Career Counselling क्या होता है ?



भारत में बोर्ड परीक्षा समाप्त हो जाने के बाद कई लोग अपने कैरियर की तलाश में इधर-उधर भटकते रहते हैं। इस दौरान उन्हें अच्छा कैरियर ऑप्शन नहीं मिल पाता है आज हम आपको एक ऐसे कैरियर विकल्प के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी मांग देश में निरंतर बढ़ती जा रही है। इस कैरियर का नाम Career Counselling है। करियर काउंसलर बन कर आप लोगों की मदद कर सकते हैं और अच्छा पैसा कमा सकते हैं। आपने देखा होगा कि जब हम स्कूल जाने लगते हैं तो हमारे पेरेंट्स हमें गाइड करते हैं फिर स्कूल में हमारे टीचर गाइड करते हैं।

इस प्रकार देखें तो हमें हर मोड़ पर गाइडेंस यानी काउंसलिंग की जरूरत होती है। इस गाइडेंस यानी काउंसलिंग की काम को प्रोफेशनल तरीके से करना काउंसलर कहलाता है। आज हम इस पोस्ट में Career Counselling क्या होता है, Career Counselling कैसे बने, Career Counselling की सैलरी, Career Counsellingर की योग्यता, Career Counselling के फायदे, Career Counselling कोर्स इत्यादि के बारे में विस्तार से बताने जा रहे हैं।

कोडिंग (Coding) कैसे सीखें ?

कैरियर काउंसलिंग (Career Counselling) क्या होता है ?

एक ऐसी सेवा जो लोगों को एक बेहतर कैरियर बनाने में या उन्हें अपने करियर में ऊंचाइयां हासिल करने  में मदद करता हो उसे कैरियर काउंसलिंग कहा जाता है। इस काम को आसान भाषा में कैरियर कोचिंग या कैरियर डेवलपमेंट भी कहना सही रहेगा।

कैरियर काउंसलिंग की मदद से लोगो को उनके कैरियर में आने वाली समस्याओं के समाधान हेतु उचित सलाह दी जाती है। करियर काउंसलिंग करने वाले ट्रेंड लोग होते हैं जो सफल कैरियर बनाने के लिए आपके अंदर के स्किल और जज्बे को पहचान कर अच्छा करियर ऑप्शन बताते हैं। Career Counselling की मदद सभी लोग ले सकते हैं जिससे आप नया कैरियर बना सकते हैं या जारी कैरियर को आगे बढ़ाने का प्रयास कर सकते हैं।

कैरियर काउंसलिंग ( Career Counselling ) क्यों जरूरी है

बोर्ड परीक्षा के रिजल्ट के बाद कैरियर बनाने के लिए सभी ओर से दबाव बनने शुरू हो जाते हैं। लेकिन उस समय स्टूडेंट इतना मैच्योर नहीं रहता है कि वे सही करियर के बारे में फैसला कर पाए। आजकल ज्यादातर देखा गया है कि समाज और माता-पिता के दबाव में स्टूडेंट ऐसे कैरियर का चुनाव कर देते हैं जिनमें वह असफल हो जाते है। हमारा समाज डॉक्टर, इंजीनियर, चार्टर्ड अकाउंटेंट और बिजनेस मैन जैसे क्षेत्रों को सफल करियर मानता है लेकिन सभी लोग इन करियर में सफल नहीं हो सकते हैं।

दुनिया का हर इंसान अपने आप में अनोखा है। उनके अंदर कई ऐसे गुण और अवगुण मौजूद हैं जो दूसरे व्यक्तित्व में मौजूद नहीं हैं। अगर वह अपने स्किल और प्रतिभा को पहचान कर उन क्षेत्र में कैरियर बनाए तो सफलता उनके कदम चूमेगी। Career Counselling आपके अंदर छुपी स्किल और प्रतिभाओं को पहचान कर उसे मजबूत बनाता है। आपकी अपनी प्रतिभा और स्किल के अनुरूप कैरियर ऑप्शन के बारे में बताता है जिसमें आप आसानी से सफल हो सकते हैं।

कैरियर काउंसलिंग ( Career Counselling ) के फायदे?

Career Counselling क्या होता है जानने के बाद Career Counselling से क्या फायदा होता है। इसके बारे में बताने जा रहे है। कैरियर काउंसलिंग से लोगों को अनेकों फायदे मिलते है | नीचे इसके मुख्य फायदे दर्शाये गए है।

  • पढ़ाई पूरी करने के बाद सभी लोग को कैरियर चुनने में बड़ा कंफ्यूजन होता है। लोग अपना सही कैरियर का चुनाव नहीं कर पाते हैं जिनके कारण वे लगातार परेशान रहते है।
  • Career Counselling करने वाला काउंसलर व्यक्ति को अपनी रुचि और ज्ञान को पहचानने के लिए प्रेरित करता है, वह स्वयं कर अंदर आत्मविश्वास पैदा करता है जिससे वह मनपसंद कैरियर का चयन कर पाते हैं।
  • कैरियर काउंसलिंग के दौरान छात्रों या लोगों के बौद्धिक क्षमता को पहचानने के लिए काउंसलर उनका एप्टिट्यूड टेस्ट लेते हैं। जिससे उनको यह जानने में मदद मिलता है कि वह कैसे कैरियर का चुनाव करने के लिए तैयार है।
  • हमारे देश में यह धारणा ज्यादा हावी रहती है कि डॉक्टर का बेटा या बेटी डॉक्टर ही बने लेकिन कैरियर काउंसलिंग में छात्र को उनकी रूचि और योग्यता के अनुसार कैरियर मार्गदर्शन दिया जाता है। काउंसलिंग करवाने वाला काउंसलर छात्रों के रुचि के अनुसार निष्पक्ष कैरियर का चुनाव करवाता है।
  • कैरियर काउंसलिंग की मदद से लोग अपने अंदर के हुनर को पहचान पाते हैं जिससे उनको कैरियर का चयन करने में कोई परेशानी नहीं होता है।
  • जिस व्यक्ति की रूचि जिस क्षेत्र में रहती है, उसी में कैरियर काउंसलिंग की मदद से एक स्पष्ट सोच विकसित की जाती है। जिससे उनकी स्किल में निखार आता है।
  • अगर आप अपने कैरियर में लगातार गलती कर रहे हैं तो कैरियर काउंसलिंग की मदद से आप अपने अंदर की कमी ढूंढ पाते है और काउंसलर उनमें सुधार के तरीके बताता है।
  • Career Counselling की मदद से अपने अंदर की वीकनेस और स्ट्रैंथ को जानने में मदद मिलती है। इन्ही कमज़ोरी और मजबूती के दम पर गोल अचीव करवाने में काउंसलर आपकी मदद करता है।

कैरियर काउंसलर (Career Counselor) बनने की योगयता

  • Career Counselling की क्षेत्र में काउंसलर बनने की इच्छा रखने वाले लोगों को कैरियर काउंसलर की योग्यता को जान लेना चाहिए। कैरियर काउंसलर बनने के लिए निम्नलिखित योग्यता नीचे दी गई हैं।
  • Career Counselor बनने के लिए आपकी उम्र 18 वर्ष से 60 वर्ष के बीच होने चाहिए।
  • आपका किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं की परीक्षा पास करना अनिवार्य है।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स करने के लिए आपका भारत सरकार के मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी या कॉलेज से स्नातक पास करना जरूरी है जिसके बाद आप Career Counselor बन सकते हैं।

कैरियर काउंसलर (Career Counselor) कैसे बने?

अगर आप Career Counselor बनकर लोगों की मदद करते हुए पैसा कमाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए स्टेप की मदद से आप सफल करियर काउंसलर बन सकते हैं। Career Counselor बनने के लिए सबसे पहले आप को मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं में पास होना चाहिए। तत्पश्चात निम्नलिखित कोर्स का चयन करें।

  • बी ए इन साइकोलॉजी |
  • बीए ऑनर्स इन साइकोलॉजी |
  • बीएससी इन साइकोलॉजी |
  • इन विषयों से स्नातक करने के बाद निम्नलिखित विषय में मास्टर डिग्री प्राप्त करें।
  • एमए इन साइकोलॉजी |
  • एमएससी इन साइकोलॉजी |
  • इन कोर्स के साथ में पीजी डिप्लोमा इन साइकोलॉजी, पीजी डिप्लोमा इन गाइडेंस एंड काउंसलिंग का कोर्स जरूर करें।

इन स्टेप को फॉलो करने के बाद आप एक Career Counselor बनने के योग्य हो जाएंगे | इसके बाद आप अपनी सर्विस की शुरूआत करने के लिए कम्युनिकेशन स्किल को मजबूत बनाए।

वेब डेवलपर (Web Developer) कैसे बने

कैरियर काउंसलर (Career Counselor) बनने के कोर्स

भारत में Career Counselor का स्कोप दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है। अगर आप भी करियर काउंसलर के क्षेत्र में जाना चाहते हैं तो नीचे दिए गए कोर्स जरूर पूरा करें।

  • BA in Psychology.
  • BA Honors in Psychology.
  • BSc in Psychology.
  • PG Diploma in Psychology.
  • PG Diploma in Guidance and Counseling.
  • MA in Psychology.
  • MSc in Psychology.
  • BA in Psychology Course.

यह 3 साल का कोर्स होता है | जिसको मानता प्राप्त कॉलेज के द्वारा करवाया जाता है। इस कोर्स की फीस के बारे में बात करें तो 30000 से लेकर डेढ़ लाख तक की फीस लग सकती है |

B.Sc in Psychology Course

बीएससी इन साइकोलॉजी भी 3 साल का कोर्स है जिसकी सालाना फीस 30000 से डेढ़ लाख के बीच हो सकती हैं। इस कोर्स को भारत के सभी राज्य में कर रहकर पूरा कर सकते हैं।

M.Sc in Psychology

एमएससी इन साइकोलॉजी एक पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स है। इस कोर्स में 4 सेमेस्टर की पढ़ाई की जाती है। इस कोर्स को पूरा करने का अवधि 2 साल है। जबकी फीस की बात करें तो यह राशि 30,000 से 1,00000 तक हो सकती है।

MA Psychology Course

एमए इन साइकोलॉजी 2 साल का कोर्स है इस कोर्स की फीस 20,000 से 80,000 के बीच होती है।

PG Diploma in Psychology

पीजी डिप्लोमा इन साइकोलॉजी के कोर्स की अवधि 1 साल होती है। अगर आपने साइकोलॉजी से ग्रेजुएशन किया है तो इस कोर्स को कर सकते हैं। इस कोर्स को करने में 10,000 से 50,000 रुपया की फीस लग सकती है।

PG Diploma in Guidance and Counseling

पीजी डिप्लोमा इन गाइडेंस एंड काउंसलिंग कोर्स की अवधि 1 साल होती है लेकिन इसे 4 साल के अंदर भी पूरा कर सकते हैं। इस कोर्स के लिए 10,000 से 40000 तक कि फीस लग सकता है। भारत की कई विश्वविद्यालय में इस कोर्स को कराया जाता है।

Best College For Career Counseling Course

भारत में कई कॉलेज और इंस्टीट्यूट हैं जो कैरियर काउंसलिंग के लिए कोर्स करवाते हैं। आप भी इन कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम देकर कैरियर काउंसलिंग का कोर्स कर सकते हैं या कई संस्थान में डायरेक्ट प्रवेश दिया जाता है | नीचे भारत के बेहतरीन कॉलेज दिए गए हैं।

  • दिल्ली यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली |
  • बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, बनारस |
  • जामिया मिलिया इस्लामिया, नई दिल्ली |
  • अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, अलीगढ़, उत्तर प्रदेश |
  • भरतार यूनिवर्सिटी, कोयंबटूर |
  • राजीव गांधी नेशनल इंस्टीट्यूट आफ यूथ डेवलपमेंट, तमिल नाडु |
  • एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा |
  • इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली |
  • नेशनल कॉउंसिल ऑफ एजुकेशन एंड रिसर्च ट्रेनिंग ( एन. सी. ई. आर. टी ), नई दिल्ली |

कैरियर काउंसलर (Career Counselling) में करियर स्कोप

कैरियर काउंसलर (Career Counselling) के कोर्स करने के बाद इस क्षेत्र में काफी ज्यादा कैरियर स्कोप है। करियर काउंसलर की जॉब प्राइवेट सेक्टर और सरकारी सेक्टर में भी किया जाता है।

शिक्षण संस्थान में

करियर काउंसलिंग के लिए बताए कोर्स को पूरा करने के बाद स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी, कोचिंग सेंटर और शिक्षण संस्थानों में आप एक काउंसलर की जॉब कर सकते है। बड़ी-बड़ी कॉलेज और यूनिवर्सिटी में काउंसलर के लिए समय-समय पर नौकरिया निकलती रहती है।

न्यूज़ पेपर एवं मैगजीन में

न्यूज़पेपर एवं मैगजीन में कैरियर काउंसलर के लिए जॉब की अनेक संभावनाएं रहती है। आपने देखा होगा कि न्यूज़पेपर एवं मैगजीन में कैरियर का कॉलम दिया रहता है। आप इस पद पर काबिज होकर कैरियर काउंसलिंग के बारे में ब्लॉग लिख सकते हैं।

सेल्फ इंस्टिट्यूट

करियर काउंसलिंग कोर्स करने के बाद आप स्वयं का इंस्टिट्यूट खोल सकते हैं। जिसमें लोग कैरियर संबंधित समस्याओं को हल करते हुए अपने बिजनेस को बढ़ा सकते हैं।

सेमिनार ज्वाइन

बड़े-बड़े शहरों में समय-समय पर कैरियर काउंसलिंग के लिए सेमिनार का आयोजन किया जाता है। अगर आप Career Counselling में अच्छा मुकाम हासिल कर चुके है तो इन सेमिनार में भाग लेकर लोगों को कैरियर काउंसलिंग का पाठ पढ़ा सकते हैं।

कैरियर काउंसलर Career Counselor के कार्य

  • लोगों की कैरियर समस्या को सुनने के बाद उनका उचित समाधान निकालना।
  • कैरियर संबंधी समस्या को सुनने समझने के बाद उस समस्या को विस्तार से हल करना।
  • छात्रों के अंदर छुपे स्किल को पहचान कर उन्हें उनके प्रति प्रोत्साहित करना। जिससे वह उस फील्ड में अच्छा करियर बना सकते हैं।
  • किसी भी छात्र को निराश नहीं होने देना है लगातार मोटिवेट करते रहना है ताकि वह अच्छा करियर तलाश सके।
  • खुद के अंदर कम्युनिकेशन स्किल और रिसर्च को इंप्रूव करते रहना ताकि लोगों को आपकी बातें से वेटेज मिले।
  • नए-नए करियर ऑप्शन से अपडेटेड रहना और उन कैरियर के लिए स्पेसिफिक कोर्सेज और यूनिवर्सिटी के बारे में संपूर्ण जानकारी रखना।

कैरियर काउंसलर (Career Counselor) की सैलरी

  • कैरियर काउंसलर (Career Counselor) की सैलरी की बात करें तो शिक्षण संस्थान में बतौर काउंसलर ज्वाइन होते हैं तो शुरुआत में 200000 से ₹300000 प्रति महीने की सैलरी मिल सकती है।
  • एक करियर काउंसलर की सैलरी एक्सपीरियंस के अनुसार बढ़ता है। अगर आपको इस क्षेत्र में 5 साल का एक्सपीरियंस है तो कॉरपोरेट सेक्टर या बड़े यूनिवर्सिटी में ज्वाइन होने के बाद 40,000 से 1,00000 प्रति महीने की सैलरी मिल सकती है।
  • अगर आप इस क्षेत्र में मेहनत करते हैं और फेमस हो जाते हैं तो लाखों रुपए घर बैठे कमा सकते हैं। आज कई सारे ऐसे influence हैं जो इस क्षेत्र में भरपूर मेहनत करके लोगों को मोटिवेट और कैरियर काउंसलर के लिए सेमिनार का आयोजन करते है आज वह लाखों रुपए कमा रहे हैं।

आईपीएस (IPS) ऑफिसर कैसे बने

Leave a Comment