भारत में रामसर स्थलों की सूची



दुनिया में आद्रभूमि के महत्व को ध्यान में रखते हुए विश्व के विभिन्न देशों ने इनके सरंक्षण के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किया, जिसका उद्देश्य दुनिया के सभी महत्त्वपूर्ण अद्राभूमि क्षेत्रों की सुरक्षा करना है। भारत सरकार ने सन् 2012- 2013 में आर्द्रभूमि के संरक्षण और रख-रखाव के लिए राष्ट्रीय अद्राभूमि सरंक्षण कार्यक्रम की शुरूआत की। 



रामसर सूची में सबसे पहले वर्ष 1981 में चिल्का झील को शामिल किया गया इसके बाद उसी वर्ष केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान को भी शामिल किया गया। अब तक भारत में रामसर की संख्या बढ़ कर 75 हो गई है। 

आज मैं इस आर्टिकल में आपको भारत के रामसर स्थलों (Ramsar sites in India) के बारे में सम्पूर्ण जानकारी विस्तार से बताऊंगी जैसे रामसर संधि क्या हैं ? आद्रभूमि क्षेत्र क्या हैं, भारत में आद्रभूमि को कितने वर्गों में बांटा गया है आदि इसके साथ ही आप भारत में सभी रामसर स्थलों की सूची के बारे में भी जानेंगे। 

भारत के राज्य और उनकी राजधानी




रामसर समझौता क्या है ?

रामसर समझौता, आद्रभूमि (वेटलैंड्स) के संरक्षण और प्रबंधन के लिए एक अंतर्राष्ट्रीय संधि हैं। ईरान के शहर रामसर में 2 फरवरी 1971 को दुनिया भर के विभिन्न देशों के बीच एक अंतरराष्ट्रीय संधि पर हस्ताक्षर किया गया। जिसे रामसर समझौता या रामसर संधि कहते हैं। जिसका मुख्य उद्देश विश्व के सभी आद्रभूमि को संरक्षित करना था। रामसर संधि में शामिल देशों द्वारा यह समझौता 21 दिसंबर 1975 में पूर्ण रूप से प्रभाव में लाया गया। भारत द्वारा 1 फ़रवरी 1982 को इस संधि में हस्ताक्षर किया गया था। दुनिया के सभी रामसर स्थलो का संरक्षण अंतरराष्ट्रीय प्रकृति सरंक्षण संघ (International Union for the Conservation of Nature) द्वारा किया जाता हैं। 

आद्रभूमि (वेटलैंड) क्या हैं ?

आद्रभूमि, एक ऐसा क्षेत्र है जो पानी से ढका हुआ होता हैं, जैसे: नदियाँ, झरना, तालाब, दलदल, जलाशय, बाढ़ का मैदान, चावल के खेत, झीले, डेल्टा समुद्र का किनारा आदि आद्रभूमि या वेटलैंड्स कहलाते हैं। आद्रभूमि, वह जगह होती है जहाँ नमी और दलदली भूमि पाई जाती है, साथ ही ऐसी जगह जो साल भर आंशिक या पूर्ण रूप से पानी से भरा रहता हैं।

रामसर समझौता के अंतर्गत वेटलैंड्स: पंकभूमि (Fen), दलदल, पानी का क्षेत्र जो प्राकृतिक या कृत्रिम रूप से बनाया गया हो, पानी के साथ अस्थायी या स्थायी क्षेत्र, ठहरा हुआ पानी का क्षेत्र या बहते हुए पानी का क्षेत्र, ऐसा क्षेत्र जहां पानी ताजा, खारा या नमकीन हो, समुद्र तट आदि सभी जगह रामसर समझौता के अन्तर्गत शामिल की गई हैं।

2 फरवरी 1997 को पहली बार विश्व आद्रभूमि दिवस मनाया गया था, जिसके बाद प्रत्येक वर्ष 2 फरवरी को विश्व आद्रभूमि दिवस मनाया जाने लगा।

भारत के प्रमुख दर्रे के नाम और उनके राज्य

भारत में आद्रभूमि (वेटलैंड) के प्रकार।

स्थलाकृतिक भिन्नता के मूल पर भारत में आद्रभूमि स्थल को 4 प्रमुख वर्गों में बांटा गया हैं।

  1. हिमालय में आर्द्रभूमि
  2. गंगा के मैदान पर आर्द्रभूमि
  3. रेगिस्तान पर आर्द्रभूमि
  4. तटीय आर्द्रभूमि

आद्रभूमि क्षेत्र का महत्व:

  • आद्रभूमि क्षेत्र एक बहुत ही महत्वपूर्ण क्षेत्र है, क्योंकि यह पृथ्वी पर सबसे ज्यादा उत्पादक परिस्थितिक तंत्र में से एक है।
  • आद्रभूमि क्षेत्र मानव समाज को बहुत सी महत्त्वपूर्ण सेवाएं प्रदान करता है, जैसे मछली पालन, खेतों में सिंचाई के लिए पानी, जैव विविधता का रख रखाव, पानी की कमी को पूरा करना आदि।
  • आद्रभूमि क्षेत्र बाढ़ के समय पानी को अवशोषित कर पानी के प्रवाह की गति धीमी करने में सहायता करते हैं, जिससे बाढ़ का प्रभाव कम हो जाता है, साथ ही बाढ़ में बहने वाले ठोस और पोषक तत्वों को रोक कर रखते हैं।
  • भारी बारिश और बाढ़ के पानी का भंडारण के लिए भी आद्रभूमि क्षेत्र सहायक होते हैं, बाद में यहीं पानी सिंचाई या फ़िर वन्य जीवों के पीने के उपयोग में लाया जाता हैं।
  • आद्रभूमि, जैव विविधता को बनाए रखने में भी सहायता प्रदान करते हैं। आद्रभूमि ऐसा वातावरण देते हैं, जहाँ प्रकाश संश्लेषण और कई पोषक तत्व आसानी से प्राप्त जाते हैं इसी कारण कई जीव प्रजातियां अपने जीवन चक्र के लिए आद्रभूमि पर निर्भर रहते हैं।
  • यह कार्बन पृथक्करण में भी विषेश भूमिका निभाते हैं। प्राकृतिक आद्रभूमि क्षेत्र, सतह अपवाह से नाईट्रेटस् और फास्फोरस को अलग कर देता है, जिससे यह प्रदूषण कम करने के लिए अच्छा विकल्प माना जाता हैं।

भारत के प्रमुख त्यौहारों की सूची

भारत में रामसर स्थलों की सूची

भारत में कुल 75 रामसर स्थल हैं, जिनकी सूची कुछ इस प्रकार है। 

सन् 1981 में घोषित किए गए रामसर स्थल।

  1. चिल्का झील, उड़ीसा 
  2. केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान, राजस्थान 

सन् 1990 में घोषित किए गए रामसर स्थल।

  1. लोकटक झील, मणिपुर 
  2. वुलर झील, जम्मू कश्मीर 
  3. हरिके झील, पंजाब 
  4. सांभर झील, राजस्थान

सन् 2002 में घोषित किये गए रामसर स्थल।

  1. कंजली झील, पंजाब 
  2. रोपड़ वेटलैंड, पंजाब 
  3. कोलेरु झील, आंध्र प्रदेश
  4. दीपोर बील, असम 
  5. पोंग बांध झील, हिमाचल प्रदेश 
  6. त्सो-मोरीरी झील, लद्धाख  
  7. अष्टमुडी झील, केरल 
  8. सस्थमकोट्टा झील, केरल 
  9. वेम्बनाड-कोल वेटलैंड, केरल 
  10. भोज वेटलैंड, मध्य प्रदेश 
  11. भितरकनिका मैंग्रोव, ओडिशा 
  12. प्वाइंट कैलिमेरे वन्यजीव और पक्षी अभ्यारण्य, तमिलनाडु 
  13. पूर्व कलकत्ता आद्रभूमि, पश्चिम बंगाल 

सन् 2005 में घोषित किये गए रामसर स्थल।

  1. चंदेरटल वेटलैंड, हिमाचल प्रदेश 
  2. रेणुका वेटलैंड, हिमाचल प्रदेश
  3. होकेरा वेटलैंड, जम्मू कश्मीर 
  4. सूरिंसार-मानसर झीलें, जम्मू कश्मीर
  5. रुद्रसागर झील, त्रिपुरा 
  6. ऊपरी गंगा नदी, उत्तर प्रदेश 

सन् 2012 में घोषित किये गए रामसर स्थल।

  1. नालसरोवर पक्षी अभ्यारण्य, गुजरात 

सन् 2019 में घोषित किये गए रामसर स्थल।

  1. नवाबगंज पक्षी अभ्यारण्य, उत्तर प्रदेश 
  2. सुंदरवन डेल्टा, पश्चिम बंगाल 
  3. साण्डी पक्षी अभ्यारण्य, उत्तर प्रदेश
  4. व्यास संरक्षण रिजर्व, पंजाब
  5. पार्वती अरगा पक्षी अभ्यारण्य, उत्तर प्रदेश
  6. नांगल वन्यजीव अभ्यारण्य, पंजाब
  7. नंदूर मध्यमेश्वर, महाराष्ट्र 
  8. समसपुर पक्षी अभ्यारण्य, उत्तर प्रदेश
  9. सरसई नावर झील, उत्तर प्रदेश
  10. केशोपुर-मिआनी कम्युनिटी रिजर्व, पंजाब 
  11. समन पक्षी अभ्यारण्य, उत्तर प्रदेश

सन् 2020 में घोषित किये गए रामसर स्थल।

  1. त्सो कर लेक, लद्दाख 
  2. कंवर ताल, बिहार 
  3. आसन रिजर्व, उत्तराखंड 
  4. लोनार झील, महाराष्ट्र 
  5. सुर सरोवर झील/ कीथम झील, उत्तर प्रदेश

सन् 2021 में घोषित किये गए रामसर स्थल।

  1. थोल झील वन्यजीव अभ्यारण्य, गुजरात 
  2. सतकोसिया गॉर्ज, उड़ीसा 
  3. सुल्तानपुर राष्ट्रीय उद्यान, हरियाणा 
  4. भिंडावास वन्यजीव अभ्यारण्य, हरियाणा
  5. खिजदिया पक्षी अभ्यारण्य, गुजरात 
  6. कोंथनकुलम पक्षी अभ्यारण्य, गुजरात 
  7. बखीरा वन्य जीव अभ्यारण्य, उत्तर प्रदेश 
  8. वाधवाना झील, गुजरात
  9. हैदरपुर वेटलैंड, उत्तर प्रदेश 

सन् 2022 में घोषित किये गए रामसर स्थल।

  1. रंगनाथिटू पक्षी अभ्यारण्य, कर्नाटक 
  2. करीकिली पक्षी अभ्यारण्य, तमिलनाडु 
  3. पल्लिकरनई मार्श रिजर्व फॉरेस्ट, तमिलनाडु
  4. मन्नार की खाड़ी समुद्री बायोस्फीयर रिजर्व, तमिलनाडु 
  5. वेम्बन्नूर वेटलैंड कॉम्प्लेक्स, तमिलनाडु
  6. हाइगम वेटलैंड कंजर्वेशन रिजर्व, जम्मू कश्मीर 
  7. सिरपुर वेटलेंड, मध्य प्रदेश 
  8. चित्रांगुडी पक्षी अभ्यारण्य, तमिलनाडु 
  9. पिचवरम मैंग्रोव, तमिलनाडु
  10. वेलोड पक्षी अभ्यारण्य, तमिलनाडु
  11. ठाणे क्रीक, महाराष्ट्र 
  12. शालबुग वेटलैंड कंजर्वेशन रिजर्व, जम्मू कश्मीर 
  13. सुचिन्द्रम थेरूर वेटलैंड कॉम्प्लेक्स, तमिलनाडु 
  14. वेदान्थंगल पक्षी अभ्यारण्य, तमिलनाडु 
  15. साख्य सागर, मध्य प्रदेश 
  16. पाला आर्द्रभूमि, मिजोरम 
  17. उदयमार्थंदपुरम पक्षी अभ्यारण्य, तमिलनाडु 
  18. नंदा झील, गोवा 
  19. कांजीरकुलम पक्षी अभ्यारण्य, तमिलनाडु 
  20. यशवंत सागर, मध्य प्रदेश 
  21. तंपारा झील, उड़ीसा 
  22. हीराकुंड जलाशय, उड़ीसा 
  23. अंसुपा झील, उड़ीसा 
  24. वडुवूर पक्षी अभ्यारण्य, तमिलनाडु 

भारत का नक्शा डाउनलोड करें

भारत में 75 रामसर स्थलों की सूची

भारत में स्थित सभी 75 रामसर स्थलों की सूची इस प्रकार है:-

क्र.रामसर स्थलो के नामप्रदेश वर्ष 
1.चिल्का झीलउड़ीसा1981
2.केवलादेव राष्ट्रीय उद्यानराजस्थान1981
3.लोकटक झीलमणिपुर1990
4.वुलर झीलजम्मू कश्मीर1990
5.हरिके झीलपंजाब1990
6.सांभर झीलराजस्थान1990
7.कंजली झीलपंजाब2002
8.रोपड़ वेटलैंडपंजाब2002
9.कोलेरु झीलआंध्र प्रदेश2002
10.दीपोर बीलअसम2002
11.पोंग बांध झीलहिमाचल प्रदेश2002
12.त्सो-मोरीरी झीललद्धाख2002
13.अष्टमुडी झीलकेरल2002
14.सस्थमकोट्टा झीलकेरल2002
15.वेम्बनाड-कोल वेटलैंडकेरल2002
16.भोज वेटलैंड, मध्य प्रदेश2002
17.भितरकनिका मैंग्रोवओडिशा2002
18.प्वाइंट कैलिमेरे वन्यजीव और पक्षी अभ्यारण्यतमिलनाडु2002
19.पूर्व कलकत्ता आद्रभूमिपश्चिम बंगाल2002
20.चंदेरटल वेटलैंडहिमाचल प्रदेश2005
21.रेणुका वेटलैंडहिमाचल प्रदेश2005
22.होकेरा वेटलैंडजम्मू कश्मीर2005
23.सूरिंसार-मानसर झीलेंजम्मू कश्मीर2005
24.रुद्रसागर झीलत्रिपुरा2005
25.ऊपरी गंगा नदीउत्तर प्रदेश2005
26.नलसरोवर पक्षी अभ्यारण्यगुजरात2005
27.नवाबगंज पक्षी अभ्यारण्यउत्तर प्रदेश2019
28.सुंदरवन डेल्टापश्चिम बंगाल2019
29.नंदुर मध्यमेश्वरमहाराष्ट्र2019
30.साण्डी पक्षी अभ्यारण्यउत्तर प्रदेश2019
31.व्यास संरक्षण रिजर्वपंजाब2019
32.पार्वती अरगा पक्षी अभ्यारण्यउत्तर प्रदेश2019
33.नांगल वन्यजीव अभ्यारण्यपंजाब2019
34.समन पक्षी अभ्यारण्यउत्तर प्रदेश2019
35.समसपुर पक्षी अभ्यारण्यउत्तर प्रदेश2019
36.सरसई नावर झीलउत्तर प्रदेश2019
37.केशोपुर-मिआनी कम्युनिटी रिजर्वपंजाब2019
38.वाधवाना झीलगुजरात2020
39.त्सो कर लेकलद्दाख2020
40.सुर सरोवर झील/ कीथम झीलउत्तर प्रदेश2020
41.कंवर तालबिहार2020
42.आसन रिजर्वउत्तराखंड2020
43.लोनार झीलमहाराष्ट्र2021
44.हैदरपुर वेटलैंडउत्तर प्रदेश2021
45.थोल झील वन्यजीव अभ्यारण्यगुजरात2021
46.सतकोसिया गॉर्जउड़ीसा2021
47.सुल्तानपुर राष्ट्रीय उद्यानहरियाणा2021
48.भिंडावास वन्यजीव अभ्यारण्यहरियाणा2021
49.खिजदिया पक्षी अभ्यारण्यगुजरात2021
50.कोंथनकुलम पक्षी अभ्यारण्य गुजरात2021
51.बखीरा वन्य जीव अभ्यारण्य उत्तर प्रदेश2021
52.चित्रांगुडी पक्षी अभ्यारण्यतमिलनाडु2022
53.सिरपुर वेटलेंडमध्य प्रदेश2022
54.रंगनाथिटू पक्षी अभ्यारण्यकर्नाटक2022
55.करीकिली पक्षी अभ्यारण्यतमिलनाडु2022
56.पल्लिकरनई मार्श रिजर्व फॉरेस्टतमिलनाडु2022
57.यशवंत सागरमध्य प्रदेश2022
58.तंपारा झीलउड़ीसा2022
59.हीराकुंड जलाशयउड़ीसा2022
60.अंसुपा झीलउड़ीसा2022
61.वडुवूर पक्षी अभ्यारण्यतमिलनाडु2022
62.साख्य सागरमध्य प्रदेश 2022
63.पाला आर्द्रभूमिमिजोरम2022
64.उदयमार्थंदपुरम पक्षी अभ्यारण्य तमिलनाडु2022
65.नंदा झीलगोवा2022
66.कांजीरकुलम पक्षी अभ्यारण्यतमिलनाडु2022
67.पिचवरम मैंग्रोवतमिलनाडु2022
68.वेलोड पक्षी अभ्यारण्यतमिलनाडु2022
69.ठाणे क्रीकमहाराष्ट्र2022
70.शालबुग वेटलैंड कंजर्वेशन रिजर्वजम्मू कश्मीर2022
71.सुचिन्द्रम थेरूर वेटलैंड कॉम्प्लेक्सतमिलनाडु2022
72.वेदान्थंगल पक्षी अभ्यारण्यतमिलनाडु2022
73.मन्नार की खाड़ी समुद्री बायोस्फीयर रिजर्वतमिलनाडु2022
74.वेम्बन्नूर वेटलैंड कॉम्प्लेक्सतमिलनाडु2022
75.हाइगम वेटलैंड कंजर्वेशनरिजर्वजम्मू कश्मीर2022

आज मैंने इस आर्टिकल में आपको भारत के 75 रामसर स्थलों के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी, जैसे: रामसर समझौता क्या हैं, आद्रभूमि क्षेत्र क्या होते हैं, भारत में आद्रभूमि वर्गीकरण, आद्रभूमि क्षेत्र के महत्व के साथ भारत के 75 रामसर स्थलों की जानकारी भी आपको दी गई। आपको इस आर्टिकल में बताई गई  जानकारी पसंद आई हो, तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करें। धन्यवाद!

भारत सरकार की योजनाओं की जानकारी

Leave a Comment