जीका वायरस (जापानी बुखार) क्या है



देश में अभी कोरोना का प्रभाव पूरी तरह से समाप्त नहीं हुआ है, इसी इस बीच एक खतरनाक वायरस ने दस्तक देकर सभी के मन में एक बार फिर से भय की स्थिति उत्पन्न कर दी है | आपको बता दें, कि देश के दक्षिणी राज्य केरल में जीका वायरस के मामले सामनें आने के बाद सरकार के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है |



हालाँकि यह वायरस कोरोना की तरह जानलेवा नहीं है, परन्तु सावधानी न बरतनें पर संक्रमित व्यक्ति की मृत्यु भी हो सकती है | सबसे ख़ास बात यह है, कि अभी तक इसका टीका विकसित न होनें के कारण सभी के लिए चिंता का विषय बन चुका है | जीका वायरस (जापानी बुखार) क्या है, जीका वायरस के लक्षण, इलाज के बारे में आपको यहाँ पूरी जानकारी दी जा रही है |

ब्लैक फंगस, वाइट फंगस, येलो फंगस क्या होता है

जीका वायरस क्या है (What is Zika Virus)       

जीका वायरस को जापानी बुखार भी कहते है | यह संक्रमण एईडीज इजिप्टाय (Aedes aegypti) मच्छर के काटने से होता है और यह एडीज मच्छर डेंगू और चिकनगुनिया के वायरस भी फैलाते है | जीका वायरस से संक्रमित व्यक्ति को डेंगू और पीला ज्वर की तरह ही बुखार आता है, हालांकि यह सभी मच्छरों के काटने से नहीं होता है |



जीका वायरस गर्भवती महिलाओं से पैदा हुए बच्चों में माइक्रोसेफली उत्पन्न कर सकता है | इसके संक्रमण से बच्चे के मस्तिष्क के विकास से सम्बंधित समस्याएं होनें की पूरी संभावनाएं होती है | इसके साथ ही गर्भवती महिलाओं का गर्भपात समय से पहले होनें के साथ ही विभिन्न प्रकार की समस्याएं उत्पन्न हो सकती है |

पेरासिटामोल क्या होता है

जीका वायरस कैसे फैलता है (How Zika Virus Spreads)

जीका वायरस मुख्य रूप से एडीज नामक मच्छर के काटने से फैलता है | सबसे खास बात यह है, कि अधिकतर यह मच्छर दिन में काटते है | जब कोई व्यक्ति इस मच्छर के काटनें से संक्रमित हो जाता है, तो यह वायरस उनके खून में काफी लम्बे समय तक मौजूद रहता है | जैसे ही कोई दूसरा मच्छर उस संक्रमित व्यक्ति को काटता है, तो यह वायरस दूसरे लोगो में पहुँच जाता है | हालाँकि जीका वायरस का संक्रमण किसी संक्रमित व्यक्ति के साथ यौन संपर्क से भी फैलता है |       

संक्रमण (Infection) क्या है

जीका वायरस के लक्षण (Symptoms of Zika Virus)

जीका वायरस के लक्षण लगभग डेंगू और की तरह ही होते हैं | संक्रमित व्यक्ति के शरीर में यह वायरस लगभग एक 7 दिनों तक रहता है | इसमें बुखार आना, शरीर में लाल चक्कते पड़ना, जोड़ों में असहनीय दर्द, बेचैनी आदि लक्षण पाए जाते है, हालाँकि अधिकांश लोगो में यह लक्षण दिखाई नहीं देते हैं | स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक, सामान्यतः 10 लोगो में किन्ही 2 लोगो में संक्रमण के लक्षण दिखाई देते हैं |

Zinc Sulfate (जिंक सल्फेट) क्या है

जीका वायरस का इलाज और रोकथाम के उपाय (Treatment and Prevention of Zika Virus)

वर्तमान समय में जीका वायरस से संक्रमित व्यक्ति के इलाज के लिए कोई वैक्सीन नहीं है, इसकी वैक्सीन पर लगातार शोध अर्थात रिसर्च जारी है | यदि किसी व्यक्ति के शरीर में इसके लक्षण दिखाई दें, तो तुरंत डॉक्टर के संपर्क करे | इस वायरस से बचनें के लिए घर से बाहर निकलते समय पूरी सावधानी बरतें तथा पूरे शरीर को ढकनें वाले कपडों का पहनें | इसके साथ ही शरीर के बाहरी भागों और कपड़ों पर मच्छरों को भगाने वाले स्प्रे का प्रयोग करे |  

संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी के अनुसार, इस वायरस से संक्रमित लोगों को पूरी तरह से आराम करना चाहिए और अधिक से अधिक लिक्विड डाइट लेना चाहिए | हालाँकि बुखार और शरीर दर्द के लिए साधारण दर्द निवारक दवा लेनें की सलाह दी गयी है।

यदि आप किसी ऐसे क्षेत्र में है, जहाँ जीका वायरस से संक्रमित लोगो की संख्या काफी अधिक है, तो अपनें घर को साफ-सुथरा रखनें के साथ ही सोते समय मच्छरदानी अर्थात नेट का प्रयोग करें | इसके साथ ही अपनें घर के आस-पास किसी भी तरह का पानी को एकत्र न होनें दे | 

डब्ल्यूएचओ क्या है

यहाँ आपको जीका वायरस (जापानी बुखार) से सम्बंधित जानकारी दी गई है | यदि आपको इससे  सम्बंधित अन्य जानकारी प्राप्त करनी है तो आप  अपने विचार या सुझाव कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूंछ सकते है | इसके साथ ही आप अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो www.hindiraj.com पर विजिट करे |

आयुष 64 क्या है

Leave a Comment