है |

ये भी पढ़े:  आईटीआई (ITI) कोर्स क्या है?

विशेष जानकारी

कंप्यूटर हैकिंग

विशेष कार्य कौशल

इंटरनेट में गति और अनस्टारिंग आदि में निपुणता

आयु सीमा 

इस पद में शामिल होने के लिए अभ्यर्थी की न्यूनतम आयु 19 वर्ष और अधिकतम आयु  25 वर्ष होने चाहिए |

शैक्षणिक योग्यता

इसमें भाग लेने वाले अभ्यर्थी  किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक/स्नातकोत्तर डिग्री प्राप्त कर चुका हो|

वैवाहिक स्थिति

आवेदक को अविवाहित होना अनिवार्य है |

सैलरी

इसमें कोई स्थाई सैलरी नहीं होती है इसमें आपको महीने में  से लाख रुपये तक वेतन के रूप में दिए जाते है |

चयन प्रक्रिया

अभ्यर्थी का चयन लिखित परीक्षा, साक्षात्कार, मेडिकल परिक्षण तीन प्रक्रियाओ के अंतर्गत किया जाएगा  |

ये भी पढ़े:  भारत की राष्ट्रभाषा क्या है?

रॉ एजेंट बनने के लिए महत्वपूर्ण जानकारी 

1.यदि आपका पहले से कोई आपराधिक रिकॉर्ड है और आप रॉ एजेंट बनने के लिए आवेदन करते हैं तो आपके आवेदन को  निरस्त  किया जा सकता है |

2.आवेदकों को ड्रग परीक्षण का सामना करना पड़ता है, और साथ ही वो किसी भी प्रकार का मादक पदार्थों का सेवन न करते हों |

3.इस पद पर नौकरी करने वाले अधिकाँश एजेंटों को विदेशों की यात्रा करनी पड़ जाती है |

4.रॉ में नौकरी करने के लिए आपके पास ऐसा कुछ करने का हुनर होना चाहिए जो दूसरे में जल्दी न पाया जाए |

आवेदन की जानकारी  

अनुसंधान और विश्लेषण विंग (रॉ) की  किसी प्रकार वेबसाइट नहीं बनाई गई है, इसलिए सरलता पूर्वक उनका एजेंट  बनना मामूली काम नहीं है , हालांकि, वहीं, उप क्षेत्र अधिकारी, कैबिनेट सचिवालय, भारत सरकार के रूप में जारी की गई नौकरियों को आर एंड ए डब्लू के लिए भर्ती रूप में कहा गया है |

रॉ में सीधे ले सकते दाखिला 

आप रॉ में नियुक्ति प्डिप्टी फील्ड ऑफिसर, कैबिनेट सेक्रेटेरिएट , गवर्नमेंट ऑफ़ इंडिया के फॉर्म के माध्यम से प्राप्त कर सकते है इसके साथ ही आप  नेशनल  अकादमी  ऑफ़  एडमिनिस्ट्रेशन से  एग्जाम देकर भी अनुसंधान और विश्लेषण स्कंध से  शामिल होने के लिए कामयाबी हासिल कर सकते है, वहीं इसके अंतर्गत होनें वाली सभी परीक्षाएं एसएससी द्वारा आयोजित की जाती है |

ये भी पढ़े:  भारत के पड़ोसी देशों के नाम व राजधानी 

सिविल सर्विसेज की परीक्षा के द्वारा

अत्याधिक  टैलेंटड अभ्यर्थियों  को चयनित करने के लिए रिसर्च एंड एनालिसिस नें एक नया प्रोग्राम बनाया है | वहीं जो अभ्यर्थी लाल बहादुर शास्त्री नेशनल अकादमी ऑफ़ एडमिनिस्ट्रेशन से सिविल सर्विसेज की पढ़ाई  करने में लगे हुए उन अभ्यर्थियों का भी रॉ में चयन कर लिया जाता  है, इसके बाद जब उनका पाठ्यक्रम  का समापन हो जाता है तो फिर रॉ की टीम कैंपस रिक्रूटमेंट के लिए संस्था में बुलाई जाती  है, जिसके  बाद पहले तो उस टीम का साइकोलॉजिकल टेस्ट किया जाता है और फिर बाद में  कैंडिडेट्स को ट्रेनिंग के लिए  नियुक्त कर लिया जाता है, इसके  लिए ट्रेनिंग केवल एक साल तक कराई जाती है | इसके ट्रेनिंग में सफल हुए अभ्यर्थियों को ही  रॉ  में शामिल कर लिया जाता है |

डिफेन्स के माध्यम से दाखिला 

कुछ अभ्यर्थी ऐसे होते हैं जो सिविल सर्विसेज की परीक्षाओं  में सफलता हासिल नहीं कर पाते है तो वो अभ्यर्थी डिफेन्स सर्विसेज के माध्यम से रॉ में आसानी प्रवेश लेने में कामयाब हो सकते है |

इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के माध्यम से

इंटेलिजेंस ब्यूरो में SA या ACIO की सीधे भर्ती का आयोजन किया जाता है ,  जिससे आप  रॉ में  प्रवेश लेने के लिए सफल हो सकते है |

यहाँ पर हमने आपको  रॉ एजेंट (RAW  Agent) कैसे बनते हैं | सैलरी, योग्यता | रॉ का फुल फॉर्म क्या होता है  इसकी सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध कराई है | इसलिए इस प्रकार की अन्य जानकारी के लिए आप www.hindiraj.com पर विजिट कर सकते है | यदि  आप दी गयी जानकारी के विषय में अपने विचार या सुझाव अथवा प्रश्न पूछना चाहते है, तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से संपर्क कर सकते है |

ये भी पढ़े:  भारत का नक्शा किसने बनाया था?

ये भी पढ़े:  भारत के राज्य और राजधानी की सूची

ये भी पढ़े:  भारत के प्रसिद्ध मंदिरों की सूची हिंदी में